2 प्रत्यय

पाठ्यक्रम में निर्धारित प्रत्यय (प्रत्ययों के प्रयोग एवं उनसे निर्मित शब्द) : आई, त्व, ता, पन, वा, हट, वट।
नवीनतम पाठ्यक्रम के अनुसार प्रस्तुत प्रकरण से कुल 2 अंकों के प्रश्न पूछे जाएँगे।

ध्यातव्य-पाठ्यक्रम में निर्धारित प्रत्ययों के अर्थ के साथ-साथ उनसे निर्मित शब्द भी दिये जा रहे | हैं। यह विद्यार्थियों के ज्ञान-बोध में सहायक होगे।

परिभाषा–जो शब्दांश या वर्ण किसी शब्द के अन्त में जोड़े जाते हैं और जिनके जुड़ने से शब्द का अर्थ बदल जाता है या उनमें कुछ नवीन विशेषता आ जाता है, उन्हें प्रत्यय कहते हैं। इन शब्दांशों का स्वतन्त्र रूप से प्रयोग नहीं होता।

प्रत्यय के प्रकार-प्रत्यय के दो भेद हैं—

  1. कृत् प्रत्यय तथा
  2. तद्धित प्रत्यय।।

(1) कृत् प्रत्यय-जो शब्दांश, धातु के बाद लगाये जाने पर संज्ञा, विशेषण तथा अव्यय शब्द बनाते हैं, वे कृत् प्रत्यय कहलाते हैं। क्रियाओं के सामान्य रूप-उठना, पढ़ना आदि में से ‘ना’ को निकाल देने पर बचा हुआ रूप ‘धातु’ कहलाता है। कृत् प्रत्यय से बने शब्दों को कृदन्त कहते हैं; जैसे-‘पढ़’ धातु में ‘आई’ प्रत्यय जुड़कर ‘पढ़ाई’ शब्द बनता है।

(2) तद्धित प्रत्यय-जो शब्दांश, धातु के अतिरिक्त अन्य शब्दों (संज्ञा, विशेषण, सर्वनाम आदि) के बाद जुड़कर नये शब्द बनाते हैं, वे तद्धित प्रत्यय कहलाते हैं; जैसे–‘सुन्दर’ शब्द में ‘ता’ प्रत्यय जोड़कर ‘सुन्दरता’ शब्द बनता है।

प्रत्यय और उपसर्ग में अन्तर–‘प्रत्यय’ शब्द के अन्त में जोड़ा जाता है और ‘उपसर्ग’ शब्द से पहले; जैसे-

कुशल में ‘अ’ उपसर्ग जोड़ने पर-अकुशल।
कुशल में ‘ता’ प्रत्यय जोड़ने पर-कुशलता

कृत् प्रत्यय के उदाहरण

1. अन-गमन, पठन, दर्शन, पूजन, नमन, मनन, चिन्तन, मिलन।
2. अ-खेल (खेल् + अ), चर, चल, जय, तप, फल, बन्ध, मन्त्र।
3. अनीय-पूजनीय, दर्शनीय, नमनीय, सहनीय, वन्दनीय, पठनीय।
4. अक/क--मोहक, दर्शक, लेखक, पाठक, बोधक, बैठक।
5. आऊ—जड़ाऊ, उठाऊ, चलाऊ, जमाऊ, उड़ाऊ, टिकाऊ, बिकाऊ।
6. आका-धमाका, लड़ाका, उड़ाका।
7. आन-उठान, ढलान, उफान, थकान, उड़ान, मिलान।
8. आवा/वा [2011, 12, 13, 14, 15, 16, 17]-पहनावा, ओढ़ावा, दिखावा, चढ़ावा।
9. आव-बचाव, दुराव, छिपाव।।
10. आहट/हट [2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]-घबराहट, जगमगाहट, आहट, सरसराहट, गड़गड़ाहट, चिल्लाहट।
11. आई [2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]-लिखाई, पढ़ाई, हँसाई, चढ़ाई, जुताई, कमाई, निराई, सिलाई।
12. आ–घेरा, झगड़ा, झूला, ठेला।
13. ई-हँसी, माफी, द्वेषी, द्रोही, धमकी।
14. ऊ–खाऊ, कमाऊ, रट्ट, झाडू।
15. औता, ओता-समझौता, न्योता।
16. त, इत–कृत, मृत, पठित, लिखित, रचित, चलित, फलित।
17. नी–कहानी, कथनी, करनी, ओढ़नी।
18. आवट/वट [2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]-सजावट, लिखावट, गिरावट, थकावट, बनावट।
19. तव्य—कर्त्तव्य, गन्तव्य, मन्तव्य, ध्यातव्य।
20. औती-फिरौती, मनौती।
21. आप-मिलाप।
22. इयल–मरियल, सड़ियल, अड़ियल, दढ़ियल।
23. अक्कड़-घुमक्कड़, पियक्कड़।

तद्धित प्रत्यय के उदाहरण

1. अयन-रसायन, रामायण, नारायण।।
2. आलु, आलू-दयालु, कृपालु, शंकालु, झगड़ालू।
3. आनी, आइन [2009, 18]-सेठानी या सेठाइन, नौकरानी, देवरानी, जेठानी, पण्डितानी या पण्डिताइन, ललाइन।
4. इन-सुनारिन, कलारिन, चमारिन।।
5. इक–श्रमिक, कर्णिक, पारिवारिक, आर्थिक, व्यावसायिक, सामाजिक, नागरिक, राजनीतिक, वैज्ञानिक, सैनिक।।
6. इम–पश्चिम, अन्तिम, अग्रिम, अरुणिम, स्वर्णिम।
7. इमा–लालिमा, लघिमा, गरिमा, महिमा, नीलिमा, हरीतिमा।
8. ईला-चमकीला, भड़कीला, रसीला, जहरीला, गर्वीला।
9. ईन-नवीन, प्राचीन, कुलीन, ग्रामीण।
10. ईय [2015, 17]-नगरीय, जातीय, मानवीय, भवदीय, भारतीय, नारकीय, स्वजातीय।
11. ई–देशी, विदेशी, परदेशी, फली, नगरी।
12. ऊ-बाजारू, गॅवारू।
13. कार-कलाकार, स्वर्णकार, चर्मकार, रचनाकार, निबन्धकार।
14. वार- उम्मीदवार, कसूरवार।।
15. ता [2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]—सुन्दरता, सज्जनता, दुर्जनता, मधुरता, महानता, लघुता।
16. त्र-यत्र, तत्र, सर्वत्र, एकत्र, अन्यत्र।
17. त्व[2009, 11, 12, 13, 14, 15, 15, 17, 18]-बन्धुत्व, मृदुत्व, लघुत्व, कवित्व, प्रभुत्व, महत्त्व, ममत्व, मनुष्यत्व।
18. था-सर्वथा, व्यथा, यथा, अन्यथा
19. पा–बुढ़ापा, रंड़पा।।
20. पन [2009, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18]-बचपन, लड़कपन, भोलापन, बड़प्पन, पागलपन।
21. मती–श्रीमती, स्वस्तिमती, बुद्धिमती।
22. मान्-बुद्धिमान्, श्रीमान्, शक्तिमान्।
23. वती–गुणवती, रूपवती, सौभाग्यवती।
24. वान् [2018] विद्वान्, धनवान्, ज्ञानवान्, दयावान्, रूपवान्।
25. आर—लुहार, कुम्हार, सुनारे।।
26. वना–भयावना, सुहावना, डरावना।
27. वन्त, मन्त–श्रीमन्त, गुणवन्त, दयावन्त, भगवन्त।
28. ला–अगला, पिछला, पतला, मॅझला, दुबला।
29. स्थ-निकटस्थ, दूरस्थ, गृहस्थ, स्वस्थ, समीपस्थ।
30. आस-मिठास, उजास, निकास।
31. हारा–लकड़हारा, रोवनहारा, चुड़िहारा।
32. हार-सृजनहार, खेवनहार, राखनहार।।
33. आई [2009, 10, 12, 14, 18]–चतुराई, चौड़ाई, लम्बाई, ऊँचाई, मोटाई, पिसाई।।
34. मय–राममय, धर्ममय, कर्ममय, स्नेहमय, संगीतमय।
35. पूर्वक—प्रेमपूर्वक, विचारपूर्वक, शान्तिपूर्वक, विनयपूर्वक, नियमपूर्वक, दयापूर्वक।
36. प्रद–लाभप्रद, हानिप्रद, भयप्रद, लोभप्रद, कल्याणप्रद।
37. आत्मक – विचारात्मकं, प्रश्नात्मक, वर्णनात्मक, विवेचनात्मक, व्यंग्यात्मक, बोधात्मक, आलोचनात्मक।
38. जन्य-रागजन्य, प्रेमजन्य, द्वेषजन्य, भावजन्य, क्रोधजन्य।
39. हरा-सुनहरा, खरहरा, पपीहरा, चौहरा।।
40. आकू [2018]–लड़ाकू, पढ़ाकू।

प्रत्यय से सम्बन्धित अतिरिक्त सामग्री

प्रश्न 1
निम्नलिखित शब्दों से प्रकृति (मूल-शब्द) तथा प्रत्यय को पृथक् करके लिखिए-
उत्तर
UP Board Solutions for Class 10 Hindi प्रत्यय img-1
UP Board Solutions for Class 10 Hindi प्रत्यय img-2

प्रश्न 2
निम्नलिखित प्रत्ययों से युक्त तीन शब्द लिखिए-
उत्तर

UP Board Solutions for Class 10 Hindi प्रत्यय img-3