3 (i) The Guitar Player[सितार (गिटार) वादक]

(ii) Svayamvara (स्वयंवर)

-Suniti Namjoshi

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

THE GUITAR PLAYER

(सितार वादक)

A girl played ……………………… suit the occasion. (Pages 15-16)

कठिन शब्दार्थ- passing by (पासिंग बाइ) = राहगीर music (म्यूजिक) = संगीत। fountain (फाउन्टेन) = फव्वारा। rose (रोज) = ऊपर उठा। fell away (फैल अवे) = बैठ गया। listener (लिसनर) = सुनने वाला । thought hard (थॉट हार्ड) = अपने दिमाग पर जोर डालकर सोचा। ventured (वैन्चर्ड) = साहस किया। instrument (इन्सट्रमैण्ट) = यंत्र । perplexed (परप्लैक्स्ट) = हैरान हो गये (घबरा गये)। All night long (आल नाइट लोंग) = पूरी रात भर। ran through (रैन श्रू) = गूंजती रही। perfectly (पॅफेक्टलि) = पूर्ण रूप से। obvious (ऑबवियस्) = स्पष्ट (बिल्कुल साफ)| swore (स्वोर) = शपथ खाते हुए। gifts (गिफ्ट्स) = प्रतिभाएँ। possessions (पजेशन्ज) = अधिकार में रखी वस्तुएँ। tune (ट्यून) = धुन।

हिन्दी अनुवाद-एक लड़की अपना गिटार बजाती थी और ऐसा हुआ कि किसी राहगीर ने उसको सुन लिया और वह उससे (उस लड़की से) प्रेम करने लगा। लड़की ने उससे पूछा, “क्या यह मेरे संगीत के प्रति प्रेम है या मेरे प्रति?” संगीत चलता रहा, एक फव्वारे से पानी हवा में ऊँचा उठा और फिर बैठ गया (शांत हो गया)। संगीत सुनने वाले ने अपने दिमाग पर जोर देते हुए सोचा और फिर अन्ततः उसने कहा, “मैं नहीं जानता। सही उत्तर क्या है?” लड़की ने जवाब दिया, “आपको नहीं बताऊँगी, लेकिन यह वह (सही जवाब) नहीं है।” और फिर वह गिटार बजाती रही। शीघ्र ही एक दूसरे राहगीर ने संयोग से उसे देख लिया और वह भी उससे प्रेम करने लगा। लड़की ने जाँच-पड़ताल करते हुए पूछा, “क्या यह मैं हूँ जिसको कि आप प्यार करते हो? या मेरे गिटार को?” दूसरे राहगीर ने गिटार की तरफ एकटक होकर देखा, लड़की की तरफ देखकर मुस्कराया और आखिरकार उसने कहने का साहस किया, “ठीक है, मैं नहीं जानता। यह एक बहुत सुन्दर यंत्र है। सही उत्तर क्या है?” लेकिन उसने (लड़की ने) केवल इतना कहा कि वह (सही उत्तर) यह नहीं था और फिर अपना गिटार बजाने लगी।

दोनों ही राहगीर बहुत अधिक घबरा गये थे। वह गिटार का संगीत पूरी रात भर उनके सिर में गूंजता रहा और जब वे अगले दिन वापस आये तो यह पूर्ण रूप से स्पष्ट था कि उन दोनों ने अपनी कही जाने वाली बात (भाषण) को पहले से ही तैयार कर लिया था। पहले ने घोषित करते हुए कहा, “मैं तो तुमसे प्यार करूँगा चाहे भले ही तुम संगीत का एक स्वर भी नहीं निकाल सको।” दूसरे ने शपथ खाते हुए कहा, “और मैं तुमको प्रेम करूँगा चाहे भले ही तुम्हारे पास तुम्हारे स्वयं की गिटार नहीं हो।”

लड़की ने जवाब दिया, “आप यह नहीं समझते हो, मैं एक संगीतज्ञ हूँ। आप कौनसे मुझको (मेरे किस रूप को-संगीतज्ञ का रूप या मेरे स्वयं का रूप) प्यार करते हो? यदि आप मेरे संगीत को बिल्कुल महत्व

नहीं देते हो?”

उन्होंने कहा, “अरे, क्या हमने तुमको गलत जवाब दिया?”

‘हाँ’, लड़की ने जबाव दिया।

“अच्छा बताओ सही जवाब क्या है?”

“आपको मुझे पूर्ण रूप में प्यार करना चाहिये, ठीक उसी रूप में जैसी कि मैं हूँ, मेरी सभी प्रतिभाओं को (गुणों को), मेरी सभी वस्तुओं को, मेरी प्रत्येक वस्तु को जो मेरे पास रही हैं और अब से आगे भी मेरे साथ रहेंगी।”

“लेकिन यह तो असम्भव है!” वे साथ-साथ जोर से चीख पड़े।

लड़की ने सहमति प्रकट करते हुए कहा, “हाँ”, और उस अवसर के अनुकूल एक दु:खद छोटी-सी धुन का चयन किया।

SVAYAMVARA

(स्वयंवर)

Once upon ……………………… marry him’. (Page 16)

कठिन शब्दार्थ-whistling (विस्लिंग) = सीटी बजाना। grieved (ग्रीव्ड) = व्यथित हो गये। make the best of it = इसका अच्छे से अच्छा प्रयोग करना । offer (ऑफर) = समर्पित करना। (बीट) = मात देना (हरा देना) duly (ड्यूली) = विधि प्रकार से। proclaimed (प्रोक्लेम्ड) = घोषणा कर दी गई। jammed (जैम्ड) = मनुष्यों की भीड़ से ठसाठस भर गया। suitors (स्यूटर्स) = विवाहार्थी (प्रेमी) displeased (डिसप्लीज्ड) = नाराज हो गया । never mind (नेवर माइन्ड) = कोई चिन्ता की बात नहीं। set a test (सैट अ टैस्ट) = परीक्षा (का रूप) तय करना । acknowledge (अक्नॉलिज) = स्वीकार करना। fairly (फेअरलि) = बहुत अच्छी तरह से। were beaten (वर बीटन) = हरा दिये गये। roared (रोअर्ड) = दहाड़ कर बोले। except (एक्सैप्ट) = सिवाय । trick (ट्रिक) = चालाकी। turning (टर्निंग) = मुड़ते हुए। pointed (पॉइन्टिड) = इशारा किया।

हिन्दी अनुवाद-एक बार एक छोटी राजकुमारी थी जो सीटी बजाने में बहुत अच्छी थी। उसकी माँ ने कहा, “सीटी मत बजाया करो।” उसके पिता ने कहा, “सीटी मत बजाया करो।” लेकिन बच्ची सीटी अच्छी प्रकार से बजाती थी और वह सीटी बजाती रही। सालों गुजर गये और वह एक महिला बन गई। इस समय तक वह सीटी बहुत सुन्दरता से बजाती थी। उसके माता-पिता को बहुत दु:ख होता था। “एक सीटी बजाने वाली महिला से कौन पुरुष शादी करेगा?” उसकी मां ने दु:खी होकर कहा। उसके पिता ने कहा, “ठीक है, हमको ऐसी परिस्थिति में जो सबसे अच्छा हो सकता है, वही करना चाहिये। मैं किसी भी पुरुष को जो उसको (मेरी पुत्री, राजकुमारी को) सीटी बजाने में मात दे देगा (हरा देगा) उस मनुष्य को में शादी में अपना आधा राज्य और राजकुमारी को भेंट में दे दूँगा।” राजा के इस भेंट (प्रस्ताव) की विधिवत् घोषणा कर दी गई और शीघ्र ही महल सीटी बजाने वाले विवाहार्थियों से ठसाठस भर गया। वहाँ बहुत शोरगुल हो रहा था। अधिकतर लोग भयानक थे और केवल थोड़े से लोग ही अच्छे थे। लेकिन राजकुमारी उनमें से प्रत्येक से अधिक अच्छी थी और उसने (राजकमारी) उनको (विवाहार्थियों को) आसानी से हरा दिया। राजा नाराज था लेकिन राजकमारी ने कहा, “कोई चिन्ता मत कीजिये, पिताजी। अब मझे परीक्षा के एक रूप को निश्चित करने दीजिये और शायद इसका कुछ अच्छा परिणाम ही निकल कर आयेगा।” फिर वह विवाहार्थियों की तरफ मुडी, “क्या आप लोग यह स्वीकार करते हो कि आप लोगों को अच्छी-खासी मात दी गई है?” “नहीं”, वे सभी दहाड़ते हुए बोले, सभी सिवाय एक के, “हम सोचते हैं कि यह कोई जादू था या किसी प्रकार की चालबाजी थी।” लेकिन एक ने कहा, “हाँ, हाँ”, वह बोला, “मुझे तो बहुत अच्छी-खासी प्रकार से हरा दिया गया था।” राजकुमारी मुस्कुराई और अपने पिताजी की तरफ घूमते हुए इस व्यक्ति की तरफ इशारा किया। उसने (राजकुमारी) कहा, “यदि वह मुझको रखने के लिये सहमत होगा तो मैं उससे शादी करूंगी।”