वाक्य संबंधी अशुधियाँ

वाक्यों में अशुद्धियों का प्रमुख कारण है- व्याकरण के नियमों की सही जानकारी का अभाव।
व्याकरणगत अशुधियों से बचने के लिए नीचे दिए नियमों पर ध्यान दीजिए

वचन और लिंग संबंधी अशुधियाँ

अशुद्ध

शुद्ध

(i) शिवा जी बहुत वीर था।
(i) हवा बहुत ठंडा है।

(ii) शिवा जी बहुत वीर थे।
(ii) हवा बहुत ठंडी है।

कारक संबंधी अशुद्धियाँ

अशुद्ध

शुद्ध

(i) बच्चा छत पर से गिर गया।
(i) पतंगें आकाश पर उड़ रही है।

(ii) बच्चा छत से गिर गया।
(ii) पतंगें आकाश में उड़ रही हैं।

सर्वनाम संबंधी अशुधियाँ अशुद्ध

अशुद्ध

शुद्ध

(i) मेरे को जल्दी जाना है।
(i) वह लड़के को बुला लाओ

(ii) मुझे जल्दी जाना है।
(ii) उस लड़के को बुला लाओ।

क्रिया संबंधी अशुद्धियाँ

अशुद्ध

शुद्ध

(i) नेहा ने गीत गाई ।
(i) सभी मिलकर स्कूल जाता है।

(ii) नेहा ने गीत गाया।
(ii) सभी मिलकर स्कूल जाते हैं।

विशेषण संबंधी अशुधियाँ अशुद्ध

अशुद्ध

शुद्ध

(i) विख्यात लुटेरा पड़का गया।
(i) मेरे पास अनेकों पुस्तके हैं।

(ii) कुख्यात लुटेरा पकड़ा गया।
(ii) मेरे पास अनेक पुस्तकें हैं।

क्रियाविशेषण संबंधी अशुधियाँ अशुद्ध

अशुद्ध

शुद्ध

(i) अचानक बस चल पड़ी।
(i) यहाँ कूड़ा नहीं फेको।

(ii) बस अचानक चल पड़ी।
(ii) यहाँ कूड़ा मत फेको।

पद क्रम संबंधी अशुधियाँ 

अशुद्ध

शुद्ध

(i) तुम कर रहे हो क्या?
(i) ओजस्व को काटकर सेब दो।

(ii) तुम क्या कर रहे हो?
(ii) ओजस्व को सेब काटकर दो।

अन्य सामान्य अशुद्धियाँ

अशुद्ध

शुद्ध

(i) आप इधर बैठो।
(i) मैं मंगलवार के दिन फिर मिलूंगा।

(ii) आप इधर बैठिए।
(ii) मैं मंगलवार को मिलूंगा।

वाक्य संबंधी अशुधियाँ 8