1 THE TIGER KING (बाघ राजा)

-Kalki

शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

The Maharaja of ………….have to die. (Page 1)

शब्दार्थ- attitude (एटिट्यूड) = मनोदृष्टि। pretending (प्रिटेंडिंग) = बहाना बनाना। strategic (स्ट्रॅटीजिक) = रणनीतिक। threat (थ्रेट) = धमकी। hasty (हेस्टि) = जल्दी। retreat (रिट्रीट) = वापस मुड़ना, पीछे हटना | imperative (इमपेरेंटिव) = अत्यावश्यक। vital (वाइटल) = अत्यधिक। indomitable (इंडॉमिटॅबल) = अदम्य abode (अबोड्) = आवास । extraordinary (इकस्ट्रोडनरि) = असाधारण । revealed (रिवील्ड) = प्रकट । fantastic (फैन्टैस्टिक) = अनोखा। aspect (ऐसपेक्ट) = पहलू, पक्ष । demise (डिमाइज) = देहान्त, अन्त । astrologer (अस्ट्रॉलॅज(र)) = ज्योतिषी।

हिन्दी अनुवाद-प्रतिबन्दपुरम् के महाराजा इस कहानी के नायक हैं। उसे महाराजा जमेदार-जनरल, किलेदार-मेजर, सत व्याघ्र संहारी, महाराजाधिराज विश्व भुवन सम्राट, सर जिलानी जंग जंग बहादुर, एम.ए.डी., ए.सी.टी.सी. या सी.आर.सी.के. नाम से जाना जा सकता है। लेकिन प्रायः इस नाम का संक्षिप्तीकरण बाघ राजा कर दिया जाता है। मैं आपको यह बतलाने आया हूँ कि उसे बाघ राजा के नाम से क्यों जाना गया? मेरा आगे बढ़ने का बहाना करने में ऐसा कोई इरादा नहीं है कि मैं नीतिगत रूप से पीछे हटूंगा। कोई स्तूक बमवर्षक की धमकी भी मुझे अपने मार्ग से नहीं हटायेगी। स्तूक, यदि चाहे तो शीघ्र से शीघ्र मेरी कहानी से पीछे हट सकता

प्रारंभ में ही, बाघ राजा के बारे में एक अत्यधिक महत्त्वपूर्ण घटना को प्रकाश में लाना अत्यावश्यक है। प्रत्येक व्यक्ति जो इसके बारे में पढ़ता है उसकी यह स्वाभाविक इच्छा होगी कि वह ऐसे अदम्य उत्साही व्यक्ति से साक्षात्कार का अनुभव प्राप्त करे। लेकिन इसके पूर्ण होने का कोई मौका नहीं है। जैसा कि भरत ने दशरथ के बारे में राम से कहा था, उसी प्रकार बाघ राजा सभी जीवित प्राणियों के अन्तिम घर (निवास) पर जा चुका है। अन्य शब्दों में, बाघ राजा मर चुका है।

उसकी मृत्यु का ढंग असामान्य रुचि का है। इसका भेद केवल कहानी समाप्त होने पर ही खुल सकता है। उसकी मृत्यु का सबसे अनोखा पहलू यह था कि जैसे ही वह पैदा हुआ, ज्योतिषियों ने भविष्यवाणी कर दी थी कि एक दिन बाघ राजा को वास्तव में मरना पड़ेगा।

“The child will grow ……………….squeaky voice. (Pages 1-2)

कठिन शब्दार्थ-swallow (स्वॉलउड) = निगलना miracle (मिरॅक्ल) = चमत्कार । phrase (फ्रेज) = पदबन्ध, वाक्यांश। emerged (इमॅजड) = दृष्टिगोचर होना। prophet (प्रॉफिट) = सन्त। transfixed (ट्रैन्सफिक्सट) = हक्का-बक्का होना stupefaction (स्ट्यूपिफैक्शन) = जड़, स्तंभित । blinked (ब्लिंक्ट) = आँख मिचकाना, पलक झपकाना। infant (इनफॅन्ट) = शिशु । enunciated (इ’ननसिएटिड) = स्पष्ट रूप से उच्चारण करना। spectacles (स्पेकटॅकल्ज) = चश्मा । intently (इन्टलि) = एकाग्रता से, ध्यान से। prediction (प्रिडिक्शन) = भविष्यवाणी | squeaky (स्क्वीकि) = चूं-चूं, चीं-चीं। हिन्दी अनुवाद-“बच्चा बड़ा होकर योद्धाओं का योद्धा बनेगा, वीरों का वीर बनेगा, विजेताओं का विजेता बनेगा। लेकिन………” उन्होंने अपने होंठ काट लिए और थूक निगला । जब भविष्यवक्ताओं को बाध्य किया गया तो उन्होंने यह बतलाया-“यह एक रहस्य है जिसे बिल्कुल भी प्रकट नहीं किया जाना चाहिए।

और फिर भी हमें बोलने पर मजबूर किया गया है। जो बच्चा इस नक्षत्र में पैदा होता है उसे एक दिन मरना पड़ता है।”

उसी क्षण एक महान् दैविक चमत्कार हुआ। उस दस दिन की आयु वाले जिलानी जंग जंग बहादुर के होंठों से एक आश्चर्यजनक वाक्यांश निकला, “ओ बुद्धिमान् संतो!” प्रत्येक व्यक्ति मूर्खता से जड़ होकर रह गया। उन्होंने एक-दूसरे की ओर ध्यान से देखा और आँखें मिचमिचाईं। “हे बुद्धिमान् संतो ! ये मैं बोल रहा हूँ।” इस समय शंका के कोई आधार नहीं थे। यह वह बच्चा था जो दस दिन पहले पैदा हुआ था और इतनी स्पष्ट आवाज में बोल रहा था। प्रमुख ज्योतिषी ने अपना चश्मा उतारा और बच्चे को ध्यान से देखने लगा। “वे सभी जो पैदा होते हैं उन्हें एक दिन मरना ही होता है। हमें यह जानने के लिए आपकी भविष्यवाणियों की आवश्यकता नहीं है। इसमें कोई अर्थ हो सकता है यदि आप मृत्यु का तरीका बतला सकें,” शाही शिशु ने अपनी चूं-चूं, चीं-चीं की आवाज में इन शब्दों का उच्चारण किया।

The chief astrologer …………………………………………….some truth. (Page 2)

कठिन शब्दार्थ-incredible (इनक्रेडॅबल) = अविश्वसनीय। quake (क्वैक) = काँपना। pronounced (पॅनाउन्स्ट) = उच्चारण करना, घोषणा करना। growl (ग्राउल) = गुर्राना। terrifying (टेरिफाइंग) = भयभीत हो जाना। rife (राइफ) = फैली हुई। hindsight (हाइण्डसाइट) = घटित होने से समझना।

हिन्दी अनुवाद-मुख्य ज्योतिषी ने अपनी अंगुली आश्चर्य से अपनी नाक पर रखी। केवल दस दिन का बच्चा बोलने के लिए अपने होंठ खोलता है ! वह केवल यह कह ही नहीं रहा, बुद्धिमत्तापूर्ण प्रश्न भी पूछ रहा है ! अविश्वसनीय ! जैसे कि युद्ध कार्यालय तथ्यों की बजाय समाचार जारी करता है । प्रमुख ज्योतिषी ने अपनी नाक से अंगुली हटाई और छोटे राजकुमार पर अपनी दृष्टि गड़ा दी।

“राजकुमार वृषभ काल में पैदा हुआ था। वृषभ और बाघ शत्रु हैं, इसलिए, बाघ के द्वारा मृत्यु होगी,” उसने स्पष्ट किया। आप सोच सकते हैं कि राजमुकुट के उत्तराधिकारी राजकुमार जंग जंग बहादुर ने जब ‘बाघ’ शब्द सुना होगा तो वह कांप गया होगा। किन्तु वास्तव में ऐसा कुछ भी घटित नहीं हुआ। जैसे ही उसने यह ‘शब्द सुने उसने गुर्राहट भरी आवाज निकाली। उसके होंठों से भयभीत करने वाले शब्द निकले। “बाघो सावधान हो जाओ!” यह बात प्रतिबन्दपुरम् में फैली हुई एक अफवाह है। परन्तु घटित होने पर ही हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि यह किसी न किसी सत्य पर आधारित थी।

II

Crown prince………………………….incoherent note. (Pages 2-3)

कठिन शब्दार्थ-marked (माक्ट) = विशेष उपलब्धि । nanny (नैनि) = धाय। tutored (ट्युटेंड) = शिक्षा दी गई। court of wards (कोर्ट ऑव वोड्ज) = संरक्षक। innumerable (इन्यूमॅरेबल) = अनगिनत । self-defence (सेल्फ-डिफेन्स) = आत्मरक्षा । beyond measure (बियोन्ड मेश(र)) = अपार, सीमा रहित । drawled (ड्रोल्ड) = फुसफुसाया, मद्धम आवाज में कहा। incoherent (इनकउहिअरॅन्ट) = बेढंगापन।

हिन्दी अनुवाद-राजगद्दी का उत्तराधिकारी राजकुमार जंग जंग बहादुर दिन-प्रतिदिन लम्बा और शक्तिशाली होता गया। पूर्व में वर्णित घटना के अलावा उसके बचपन में कोई और चमत्कार नहीं हुआ। लड़का एक अंग्रेजी गाय का दूध पीता रहा, एक अंग्रेज धाय के द्वारा उसका पालन-पोषण किया गया, एक अंग्रेज अध्यापक के द्वारा पदाया गया, अंग्रेगी फिल्म के अलावा कुछ नहीं देखता था-ठीक उसी प्रकार जैसे अन्य भारतीय राज्यों के सिंहासन के उत्तराधिकारी राजकुमार किया करते थे। जब वह बीस वर्ष का हुआ तो राज्य की सत्ता जो तब तक उसके संरक्षकों के अधीन थी, उसके हाथों में आ गयी।

लेकिन राज्य के प्रत्येक व्यक्ति को ज्योतिषी की भविष्यवाणी याद थी। बहुत से लोगों ने इस विषय पर चर्चा करना आरंभ कर दी। धीरे-धीरे यह बात महाराजा के कानों तक पहुँची।

प्रतिबन्दपुरम् राज्य में अनगिनत जंगल थे। उनमें बाघ थे। महाराजा पुरानी कहावत जानते थे, ‘आप आत्मरक्षा में गाय को भी मार सकते हैं।’ निश्चित रूप से आत्मरक्षा में बाघों को मारने पर कोई ऐतराज नहीं होगा। महाराजा ने बाघ का शिकार प्रारंभ कर दिया।

महाराजा के रोमांच की कोई सीमा नहीं रही जब उसने पहला बाघ मारा । उसने राज्य के ज्योतिषी को बुला भेजा और उसे मरा हुआ जानवर दिखाया।

“अब तुम क्या कहते हो?” उसने प्रश्न किया।

“महाराजाधिराज ठीक इसी प्रकार से निन्यानवे बाघ और मारो। लेकिन …….” ज्योतिषी ने बहुत मद्धम आवाज में कहा।

“परन्तु क्या? भयमुक्त होकर कहो।”

“किन्तु आपको सौवें बाघ से सतर्क रहना पड़ेगा।”

“जब सौवाँ बाघ भी मार गिराया जाएगा तब क्या होगा?”

“तब मैं अपनी तमाम ज्योतिष की पुस्तकें फाड़ डालूँगा, उनको आग लगा दूँगा, और….’

“और………..’’

“मैं अपनी चोटी काट लूँगा, अपने बाल छोटे करवा लूँगा और बीमा अभिकर्ता बन जाऊँगा,” ज्योतिषी ने बेढंगेपन से बात समाप्त की।

III

From that day ………………………his kingdom. (Pages 3-4)

कठिन शब्दार्थ-onwards (ऑनड्ज) = आगे। proclamation (प्रॉक्लॅमेशन) = घोषणा। celebration (सेलिब्रेशन) = उत्सव। issued (इस्यूड) = जारी करना । confiscated (कॉनफिसकेटिड) = सम्पत्ति पर कब्जा करना। vowed (वाउड) = प्रतिज्ञा, वादा। initially (इनिॉलि) = आरंभिक रूप से। ambition (ऐमबिशन) = महत्वाकांक्षा, इच्छा । bullet (बुलिट) = बन्दूक की गोली। fond of (फॉण्ड ऑव) = शौकीन। resolve (रिजॉल्व) = निश्चय। organise (ओगॅनाइज) = संगठित करना, व्यवस्थित करना। carcass (काकस) = पशुओं का मृत शरीर । relent (रिलेन्ट) = दया दिखाना, नरम पड़ना। deliberations (डिलिबरेशन्ज) = विचार-विमर्श । retain (रिटेन) = रखना, अधिकार में बनाए रखना।

अनुवाद-उसी दिन से प्रतिबन्दपुरम् में रहने वाले सभी बाघों का उत्सव काल आरंभ हो गया। राज्य में महाराजा के अतिरिक्त सभी पर बाघ के शिकार पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया। एक घोषणा तुरंत प्रभाव से जारी कर दी गई कि यदि किसी ने बाघ को एक पत्थर भी मारा तो उसकी सारी दौलत एवं जायदाद जब्त कर ली जाएगी।

महाराजा ने शपथ ली कि वे राज-काज के सारे मामले सौ बाघ मारने के बाद ही निपटाएँगे। प्रारंभिक रूप से राजा अपनी महत्त्वाकांक्षा को अच्छी तरह महसूस करता हुआ प्रतीत हो रहा था। ऐसा नहीं कि उसने खतरे का सामना न किया हो। कई बार ऐसा हुआ कि बन्दूक की गोली का निशाना चूक गया, बाघ उस पर झपट पड़ा और वह अपने खाली हाथों (बिना हथियार के) से ही जानवर से लड़ा। प्रत्येक बार यह महाराजा ही था जो विजयी हो जाता था।

एक अन्य समय उसे अपना सिंहासन (राजगद्दी) खोने के खतरे का सामना करना पड़ा। एक उच्चपदस्थ ब्रिटिश अधिकारी ने प्रतिबन्दपुरम् का दौरा किया। वह बाघ के शिकार का बहुत शौकीन था। और जिन बाघों को मारता उनके साथ फोटो खिंचाने का इससे भी ज्यादा शौकीन था। उसने हमेशा की तरह प्रतिबन्दपुरम् में शिकार करने की कामना की। लेकिन महाराजा अपने निश्चय पर अडिग थे। उसने आज्ञा देने से मना कर दिया। “मैं आपके लिए किसी दूसरे शिकार का इन्तजाम कर देता हूँ। आप सूअर के शिकार पर जा सकते हैं। आप एक चूहे के शिकार का आयोजन कर सकते हैं। हम मच्छर के शिकार के लिए तैयार हैं। लेकिन बाघ का शिकार! यह असंभव है!”

अंग्रेज अधिकारी के सचिव ने दीवान के माध्यम से महाराजा को एक संदेश पहुँचाया कि ‘दुराय’ (अंग्रेज अधिकारी) स्वयं बाघ का शिकार नहीं करेगा। वास्तविक शिकार महाराजा खुद कर सकते हैं। दुराय के लिए महत्त्वपूर्ण बात मृत बाघ के पास खड़े होकर हाथ में बन्दूक लिए हुए फोटो खिंचवाना है। लेकिन महाराजा इस प्रस्ताव पर भी सहमत नहीं हुए। यदि अब वह सहमत हो जाते हैं तो वह क्या करेगा जब अन्य ब्रिटिश अधिकारी बाघ के शिकार के लिए आग्रह करेंगे? क्योंकि उसने एक ब्रिटिश अधिकारी को उसकी इच्छा पूर्ण करने से रोका था, महाराजा के सामने अपना राज्य खोने का खतरा खड़ा हो गया।

महाराजा और दीवान ने इस विषय पर कई मंत्रणाएँ कीं। परिणामस्वरूप कलकत्ता की एक सुप्रसिद्ध ब्रिटिश जवाहरात कम्पनी के पास एक तार भेजा गया। ‘भिन्न-भिन्न डिजाइन की हीरे जड़ित मूल्यवान अंगूठियों के नमूने भेजे जावें।’ लगभग पचास अंगूठियाँ आ पहुँचीं । महाराजा ने ये सारी अंगूठियाँ अंग्रेज अधिकारी की पत्नी के पास पहुँचा दीं। राजा और मंत्री को आशा थी कि दुरायसनी एक या दो अंगूठियों का चुनाव कर शेष को वापस लौटा देगी। बहुत शीघ्र ही दुरायसनी ने अपना जवाब भेज दिया : ‘आपके उपहारों के लिए बहुत धन्यवाद।

दो दिन के अन्दर ब्रिटिश जौहरियों के यहाँ से तीन लाख रुपए का बिल आ गया। महाराजा प्रसन्न थे यद्यपि उसने तीन लाख रुपये का नुकसान उठाया, किन्तु उसने अपने राज्य को बचाने में सफलता प्राप्त कर ली।

IV

The Maharaja’s tiger ……………………….. Pratibandapuram palace. (Page 4)

कठिन शब्दार्थ-unforeseen (अनफोसीन) = पहले से जानकारी न होना, अप्रत्याशित । hurdle (हॅडल) = बाधा, अड़चन। extinct (इकस्टिक्ट) = लुप्त, दुर्लभ। committed (कॅमिटिड) = अपराध करना। harakiri (हैरॅकिरि) = आत्महत्या। aware of (अवेअ(र) ऑव) = सजग। brandishing (ब्रैन्डिशिंग) = गुस्से से डराने या धमकाने के लिए कुछ घुमाना । shuddering (शडरिंग्) = थरथराते हुए, कांपते हुए। idiot (इडिअट) = मूर्ख, बेवकूफ। babble (बैबल) = तुतलाना, बड़बड़ाना। ancestors (ऐनसेस्टॅज) = पूर्वज। crack (क्रैक) = (यहाँ-) खिलखिलाने की आवाज। rank (रेंक) = श्रेणी। statistics (स्टैटिसटिक्स) = आँकड़े। investigate (इनवेस्टिगेट) = छानबीन, खोजना।

हिन्दी अनुवाद-महाराजा का बाघ का शिकार अत्यन्त सफलतापूर्वक चलता रहा। दस साल के अन्तराल में वह सत्तर बाघ मारने में सफल हो गया। तब एक अप्रत्याशित बाधा उसके अभियान के सामने आकर खड़ी हो गयी। प्रतिबन्दपुरम् के जंगलों में बाघों की जनसंख्या लुप्त हो गयी। कौन जानता है कि बाघों ने परिवार नियोजन का पालन करना शुरू कर दिया या आत्महत्या करना शुरू कर दिया? या सामान्य रूप से राज्य से भाग गए क्योंकि वे केवल अंग्रेजों के हाथों शिकार होने के इच्छुक हों?

एक दिन महाराजा ने दीवान को बुलाया। “दीवान साहब, क्या आप इस तथ्य से अनभिज्ञ हैं कि मेरी इस बन्दूक द्वारा तीस बाघ और मारे जाने शेष हैं?” उसने गुस्से में अपनी बन्दूक हवा में घुमाते हुए पूछा। बन्दूक के डर से कांपते हुए दीवान चिल्लाया, “महाराजाधिराज, मैं बाघ नहीं हूँ!”

“कौन बेवकूफ तुम्हें बाघ कहेगा।” “नहीं, और मैं बन्दूक नहीं हूँ!””आप न तो बाघ हैं और न बन्दूक हैं । दीवान साहिब, मैंने आपको यहाँ एक भिन्न उद्देश्य के लिए बुलाया। मैंने शादी करने का निश्चय किया है।” दीवान और भी अधिक बड़बड़ाने लगा। “महाराजाधिराज, मेरे पहले से ही दो पत्नियाँ हैं। यदि मैं आपसे शादी कीं…” “मूर्खता की बातें मत करो! मैं आपसे शादी क्यों करूँगा? जो मैं चाहता हूँ वह बाघ है…….” “महाराजाधिराज! कृपया आप इस पर विचार कीजिए! आपके पूर्वजों ने तलवार से शादी की। यदि आप चाहें तो बन्दूक से शादी कर लें। इस राज्य के लिए एक बाघ राजा ही काफी है। इसके लिए एक बाघ रानी नहीं चाहिए!”

महाराजा जोर से खिलखिला कर हँसने लगा। “मैं बाघ या बन्दूक से शादी करने की नहीं सोच रहा हूँ, परन्तु मानवों की श्रेणियों में से ही एक लड़की से शादी करने की सोच रहा हूँ। सर्वप्रथम तुम अलग-अलग पड़ोसी राज्यों में बाघों की जनसंख्या के आँकड़े इकट्ठे करो। इसके बाद तुम खोजो कि क्या किसी राजपरिवार की शाही लड़की है जिससे मैं शादी करूँ जिस राज्य में सबसे ज्यादा बाघ हों।”

दीवान ने उसके आदेशों का पालन किया। उसे एक ऐसे राज्य की सही लड़की मिल गई जिस राज्य में बाघों की विशाल जनसंख्या थी। प्रत्येक बार जब भी महाराजा जंग जंग बहादुर अपने श्वसुर के पास जाता पाँच या छ: बाघ मार देता था। इस प्रकार प्रतिबन्दपुरम् के महल के स्वागत कक्ष में निन्यानवे बाघों की खालें सुशोभित हो गईं।

v

The Maharaja’s anxiety ……………………hunt at once. (Pages 4-5)

कठिन शब्दार्थ-anxiety (ऐनाजाईअटि) = चिन्ता । pitch (पिच) = अवस्था, पराकाष्ठा, चरम सीमा। tally (टैलि) = हिसाब । gloom (ग्लूम) = धुंधलापन, उदासी। dispelled (डिस्पेल्ड) = दूर कर दिया। ascertain (ऐसॅटेन) = पता लगाना।

हिन्दी अनुवाद-महाराजा की चिन्ता उस समय अपनी चरम सीमा पर पहुँच गयी जब उसकी सौ बाघों की गणना में केवल एक शेष रह गया। वह दिनभर केवल इसी बात पर विचार करता था और रात को सपना देखता था। इस समय तक बाघों के क्षेत्र बाघविहीन हो गए यहाँ तक कि उसके श्वसुर के राज्य में भी। कहीं भी बाघ का पता लगाना असंभव हो गया। केवल एक बाघ की अभी और आवश्यकता थी। यदि वह एक जानवर को और मार दे तो महाराजा भयमुक्त हो जाएंगे। साथ ही वह बाघ का शिकार भी त्याग देंगे। किन्तु उसे इस अन्तिम बाघ से बहुत सतर्क रहने की आवश्यकता थी। अन्तिम स्वर्गीय प्रधान ज्योतिषी ने क्या कहा था? “निन्यानवे बाघों को मारने के बाद भी सौवें बाघ से महाराजा को बहुत सावधान रहना चाहिए।” पर्याप्त सत्य। आखिरकार बाघ एक जंगली जानवर था। प्रत्येक को इसका ध्यान रखना चाहिए था। लेकिन यह सौवाँ बाघ कहाँ मिलने वाला था? बाघ का दूध प्राप्त करना एक जिन्दा बाघ प्राप्त करने से ज्यादा आसान दिखायी देता था। इस प्रकार महाराजा उदासी में डूब गए। लेकिन शीघ्र ही प्रसन्नता का समाचार मिला जिससे महाराजा की निराशा दूर हो गयी। पहाड़ी के बगल के गाँव में महाराजा के राज्य में लगातार भेड़ें गायब होने लगीं। पहले यह पता लगाया गया कि यह काम खादेर मियां साहिब या वीरा सामी नाइकर का तो नहीं था, दोनों ही पूरी की पूरी भेड़ों को निगल जाने की अपनी योग्यता के लिए प्रसिद्ध थे। निश्चय ही कोई बाघ अपना काम कर रहा था। गाँव वाले महाराजा को सूचित करने के लिए दौड़ पड़े। महाराजा ने उस गाँव का तीन साल का लगान माफ करने की घोषणा की और तुरंत ही शिकार के लिए प्रस्थान कर दिया।

The tiger was…………………………………down to the ground. (Page 5)

कठिन शब्दार्थ-wantonly (वॉनटॅनलि) = चंचलता। flout (फ्लाउट) = आज्ञा पालन से इनकार करना, कानून का उल्लंघन करना। fury (फ्युअरि) = उन्माद, क्रोध का पागलपन 1 obstinacy (ऑब्सटिनॅसि) = जिद। rage (रेज) = क्रोध । discontented (डिसकॅनटेन्टिड) = असंतुष्ट । prey (प्रे) = शिकार। catastrophic (कैटॅस्ट्रॉफिक) = विभीषिका, मुसीबत । shoved (शोब्ड) = रूखेपन से धकेला । launched (लान्च्ट) = प्रारम्भ किया। exhausted (इग्जोस्टिड) = बाहर निकाला। haul (होल) = घसीटना, खींचना।

हिन्दी अनुवाद-बाघ आसानी से नहीं मिला। ऐसा दिखायी देता था मानो उसने चंचलता से महाराजा की इच्छा पूरी करने से इनकार करने हेतु अपने आपको कहीं छिपा लिया। महाराजा ने भी समान रूप से दृढ़ निश्चय कर रखा था। उसने भी बाघ के मिलने तक जंगल छोड़ने से इनकार कर दिया। ज्यों-ज्यों दिन बीतते चले गए महाराजा का गुस्सा और जिद बढ़ती चली गयी। बहुत से अधिकारियों की नौकरी चली गई।

एक दिन जब महाराजा का गुस्सा चरम पर था, महाराजा ने दीवान को बुलवाया और उसे तुरन्त लगान दुगुना करने का आदेश दिया। “लोग असंतुष्ट हो जायेंगे। तब हमारा राज्य भी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का शिकार बन जाएगा।” “उस अवस्था में तुम अपने पद से त्यागपत्र दे सकते हो” राजा ने कहा। दीवान इस बात को सोचता हुआ घर चला आया कि यदि महाराजा को शीघ्र ही बाघ नहीं मिला तो परिणाम संकट उत्पन्न करने वाले होंगे। उसकी जान में जान तब आई जब उसने मद्रास के जन-उद्यान से लाये गये उस बाघ को देखा जो उसके घर में छिपाकर रखा गया था। आधी रात को जब शहर शांतिपूर्वक सोया हुआ था तो दीवान और उसकी अधेड़ उम्र की पत्नी ने बाघ को कार तक घसीटा और जबरदस्ती सीट पर लूंस दिया। दीवान स्वयं कार को चला कर जंगल तक ले गया जहाँ महाराजा शिकार पर था। जब वे जंगल में पहुंचे तो बाघ ने सत्याग्रह शुरू कर दिया और कार से बाहर निकलने से मना कर दिया। दीवान ने बाघ को कार से घसीट कर बाहर निकालने में अपनी सम्पूर्ण शक्ति लगा दी और उसे जमीन पर धकेल दिया।

On the following day……………………………….erected over it.

(Pages 5-6) कठिन शब्दार्थ-supplication (सप्लिकेशन) = सविनय निवेदन। crumpled (क्रम्पल्ड) = सलवटों में कुचला हुआ, सिकुड़ा हुआ। elation (इलेशन) = उल्लास, गौरव, प्रसन्नता । procession (पॅसेसन) = जुलूस। bafflement (बैफलमॅन्ट) = घबराहट, व्याकुलता । whizzing (विजिंग) = सनसनाहट, गोली की आवाज। tomb (ट्रम) = मकबरा।

हिन्दी अनुवाद-अगले दिन वही बूढ़ा बाघ महाराजा की उपस्थिति में घूमता रहा और मानो विनम्र निवेदन कर रहा था, कि “मालिक मेरे लिए क्या हुक्म है?” यह एक असीम खुशी की बात थी कि महाराजा ने जानवर पर सावधानीपूर्वक निशाना साधा। बाघ सिकुड़े हुए ढेर के रूप में गिर पड़ा। “मैंने सौवाँ बाघ मार दिया है। मेरी प्रतिज्ञा पूरी हो गई है,” महाराजा अपनी सफलता के गर्व से बहुत आनन्दित हुआ। बाघ को शानदार जुलूस के साथ राजधानी में लाने का आदेश देते हुए, महाराजा अपनी कार में शीघ्रता से चला गया।

महाराजा के जाने के बाद, शिकारी बाघ को नजदीक से देखने गए। बाघ ने व्याकुलता से उनकी तरफ आँखें घुमाकर देखा। आदमियों ने महसूस किया कि बाघ मरा नहीं था; गोली अपना निशाना चूक गयी थी। वह केवल गोली के समीप से गुजरने की तीव्र ध्वनि से बेहोश हो गया था। शिकारी हैरान थे कि अब क्या किया जाये। उन्होंने निश्चय किया कि महाराजा को यह मालूम नहीं होना चाहिए कि उसका निशाना चूक गया था। यदि वे ऐसा करते तो अपनी नौकरी गँवा सकते थे। उनमें से एक शिकारी ने एक फुट की दूरी से निशाना साधा और बाघ को गोली मार दी। इस समय उसने बिना निशाना चके उसे मार डाला था। तब जैसा कि महाराजा का आदेश था, मत बाघ को कस्बे में लाया गया और दफना दिया गया। उसके ऊपर एक मकबरा बना दिया गया।

A few days later……………………………………………..the Tiger King. (Page 6)

कठिन शब्दार्थ-celebrated (सेलिब्रेटिड) = मनायी गयी। entire (इनटाइअ(र)) = सम्पूर्ण । spare (स्पेअ(र)) = अतिरिक्त । crown prince (क्राउन प्रिंस) = सिंहासन का उत्तराधिकारी राजकुमार। searched (सॅच्ट) = तलाश किया। perfect (पॅफिक्ट) = उचित, ठीक। cost (कॉस्ट) = कीमत quarter (क्वोटॅ(र)) = चौथायी। quoted (क्वउटिड) = कहा, बतलाया। low price (लउ-प्राइस) = कम-मूल्य। emergency (इमर्जेन्सि) = शाही नियम, आपातकाल। extremely (इक्स्ट्रीमलि) = बहुत अधिक। rare (रेअ(र)) = दुर्लभ। craftmanship (क्राफ्टमैनशिप) = शिल्पकला। bargain (बागेन) = सौदा। offering (ऑफॅरिंग) = भेंट। tiny (टाइनि) = बहुत छोटा। carved (काव्ड) = तराशा गया। sliver of wood (स्लि(र) आँव वुड) = लकड़ी के रेशे। quills (क्विल्ज) = काँटे। infection (इनफेक्शन) = संक्रमण। flared (फ्लेअड) = फैल गया। suppurating (सप्युरेटिंग) = जहर फैलना, घाव में मवाद आना | consultation (कॉनसलटेशन) = विचार-विमर्श । operate (ऑपरेट) = शल्य क्रिया करना। surgeon (सॅजन) = शल्य चिकित्सक। performed (पॅफोम्ड) = पूरा किया। revenge (रीवेंज) = बदला। unskilled (अनस्किल्ड) = अकुशल।

हिन्दी अनुवाद-कुछ दिन बाद महाराजा के पुत्र का तीसरा जन्मदिन मनाया गया। तब तक महाराजा ने बाघों के शिकार पर ही अपना सारा ध्यान लगा रखा था। उसके पास सिंहासन के उत्तराधिकारी राजकुमार के लिए अतिरिक्त समय नहीं था। लेकिन अब राजा ने अपने बच्चे पर ध्यान देना प्रारंभ कर दिया। वह उसे जन्म दिन पर कुछ विशेष उपहार देना चाहता था। वह प्रतिबन्दपुरम् के बाजार में गया और प्रत्येक दुकान पर तलाश किया, लेकिन कोई भी अच्छा उपहार प्राप्त न कर सका । अन्त में उसने एक खिलौने की दुकान पर लकड़ी का बना हुआ बाघ देखा और निश्चय किया कि यही उपयुक्त उपहार था। लकड़ी के बाघ की कीमत केवल सवा दो आना थी। लेकिन दुकानदार जानता था कि यदि वह इतनी कम कीमत महाराजा को कहेगा तो वह राजकीय कानून के अनुसार दण्डित किया जायेगा। इसलिए उसने कहा, “महाराज, यह शिल्प कला का एक अद्भुत नमूना है और इसका मूल्य तीन सौ रुपए है।” “बहुत अच्छा । यह तुम्हारी तरफ से सिंहासन के उत्तराधिकारी राजकुमार को उसके जन्मदिन पर भेंट दिया जाएगा,” राजा ने कहा और उसे अपने साथ ले गया। उस दिन पिता और पुत्र उस छोटे से लकड़ी के बाघ के साथ खेल रहे थे। यह एक अकुशल कारीगर द्वारा तराशा गया था। इसका धरातल बहुत खुरदरा था, लकड़ी के छोटे-छोटे रेशे कांटे की तरह इसके चारों ओर खड़े थे। उनमें से एक रेशा महाराजा के दाहिने हाथ में चुभ गया। उसने इसे अपने बाएँ हाथ से खींच) कर बाहर निकाल दिया और राजकुमार के साथ फिर से खेलने लगा।

अगले ही दिन, महाराजा के दाहिने हाथ में संक्रमण फैल गया। चार दिनों में ही यह एक मवाद वाला घाव बन गया जो उसके सारे हाथ में फैल गया। मद्रास से तीन प्रसिद्ध शल्य चिकित्सक बुलाए गए। आपस में विचार-विमर्श करने के बाद उन्होंने शल्य चिकित्सा करने का निश्चय किया। शल्य चिकित्सा आरंभ हो गई। तीन शल्य चिकित्सक जिन्होंने शल्य चिकित्सा की थी, शल्य चिकित्सा कक्ष से बाहर निकले और घोषणा की, “ऑपरेशन सफल रहा । महाराजा मर गये/हैं।” इस प्रकार सौवें बाघ ने अन्त में बाघ राजा से बदला ले लिया।