5 Mother’s Day [मातृ दिवस]

– J.B. Priestley

TEXTBOOK QUESTIONS ET

Q. 1. This play written in the 1950s is a humorous and satirical depiction of the status of the mother in the family.

(i) What are the issues it raises?

(ii) Do you think it caricatures these issues or do you think the problems it raises are genuine? How does the play resolve the issues? Do you agree with the resolution?

1950 के दशक में लिखा यह नाटक, परिवार में माँ की स्थिति पर एक हास्य और व्यंग्यात्मक वर्णन है। (i) इसमें किन विषयों को उठाया गया है?

(i) क्या आप सोचते हैं कि यह उन विषयों पर व्यंग्य करता है या क्या आप सोचते हैं कि जो समस्याएँ इसमें उठाई गयी हैं वे उचित हैं? नाटक किस प्रकार शंकाओं का समाधान करता है? क्या आप शंका समाधान से सहमत हैं?

Ans. ‘Mother’s Day’ is a humorous and satirical play written by J.B. Priestley. The play deals some serious issues. The most important of them is the status or position of mother in the family. to

(i) The play was written in 1950s. The position of mothers in the family was inferior to that of men. They were exploited not only by their husbands but also by their children. Are mothers just the beast of burden ? They are expected to cook food, iron the clothes and cleaning the house. They prepare tea when their husbands arrive home from their work. They have to entertain the guests. Mrs. Pearson is such a lady in the play. She has neither rest nor peace. Even her son Cyril and daugher Doris always order her to do this or that. It seems that she is not a human body but a machine for them.

(ii) The play raises real issues. It does not merely caricature them. The problems are genuine. Millions of women have to lead such a miserable life as Mrs. Pearson is forced to lead. Their husbands and children care only for their interests and entertainment.

The play also resolves the issue. Women can set their spoilt children and husbands. They should be helped by the family members and provided some entertainments.

‘मदर्स डे’ जे.बी. प्रिस्टले द्वारा लिखित एक हास्य एवं व्यंग्यात्मक नाटक है। नाटक में कुछ गंभीर विषयों को प्रस्तुत किया गया है। इसमें सबसे प्रमुख विषय है परिवार में माँ की स्थिति।

(i) नाटक 1950 के दशक में लिखा गया। परिवार में माँ की स्थिति पुरुषों की तुलना में खराब है। उनका शोषण उनके पति ही नहीं अपितु उनके बच्चे भी करते हैं। क्या माँ बोझा ढोने वाला पश है? उनसे आशा की जाती है कि वे खाना बनाएँ, कपड़ों पर इस्त्री करें और घर की सफाई करें। जब उनके पति काम से वापस आते हैं वे उनके लिए चाय बनाती हैं। उन्हें मेहमानों का मनोरंजन भी करना पड़ता है। श्रीमती पीअर्सन नाटक में एक ऐसी ही महिला है । न तो उसे विश्राम है न शान्ति। उसका बेटा सिरिल और बेटी डोरिस हमेशा उसे यह करो, वह करो का आदेश देते रहते हैं। ऐसा दिखाई देता है कि वह मानव प्राणी नहीं अपितु एक मशीन है।

(ii) नाटक वास्तविक विषय को प्रस्तुत करता है। यह उन पर केवल व्यंग्य नहीं करता है। समस्याएँ उचित हैं । लाखों महिलाएं ऐसा दु:खी जीवन जीती हैं जैसा श्रीमती पीअर्सन जीने को मजबूर हैं। पति और बच्चे केवल अपनी रुचि और मनोरंजन का ध्यान रखते हैं।

नाटक विषय की शंका का समाधान करता है। महिलाएं अपने बिगड़े पति और बच्चों को सही मार्ग पर ला सकती हैं। परिवार के सदस्यों द्वारा उनकी मदद की जानी चाहिए और उनको मनोरंजन उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

Q. 2. If you were to write about these issues today what are some of the incidents, examples and problems that you would think of as relevant ? .

यदि आपको आज इन विषयों पर लिखना पड़े तो कुछ घटनाएँ, उदाहरण और समस्याएँ क्या-क्या हैं जिनकी प्रासंगिकता के बारे में आप विचार करेंगे?

Ans. Some important issues are depicted in the play particularly related to the mother. In the old days the condition of women was not good. They were treated like animals. In one-act play ‘Mother’s Day’ she obeys the orders of her husband. Mother has to stay at home while husband and children can go out for their recreation. It is considered that mother should look after the family.

Now-a-days the problem is not much improved. Though in some countries women are given equal rights. But actually it is not the same. Mothers are treated badly. They are to cook, iron the clothes and cleaning the houses. As I think they are beaten by their husbands without any reason. They are not free to go out for entertainment,

कुछ प्रमुख विषयों का नाटक में वर्णन किया गया है खास तौर से माँ से सम्बन्धित। प्राचीन समय में औरतों की दशा अच्छी नहीं थी। उनके साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया जाता था। एकांकी अभिनय ‘मदर्स डे’ में वह अपने पति की आज्ञाओं का पालन करती है। माँ को घर पर ही रहना पड़ता है जबकि पति और बच्चे अपने मनोरंजन के लिए बाहर जा सकते हैं। यह धारणा है कि माँ को परिवार की देखभाल करनी चाहिए।

आज भी समस्या में ज्यादा सुधार नहीं हुआ है। यद्यपि कुछ देशों में औरतों को समान अधिकार दिए गए हैं। लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। माँ के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। उनको खाना बनाना, कपड़ों पर इस्त्री करना तथा घर की सफाई का कार्य करना पड़ता है। जहाँ तक मेरा विचार है उनके पति बिना कारण उनकी पिटाई कर देते हैं। वे मनोरंजन के लिए बाहर जाने को स्वतंत्र नहीं हैं।

Q. 3. Is Drama a good medium for conveying social message ? Discuss.

क्या नाटक सामाजिक संदेश का एक अच्छा माध्यम है? विवेचन कीजिए।

Ans. Definitely drama is a useful and forceful medium for conveying a social message. J.B. Priestley uses the dramatic art to give a message to the world. The basic issue is the exploitation of house wives and mothers of the families. Through Mrs. Pearson the dramatist presents the plight of mother in a family. Mrs. Pearson declares that the work should equally be distributed in forty hours a week and two days holidays that are Saturdays and Sundays. Mr. J.B. Priestley uses it to highlight the protest of a mother against her exploitation Mrs. Pearson refuses to make tea for her daughter and husband. It is her revolt against her spoilt children and husband. Mrs. Pearson is helped in this way by Mrs. Fitzgerald. She knows how to change personalities through magic. Now Mrs. Fitzgerald becomes Mrs. Pearson and brings the spoilt children on their right path.

निश्चयपूर्वक नाटक सामाजिक संदेश देने का एक लाभदायक और शक्तिशाली माध्यम है। जे.बी. प्रिस्टले ने संसार को संदेश देने के लिए नाटकीय कला का प्रयोग किया है । मूलभूत बात घरेलू औरतों तथा माताओं के शोषण की है। श्रीमती पीअर्सन के माध्यम से नाटककार ने परिवार में माँ की स्थिति को प्रस्तुत किया है। श्रीमती पीअर्सन घोषणा करती है कि कार्य को समान रूप से सप्ताह में 40 घण्टे के हिसाब से बांट दिया जाये और दो दिन का अवकाश जो शनिवार और रविवार होगा। श्री प्रिस्टले ने एक माँ का शोषण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को प्रदर्शित किया है। श्रीमती पीअर्सन ने अपनी पुत्री और पति के लिए चाय बनाने को मना कर दिया। श्रीमती पीअर्सन की इस विषय में श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के द्वारा मदद की गई है। यह उसके बच्चे और पति के प्रति विद्रोह है। वह जादू के द्वारा व्यक्तित्व बदलना जानती है। अब श्रीमती फिट्जजैरेल्ड, श्रीमती पीअर्सन बन

जाती है और बिगडैल बच्चों को उनके सही मार्ग पर ले आती है।

Q. 4. Read the play out in parts. Enact the play on a suitable occasion.

Ans. अपने अध्यापक की सहायता से स्वयं कीजिये।

Q. 5. Discuss in groups, plays or films with a strong message of social reform that you have watched.

सामाजिक सुधार के प्रभावी संदेश वाला कोई नाटक अथवा फिल्म जो आपने देखी हो, पर समूह में चर्चा कीजिए।

Ans. Group A : Have you seen the serial “Balikavadhu” on T.V.

(Mohan, Geeta and Ritu)

Group B : Oh! yes, It is a marvellous serial.

(Preeti, Govind and Hitesh)

Group A The child marriage is displayed in this serial.

Group B Jagdish and Anandi, both are Childish. They are students and go

to school.

Group A : But Anandi’s education is dropped and she is married. While her

husband Jagdish continues his studies.

Group B : This shows a social evil and Masa is against the women education. Group A But Bhairon Singh and his wife are in favour of Anandi’s education. Group B Another social reform is also displayed in this serial. This serial

encouraged widow marriage.

Group A Yes, the girl who becomes widow in childhood, must be married.

Group B : Shyam’s father was against of this marriage but he is an educated

young man and makes his father ready for marriage with Sugna.

Group A : Yes, this serial gives actually a nice message to the society..

Group B :: Our society needs some reforms, like child marriage, murder of

newly born daughters, widow marriage etc.

Group A Women education is an essential matter. All the evils will be wiped

out if they are educated.

Group B Yes, we do agree.

ADDITIONAL QUESTIONS

I. ShortAnswer Type Questions (Limit : 30 to 40 Words)

Q. 1. What is the duty of husbands, sons and daughters according to Mrs. Fitzgerald ?

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के अनुसार पतियों, बेटों एवं बेटियों का कर्तव्य क्या होता है?

Ans. According to Mrs. Fitzgerald it is the duty of husbands, sons and daughters to take care of wives and mother. They should not treat them like dirt and go about ordering them to do this thing and that thing.

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के अनुसार पतियों, बेटों एवं बेटियों का यह कर्तव्य होता है कि वह अपनी पत्नियों एवं माताओं का ध्यान रखें। उन्हें उनके साथ पैर की धूल जैसा व्यवहार नहीं करना चाहिए और यह करो, वह करो का हुक्म नहीं देते रहना चाहिए।

Q. 2. Why is Mrs. Pearson initially reluctant to pursue a tough approach towards her family members on the advice of Mrs. Fitzgerald ?

श्रीमती पीअर्सन शुरू में अपने परिवारवालों के साथ सख्ती से पेश आने में अनिच्छा क्यों जाहिर कर रही

थीं?

Ans. Mrs. Pearson is very timid and mild by nature. She frankly confesses before Mrs. Fitzgerald that adopting a tough line for her family is not her cup of tea. Everyone would resent her approach and would not pay any heed to her directives.

श्रीमती पीअर्सन स्वभाव से बहुत कायर एवं दयालु है। वह श्रीमती फिट्जजैरेल्ड से बेझिझक कहती है कि परिवार से सख्ती से पेश आना उसके वश की बात नहीं है। प्रत्येक उसका विरोध करेगा और उसकी कोई बात नहीं सुनेगा।

Q. 3. Why are Cyril and Doris shocked ?

सिरिल और डोरिस स्तंभित क्यों हो जाते हैं? –

Ans. Cyril and Doris are shocked to see their mother smoking and drinking. They are surprised at the sudden change that has come in their mother. They think that she has gone barmy.

सिरिल और डोरिस अपनी माँ को धूम्रपान करते हुए तथा शराब पीते हुए देखकर स्तंभित हो जाते हैं। वे

अचानक परिवर्तन उनकी माँ में आ गया उसे देखकर आश्चर्यचकित हो जाते हैं। वे सोचते हैं शायद वह थोड़ी-सी पागल हो गई है।

Q. 4. What reply does Mrs. Pearson give to her husband when he asks the reason for drinking ?

जब श्रीमती पीअर्सन के पति ने शराब पीने का कारण पूछा तो उसने क्या उत्तर दिया?

Ans. George is surprised to find Mrs. Pearson drinking stout. He asks the reason for drinking. Mrs. Pearson replies that she likes drinking for a change. She wants to make a fun of her husband. She also keeps smoking continue.

जॉर्ज श्रीमती पीअर्सन को बीअर पीते देख आश्चर्यचकित हो गया। वह इसका कारण पूछता है। श्रीमती पीअर्सन उत्तर देती है कि उसे बदलाव के लिए शराब पीना पसंद है। वह अपने पति की मजाक बनाना चाहती है। वह धूम्रपान भी चालू रखती है।

0.5. How does Mrs. Fitzgerald tell Mrs. Pearson’s fortune ?

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड, श्रीमती पीअर्सन को उसका भाग्य कैसे बतलाती है?

Ans. Mrs. Fitzgerald holds the cards with which she tells the fortune of Mrs. Pearson. She tells that Mrs. Pearson’s fortune depends on herself now. She can make or mar it by her own actions.

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड ने ताश पकड़ रखे हैं जिनके द्वारा वह श्रीमती पीअर्सन का भाग्य बतलाने वाली है। वह बतलाती है कि श्रीमती पीअर्सन का भाग्य स्वयं उस पर निर्भर करता है। वह इसे अपने हाथों से बना सकती है या बिगाड़ सकती है।

Q. 6. How do Mrs. Pearson and Mrs. Fitzgerald exchange their personalities?

श्रीमती पीअर्सन और श्रीमती फिटजजैरेल्ड अपने व्यक्तित्व में कैसे परिवर्तन करती हैं?

Ans. Mrs. Fitzgerald wants Mrs. Pearson to let her set the members of her family right. Mrs. Fitzgerald tells that they can exchange places. She looks like her and Mrs. Pearson like Mrs. Fitzgerald. Mrs. Fitzgerald holds her hand to spell some magic. Their personalities are exchanged.

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड, श्रीमती पीअर्सन के परिवार के सदस्यों को सही रास्ते पर लाना चाहती है। श्रीमती फिट्जजैरेल्ड कहती है कि वे अपना स्थान बदल लें। वह उस जैसी दिखाई दे और श्रीमती पीअर्सन, श्रीमती फिट्जजैरेल्ड जैसी दिखाई दे। श्रीमती फिट्जजैरेल्ड उसके हाथ पकड़ कर कुछ जादू करती है। उनका व्यक्तित्व एक-दूसरे से बदल जाता है।

Q. 7. How does Mrs. Pearson start behaving after the exchange of personalities ?

व्यक्तित्व परिवर्तन के बाद श्रीमती पीअर्सन किस प्रकार का व्यवहार करती है?

Ans. She becomes aggressive and dominating. She becomes the boss of the family. She asks Doris and Cyril to help themselves. She does not spare even her husband. She starts smoking and drinking

वह आक्रामक और प्रभत्व वाली बन जाती है। वह परिवार की मखिया बन जाती है। वह डोरिस और सिरिल से अपना कार्य खद करने के लिए कहती है। वह अपने पति को भी नहीं छोडती है। वह ध्रम्रपान करना और शराब पीना शुरू कर देती है।

Q. 8. What does George and Cyril do to enjoy themselves?

जॉर्ज तथा सिरिल अपने आपको खुश करने के लिए क्या करते हैं?

Ans. In his spare time George often goes to the club and plays snooker and enjoys drinking. Cyril likes to spend his time and money at grey hound races, dirt tracks and ice shows.

अपने खाली समय में जॉर्ज अक्सर क्लब जाता है एवं स्नूकर खेलता है एवं शराब पीने का आनन्द लेता है। सिरिल अपना समय तथा पैसा कुत्तों की दौड़ों, धूलभरी सड़कों तथा बर्फ के प्रदर्शनों पर खर्च करना पसंद करता है।

Q. 9. What message does J.B. Priestley convey to the society through this play ?

जे.बी. प्रिस्टले इस नाटक द्वारा समाज को क्या संदेश देते हैं?

Ans. Mothers should be given due respect and their dignity be maintained at all cost. A mother has a soft approach for her family because of her affectionate nature which should not be anyhow misconstrued as her weakness.

माताओं को समाज में उचित मान मिलना चाहिए एवं उनकी प्रतिष्ठा हर कीमत पर बनी रहनी चाहिए। एक माता अपने परिवार के प्रति अपने स्नेही स्वभाव के कारण दयालु रहती है जो किसी भी प्रकार से उनकी कमजोरी नहीं समझी जानी चाहिए।

Q. 10. How does Mrs. Pearson make fun of Charlie Spence ?

श्रीमती पीअर्सन चार्ली स्पेंस की मजाक कैसे बनाती है?

Ans. Charlie Spence is Doris’s boy-friend. Mrs. Pearson does not like him at all. She ridicules her daughter Doris for having such a worthless boy-friend. She calls him ‘buck teeth’ and ‘half witted’. She advises Doris to find out a better boy-friend than Charlie Spence.

चार्ली स्पेंस डोरिस का मित्र है। श्रीमती पीअर्सन उसे बिल्कुल पसंद नहीं करती है। ऐसा मूल्यहीन मित्र पाने के लिए वह अपनी पुत्री डोरिस की मजाक बनाती है। वह उसे ऊँचे दांत वाला तथा मंद बुद्धि वाला कहती है। वह डोरिस को चार्ली स्पेंस से अच्छा मित्र तलाश करने की सलाह देती है।

Q. 11. How does Mrs. Pearson reform her spoilt son Cyril?

श्रीमती पीअर्सन अपने बिगडैल बेटे सिरिल को कैसे सुधारती है?

Ans. Mrs. Pearson ignores him and refuses to oblige him. Then he asks if she has put his things out. She replies : “Can’t remember,” “I don’t like mending,”. She asks him to help himself.

श्रीमती पीअर्सन उसकी ओर ध्यान नहीं देती है और उसे कृतज्ञ करने से मना कर देती है। तब वह पूछता है कि क्या उसने उसके कपड़े बाहर निकाल दिए। वह उत्तर देती है, “याद नहीं रख सकती।” “मैं मरम्मत करना पसन्द नहीं करती हूँ।” वह उससे अपनी मदद खुद करने को कहती है।

Q. 12. How do people laugh at George at the club?

क्लब में लोग जॉर्ज पर क्यों हँसते हैं?

Ans. George, Mrs. Pearson’s husband, is solemn but self important and pompous. He has become a standing joke for the people at the club. They call him pompy-ompy person because of his slow and pompous nature.

जॉर्ज, श्रीमती पीअर्सन के पति, गंभीर प्रकृति के हैं लेकिन दिखावा करना और स्वयं का महत्त्व बखान करने वाले व्यक्ति हैं। वह क्लब में लोगों के लिए स्थायी मज़ाक बनकर रह गए हैं। वे उसे तड़कीला भड़कीला व्यक्ति कहते हैं क्योंकि वह सुस्त और दिखावा ज्यादा करने वाला व्यक्ति है।

Q. 13. Cyril calls Mrs. Fitzgerald a ‘silly old bag.’ What is Mrs. Pearson’s reaction to this?

सिरिल श्रीमती फिट्जजैरेल्ड को एक ‘मूर्ख बूढ़ी मुटल्ली’ बुलाता है। श्रीमती पीअर्सन की इस पर क्या प्रतिक्रिया होती है?

Ans. Mrs. Pearson does not like Cyril’s calling Mrs. Fitzgerald a ‘silly old bag’. She tells him to show her in and forbids him to call her that because Mrs. Fitzgerald is a nice woman with a lot more sense than Cyril will ever have.

श्रीमती पीअर्सन को सिरिल का श्रीमती फिट्जजैरेल्ड को एक ‘मूर्ख बूढ़ी मुटल्ली’ बुलाना बिल्कुल अच्छा नहीं लगता है वे उसे उन्हें अन्दर लाने के लिए कहती हैं और उसे ऐसा बुलाने के लिए मना करती हैं क्योंकि श्रीमती फिट्जजैरेल्ड एक बहुत अच्छी औरत है और उससे कहीं ज्यादा अक्लमंद है।

Q. 14. Why does Mrs. Fitzgerald (actually Mrs. Pearson) press for changing back to their real personalities?

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड (वास्तव में श्रीमती पीअर्सन) अपने वास्तविक व्यक्तित्व के परिवर्तन के लिए दबाव क्यों डालती है?

Ans. The real Mrs. Pearson (now Mrs. Fitzgerald) can’t bear this drama anymore. The situation has become too much. She feels that her children and husband are really miserable. After all, they are not Mrs. Fitzgerald’s husband and children. She can’t stand any more.

श्रीमती पीअर्सन (अभी श्रीमती फिट्जजैरेल्ड) इस नाटक को और सहन नहीं कर सकती। स्थिति बहुत बिगड़ चुकी थी। वह महसूस करती है कि उसके बच्चे तथा पति बहुत दुःखी हैं। आखिरकार वे श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के पति और बच्चे नहीं हैं। अब वह और अधिक नहीं रुक सकती है।

Q. 15. How does Mrs. Pearson win over her children and husband ?

श्रीमती पीअर्सन ने अपने बच्चों और पति पर कैसे विजयी पायी?

Ans. Mrs. Pearson has compelled them to obey her. She asks the children to get the supper ready. Everyone agrees. Doris hesitates but her mother reacts sharply. Ultimately, every one willingly supports Mrs. Pearson’s suggestions.

श्रीमती पीअर्सन उनको आज्ञा मानने के लिए बाध्य कर चुकी हैं। उसने बच्चों से शाम का भोजन तैयार करने को कहा। सब सहमत हो जाते हैं। डोरिस हिचकिचाती है लेकिन उसकी माँ पर तुरन्त प्रतिक्रिया होती है। अन्त में सब लोग श्रीमती पीअर्सन के सुझावों पर स्वेच्छापूर्वक सहयोग करते हैं।

II. Long Answer Type Questions : (Limit : 50-60 Words)

Q. 1. Compare and contrast Mrs. Pearson and Mrs. Fitzgerald.

श्रीमती पीअर्सन और श्रीमती फिट्जजैरेल्ड की तुलना करो।

Ans. Mrs. Pearson and Mrs. Fitzgerald are two contrasting characters. Mrs. Pearson is a simple and pleasant looking woman. She always helps her children and husband in all their need. But Mrs. Fitzgerald is heavier and has a strong and sinister body. She is liberated and bold. She drinks and smokes. Mrs. Pearson’s voice is soft and sweet..

मा श्रीमती पीअर्सन और श्रीमती फिट्जजैरेल्ड दो विपरीत चरित्र की हैं। श्रीमती पीअर्सन सरल और सुन्दर दिखायी देने वाली महिला है। वह हमेशा अपने बच्चे और पति की उनकी आवश्यकताओं में सहायता करती है। श्रीमती फिट्जजैरेल्ड एक भारी, शक्तिशाली तथा क्रूर है। वह आजाद और बहादुर है। वह शराब पीती है तथा धूम्रपान करती है। श्रीमती पीअर्सन की आवाज कोमल और मधुर है।

Q. 2. Why can’t actual Mrs. Pearson bear any more ?

वास्तविक श्रीमती पीअर्सन और सहन क्यों नहीं कर सकती?

Ans. Actual Mrs. Pearson request Mrs. Fitzgerald that they must change back immediately. The drama has gone for enough. She can’t see her husband and children being so miserable. Mrs. Pearson has already made a mockery of her husband and rebuked her daughter Doris. But Mrs. Fitzgerald asks Mrs. Pearson that she shouldn’t be soft again.

वास्तविक श्रीमती पीअर्सन श्रीमती फिट्जजैरेल्ड से उन्हें पुनः तुरन्त बदलने की प्रार्थना करती है। नाटक बहुत हो चुका है। वह अपने पति और बच्चों को दु:खी होते हुए नहीं देख सकती है। श्रीमती पीअर्सन पहले ही अपने पति की बहुत मजाक बना चुकी है और अपनी पुत्री डोरिस को फटकार चुकी है। लेकिन श्रीमती फिट्जजैरेल्ड, श्रीमती पीअर्सन से दुबारा नरम न होने की कहती है।

Q.3. Who is Cyril ? What is his attitude towards his mother ?

सिरिल कौन है? माँ के प्रति उसका व्यवहार कैसा है?

Ans. Cyril is the son of Mrs. Pearson. He is also spoilt like his sister. He is in the habit of treating his mother very casually. He asks if tea is ready. When Mrs. Pearson says ‘no’, he angrily answers back why not’ ? Then he orders, “Did you put my things out ?” So he makes his mother run all the time doing one thing or the other.

सिरिल श्रीमती पीअर्सन का पुत्र है। वह भी अपनी बहिन की तरह बिगड़ा हुआ है। वह अपनी माँ के साथ बुरा बर्ताव करता है। वह पूछता है, क्या चाय तैयार है? जब श्रीमती पीअर्सन कहती है ‘नहीं’, वह गुस्से में पुनः जवाब देता है क्यों नहीं! जब वह आदेश देता है, “क्या तुमने मेरा सामान निकाल दिया?” इस तरह वह अपनी माँ को कभी इस काम के लिए कभी उस काम के लिए दौड़ाता है।

Q.4. How does Mrs. Pearson (with Mrs. Fitzgerald’s Personality) set Doris right?

. श्रीमती पीअर्सन (श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के रूप में) ने डोरिस को किस प्रकार ठीक किया?

Ans. Doris is Mrs. Pearson’s daughter who is spoilt. She orders Mrs. Pearson as if she were a servant in the house. She asks her to iron her yellow silk. She has to go out with her boy-friend Charlie. She also asks her to serve tea. Mrs. Pearson ignores her completely. She asks Doris to help herself. She also ridicules Doris’s boy-friend Charlie. She calls him buck teeth and half-witted..

डोरिस श्रीमती पीअर्सन की बेटी है जो बिगडैल है। वह श्रीमती पीअर्सन को इस प्रकार आदेश देती है मानो वह घर की नौकरानी हो । वह उसे अपने पीले रेशमी वस्त्र पर इस्तरी करने को कहती है। उसे अपने मित्र चार्ली के साथ जाना है। वह उसे चाय परोसने को कहती है। श्रीमती पीअर्सन पूरी तरह से उसकी उपेक्षा करती है। वह डोरिस से अपना काम खुद करने को कहती है। वह डोरिस के मित्र चार्ली की हँसी उड़ाती है। वह उसे ऊँचे दाँत वाला तथा मंद बुद्धि बतलाती है।

Q. 5. Justify the title of the play ‘Mother’s Day’.

‘मदर्स डे’ नाटक के शीर्षक का औचित्य बतलाइए।

Ans. J.B. Priestley has titled his one-act play Mother’s Day. The title conveys a message. Husbands and children must respect wives and mothers in their families. They must not order them and keep them running all the time doing one work or the other. Mrs. Pearson is so gentle that the children do not understand the affection of their mother. Instead they order her to do many jobs. But they should understand mother’s love towards them.

जे.बी प्रिस्टले ने अपने एकांकी अभिनय का शीर्षक मदर्स डे रखा। शीर्षक एक संदेश देता है। पतियों और बच्चों को अपने परिवार में अपनी माँ का आदर करना चाहिए। उनको आदेश नहीं देना चाहिए और उनको हर समय एक काम या दूसरे काम के लिए नहीं दौड़ाना चाहिए। श्रीमती पीअर्सन इतनी विनम्र है कि उनके बच्चे उनके प्यार को नहीं समझते। इसके बजाय वे उनको बहुत से काम करने के आदेश देते हैं लेकिन उनको अपने प्रति माँ का प्यार समझना चाहिए।

Q. 6. How does Mrs. Fitzgerald find the cause of Mrs. Pearson’s misery ?

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड श्रीमती पीअर्सन के दुःख का पता कैसे लगाती है?

Ans. Mrs. Fitzgerald thinks that Mrs. Pearson is responsible for spoiling her husband and children. She runs after them all the time. She takes their orders as if she were their servant in the house. She always obeys their orders like making tea and, ironing the clothes. She stays at home every night while they go out enjoying themselves. She should become bold, mistress and boss of the family. Her gentleness is the cause of her misery.

श्रीमती फिट्जजैरेल्ड सोचती है कि श्रीमती पीअर्सन अपने पति और बच्चों को बिगाड़ने की खुद जिम्मेदार है। वह हर समय उनके पीछे दौड़ती रहती है। वह इस तरह आदेशों का पालन करती है मानो उनकी नौकरानी हो । वह हमेशा चाय बनाने, कपड़ों पर इस्तरी करने जैसे आदेशों का पालन करती रहती है। वह हर रात घर पर रहती है जबकि वे लोग अपना मनोरंजन करते रहते हैं। उसे बहादुर, परिवार की मालकिन और सर्वेसर्वा होना

चाहिए। उसकी नम्रता ही उसके दु:खों का कारण है।

Q.7. What is the risk involved in the swapping of personalities, according to Mrs. Pearson ?

श्रीमती पीअर्सन के अनुसार व्यक्तित्व अदलने-बदलने में क्या खतरा है?

Ans. Mrs. Pearson thinks that her swapping of personality with that of Mrs. Fitzgerald will not be liked by her husband George and children Doris and Cyril. She also feared that things would turn for the worse if she and Mrs. Fitzgerald were unable to swap back their personality in the event of their plan going haywire.

श्रीमती पीअर्सन सोचती है कि श्रीमती फिट्जजैरेल्ड के साथ व्यक्तित्व अदलना-बदलना उसका पति जॉर्ज एवं उसके बच्चे डोरिस एवं सिरिल पसंद नहीं करेंगे। उसे यह भी डर था कि वह एवं श्रीमती फिट्जजैरेल्ड अपने व्यक्तित्व वापस बदलने में असक्षम रही उनकी चाल की नाकामी के चलते तो बहुत बुरा होगा।

Q. 8. What is Mrs. Pearson’s opinion of Charlie Spence ? How does Doris react to it ?

श्रीमती पीअर्सन की चार्ली स्पेन्स के बारे में क्या राय है? डोरिस इस पर कैसी प्रतिक्रिया देती है?

Ans. Mrs. Pearson has a very poor opinion of Charlie Spence. She feels he is not suitable for her daughter Doris and that he is buck-teeth and half-witted. She would not have fallen for a boy like him, had she been Doris. Doris is very upset on hearing this. She asks her mother to shut up and leaves the room in tears.

स्य श्रीमती पीअर्सन चार्ली स्पेन्स के बारे में बहुत खराब राय रखती है। वह समझती है कि वह उनकी बेटी डोरिस के लिए सही नहीं है और वह ऊँचे दाँत वाला और आधा मूर्ख है। अगर वह खुद डोरिस होती तो कभी भी ऐसे लड़के को पसंद नहीं करती। डोरिस यह सुनकर बहुत दु:खी होती है। वह अपनी माता को चुप रहने के लिए बोलकर रोती हुई कमरे से चली जाती है।

Q. 9. How does the new Mrs. Pearson shock George ?

नई श्रीमती पीअर्सन जॉर्ज को अचंभित कैसे कर देती है?

Ans. One day, George is shocked to see Mrs. Pearson drinking stout on his arrival at home. He is disapproving and critical of her strange behaviour. It’s then that Mrs. Pearson informs him that people at the club-call him “Pompy-ompy Pearson”. He is pompous and every night goes there without his wife. George is at his wit’s end to hear all this shocking

stuff.

एक दिन जॉर्ज अपने घर आने पर श्रीमती पीअर्सन को बीअर पीते देख दंग रह जाता है। वह उनके अजीब व्यवहार के खिलाफ होता है। तब श्रीमती पीअर्सन उसे बताती है कि क्लब में लोग उसे “भड़कीला मुटल्ला पीअर्सन” कहते हैं। वह दिखावटी है और हर रात वहाँ अपनी पत्नी के बिना ही चला जाता है। जॉर्ज यह सब सुनकर हैरान रह जाता है।