पाठ 1 – अंडे के छिलके

प्रश्न अभ्यास:

1. अंडे के छिलकों को जुराब में, कोट की जेब में या नाली में फेकना बिल्कुल ठीक नहीं इस पर अपनी राय लिखिए? 

उत्तर: अंडे के छिलकों को  कोट की जेब में या नाली में फेकना उचित नहीं है क्योंकि अंडे के छिलके गलते नहीं है जिसके कारण यह घर में बदबू और कीड़ों की उत्पत्ति का कारण बन सकता है जिससे घर में बीमारियां फैलने का कारण बन जाती हैं इसीलिए उन्हें उनकी सही जगह कूड़ेदान या घर के बाहर ही फेंकना उचित है। 

2. अंडा खाना क्या कोई अपराध है? इस पर निबंध लिखिए।

उत्तर: नहीं अंडा खाना कोई अपराध ही बात नहीं है यह तो हर मनुष्य के स्वाद के ऊपर निर्भर करता है कि वह क्या खाना पसंद करता है अंडा खाने से कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी हैं अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो आंखों की सेहत के लिए बेहद जरूरी है  देखा जाए तो अंडा एक दैनिक आवश्यकता बन गया है और अब पूरी दुनिया में जिसे भी सब्जी और फल से अधिक खाया जाता है इसलिए अंडा खाना कोई गलत बात या अपराध की श्रेणी में नहीं रखा जाता। 

3. “पराया घर तो लगता ही है, भाभी” अपनी भाभी-भाई के कमरे में श्याम को पराएपन का अहसास क्यों होता है?

उत्तर: श्याम हमेशा से ही लापरवाह रहा है। उसके भाई गोपाल भी उसके समान ही लापरवाह थे। शादी से पहले वह भी श्याम के समान ही कमरे को गंदा तथा अव्यवस्थित रखते थे। शादी के बाद उनकी पत्नी वीना को कमरे को  साफ सुथरा व व्यवस्थित किया जाने लगा। गोपाल का कमरा अब वैसी स्थिति में नहीं है। वह साफ और व्यवस्थित हो गया है। यही कारण है कि श्याम को अपने भाभी-भाई के कमरे में पराया पन का अहसास होने लगता है।

4. एकांकी में अम्माँ की जो तसवीर उभरती है, अंत में वह बिलकुल बदल जाती है – टिप्पणी कीजिए।

उत्तर: एकांकी की शुरुआत में अम्मा जी की तस्वीर रूढ़िवादी विचारों वाली महिला के रूप में आती है।सभी सदस्यों में ऐसी आदतें हैं जो उनके अनुसार अम्मा जी को बुरी लगती है जैसे घर में अंडे खाना, चंद्रकांता जैसी पुस्तकें तथा सिगरेट पीना इसलिए परिवार के सदस्य यह कार्य छुप कर करते हैं एकांकी के अंत में माधव सबको यह बात पता देता है कि अम्मा को  सब कुछ पहले से ही पता है , विना और राधा का छुप-छुपकर चंद्रकांता संतति पढ़ना शाम का अपने कमरे में दूध में डालकर पीना ,गोपाल के कमरे में अंडे का हलवा  बनना।अम्मा की शुरुआती छवि अंत में पूरी तरह बदल जाती है एक सुलझी हुई महिला के रूप में सामने आती है। 

5. अंडे खाना, ‘चंद्रकांता संतति’ पढ़ना आदि किन्हीं संदर्भों में गलत नहीं है, फिर भी नाटक के पात्र इन्हें छिपकर करते हैं। क्यों? आप उनकी जगह होते तो क्या करते?

उत्तर: अंडे खाना, चंद्रकांता संतति पढ़ना यह ग़लत नहीं है फिर भी नाटक में पात्र उन्हें छुपकर करते हैं क्योंकि नाटक में परिवार में सबसे बड़ी एवं मुखिया अम्माजी है और उन्हें यह सब घर मैं करना पसंद नहीं आता।लेकिन घर के सदस्यों को यह सब कार्य अम्माजी से छुपकर करने पड़ते हैं। यदि मैं इनकी जगह होती तो घर में ये सब कार्य नहीं करती क्योंकि जो काम हमें करने के लिए मना किए गए होते हैं वह काम अगर हम घर में छुपकर करें तो घर के बड़ों को या माता पिता को बहुत दुःख पहुँचता है। घर में छुपकर करने की बजाय मैं कहीं बाहर कर सकती हूँ क्योंकि अंडे खाना घर में प्रतिबंध है और बाहर तो हम खा ही सकते है। ऐसी पुस्तकें घर में नहीं पढ़ सकते लेकिन पुस्तकालय में पड़ सकते हैं।

6. राधा के चरित्र की ऐसी कौन सी विशेषताएँ हैं जिन्हें आप अपनाना चाहेंगे?

उत्तर: राधा का चरित्र बहुत ही उज्जवल और प्रेरक है। निम्न विशेषताओं को अपनाना चाहूंगी अगर मुझे राधा की चरित्र की विशेषताओं को अपनाना पड़े:

1. राधा बहुत समझदार और सुलझी हुई महिला है उसके पास हर परिस्थिति को संभालने की क्षमता थी।

2. ज्यादा अपने परिवार की जिम्मेदारियों को पूरा करने के साथ-साथ पढ़ने की इच्छा भी पूरी करती है और उसके लिए भी मेहनत करती है।

3. राधा एक गंभीर स्वभाव वाली महिला है।

7. अंडे का छिलका अनुपयोगी या कूड़ा समझा चाहता है तो उसे कहां रखा जाना चाहिए या स्वच्छता अभियान मिशन का इस बात से कोई संबंध है?  

उत्तर: अंडे के छिलके हमें सूखे कूड़ेदान में घर के बाहर फेंकना चाहिए। हालांकि स्वच्छता अभियान मिशन से इस बात का कोई संबंध नहीं है लेकिन  यह संकेत दे देता है कि हमें अपने आसपास व घर में  स्वच्छता रखनी चाहिए। 

8. स्वच्छता अभियान मिशन पर विद्यार्थी-

अध्यापक अभिभावकों की उपस्थिति में बाल सभा का आयोजन कीजिए

उत्तर: सभा में सब ने मिलकर स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत  लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने पर विचार प्रस्तुत किए व    बच्चों ने सुझाव दिए कि हम लोग लोगों को जागरूक करने के लिए रैलियों का आयोजन करेंगे वह ऐसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें पोस्टर, स्लोगन  के माध्यम से स्वच्छता समाज में कितने महत्वपूर्ण है  इस विषय पर बताया जाएगा। 

9. कमरे में कौन सी चीज कहाँ रखनी चाहिए? 

जैसे जंपर, कोट, कपड़ा, जूता, कॉपी, किताब, कूड़ा करकट आदि

उत्तर: कमरे में  सभी चीजें अपनी सही जगह पर रखनी चाहिए जैसे कि खाने-पीने की वस्तुएं रसोई घर में होनी चाहिए गंदे कपड़े बदलने वाले कपड़े कमरे से बाहर होने चाहिए जूते चप्पल यह भी कमरे से बाहर होने चाहिए कॉपी किताब स्टडी रूम में होनी चाहिए।

पाठ 1 – अंडे के छिलके