12 The Noble Nature [उदात्त प्रकृति]

Ben Jonson

About the Poem (कविता के बारे में)

Ben Jonson (1573-1637) एक बहुमुखी तथा प्रभावशाली साहित्यिक व्यक्तित्व थे जिन्हें 17वीं। शताब्दी के नाटककार, कवि, अभिनेता तथा समालोचक के रूप में जाना जाता था। आपको अपनी प्रतिभाशाली गम्भीर/कालजयी तथा यथार्थवादी हास्य-रचनाओं के लिए जाना जाता है। आपकी स्मरणीय हास्य-रचनाएँ हैं-‘Volpone’, The Alchemist’ तथा ‘The Silent Woman |

The Noble Nature एक लघु काव्य है जिसकी रचना Ben Jonson ने की है जो उच्चस्तरीय अर्थ देती है तथा मानवता को एक उच्च सन्देश देती है कि हम कार्यों में जीते हैं न कि वर्षों में। कवि प्रकृति से

ओक वृक्ष तथा लिलि फूल रूपी दो प्रतीक के माध्यम से एक अर्थहीन तथा प्रभावहीन लम्बे जीवन की तुलना साहसपूर्ण तथा बुद्धिमतापूर्ण कार्यों से परिपूर्ण लघु जीवन से करता है। Jonson विस्तृत प्रचार-प्रसार करते हैं कि मानव जीवन के महत्त्व का मापन आयु से नहीं बल्कि उपलब्धियों तथा श्रेष्ठ कार्यों के आधार पर किया जाता है जो लम्बे समय तक शाश्वत रूप से अपनी छाप छोड़ते रहते हैं।

| कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद |

Stanza-1 : It is not growing………………………………..bald and sere. (Page 88)

कठिन शब्दार्थ : growing (ग्रोइङ्) = बढ़ना/विकसित होना। bulk (बल्क्) = बड़ा आकार। better (बेट(र)) = बेहतर/महान् । long (लॉङ्) = लम्बे समय तक। oak (ओक) = एक विशाल पेड़। log (लॉग्) = लट्ठा। bald (बॉल्ड्) = नग्न/पत्तियों रहित। sere (सिअर) = मुरझाया/सूखा हुआ।

हिन्दी अनुवाद-आकार में वृक्ष के समान विकसित हो जाना मनुष्य को महान् नहीं बना देता। अथवा 300 वर्षों के लम्बे समय तक ओक वृक्ष के समान खड़े रहना, अन्त में सूखा, पत्तियों रहित एवं मुरझाया हुआ लट्ठा बनकर गिर पड़ना किसी को महान् नहीं बनाता है।

Stanza-2 : A lily of a………………………………..may perfect be. (Page 88)

कठिन शब्दार्थ : lily (लिलि) = कुमुदिनी पुष्प । of a day (ऑव अ डे) = एक दिन जीवित रहने वाला। fairer (फेअरर) = अधिक सुन्दर। light (लाइट्) = प्रकाश (अर्थात् सौन्दर्य एवं प्रसन्नता)। proportions (प्रपॉश्न्ज ) = अनुपात। just (जस्ट्) = सच्ची। beauties (ब्यूटिज) = सुंदरताएँ।

measures (मेश(र)ज) = काल/अवधि । perfect (पॅफिक्ट) = पूर्ण।

हिन्दी अनुवाद-एक दिन जीवित रहने वाला लिलि पुष्प बसंत में काफी सुन्दर दिखाई देता है। यद्यपि वह उसी रात्रि को गिर पड़ता है और नष्ट हो जाता है, फिर भी वह सौन्दर्य एवं प्रसन्नतादायक पौधा व पुष्प कहा जायेगा। छोटे-छोटे आकार की चीजों में हम सच्चे सौन्दर्य के दर्शन कर सकते हैं। इसी प्रकार छोटी अवधि का जीवन भी पूर्णता लिये हो सकता है।