Rajasthan Board RBSE Class 12 English Rainbow Chapter 2

RBSE Class 12 English Rainbow Chapter 2 Textual Questions

Activity 1: Comprehensions 
A. State whether the following statements are True or False. Write ‘T’ for true and ‘F’ for false :

1. The Maliks had a plot in a very fashionable locality of Delhi.
2. Mr Malik was frequently transferred during his service tenure.
3. Mrs Malik was the only family member who actively supervised the construction work of their house.
4. The Maliks did not want to rent out their new house to the Government at first.
5. Mrs Malik cared a lot for her old mother-in-law.
6. There was a good understanding between Mrs Malik and her daughter-in-law.
7. Mrs Malik’s daughter-in-law was a modern fashionable girl.
Answer:
1. True
2. True
3. True
4. True
5. False
6. False
7. True

B. Answer the following questions in about 30-40 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
Who was engaged in the discussion of the draft plan of the new house?
नये मकान के नक्शे के प्रारूप से सम्बन्धित वार्तालाप में कौन-कौन लोग शामिल थे?
Answer:
Mr Malik, Mrs Malik, and their architect were engaged. The draft plan was lying on the table before them. No other persons intervened in the discussion.

नये मकान के नक्शे के प्रारूप से सम्बन्धित बातचीत में श्रीमान् मलिक, श्रीमती मलिक, और उनका वास्तुशिल्पी शामिल थे । नक्शे का प्रारूप उनके सामने मेज पर पड़ा हुआ था । किसी अन्य व्यक्ति ने इस बातचीत में हस्तक्षेप नहीं किया ।

Question 2.
What did Mrs Malik seem to insist upon ?
श्रीमती मलिक किस बात पर जोर देती दिखाई दे रही थीं ?
Answer :
Mrs Malik seemed to insist upon the size of the store-room. Because, “this room might be 10’*8′, she repeated four times. She wanted to use the store-room as her mother-in-law’s room and after her as store-room.

श्रीमती मलिक भण्डारगृह के आकार पर जोर देती दिखाई दे रही थीं क्योंकि, “यह कमरा 10 फीट x 8 फीट का हो सकता है” (यह बात) उन्होंने चार बार दोहराई। वह इस भंडारगृह का उपयोग अपनी सास के कमरे के तौर पर करना चाहती थीं और उनके बाद इसे भण्डारगृह के रूप में (प्रयोग करना चाहती थीं)।

Question 3.
What were Mr Malik’s views regarding a store-room?
भण्डारगृह के विषय में श्रीमान् मलिक के क्या विचार थे?
OR
Why did Mr Malik agree to make the store a little bigger? (Sample Paper 2018)
श्रीमान् मलिक ने भंडारघर को थोड़ा बड़ा बनाने के लिए सहमति क्यों दी?
Answer:
Regarding a store-room, Mr Malik’s views were that the store-room should be a little bigger. If it is so, one can move about the trunks more freely. Then it is also more convenient to keep it tidy.

भण्डारघर के विषय में श्रीमान् मलिक के विचार थे कि भण्डारघर को थोड़ा बड़ा ही होना चाहिए । यदि ऐसा होगा तो पेटियों-बक्सों को अधिक आराम से खिसकाया जा सकता है । तब इसे सुव्यवस्थित साफ व सुथरा रखना भी अधिक सुविधाजनक रहेगा ।

Question 4.
Why did Mrs Malik decide to settle down in Delhi permanently?
श्रीमती मलिक ने दिल्ली में स्थाई रूप से बसने का क्यों निर्णय किया?
Answer:
Tired of her husband’s frequent transfers, Mrs Malik decided to settle down in Delhi so that her children could study smoothly without changing their schools so often. She wanted to spend her days in her newly built house.

अपने पति के अक्सर होने वाले तबादलों से ऊबकर श्रीमती मलिक ने दिल्ली में ही बस जाने का निर्णय लिया ताकि उनके बच्चे बिना बार-बार स्कूल बदले अपनी शिक्षा अच्छी प्रकार से पूरा कर सकें । वह अपने नये बने गृह में अपने दिन (शेष पूरा जीवन) बिताना चाहती थीं ।

Question 5.
What was the attitude of Mrs Malik towards her mother-in-law?
अपनी सास के प्रति श्रीमती मलिक का किस प्रकार का व्यवहार था?
Answer:
Mrs Malik was never serious about the welfare of her mother-in-law. She proposed to live with her in Delhi just for the company. This reflects her casual attitude. Their relationship was not warm and smooth.

श्रीमती मलिक अपनी सास की भलाई के प्रति कभी गंभीर नहीं थीं । दिल्ली में सास को साथ रखने की बात वे इसलिए करती हैं ताकि उन्हें अकेला नहीं रहना पड़े । सास के प्रति उपेक्षा एवं लापरवाही का उनका दृष्टिकोण स्पष्ट रूप से उजागर होता है । उनके सम्बन्ध स्नेहपूर्ण एवं मृदुल नहीं थे।

Question 6.
What were Mrs Mallik’s plans regarding the furniture for the new house?
नये मकान के लिए फर्नीचर से सम्बन्धित श्रीमती मलिक की क्या योजनाएँ थीं?
Answer:
Mrs Malik’s plans regarding the furniture for the new house were that she would have new furniture made for the house. She would not let the old furniture enter the new house, not a piece of it.

नये मकान के लिए फर्नीचर से सम्बन्धित श्रीमती मलिक की योजनाएं थीं कि इस मकान के लिए सारे फर्नीचर नये हों, कोई भी पुरानी फर्नीचर इसमें नहीं आने पाये, एक टुकड़ा भी नहीं (एक फर्नीचर भी नहीं)।

Question 7.
“Everything had to be forgotten.” What does the word “everything” here refer to?
“सब कुछ भुला देना पड़ा ” यहाँ “सब कुछ” शब्द क्या इंगित करता है?
Answer:
Here the word “everything” refers to “all the plans” made by Mrs Malik. She thought of various plans for doing up the house. But she came to know that the house had been acquired by the Government.

यहाँ “सब कुछ” शब्द श्रीमती मलिक द्वारा बनायी गई ‘सभी योजनाओं को इंगित करता है । मकान की साज-सज्जा के लिए उन्होंने विभिन्न योजनाएं बनाईं थीं । लेकिन उन्हें पता चला कि सरकार ने इस मकान को अधिग्रहीत कर लिया है ।

Question 8.
What reasons does Mrs Malik have to be happy and consoled on being transferred from Delhi after the acquisition of their new house by the Government?
सरकार द्वारा नये मकान को अधिग्रहीत कर लिये जाने के बाद दिल्ली से स्थानान्तरित होने पर श्रीमती मलिक के पास खुश होने वे स्वयं को सांत्वना देने के लिए क्या कारण हैं?
Answer:
Mrs Malik thinks that she would no more see her house, and would not regret not being able to live in it. And she also thinks of the substantial rent. Due to these reasons, she feels happy and consoled.

श्रीमती मलिक सोचती हैं कि अब वह इस मकान को और अधिक नहीं देखेंगी, और उन्हें इसमें नहीं रह पाने का दर्द भी नहीं होगा। और वह किराये के रूप में आने वाली भारी रकम के विषय में भी सोचती हैं । इन्हीं सब कारणों से वह खुश होती हैं और स्वयं को सांत्वना देती हैं ।

Question 9.
Who suggested the room size 10′ x 8′ and to whom?
कमरे के 10 फीट x 8 फीट के आकार का सुझाव किसने और किसको दिया?
Answer:
The room size 10′ x 8′ was suggested by Mrs Malik to the architect hired to design the house. She said, “This room might be 10′ 8′, pointing to a square in the draft plan lying on the table before them.

कमरे के 10 x 8 फीट के आकार का सुझाव श्रीमती मलिक द्वारा मकान निर्माण हेतु नियुक्त वास्तुशिल्पी को दिया गया था । उन्होंने कहा, ”यह कमरा 10 फीट x 8 फीट का हो सकता है ।” उन्होंने अपने सामने मेज पर पड़े हुए नक्शे के प्रारूप में एक वर्गाकार स्थान की ओर संकेत किया ।

Question 10.
Why was the architect perplexed?
वास्तुशिल्पी उलझन में क्यों था?
OR
Why was the architect puzzled by Mrs Malik’s observation?
श्रीमती मलिक के कथन से वास्तुशिल्पी को हैरानी क्यों हुई?
Answer:
Hearing Mrs Malik’s statement that she would use the proposed small room for her mother-in-law, and after her, it could be converted into a store-room, the architect was puzzled as he could never imagine it.

श्रीमती मलिक के इस कथन से कि उनके द्वारा प्रस्तावित छोटा कमरा उनकी सास के उपयोग में आएगा और उनके बाद उसे भंडारघर बना दिया जाएगा, वास्तुशिल्पी को हैरानी हुई क्योंकि वह कभी इस तरह की बात की कल्पना नहीं कर सकता था ।

Question 11.
In what manner was Mrs Malik’s daughter-in-law similar to the figure in the sketch?
श्रीमती मलिक की पुत्रवधू उस स्केच के चित्र से किस प्रकार मेल खाती थी?
Answer:
The colour of Mrs Malik’s daughter-in-law’s saree was similar to that of the figure in the sketch. She was wearing a maroon saree. Mrs Malik’s daughter-in-law’s posture and body language were quite similar to the lady in the sketch.

श्रीमती मलिक की पुत्रवधू की साड़ी का रंग उस स्केच के चित्र से मेल खा रहा था । वह मरून रंग की साड़ी पहने हुए थी । श्रीमती मलिक की पुत्रवधू का दिखावा करना (मुद्रा) और भाव-भंगिमा में उस स्केच वाली महिला से काफी समानता थी ।

Question 12.
Why could the Maliks not shift to their new house on Monday morning? When did they do so and why?
मलिक परिवार अपने नये मकान में सोमवार की सुबह शिफ्ट क्यों नहीं हो सके? वे कब शिफ्ट हुए और क्यों?
Answer:
The Maliks could not shift to their new house on Monday morning because it was raining heavily. They shifted on Monday in the evening because it was an auspicious day for them.

मलिके परिवार सोमवार की सुबह अपने नये मकान में शिफ्ट इसलिए नहीं हो सके क्योंकि तेज वर्षा हो रही थी। वे सोमवार की शाम को शिफ्ट हुए क्योंकि यह दिने उनके लिए शुभ था।

Question 13.
What did Mrs Malik not like about her daughter-in-law?
श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू की किस बात को पसंद नहीं करती थीं?
OR
Why did Mrs Malik not like her daughter-in-law talking to her husband in English?
श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू का उसके पति के साथ अंग्रेजी में वार्तालाप करना क्यों पसंद नहीं करती थीं?
Answer:
Mrs Malik did not like her daughter-in-law talking to her husband in English. It was so because she herself was not able to speak or understand English. She wanted a sweetheart daughter-in-law of her choice.

श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू को उसके पति से अंग्रेजी में बात करना पसंद नहीं करती थीं। ऐसा इसलिए था क्योंकि वे स्वयं न तो अंग्रेजी बोल पाती थीं और न समझ पाती थीं। वे अपनी पसंद की मृदुल स्वभाव की पुत्रवधू चाहती थीं।

C. Answer the following questions in about 125 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 125 शब्दों में दीजिएः

Question 1.
What memories of the construction period of the house came crowding to Mrs Malik’s mind while sitting in the back seat of the car?
श्रीमती मलिक को कार की पिछली सीट पर बैठे हुए मकान के निर्माण के समय की कौन सी यादें एक साथ उनके मन में आयीं?
Answer:
While sitting in the back seat of the car, Mrs Malik was lost in memories. She recalled what pains she had taken while the house was under construction. The days when she missed her meals! The days she stood in the scorching heat of the sun supervising the work in progress! She recalled how she stood on the site from early morning till late in the evening, the days she was drenched in rain. She had every brick of the house laid before her eyes. Many a time she helped the masons with mortar and bricks. Many times she hauled the rubber pipe and sprayed water on the plastered walls. She also thought about the figure of the lady prepared by the architect. All these memories of the construction period of the house haunted her mind.

श्रीमती मलिक कार की पिछली सीट पर बैठे हुए यादों में खो गयीं। उन्हें याद आया कि जब मकान का निर्माण हो रहा था तब उन्होंने कितनी कठिनाइयां सहन की थी। कितने ही दिन वह बिना भोजन किये रह जाती थीं। भीषण गर्मी के दिनों में झुलसाने वाली धूप में वह निर्माणकार्य की प्रगति को देखते हुए खड़ी रहती थीं।

उन्होंने स्मरण किया कि वह निर्माण स्थल पर तड़के प्रात:काल से लेकर देर शाम तक खड़ी रहती थीं। कितने ही दिन वह बरसात में भीग कर तरबतर हो जाती थीं । उन्होंने मकान में एक-एक ईंट अपने सामने लगवाई थी। अनेक बार तो उन्होंने राजमिस्त्रियों को ईंटें व गारा पहुँचाने में मदद की थी । बहुत बार उन्होंने रबर के पाइप को खींचकर पलस्तर की गई दीवारों पर छिड़काव किया था। उन्होंने वास्तुशिल्पी द्वारा तैयार किये गए महिला के उस चित्र के विषय में भी सोचा। मकाने के निर्माण के समय की ये सभी यादें उनके मस्तिष्क में बार-बार आयीं।

Question 2.
Explain how Mrs Malik took a keen interest in getting her house built and furnished?
वर्णन कीजिये कि श्रीमती मलिक ने अपने मकान को बनाने व सजाने-संवारने में किस प्रकार गहन रुचि ली?
Answer:
During the construction of her house, Mrs Malik supervised every detail. She would be seen standing at the site with her umbrella throughout the day. At times she gave a hand. to the masons and others. She was the first to arrive at the construction site and left after everyone had gone away. She ensured that there was no wastage of material. She also ensured that the labour did not idle about. Construction work of the house was completed. Then Mrs Malik insisted that she would have new furniture made for the house. She would not let the old furniture enter the new house, not a piece of it. She thought of various plans for doing up the house. In this way, Mrs Malik took a keen interest in getting her house built and furnished.

अपने मकान निर्माण के दौरान श्रीमती मलिक प्रत्येक ब्यौरे का निरीक्षण करती थीं। सारा दिन उन्हें छाता लिये निर्माणस्थल पर देखा जा सकता था। कभी-कभी तो राजमिस्त्रियों व अन्य कारीगरों के कार्य में भी वह हाथ बँटाती थीं। निर्माण-स्थल पर वह सबसे पहले पहुँचतीं और सबके चले जाने के बाद ही वापस लौटतीं।

वह यह सुनिश्चित कर लेती थीं कि कहीं पर कोई सामग्री बर्बाद तो नहीं हो रही । वह यह भी सुनिश्चित कर लेती थीं कि मजदूर बेकार बैठकर समय तो नहीं गंवा रहे हैं । मकान का निर्माण कार्य पूरा हो गया । फिर श्रीमती मलिक का जोर इस बात पर था कि इस मकान के लिए सारे फर्नीचर नये हों। कोई भी पुराना फर्नीचर इसमें नहीं आने पाये, एक भी फर्नीचर नहीं।

Question 3.
Why do the Maliks consider the Government as a better tenant than the private ones?
मलिक-दम्पत्ति निजी किराएदारों की अपेक्षा सरकार की किराएदारी को क्यों अधिक अच्छा समझते हैं?
OR
Why were the Maliks happy to have Government as their tenant?
सरकार द्वारा मकान किराये पर लिये जाने से मालिक-दम्पति को प्रसन्नता क्यों हुई?
Answer:
The newly constructed house of the Maliks was acquired by the Government. This made Mrs Malik furious in the beginning. But the next moment as Mr Malik mentioned the rent assessed, she quietened down. It was taken over for a heavy rental value. The substantial rent which began to be credited to their bank account regularly made the Maliks happy. Compared to the frequent complaints and demands that private tenants keep on putting forth and their irregularity in payment of rent, tenancy by the Government was a pleasant experience. It was not a headache like the private tenants. These aspects made the Maliks happy. The contract was safe, ensured and beneficial.

मलिक-दम्पति का नवनिर्मित मकानं सरकार द्वारा अधिग्रहीत कर लिया गया। श्रीमती मलिक अत्यधिक क्रोधित हो गईं। लेकिन अगले ही पल जब श्रीमान् मलिक ने उन्हें यह बताया कि सरकार ने उन्हें इस मकान का काफी अधिक किराया देना तय किया है तो वह शान्त हो गईं। सरकार ने इस मकान के लिए किराये के रूप में भारी-भरकम राशि निश्चित की जिसका समय पर भुगतान किया जाने लगा।

किराये की राशि मलिक-दम्पति के बैंक खाते में नियमित रूप से जमा हो जाती थी । इससे मलिक दम्पति को प्रसन्नता हुई। प्राइवेट या निजी. किरायेदार तो मकान-मालिकों से निरन्तर शिकायत करते रहते हैं, कोई न कोई मांग रखते रहते हैं और कभी समय पर किराया नहीं चुकाते हैं – इनकी तुलना में किरायेदार के रूप में सरकार का होना एक सुखद अनुभव था। निजी किरायेदार तो सिरदर्द सिद्ध होते हैं। यहाँ ऐसी कोई परेशानी नहीं थी । इन्हीं सब बातों से मलिक-दम्पति प्रसन्न हुए। सरकार के साथ हुआ संविदा सुरक्षित, आश्वासन से भरपूर और लाभप्रद था।

Question 4.
What changes had come about in the Malik family by the time Mr Malik retired?
श्रीमान् मलिक के सेवानिवृत्त होने तक मलिक परिवार में क्या-क्या परिवर्तन आ चुके थे?
Answer:
Several changes had come about in the Malik family by the time Mr Malik retired. These were – The Maliks had got their own house built. Mrs Malik took a keen interest in getting this house built and furnished. She had taken a lot of pains in getting the house ready. After this Mrs Malik’s mother-in-law passed away. Their daughter had been married. Only their son remained to be married now. Mr Malik thought that his son should be married before he retired. Mr Malik’s wish also got fulfilled. The Maliks’ son had been married. Now Mr Malik had retired from service. Their house had not yet been released by the government. Thus Mr and Mrs Malik lived with their son and daughter-in-law in a rented house.

श्रीमान् मलिक के सेवानिवृत्त होने तक मलिक परिवार में अनेक परिवर्तन आ चुके थे। ये (परिवर्तन) थे – मलिक परिवार ने अपना स्वयं का मकान बना लिया था। श्रीमती मलिक ने इस मकान के निर्माण व साज-सज्जा में गहन रुचि ली थी। मकान तैयार कराने में उन्होंने अत्यन्त परिश्रम किया। इसके बाद श्रीमती मलिक की सास का देहावसान हो गया। उनकी पुत्री का विवाह हो गया।

अब सिर्फ उनको पुत्र विवाह के लिए रह गया । श्रीमान् मलिक ने सोचा कि सेवानिवृत्त होने से पूर्व इस काम को निबटा देना ही ठीक रहेगा। श्रीमान् मलिक की यह इच्छा भी पूरी हो गई । मलिक दम्पत्ति के पुत्र का विवाह हो गया । अब श्रीमान् मलिक सेवानिवृत्त हो गए। सरकार ने अभी तक उनका मकान खाली नहीं किया था । अतः श्रीमान् मलिक और श्रीमती मलिक अपने पुत्र व पुत्रवधू के साथ एक किराये के मकान में रहते थे।

Question 5.
What important details were highlighted in the sketch map of the house?
मकान के नक्शे के प्रारूप में कौन सी महत्त्वपूर्ण विस्तृत जानकारियाँ मुख्य रूप से दर्शायी गई थीं?
Answer:
The important details which were highlighted in the sketch map of the house were –  the kitchen, the store-room 10′ x 8′ adjacent to the kitchen, the courtyard. Though this room was a storeroom Mrs Malik insisted repeatedly to make the store-room a little bigger than 10′ x 8′. She planned that her mother-in-law could use this room for the present. And soon after her death, it could be converted into a store-room. The other important thing in the sketch was the figure of the lady of the house standing in the verandah with her back towards the marble pillar. How elegant and graceful an image of contentment, clad in a maroon saree! Mrs Malik felt that the architect had painted her.

मकान के नक्शे के प्रारूप में मुख्य रूप से दर्शायी गई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ थीं- रसोईघर, रसोईघर के बगल में 10′ x 8′ का भण्डारघर, आँगन । हालांकि यह कमरा एक भण्डारघर था लेकिन श्रीमती मलिक ने इसे 10′ x 8′ से थोड़ा बड़ा करने पर बार-बार जोर दिया। उनकी योजना थी कि अभी उनकी सास इस कमरे को अपने कमरे के तौर पर प्रयोग कर सकती हैं और जल्दी ही उनकी मृत्यु के बाद इसे एक भण्डारघर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता था।

प्रारूप में अन्य महत्त्वपूर्ण चीज थी गृहस्वामिनी का एक चित्र जिसमें उसे बरामदे में संगमरमरे के स्तम्भ की ओर पीठ किए हुऐ खड़े होने की मुद्रा में दिखाया गया था। कितना सुरुचिपूर्ण व शोभायुक्त लगता था वह चित्र, जिसमें मरून साड़ी में लिपटी वह संतुष्टि की प्रतिमूर्ति खड़ी थी। श्रीमती मलिक ने महसूस किया जैसे वास्तुशिल्पी में उन्हीं को चित्रित किया हो।

Question 6.
Why did Mrs Malik think of showing that sketch to her daughter-in-law sometime in future?
श्रीमती मलिक ने उस प्रारूप को भविष्य में कभी अपनी पुत्रवधू को दिखाने की क्यों सोचा?
Answer:
The architect had prepared a sketch of Mrs Malik’s new house. The sketch also had the figure of the lady of the house. She was shown standing in the verandah with her back towards the marble pillar- elegant and graceful. It was an image of contentment. Mrs Malik thought that she must show that sketch to her daughter-in-law sometime in future. She thought so because seeing the figure in the sketch Mrs Malik felt that the architect had painted her. The figure of the lady in the sketch was as tall as Mrs Malik. Not only this, reclining against the marble pillar she stood the way Mrs Malik used to stand. The appearance of the lady in the sketch was so similar to that of Mrs Malik. So she thought of showing that sketch to her daughter-in-law in future.

वास्तुशिल्पी ने श्रीमती मलिक के नये मकान का एक प्रारूप तैयार किया था। इस प्रारूप में गृहस्वामिनी का एक चित्र भी शामिल था। उसे बरामदे में संगमरमर के स्तम्भ की ओर पीठ करके खड़े हुए दर्शाया गया था। वह चित्र कितना सुरुचिपूर्ण व शोभायुक्त था मानो संतुष्टि की प्रतिमूर्ति। श्रीमती मलिक ने सोचा कि भविष्य में कभी वह इस प्रारूप को अपनी पुत्रवधू को अवश्य दिखायेंगी।

उन्होंने ऐसा इसलिए सोचा क्योंकि प्रारूप में उस चित्र को देखकर श्रीमती मलिक को ऐसा लगा जैसे कि वास्तुशिल्पी ने उन्हीं का चित्र बनाया हो। स्केच में चित्रित उस महिला की लम्बाई श्रीमती मलिक की लम्बाई जैसी थी। सिर्फ यही नहीं, स्तम्भ का सहारा लिये चित्र वाली महिला ठीक उसी प्रकार खड़ी थी जिस प्रकार श्रीमती मलिक खड़ी होती थीं। चित्रित महिला दिखने में श्रीमती मलिक से काफी अधिक मेल खाती थी। इसलिए श्रीमती मलिक उसे अपनी पुत्रवधू को दिखाना चाहती थीं।

Question 7.
What did Mrs Malik think about the figure of the lady in the draft plan of the house?
मकान के प्रारूप में चित्रित महिला के विषय में श्रीमती मलिक ने क्या सोचा?
Answer:
Mrs Malik thought that the architect had painted her. The lady in the figure was clad in maroon colour saree. But Mrs Malik never wore maroon colour saree. The figure in the sketch, however, was as tall as Mrs Malik. Reclining against the pillar she stood the way Mrs Malik used to stand. She saw the figure in the sketch and would go and stand before the dressing table many a time. She thought that she must show that sketch to her daughter-in-law sometime in future. Suddenly she thought that maybe the figure painted by the architect was that of her daughter-in-law because her daughter-in-law was wearing a maroon colour saree as the lady in the sketch had. There arose a conflict of existence in her mind.

श्रीमती मलिक ने सोचा जैसे वास्तुशिल्पी ने उन्हीं को चित्रित किया हो। चित्रित महिला मैरून रंग की साड़ी में लिपटी हुई थी। लेकिन श्रीमती मलिक तो कभी मैरून रंग की साड़ी पहनती ही नहीं थीं । फिर भी स्केच में जो चित्र था उसकी लम्बाई श्रीमती मलिक की जितनी ही थी। स्तम्भ के सहारे खड़ी चित्र वाली महिला ठीक उसी तरह खड़ी थी जिस प्रकार श्रीमती मलिक खड़ी होती थीं।

वह स्केच वाले उस चित्र को बार-बार देखतीं और फिर घर में अपनी ड्रेसिंग टेबिल के सामने खड़े होकर स्वयं को देखतीं। उन्होंने सोचा कि वह इस चित्र को कभी अपनी पुत्रवधू को अवश्य दिखायेंगी। अचानक उन्होंने सोचा कि हो सकता है कि वास्तुशिल्पी ने इस चित्र में उनकी पुत्रवधू को चित्रित किया हो क्योंकि उनकी पुत्रवधू ने वैसी ही मैरून रंग की साड़ी पहन रखी थी जैसी कि उस चित्र में उस महिला ने उनके मन में अपने अस्तित्व का अन्तर्द्वन्द्व खड़ा हुआ।

Question 8.
How does Mrs Malik view her daughter-in-law?
श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू को किस रूप में देखती हैं (असके विषय में उनके क्या विचार हैं?
Answer:
Mrs Malik is not satisfied with her daughter-in-law. She doesn’t like her behaviour and her ways. At several places it is reflected in the story that Mrs. Malik doesn’t like her daughter-inlaw’s modern ways of life. For example, when she started repainting her lips in the car, Mrs Malik felt her act unnecessary and unwise. Her conversation with her husband in English was an act which she didn’t like. Mrs Malik thought that she was jabbering. Why must she talk with her housband in English ? She didn’t like his daughter-in-law wearing a maroon colour saree. She herself never liked maroon colour. In fact this is a case of generation gap in this story. Mrs Malik finds her daughter in law as a rival of her status. And the newly wed young girl has no care for her mother in law’s sentiments.

श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू से संतुष्ट नहीं हैं। वह उसके व्यवहार और तौर-तरीकों को पसन्द नहीं करती हैं । कहानी में कई स्थानों पर यह प्रदर्शित होता है कि श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू के आधुनिक तौर-तरीकों को नापसन्द करती हैं। उदाहरण के तौर पर, जब उसने कार में पुनः लिपस्टिक लगाना शुरू किया तो श्रीमती मलिक ने उसके उस कृत्य को अनावश्यक और मूर्खतापूर्ण समझा। उसका अपने पति से अंग्रेजी में बात करना भी श्रीमती मलिक को नागवार लगा।
उन्हें लगा कि वह बक-बक कर रही थी। उसे अपने पति से अंग्रेजी में बात करने की क्या आवश्यकता थी? उन्हें अपनी पुत्रवधू की मैरून रंग की साड़ी पहनना भी पसंद नहीं था। उन्हें स्वयं भी मैरून रंग कभी पसंद नहीं था। इस प्रसंग में, वास्तव में यह पीढी अन्तराल का मामला लगता है। श्रीमती मलिक को अपनी पुत्रवधू अपनी प्रतिद्वन्द्वी जैसी लगती है और उस नवविवाहिता लड़की को अपनी सास की भावनाओं की कोई परवाह नहीं है।

Question 9.
What does the end of A Room 10’x 8′ suggest to you?
’10 फीट x 8 फीट का कमरा’ कहानी का समापन आपको क्या सुझाव देता है?
Answer:
The end of A room 10′ x 8′ suggests that the way we behave with our parents or grandparents, the same way our children will behave with us during our old age. For example, in the story, Mrs Malik’s attitude towards her mother-in-law was very indifferent. She repeatedly proposed the size of the store-room 10′ x 8′ so that it could be used as her mother-in-law’s room. And after her death, it would again be converted as store-room. This approach reflects that she didn’t have any respect for her. But her mother-in-law died before shifting in the new house. When Malik family after Mr Malik’s death shifted into the new house, Mrs Malik’s daughter-in-law provided the same room (store) to Mrs Malik. Mrs Malik reaps only what she had sown.

’10 फीट x 8 फीट का कमरा’ (कहानी) का समापन हमें सुझाव देता है कि जैसा व्यवहार हम अपने माता-पिता या दादा-दादी के साथ करते हैं वैसा ही व्यवहार हमारी वृद्धावस्था के दौरान हमारे बच्चे हमारे साथ करते हैं । उदाहरण के लिए, इस कहानी में श्रीमती मलिक का अपनी सास के प्रति व्यवहार बेहद उपेक्षापूर्ण था। वह भण्डारघर के 10′ x 8′ आकार का बार-बार प्रस्ताव रख रहीं थीं जिससे कि इसे उनकी सास का कमरा बनाया जा सके और उनकी मृत्यु के बाद इसे पुनः भण्डारगृह बना दिया जायेगा।

श्रीमती मलिक का यह व्यवहार प्रदर्शित करता है कि उनके दिल में उनकी सास के प्रति सम्मान भाव नहीं था। लेकिन उनकी सास की उस नये मकान में शिफ्ट होने से पूर्व ही मृत्यु हो गई। जब मलिक परिवार श्रीमान मलिक की मृत्यु के बाद उस नये मकान में शिफ्ट हुआ तो श्रीमती मलिक की पुत्रवधू ने उन्हें वही 10 फीट x8 फीट वाला कमरा रहने को दिया । श्रीमती मलिक को अपने किए का फल मिल गया।

Question 10.
Give an assessment of Mrs Malik as a person and a mother-in-law?
एक व्यक्ति के रूप में और एक सास के रूप में श्रीमती मलिक का मूल्यांकन कीजिए।
Answer:
Mrs Malik as a person: She is a hard working lady. During the construction of her new house, she would be seen standing at the site with her umbrella throughout the day. At times she would give a hand to the masons and others. She is a sociable lady. During construction of her new house, she had developed friendly relations in the colony. She is a practical lady and a responsible mother. She planned to settle down permanently in Delhi because it was not desirable to shift the children from school to school.
Mrs Malik as a mother-in-law: She is not satisfied with the ways of her daughter-in-law. She feels hurt by the indifferent attitude of her daughter-in-law. Mrs Malik wishes her daughter-in-law to work hard as she herself did.

श्रीमती मलिक एक व्यक्ति के रूप में : वह एक परिश्रमी महिला हैं। अपने नये मकान के निर्माण के दौरान उन्हें निर्माण स्थल पर सारा दिन हाथ में छाता लिये खड़े हुए देखा जा सकता था। कभी-कभी वह राजमिस्त्रियों व अन्य कारीगरों को उनके कार्य में मदद भी दिया करती थी। वह एक मिलनसार महिला हैं। अपने मकान के निर्माण के दौरान उन्होंने कॉलोनी में लोगों से मित्रतापूर्ण सम्बन्ध बना लिये थे। वह व्यावहारिक सोच वाली महिला और एक जिम्मेदार माँ हैं। उन्होंने दिल्ली में ही स्थायी रूप से निवास करने की योजना बनाई थी क्योंकि बार-बार स्कूल बदलनां ठीक नहीं था।

श्रीमती मलिक एक सास के रूप में : वह अपनी पुत्रवधू के तौर-तरीकों से संतुष्ट नहीं हैं । वह उसके उपेक्षापूर्ण व्यवहार से आहत महसूस करती हैं। श्रीमती मलिक चाहती हैं कि उनकी पुत्रवधू उन्हीं की तरह कठिन परिश्रम करे।

Question 11.
Why could Mr and Mrs Malik not move into their new house during Mr Malik’s lifetime?
मि. मलिक के जीवित रहने के दौरान श्रीमान् व श्रीमती मलिक अपने नये मकान में शिफ्ट क्यों नहीं हो सके?
Answer:
Mr and Mrs Malik got their new house constructed in Delhi. As they were in the midst of plans to shift, they learnt that the house had been acquired by the government. Mrs Malik was furious. After some time Mr Malik got retired from service. But their house had not yet been released by the government. Mr and Mrs Malik lived with their son and daughter-in-law in a rented house. Mr Malik was still fighting with the government for the release of the house when his end came. He passed away. Now within three months, the house was released. Thus Mr and Mrs Malik could not move into their new house during Mr Malik’s life time because the government released it only after his death.
श्रीमान् व श्रीमती मलिक ने दिल्ली में अपना नया मकान बनवाया। अभी वे उस मकान में शिफ्ट होने की योजना बना ही रहे थे कि उन्हें पता चला कि सरकार ने उनका मकान अधिग्रहीत कर लिया है। यह जानकर श्रीमती मलिक अत्यन्त क्रोधित हुईं। कुछ समय बाद श्री मलिक सेवानिवृत्त हो गए।लेकिन सरकार ने अब भी उनका मकान खाली नहीं किया था।

श्रीमान् व श्रीमती मलिक अपने पुत्र व पुत्रवधू के साथ एक किराये के मकान में रहने लगे। श्री मलिक अभी सरकार से मकान खाली कराने के लिए संघर्ष कर ही रहे थे कि उनका अन्तिम समय निकट आ गया। उनकी मृत्यु हो गई। अब तीन महीनों के अन्दर सरकार ने उनका मकान खाली करके उन्हें वापस कर दिया।
अतः श्रीमान् वे श्रीमती मलिक श्रीमान् मलिक के जीवित रहते हुए इसलिए अपने उस नये मकान में शिफ्ट नहीं हो सके क्योंकि सरकार ने उनका मकाने श्री मलिक की मृत्यु के बाद में खाली किया।

RBSE Class 12 English Rainbow Chapter 2 Additional Questions

Answer the following questions in about 30 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में दीजिए।

Question 1.
Why did Mrs Malik decide to stay back in Delhi?
श्रीमती मलिक ने दिल्ली में ही रहने का निश्चय क्यों किया?
Answer:
Mrs Malik decided to stay back in Delhi because she was sick of her husband’s postings. Every other year they were moved to a new place. It was not desirable to shift their children from school to school.

श्रीमती मलिक ने दिल्ली में ही रहने का निश्चय इसलिए किया क्योंकि वह अपने पति के स्थानान्तरणों से ऊब चुकी थीं। प्रत्येक दूसरे वर्ष उन्हें एक नये स्थान पर जाना पड़ता था। बार-बार उनके बच्चों का स्कूल बदलना ठीक नहीं था।

Question 2.was the architect’s reaction when Mrs Malik repeated, “This room might be 10′ x 8′ ?”
वास्तुशिल्पी की क्या प्रतिक्रिया थी जब श्रीमती मलिक ने पुनः दोहराया, “यह कमरा 10 x 8 फीट का हो सकता है?”
Answer:
”But this is a store”. The architect explained to Mrs Malik. She explained her proposal to the architect again. The architect didn’t seem to understand her. He looked puzzled by her observation.

“लेकिन यह (तो) एक भण्डारगृह है।” वास्तुशिल्पी ने श्रीमती मलिक को बताया। उन्होंने वास्तुशिल्पी को पुनः अपना प्रस्ताव बताया। वास्तुशिल्पी को शायद उनकी बात समझ में नहीं आई। वह उनकी बात सुनकर उलझन में पड़ गया।

Question 3.
Why was Mrs Malik furious? श्रीमती मलिक क्यों क्रोधित हो गई? (S.S. Exam 2018)
Answer:
Mrs Malik took an untiring interest in the construction of her new house în Delhi. But when she learnt that the house had been acquired by the government, she became furious.

श्रीमती मलिक ने दिल्ली में अपने नये मकान के निर्माण में अथक (गहरी) रुचि ली थी। लेकिन जब उन्हें पता चला कि उनका वह मकान सरकार द्वारा अधिग्रहीत कर लिया गया है, तो वह अत्यन्त क्रोधित हो गई।

Question 4.
How do you know that Mrs Malik was a sociable lady?
आप कैसे जानते हैं कि श्रीमती मलिक एक मिलनसार महिला थीं?
Answer:
We know that Mrs Malik was a sociable lady because while supervising the construction of her new house, she developed friendly relations with people in the colony. It shows that she was a sociable lady.

हम जानते हैं कि श्रीमती मलिक एक मिलनसार महिला थीं क्योंकि अपने नये मकान के निर्माण कार्य के निरीक्षण के दौरान उन्होंने उस कॉलोनी में लोगों से मित्रवत् सम्बन्ध बना लिये थे। यह प्रदर्शित करता है कि वह एक मिलनसार महिला थीं।

Question 5.
What consolation did the Maliks have for not living in their own house?
अपने स्वयं के मकान में नहीं रह पाने के बदले में मलिक-दम्पति ने कौन-सी सांत्वना पायी?
Answer:
Although the Maliks had the regret of not being able to live in their own house, they had the consolation of getting the substantial rent which was regularly credited to their bank account.

यद्यपि मलिक-दम्पति को इस बात का दु:ख था कि वे अपने स्वयं के मकान में रहने में असमर्थ थे, किन्तु उन्हें इस बात का सन्तोष भी था कि मकान के किराये की भारी-भरकम राशि नियमित रूप से उनके बैंक खाते में जमा हो रही थी।

Question 6.
What were Mrs Malik’s views about private tenants?
प्राइवेट किरायेदारों के विषय में श्रीमती मलिक के क्या विचार थे?
Answer:
Mrs Malik’s views about private tenants were that they were such a headache. There was no end to their complaints and demands. And then they were irregular in the payments of rent.

प्राइवेट किरायेदारों के विषय में श्रीमती मलिक के विचार थे कि उनको मकान देना एक सिरदर्द मोल लेने जैसा है। उनकी शिकायतों व माँगों का कोई अन्त नहीं होता है। और फिर वे नियमित रूप से किराये का भुगतान नहीं करते हैं।

Question 7.
What shows that Mrs Malik’s daughter-in-law was keener than her to shift into her own house?
श्रीमती मलिक की पुत्रवधू अपने स्वयं के मकान में शिफ्ट करने के लिए उनसे कुछ ज्यादा ही उत्सुक थी, यह कैसे पता चलता है?
Answer:
As soon as the Government vacated their house and handed over its possession to them, Mrs Malik’s daughter-in-law lost no time in getting it painted and polished and ordered for new furniture. This shows that she was keener than Mrs Malik to shift into her own house.

ज्योंही सरकार ने उनका मकान खाली कर उसे इन लोगों को सौंप दिया, उसी क्षण श्रीमती मलिक की पुत्रवधू ने उसके रंग-रोगन की व्यवस्था की तथा नए फर्नीचर के आदेश दे दिए। यह दिखलाता है कि श्रीमती मलिक की अपेक्षा उनकी पुत्रवधू को अपने स्वयं के मकान में शिफ्ट होने की ज्यादा उत्सुकता थी।

Question 8.
Why did Mrs Malik suddenly think that the figure painted was not hers?
श्रीमती मलिक ने अचानक यह क्यों सोचा कि वह रंगीन चित्र उनका नहीं था?
Answer:
The lady in the figure was clad in a maroon saree. Mrs Malik thought that she never wore maroon saree. It was too loud for her taste. That’s why she suddenly thought that it was possible that the figure was not others.

चित्रित महिला मरून रंग की साड़ी पहने हुए थी। श्रीमती मलिक ने सोचा कि उन्होंने तो कभी मरून साड़ी पहनी ही नहीं। मरून रंग उनकी रुचि के एकदम विपरीत भड़कीला दिखाई देता था। इसलिए अचानक उन्होंने सोचा कि हो सकता है कि ‘वह चित्र उनका (स्वयं का) न हो।

Question 9.
What were the words which re-echoed in Mrs Malik’s ears? And why?
वे कौन से शब्द थे जिनकी प्रतिध्वनि श्रीमती मलिक के कानों में महसूस हुई? और क्यों?
Answer:
“I thought it could be my mother-in-law’s room and after her, it might be converted into a store”. These words re-echoed in Mrs Malik’s ears because she had spoken these words about her mother-in-law. Now she herself was facing the same thing.

“मैंने सोचा यह मेरी सास का कमरा हो सकता है और उनके बाद इसे एक भण्डारगृह में परिवर्तित किया जा सकता है।” श्रीमती मलिक के कानों में इन शब्दों की प्रतिध्वनि सुनाई दे रही थी क्योंकि उन्होंने ये शब्द अपनी सास के लिये कहे थे। अब वह स्वयं ठीक इसी बात का सामना कर रही थीं।

Answer the following questions in about 125 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 125 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
Draw the similarities and differences between Mrs Malik and her daughter-in-law tenant.
मलिक तथा उनकी पुत्रवधू के बीच समानताओं तथा भिन्नताओं का विवरण प्रस्तुत कीजिए।
Answer:
There were many similarities between Mrs Malik and her daughter-in-law. Both were keen on living in their own house and also for decorating it. Both were similar in being disrespectful and indifferent towards their respective mothers-in-law. As Mrs Malik planned 10′ x 8′ room for her mother-in-law, the same way her daughter-in-law provided the same room to her. However, they had certain differences also. Mrs Malik disliked wearing marron coloured saree, while her daughter-in-law found it a favourite colour for her. Mrs Malik didn’t know English but her daughter-in-law could talk fluently in English. Mrs Malik was not as modern as her daughter-in-law was.

श्रीमती मलिक तथा उनकी पुत्रवधू में अनेक समानताएँ थीं। अपने स्वयं के मकान में रहने और उसे सजाकर रखने में दोनों ही उत्सुक थीं। जैसा कि श्रीमती मलिक ने अपनी सास के लिए 10′ x 8′ के कमरे की योजना बनाई थी, ठीक उसी प्रकार उनकी पुत्रवधू ने भी उन्हें वही कमरा दिया।
दोनों ही अपनी-अपनी सास के प्रति सम्मान की भावना से रहित और उदासीन थीं। दोनों के बीच कुछ भिन्नताएँ भी थीं। श्रीमती मलिक को मरून रंग की साड़ी पहनना नापसन्द था जबकि उनकी पुत्रवधू का यह मनपसंद रंग था। उनकी पुत्रवधू फर्राटेदार अंग्रेजी में वार्तालाप करती थी जबकि श्रीमती मलिक अंग्रेजी नहीं जानती थीं। श्रीमती मलिक अपनी पुत्रवधू जैसी अत्याधुनिक भी नहीं थीं।

Question 2.
Do you think that Mrs Malikwas a great socialite? Justify your answer.
क्या आपको लगता है कि श्रीमती. मलिक एक उच्चवर्गीय रईस महिला थीं? तथ्यों से अपने उत्तर की पुष्टि कीजिए।
Answer:
A socialite is one who is much familiar with very affluent and fashionable society and always moves about fashionable parties. Except that Mrs Malik owned a plot in a fashionable, well-to-do colony, we do not find any socialite tendency in this hardworking lady who stands in the sun and rain from morning to evening, supervising the work of construction of her house. At times she would give a hand to the masons and others. She ensured that there was no wastage of material. Although she had learnt ballroom dancing and had fine tastes, Mrs Malik was just an average laborious lady of middle-class background.

उच्चवर्गीय रईस महिला, जिसे Socialite कहा जा सकता है, वह होती है जिसका परिवार काफी सम्पन्न एवं सम्भ्रान्त हो, जिनकी पैठ भी ऐसे ही लोगों के समाज में हो तथा जिनका नित्य फैशनेबल पार्टियों में आना-जाना हो । श्रीमती मलिक का भूखण्ड एक फैशनेबल कॉलोनी में अवश्य था किन्तु उनके क्रियाकलाप में कहीं कोई Socialite की प्रवृत्ति हमें नहीं मिलती।

प्रातः से संध्या तक धूप हो या वर्षा हो रही हो, श्रीमती मलिक को अपने मकान के निर्माणस्थल पर काम की देखभाल करते देखा जा सकता थ । कभी-कभी तो वह राजमिस्त्रियों व अन्य कारीगरों के कार्य में भी उनको मदद करती थीं। वह यह भी सुनिश्चित कर लेती थीं कि कहीं कोई सामग्री बर्बाद तो नहीं हो रही है। उन्होंने बॉल-नृत्य तो सीखा था, तथा उनकी रुचियाँ परिष्कृत थीं, किन्तु कुल मिलाकर हम उन्हें एक औसत मध्यमवर्गीय पृष्ठभूमि की परिश्रमी महिला के रूप में ही देखते हैं।

Question 3.
Elaborate the story in the light of the proverb, “As you sow so shall you reap.”
“जैसा बोओगे वैसा काटोगे” इस कहावत के सन्दर्भ में कहानी को स्पष्ट कीजिए।
Answer:
The story is about a woman’s indifference for her mother-in-law. Mrs Malik gets a 10′ 8′ room constructed in her house. The room is for her mother-in-law. She expects that the old lady will die soon and then the room will be used as a storeroom. But the circumstances take such a turn that she is able to live in that house only when she herself is a mother-in-law. Now her daughter-in-law gives her the same 10′ x 8′ room to live in. So now these words re-echo in Mrs Malik’s ears, “I thought it could be my mother-in-law’s room and after her, it might be converted into a store.” Thus she meets the same indifference that she showed for her mother-in-law.

यह कहानी एक स्त्री की अपनी सास के प्रति उदासीनता के विषय में है। श्रीमती मलिक अपने घर में एक 10′ x 8′ का कमरा बनवाती हैं। यह कमरा उनकी सास के लए है। उन्हें आशा है कि वह बूढी स्त्री शीघ्र ही मर जायेगी और फिर उस कमरे को भण्डारघर के रूप में काम में ले लिया जायेगा। किन्तु परिस्थितियाँ ऐसा मोड़ लेती हैं कि उन्हें उस घर में रहने को तभी मिलता है जब वह स्वयं एक सास बन चुकी होती हैं।

अब उनकी पुत्रवधू उन्हें रहने के लिए वही 10′ x 8′ का कमरा देती है । इसलिये अब इन शब्दों की प्रतिध्वनि पुनः श्रीमती मलिक के कानों में गूंजती है- ”मैंने सोचा कि यह कमरा मेरी सास उपयोग में ला सकती हैं और उनके बाद इसे भण्डारघर में परिवर्तित किया जा सकता है । इस प्रकार उनके साथ उसी उदासीनता का व्यवहार किया जाता है जो उन्हें अपनी सास के प्रति दर्शाई थी।

Question 4.
What was Mrs Malik’s feeling at the and of the story?
कहानी के अन्त में श्रीमती मलिक ने कैसा अनुभव किया?
Answer:
At the end of the story, Mrs Malik shifted to her own house with her son and daughter-in-law. She had got a 10′ x 8′ room constructed in that house. The room was for her mother-in-law and after her death, it was going to be used as a storeroom. Now Mrs Malik’s daughter-in-law gives her the same 10’8′ room to live. Now she thinks about her misbehaviour towards her mother-in-law. When her daughter-in-law says, “The house is otherwise very well planned. It lacks only a storeroom. I would like to have a big enough store.” Mrs Malik feels as if she were sinking deep and deep into a bottomless well. This short story is a fine example of human psychology. Mrs Malik feels that she is reaping what she had sown.

कहानी के अन्त में श्रीमती मलिक अपने पुत्र व पुत्रवधू के साथ स्वयं के घर में रहने आती हैं। उन्होंने उस घर में एक 10 x 8 फीट का कमरा बनवाया था। वह कमरा उनकी सास के लिए था और उनकी मृत्यु के बाद इसे भण्डारघर के रूप में उपयोग में लिया जाने वाला था। अब श्रीमती मलिक की पुत्रवधू उन्हें रहने के लिए वही 10 x 8 फीट का कमरा देती है।
अब वह अपनी सास के प्रति किये गए अपने दुर्व्यवहार के विषय में सोचती हैं। जब उनकी पुत्रवधू कहती है, वैसे यह मकान बहुत ही सुनियोजित ढंग से बना हुआ है। बस इसमें एक भण्डारगृह की कमी है। मैं एक काफी बड़ा सा भण्डारगृह पसन्द करूंगी।” तो श्रीमती मलिक को महसूस होता है जैसे कि वे किसी तलहीन कुँए की गहराई में डूबती जा रही हों। यह लघुकथा . मनोविज्ञान का एक सुन्दर उदाहरण है। श्रीमती मलिक को अनुभव होता है कि वह अपना बोया हुआ ही काट।

Activity 2: Vocabulary
(a) Make verbs from the following words and use them in sentences of your own:
निम्नलिखित शब्दों को verb form में लिखिये और उन्हें अपने शब्दों में वाक्यों में प्रयोग कीजिए:

approval, wastage, complaints, payment, possession, desirable, posting, objections, excitement, observation, suggestion.
Answer:
Approve, waste, complain, pay, possess, desire, post, object, excite, observe, suggest.

  •  The map of Mrs Malik’s house was approved by the corporation.
  •  Mrs Malik didn’t allow the labour to waste any material.
  •  Mrs Malik’s opinion was that the private tenants complain regularly.
  •  Mrs Malik said that the private tenants don’t pay rent in time.
  •  The Malik family possessed a house of their own in Delhi
  •  Mrs Malik desired to stay back in Delhi with her children.
  •  Every other year Mr Malik was posted at a new place.
  •  Mr Malik didn’t object to Mrs Malik’s proposal.
  •  The news of shifting into the new house excited Mrs Malik’s daughter-in-law very much.
  •  Mrs Malik observed every activity of her daughter-in-law attentively.
  •  Mrs Malik suggested the size of the storeroom.

(b) The following phrasal verbs have figured in the lesson. Use these to frame new sentences:
निम्नलिखित phrasal verbs का प्रयोग इस पाठ में किया गया है । इनका प्रयोग नये वाक्यों को बनाने में। कीजिये:

stay back, grow up, settle down, move about, pick up, drive away, do with, do up, send for, pass away, look in, lie down, look on.
Answer:
My father was transferred to Udaipur but my mother stayed back in Jaipur.

  • Now my children are growing up so I am planning to re-join my service.
  • After my retirement, I will settle down in Baran.
  • Our storeroom is not big enough so one cannot move about the boxes easily.
  • I am going to Russia for my higher studies so I am trying to pick-up Russian.
  • The taxi driver waited for more than half an hour and then he drove away. My friend says that they will lend me the book when he is done with it.
  • I spent a huge amount on doing-up my house.
  • All the students of class XII are going on the picnic so our principal sir has sent for a taxi in addition to our school bus.
    Mrs Malik’s husband and mother-in-law passed away before shifting into their new house.
  • He looked in his mother and didn’t give her money.
  • I was very tired so I lay down on the bed and tried to relax.
  • The passers-by looked on the injured man but nobody helped him.

(c) Use the following expressions in your own sentences:
निम्नलिखित अभिव्यक्तियों को अपने स्वयं के वाक्यों में प्रयोग करें:

heart of hearts, give thought to, give a hand, before long, make friends with, take pains, felt a wrench, occur to, make a move, too loud for one’s taste, to be sick of.
Answer:
In her heart of hearts, Mrs Malik thought that may be the figure painted by the architect was that of her daughter-in-law. I gave thought to my father’s suggestion and joined hobby classes during my summer vacations.

  • At times my sister gives a hand to mom in her kitchen work.
  • Before long they had shifted into their new house.
  • I want to make friends with all the people I am going to work with.
  • I know my parents took many pains to make my elder brother a doctor.
  • When my father didn’t find my name in the merit list, he felt a wrench in his heart.
  • Seeing the lady in the figure, it occurred to Mrs Malik that the figure might be of her daughter-in-law.
  • The Maliks shifted into their new house on Monday just by making a formal move.
  • My mother likes light shades, so deep orange colour is too loud for her taste.
  • My father is sick of his own postings so he is thinking to take premature retirement.

Activity 3: Speech Activity

Organise a speech contest in your school on ‘Parents and Teachers deserve to be treated with great respect.
माता-पिता व अध्यापक अत्यधिक सम्मान के योग्य हैं विषय पर अपने स्कूल में एक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन कीजिये।

Note: Classroom/school activity. However, your speech may be like
Answer:
Respected principal Sir, all my teachers, and dear fellow students, very good morning to all of you. I am going to speak on the topic ‘Parents and teachers deserve to be treated with great respect’. Of course, we all should treat our parents with great respect because, after God, they are our makers. We learn everything from them. They take all the pains to brighten our future. The same way we should treat our teachers with great respect because they are the nation builders. They prepare future citizens of a country. They teach us the difference between right and wrong. They teach us human values. With these words, I conclude my speech. Thank you all.

आदरणीय प्रधानाचार्य, शिक्षकगण और मेरे साथी छात्र-छात्राओ, सुप्रभात। मैं माता-पिता के अध्यापक बहुत सम्मान के योग्य हैं’ विषय पर बोलने जा रहा हूँ। हमें अपने माता-पिता का निश्चित रूप से बहुत सम्मान करना चाहिए, क्योंकि ईश्वर के बाद वही हमें बनाने वाले होते हैं। हम प्रत्येक बात उन्हीं से सीखते हैं।
हमारे भविष्य को अच्छा बनाने के लिए वे सभी प्रकार के कष्ट उठाते हैं। इसी प्रकार हमें अपने अध्यापकों का भी अत्यधिक सम्मान करना चाहिए क्योंकि वे राष्ट्र-निर्माता होते हैं। वे देश के भावी नागरिक तैयार करते हैं। वे हमें उचित-अनुचित एवं मानवीय मूल्यों का बोध कराते हैं। इन शब्दों के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूँ। धन्यवाद।

Activity 4: Composition:

Question 1.
Draft an invitation to celebrate the 100th Birth Anniversary of your grandmother.
अपनी दादी माँ का 100वाँ जन्मदिन मनाने हेतु एक निमंत्रण पत्र तैयार कीजिये।
Answer:
D-15
Kalakunj Colony
Bharatpur 20 Feb. 20–
My dear Varun,
It’s a matter of great pleasure for my family that we are going to celebrate the 100th birth anniversary of my grandmother on 15 April 20–.
The party is at our residence at 8:30 pm. There will be lots of fun at the party.
Do come with uncle and aunty. I’ll be waiting for your arrival.
Yours
Abhinav

Question 2.
Draft an invitation for the stepping in a ceremony of your new house.
अपने नवीन मकान में गृह प्रवेश के अवसर पर एक निमंत्रण पत्र तैयार कीजिये।
Answer:
Mrs & Mr Ratnakar Jain request the pleasure of your benign company on the auspicious occasion of the stepping in a ceremony of their new house ‘ANAND NIWAS’ B-11, Manas Enclave, Bikaner, at 11:00 a.m. on 10 April 20–.

With Best Compliments from
Jain family

R.S.V.P.
C-44,
Adarsh Apartments
Station Road
Bikaner
Mob. 9840359087

Question 3.
Write a letter to the Municipal Commissioner of your city complaining about choked drains and piles of garbage in your locality posing threat to public health.
लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरा बन रहे बन्द पड़े नालों व कचरे के ढेरों के विषय में शिकायत करते हुए अपने  शहर के Municipal Commissioner को एक पत्र लिखिये।
Answer:
A-195
Radhey colony
Ajmer 05 April 20-
The Municipal Commissioner Ajmer
Subject: Complaint against the unsanitary condition.
Sir
I would like to bring to your kind notice that in our locality, drains have choked and piles of garbage can be seen in several places. For the last six months, drains have not been cleaned. The sweepers don’t clean the streets regularly. Whenever they come, they dump the garbage here and there in the locality itself. This unsanitary condition is posing a serious threat to public health. Kindly instruct the concerned people to take necessary action at the earliest.
We await your action
Thanking you
Yours faithfully,
Srinivas Kumar