Rajasthan Board RBSE Class 12 English Prudence Drama Chapter 1 Broken Images

RBSE Class 12 English Prudence Drama Chapter 1 Textual Questions

(A) Choose the correct option :

Question 1.
In which language does Manjula write?
(a) Kannada
(b) Hindi
(c) Tamil
(d) Malyalam
Answer:
(a) Kannada

Question 2.
The image is actually :
(a) Pramod, Manjula’s husband
(b) announcer of studio
(c) Manjula’s conscience
(d) Raza
Answer:
(c) Manjula’s conscience

Question 3.
How did Pramod convey his feeling?
(a) by writting a letter
(b) direct proposal
(c) through a friend
(d) on telephone
Answer:
(a) by writting a letter

Question 4.
Pramod worked as
(a) a banker
(b) a charted Accountant
(c) an actor
(d) a software engineer
Answer:
(d) a software engineer

(B) Answer the following questions in 15-20 words each :
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 15-20 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
What is Manjula accused of ?
मंजुला पर क्या आरोप लगाया गया है ?
Answer:
Manjula is a Kannad writer. She is accused of writing in English for foreign readers.
मंजुला एक कन्नड लेखिका है उस पर विदेशी पाठकों के लिए अंग्रेजी में लिखने का आरोप लगाया गया है।

Question 2.
Which two questions are generally asked to the author ?
कौन से दो प्रश्न सामान्यतः लेखिका से पूछे जाते हैं ?
Answer:
Following two questions are generally asked to the author :

  1. Being a Kannada writer, why did she choose to write in English?
  2. What does she consider herself ? A Kannad writer or an English writer.

निम्नलिखित दो प्रश्न सामान्यतः लेखिको से पूछे जाते हैं :

  1. कन्नड लेखिका होने पर उसने अंग्रेजी में लिखना क्यों चुना?
  2. वह स्वयं को क्या मानती है? एक कन्नड लेखिका या अंग्रजी लेखिका।

Question 3.
Who is realistic character in Manjula’s novel?
मंजुला के उपन्यास में असली जैसा चरित्र कौन सा है?
Answer:
Manjula’s younger sister Malini is realistic character in her novel.
मंजुला की छोटी बहिन मालिनी उसके उपन्यास में असली जैसा चरित्र है।

Question 4.
How did Manjula and Pramod meet?
मंजुला और प्रमोद कैसे मिले?
Answer:
After completing college study, Manjula got a job in Banglore. There she met Pramod and got married.
कालिज की पढ़ाई पूरी करने के पश्चात् मंजुला को बैंगलोर में काम मिल गया। वहाँ वह प्रमोद से मिली और विवाह कर लिया।

(C) Answer the following questions in 50 words each :
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 50 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
What does Malini suffer from ? Explain.
मालिनी किस रोग से ग्रस्त है? समझाइए।
Answer:
Manjula Nayak’s younger sister Malini is suffering from a disease called meningomyelocele. It is a disease related to nervous system. The upper part of her body is normal but her body below the waist is completely dysfunctional. She spends her entire time on the wheel chair.

मंजुला नायक की छोटी बहिन मालिनी मेनिंगोमाइलासील नामक बीमारी से पीड़ित है। यह तंत्रिका तंत्र से सम्बन्धित बीमारी है। उसके शरीर का ऊपरी भाग सामान्य है लेकिन कमर से नीचे उसका शरीर पूर्णत बेकार है। वह अपना पूरा समय पहिये वाली कुर्सी पर व्यतीत करती है।

Question 2.
Why did the image say, “You have managed to upset a lot of people ?”
प्रतिमा ने क्यों कहा, “तुमने बहुत से लोगों को परेशान करने का प्रबन्ध कर दिया है ?
Answer:
The image said so because Manjula had delivered a very good speech before beginning the telefilm. The telefilm was based on her novel. “The River Has No Memories.” When Manjula finished her lucid speed, her realistic image complimented her and said that she (Manjula) had upset a lot of people.

प्रतिमा ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि मंजुला ने टेलीफिल्म के प्रारम्भ से पूर्व एक बहुत अच्छा भाषण दिया था। टेलीफिल्म उसके उपन्यास, “The River Has No Memories” पर आधारित थी। जब मंजुला ने अपने सुबोध भाषण को समाप्त किया तो उसकी सजीव सी लगने वाली मूर्ति (प्रतिमा) ने उसे बधाई दी और कहा कि उसने बहुत लोगों को परेशान कर दिया है।

Question 3.
Describe the happiest days of Manjula.
मंजुला के सबसे अधिक खुशी के दिनों का वर्णन करो।
Answer:
After completing her college studies, Manjula reached Banglore and got her job there. She started living along with her parents. After some time she met Pramod and got married. That time she had her parents, her husband and her job. Those were the happiest days of Manjula.

अपने विद्यालय की पढाई समाप्त करने के पश्चात् मंजुला बैंगलोर पहुँची और वहाँ अपना रोजगार प्राप्त कर लिया। उसने अपने माता-पिता के साथ रहना प्रारम्भ कर दिया। कुछ समय पश्चात् उसकी मुलाकात प्रमोद से हुई और विवाह कर लिया। उस समय उसके पास उसके माता-पिता, उसका पति एवं उसका काम था वे उसके सबसे अधिक प्रसन्नता के दिन थे।

Question 4.
What trick did Pramod use to impress Manjula ?
मंजुला को प्रभावित करने के लिए प्रमोद ने क्या. चाल चली?
Answer:
When Pramod met Manjula, he felt attracted towards her. When he found no way to convey his feeling, he used a strange trick. He wrote two letters, one for Manjula and · other for her close friend Lucy. Addressing Lucy he expressed his feelings regarding Manjula and mailed that letter on Manjula’s address. In that way he made Manjula aware of his attachment.

जब प्रमोद मंजुला से मिला तो उसने मंजुला के प्रति आकर्षण अनुभव किया। जब उसे अपनी भावनाओं को बताने का कोई रास्ता नहीं मिला तो उसने एक अजीव चाल का प्रयोग किया। उसने दो पत्र लिखे, एक मंजुला के लिए और दूसरा उसकी घनिष्ठ सहेली लूसी के लिए। लूसी को सम्बोधित करते हुए उसने मंजुला के विषय में अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त किया और इस पत्र को मंजुला के पते पर भेज दिया। इस प्रकार उसने मंजुला को अपने लगाव से परिचित कराया।

(D) Answer the following questions in about 100 words each :
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 100 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
Do you think we express ourselves best in our first language ? Do you agree with Manjula’s statement “English cannot express truth about India because we do not express ourselves in English.
“क्या आप सोचते हैं कि प्रथम भाषा (मातृभाषा) में ही हम स्वयं को सर्वाधिक अच्छा अभिव्यक्त करते हैं? क्या आप मंजुला के कथन से सहमत हैं “अंग्रेजी भारत के विषय में यथार्थ को अभिव्यक्त नहीं कर सकती क्योंकि हम स्वयं को अंग्रेजी में अभिव्यक्त नहीं करते।”
Answer:
Yes, of course, it is a fact that we can express ourselves best in our first language. Manjula’s statement is quite true that English language cannot express truth about India. It is because we use our mother tongue since birth and from morning to evening. We cannot express our views so clearly in a foreign language as we can in our first language. This fact is true about every language and about every country. But there are some exceptions when we see some persons who are expert bilinguals and can express themselves in both equally.

हाँ, अवश्य, यह सही है कि हम स्वयं को अपनी मातृभाषा में सबसे अच्छा अभिव्यक्त कर सकते हैं मंजुला का कथन बिल्कुल सही है कि अंग्रेजी भाषा भारत के विषय में सत्य को अभिव्यक्त नहीं कर सकती। ऐसा इसलिए क्योंकि हम जन्म से और सुबह से शाम तक अपनी मातृभाषा का प्रयोग करते हैं। हम विदेशी भाषा में अपने विचारों को उतनी स्पष्टता से अभिव्यक्त नहीं कर सकते जितना अपनी प्रथम भाषा में कर सकते हैं। यह तथ्य प्रत्येक भाषा और प्रत्येक देश के विषय में सत्य है। लेकिन कुछ अपवाद हैं जब हम देखते है कि कुछ व्यक्ति दो भाषाओं के विशेषज्ञ होते हैं और दोनों में समान रूप से स्वयं को अभिव्यक्त कर सकते हैं।

Question 2.
Discuss the title of the play “Broken Images” in detail.
नाटक में भग्न प्रतिमाएँ” के शीर्षक पर विस्तार से विचार करो।
Answer:
The title of the play“Broken Images” is quite appropriate. It is because the whole play is the conversation between a famous novelist Manjula Nayak and her image. The writer Girish Karnad has intelligently set the title of the play which concides well with the theme of the play. The image of Manjula Nayak asks many questions to Manjula. These questions are related with her workfield as well as her personal life. Manjula answers them so frankly to her image which she could not do directly to the audience. During this conversation, the image of Manjula’s younger sister Malini appears in the mind of the audience because she is the main character of discussion. Thus the title is suitable.

नाटक का शीर्षक “भग्न प्रतिमाएँ” बिल्कुल उचित है। ऐसा इसलिये क्योंकि सम्पूर्ण नाटक प्रसिद्ध उपन्यास लेखिका मंजुला नायक और उसकी प्रतिमा के मध्य को संवाद है। लेखक गिरीश कर्नड ने बुद्धिमत्तापूर्ण नाटक के शीर्षक का चयन किया है जो नाटक की विषय वस्तु से अच्छा मेल खाता है। मंजुला नायक की प्रतिमा मंजुला से अनेक प्रश्न पूछती है। ये प्रश्न उसके कार्य क्षेत्र एवं उसके व्यक्तिगत जीवन से जुड़े हुए है। मंजुला उनके उत्तर अपनी प्रतिमा को इतने खुलरूप में देती है जितने कि वह एक श्रोता को नहीं दे सकती थी। इस संवाद के दौरान मंजुला की छोटी बहन मालिनी की प्रतिमा भी श्रोताओं के मस्तिष्क में प्रतीत होने लगती है क्योंकि वह संवाद का मुख्य विषय है। अतः शीर्षक उपयुक्त है।

RBSE Class 12 English Prudence Drama Chapter 1 Additional Questions

RBSE Class 12 English Prudence Drama Chapter 1 Short Answer Type Questions

Answer the following questions in about 50 words each:
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 50 शब्दों में लिखिए :

Question 1.
Why do you think the playwright has used the technique of the image in the play?
आप क्या सोचते हैं नाटककार ने नाटक में प्रतिमा की तकनीक को क्यों इस्तेमाल किया है ?
Answer:
The playwright has used the image of the main character Manjula Nayak. He represents an interaction between Manjula and her image. It is the best technique of self-evaluation. He has shown the inner violence of Manjula Nayak by her image. Images reveal towards the best types of self-evaluation.

नाटककार ने मुख्य पात्र मंजुला नायक की प्रतिमा का प्रयोग किया है। वह मंजुला और उसकी प्रतिमा के बीच एक अन्त:क्रिया प्रस्तुत करता है। यह आत्म-परीक्षण की सबसे अच्छी तकनीक है। नाटककार ने प्रतिमा द्वारा मंजुला के भीतरी-विस्फोट को दर्शाया है। प्रतिमाएँ आत्म-परीक्षण के सबसे अच्छे तरीके को उजागर करती हैं।

Question 2.
The play is called a monologue. Why?
नाटक स्वकथन है। क्यों ?
Answer:
In this play the main character Manjula Nayak describes in detail about the use of English language in her novel and her love and care for Malini, her handicapped sister. This type of discussion can be called a monologue. The playwright has wisely chosen this conversation style. In dialogue, crossed questions are put up and we know what is deep within the heart of the character.

इस नाटक में मुख्य पात्र मंजुला नायक अपने उपन्यास में अंग्रेजी भाषा के बारे में तथा अपनी विकलांग बहन मालिनी के बारे में भी विस्तार से बताती है। इस प्रकार की विवेचना संवाद/एकालाप कहलाती है। नाटककार ने बड़ी बुद्धिमानी से इस संवाद शैली को चुना है। संवाद प्रणाली में प्रश्न-प्रति-प्रश्न पूछे जाते हैं और हमें पता चल जाता है कि पात्र के दिल की गहराई में क्या है ?

Question 3.
What is the posture the celebrity adopts when the camera is on and when it is off ?
प्रसिद्ध हस्ती किस प्रकार की भाव-भंगिमा अपनाती है जब कैमरा चालू रहता है तथा जब कैमरा बन्द हो जाता है? (Model Paper 2012)
Answer:
When the camera is on, Manjula Nayak is very confident and in a very positive frame of mind. She discusses about her novel and some self experiences of life. But when the camera is off, Manjula Nayak hears a peculiar voice as if her own. Hearing that voice, she becomes very confused. She becomes horrified and loses confidence.

जब कैमरा चालू है, मंजुला नायक पूर्ण विश्वस्त है और उसका मस्तिष्क सकारात्मक है। वह अपने उपन्यास के बारे में विचार व्यक्त करती है और जीवन के कुछ अनुभव बताती है। परन्तु जब कैमरा बन्द हो जाता है, मंजुला नायक एक भिन्न आवाज सुनती है जैसे कि वह उनकी स्वयं की आवाज हो। उस आवाज को सुनकर वह विचलित हो जाती है। वह भयभीत हो जाती है और अपना विश्वास खो। बैठती है।

Question 4.
How can you say that Manjula is at home in broadcasting studios ?
आप कैसे कह सकते हैं कि मंजुला ब्रॉडकास्टिंग स्टूडियो में दक्ष थी ?
Answer:
She comes on the stage with full confidence. She issues instructions to the electricians and other stage mechanics. She knows how to adjust the ear piece. She is conversant with the new technology used on Television studios in London and in Toranto. She oversees everything lying on the stage.

वह मंच पर पूरे विश्वास के साथ आती है। वह इलेक्ट्रीशियन तथा अन्य कर्मचारियों को निर्देश देती है। इयर पीस यंत्र को वह व्यवस्थित करना जानती है। वह लन्दन और टोरण्टो के टेलीविजन स्टूडियो में प्रयुक्त होने वाली नई तकनीक की जानकार है। वह मंच पर होने वाली प्रत्येक घटना का सूक्ष्मतम रूप से निरीक्षण करती है।

Question 5.
who was Malini and why Manjula refers to her here?
मालिनी कौन थी और मंजुला उसको यहाँ क्यों संकेत करती है ?
Answer:
Malini was Manjula’s younger sister. She was a patient of meningomyelocele. She lived with her parents in Bangalore. She refers to Malini in her novel “The River Has No Memories.” Malini was brought to Jayanagar by Manjula when her parents died and she served her continuously for six years.

मालिनी मंजुला की छोटी बहिन थी। वह मेनिंगोमाइलोसील नामक बीमारी से ग्रस्त थी। वह अपने माता-पिता के साथ बैंगलोर में रहती थी। वह लिनी का जिक्र अपने उपन्यास “River Has No Memories” में करती है। माँ-बाप के मरने के बाद मंजुला उसे अपने घर जयनगर ले आती है और उसने उसकी 6 वर्ष तक सेवा सुश्रुषा की।

Question 6.
What is Manjula’s response to the charge of writing her new novel in English ? (S.S. Exam 2013)
मंजुला नया उपन्यास अंग्रेजी में लिखे जाने के आरोप पर क्या प्रतिक्रिया देती है ?
Answer:
Manjula says that if she had foreseen how many people she would upset by writing in English, she really would not have committed that folly. She further says that it was not the matter of conscious choice. She wrote the novel in English because it burst out in English. It surprised even her.

मंजुला कहती है कि यदि वह पहले से ही यह अनुमान लगा लेती कि अंग्रेजी में लिखने से वह कितने लोगों को परेशान कर सकती थी तो वास्तव में वह ऐसी गलती नहीं करती। वह आगे कहती है कि वह सबै कुछ उसने जान बुझ कर नहीं किया। उसने उपन्यास अंग्रेजी में इसलिये लिखा क्योंकि यह अंग्रेजी में फूट निकला। यह उसे भी आश्चर्यजनक लगी।

Question 7.
Why does Manjula not agree to submit her for Prayaschitta?
मंजुला प्रायश्चित के लिए अपने आपको समर्पित करने के लिए क्यों सहमत नहीं होती है ?
Answer:
It is a novel dedicated by Manjula to her sister’s memory. She wants to say that it is her affection and true love for Malini that the subject matter is so elegantly arranged in that novel. She lays emphasis on the contents of novel being all Indian. On the above grounds, Manjula denies any need of expression in regret or Prayaschitta.

यह उपन्यास मालिनी की यादगार के लिए मंजुला द्वारा समर्पित किया गया था। वह कहना चाहती है। कि यह मालिनी का प्यार तथा लगाव ही है जिसके कारण इस उपन्यास में विषय वस्तु इतनी सुन्दरता से आ सकी है। वह इस बात पर जोर डालती है कि उपन्यास की सामग्री पूरी तरह से भारतीय है। उपर्युक्त कारणों से मंजुला पश्चाताप की कोई आवश्यकता महसूस नहीं करती।

Question 8.
Imagine Manjula in her novel would have revealed her as unattractive and less intelligent woman than her younger sister Malini ? Why?
कल्पना कीजिए कि इस उपन्यास में मंजुला ने अपनी बहन मालिनी की अपेक्षा अपने आपको कम आकर्षक और कब बुद्धिमान महिला दर्शाया है। क्यों ?
Answer:
Manjula admits before her image that her sister Malini was more attractive and more intelligent than her. It is because Manjula loved her sister very much. Her sister Malini was physically disabled and remained on wheel chair. Manjula wanted to provide her all the happinesses and liked her most.

मंजुला अपनी प्रतिमा के समक्ष यह स्वीकार करती है कि उसकी बहन मालिनी उससे अधिक आकर्षक और बुद्धिमान थी। ऐसा इसलिए क्योंकि मंजुला अपनी बहिन से बहुत प्यार करती थी। उसकी बहिन मालिनी शारीरिक रूप से दिव्यांग थी और पहिये वाली कुर्सी पर रहती थी। मंजुला उसे सभी सुख प्रदान करना चाहती थी और उसे सर्वाधिक पसन्द करती थी।

Question 9.
Did Manjula love her sister genuinely ? Support your answer from the text.
क्या मंजुला अपनी बहन से वास्तव में प्रेम करती थी ? कथानक से अपने उत्तर के संदर्भ में प्रमाण दीजिए। (S.S. Exam 2014)
Answer:
Yes, Manjula loved her sister genuinely. She had sacrificed her childhood, education and everything to see her happy. Even she had composed the novel in English because her sister was more interested in English than Kannada. Manjula’s husband Pramod became more interested in Malini but Manjula never became offensive because she wanted to see Malini happy

हाँ, मंजुला अपनी बहन से वास्तव में प्रेम करती थी। उसने उसे प्रसन्न देखने के लिए अपना बचपन, शिक्षा तथा सब कुछ बलिदान कर दिया। यहाँ तक कि उसने उपन्यास की रचना भी अंग्रेजी में इसलिए की थी क्योंकि उसकी बहन को कन्नड़ की अपेक्षा अंग्रेजी में अधिक रुचि थी। मंजुला का पति प्रमोद मालिनी में अधिक रुचि लेने लगा लेकिन मंजुला कभी आक्रामक नहीं हुई क्योंकि वह मालिनी को प्रसन्न देखना चाहती थी।

Question 10.
What does Manjula say about Indian Television Studios ?
भारतीय दूरदर्शन स्टूडियोज के बारे में मंजुला क्या कहती है?
Answer:
About Indian Television Studios, Manjula says that these are noisy. Many men and women keep on running about, shouting and giving orders to one another. There is too much light in Indian Television Studios. So many headphones and cameras are there. This is the picture of Indian Television Studios in Manjula’s mind.

भारतीय दूरदर्शन स्टूडियोज के बारे में मंजुला कहती है कि ये शोरगुल युक्त होते हैं। बहुत से आदमी और औरतें शोर करते हुए और एक दूसरे को आदेश देते हुए इधर उधर दौड़ते रहते हैं। भारतीय दूरदर्शन स्टूडियोज में बहुत अधिक रोशनी होती है। वहाँ बहुत अधिक हैडफोन और कैमरा होते हैं। मंजुला के मास्तिष्क में भारतीय दूरदर्शन स्टूडियोज की ऐसी तस्वीर है।।

Question 11.
What do you know about Manjula’s neglected childhood ?
मंजुला के उपेक्षित बाल्यकाल के बारे में आप क्या जानते हैं ?
Answer:
Manjula could not receive the love and care of her parents during childhood. It was because Manjula’s younger sister Malini was physically disabled since birth. She had a disease called meningomyelocele. She could not move and remained on wheel chair. Manjula’s parents left her with grand parents and kept Malini along with them and lived at Koramangala.

मंजुला बचपन के दौरान अपने माता-पिता का प्रेम और देख रेख प्राप्त नहीं कर सकी। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि मंजुला की छोटी बहिन मालिनी जन्म से ही शारीरिक रूप से दिव्यांग थी। वह चल नहीं सकती थी और व्हील चेयर पर रहती थी। मंजुला के माता-पिता उसे (मंजुला को) उसके दादा-दादी के पास छोड़ गये और मालिनी को अपने साथ रखा और कोरामंगला में रहने लगे।

Question 12.
Why did Manjula decide to live at Jayanagar house while she had a big house at Koramangala?
मंजुला ने जयनगर के घर में रहने का निर्णय क्यों किया जबकि उसके पास कोरामंगला में एक बड़ा घर था?
Answer:
Manjula decided to live at Jayanagar house because she had her job at Jayanagar. This house was at walking distance from her college where she taught. Koranangala house was very large and at a long distance. She would have to leave her job and to invest more time to look after it. Therefore she preferred to live at Jayanagar house.

मंजुला ने जयनगर के मकान में रहने का निर्णय किया क्योंकि उसका काम जयनगर में ही था। यह उस कालिज से थोड़ी दूर था जिसमें वह पढ़ाती थी। कोरामंगला का घर बहुत बड़ा था तथा बहुत दूरी पर था। उसे अपना काम छोड़ना पड़ता तथा उसकी देखभाल में अधिक समय लगाना पड़ता। इसलिए उसने जयनगर वाले घर में रहना अधिक उचित समझा।

RBSE Class 12 English Prudence Drama Chapter 1 Long Answer Type Questions

Answer the following questions in about 100 words :

Question 1.
How genuine is the love that Manjula expresses for her sister ?
मंजुला अपनी बहिन के प्रति जो प्रेम व्यक्त करती है, वह कितना वास्तविक है ?
Answer:
Manjula has sacrificed her childhood, the age of schooling, material comforts in order to see her sister happy. She conceals the dark corners of Malini in order to establish her much like a goddess. She does not disclose the fact that Malini and Pramod Murthy were very close to each other. She has composed a novel in which Malini is shown as sublime character. She has composed the novel in English because Malini was more interested in English than Kannada. On the basis of above activities we dare say that her love for Malini is all genuine.

मंजुला ने अपनी बहन को खुश करने के लिए अपना बचपन, स्कूल जाने की अवस्था, अपनी भौतिक सुख सुविधाओं आदि की तिलांजली दे दी। मालिनी को देवी के रूप में स्थापित करने के लिए वह उसके अन्धकार पूर्ण पक्षों को छिपाए रखती है। वह इस तथ्य को उजागर नहीं करती कि मालिनी और प्रमोद मूर्ति दोनों एक दूसरे से गहरे रूप से सम्बन्धित थे। मंजुला ने एक उपन्यास लिखा जिसमें मालिनी को उत्कृष्ट पात्र के रूप में दिखाया गया है। उसने उपन्यास अंग्रेजी भाषा में लिखा क्योंकि मालिनी कन्नड़ भाषा के बजाय अंग्रेजी में ज्यादा रुचि रखती थी। उपर्युक्त क्रियाओं के आधार पर हम कह सकते हैं कि मालिनी के लिए उसका प्रेम वास्तविक है।

Question 2.
The sister does not appear in the play but is central to it. What picture of her is built in your mind from references in the play?
बहन नाटक में दिखाई नहीं देती फिर भी वह इसका केन्द्रीय भाग है। नाटक के दृश्यों के आधार पर उसकी कौन-सी तस्वीर आपके मस्तिष्क में उभरती है ?
Answer:
She is a bed-ridden patient of meningomyelocele. She is a book worm as she has established her good command in English, Mathematics, History and Anatomy. She receives extreme care from parents and the most from Manjula. She has settled her previous accounts with Manjula and novel dedicated to her appears as if the compound interest has been paid off by Manjula. She has lived a wholesome life in terms of physical pleasures and comforts. The novel “The River Has No Memories” will keep her alive even after death.

वह रोग-शैय्या पर पड़ी रोगी है तथा मेनिन्गोमाएलोसील बीमारी से ग्रसित है। वह किताबी कीड़ा है क्योंकि उसको अंग्रेजी, गणित, इतिहास और शरीर विज्ञान पर अच्छा अधिकार था,।। वह अपने माता-पिता से अच्छी देखरेख प्राप्त करती है तथा मंजुला से तो बहुत ही अधिक। उसने अपने पहले के खाते अपनी बहिन मंजुला के साथ संपादित किए और उपन्यास जो उसे समर्पित किया गया ऐसा लगता है मानो मंजुला द्वारा चक्रवृद्धि ब्याज चुकाया गया हो। उसने पूरा जीवन भौतिक सुख और आराम के साथ व्यतीत किया। उपन्यास “द रिवर हेज़ नो मेमोरीज़” उसे मृत्यु के बाद भी सजीव रखेगा।

Question 3.
When the image says – “Her illness was unfortunate. But because of it, she got the best of everything-”
1. What is the nature of Manjula’s reply?
2. How can it be related to what follows in the play?
जब प्रतिमा यह कहती है – “उसकी बीमारी दुर्भाग्यशाली थी लेकिन इसके कारण उसे प्रत्येक अच्छी वस्तु मिल गई” –
1. मंजुला के उत्तर की क्या प्रकृति थी ?
2. जो कुछ नाटक में घटित होता है उसे किस प्रकार से इससे सम्बन्धित किया जा सकता है ?
Answer:
1. Manjula’s image says that Malini has received natural affection of parents and that of hers. She says that share of her affection and care from parents has also gone to Malini. She says that the novel dedicated to Malini can be seen as her true love for Malini.

2. Manjula got a job in Bangalore. There she is married with Pramod Murthy. Her parents have died leaving behind handicapped Malini. She serves Malini not as sister but as child of her own. Malini and Pramod have fallen in love with each other but she bears with it happily and takes care of Malini’s emotions. Manjula has kept her promise to serve Malini till the day of her death. After Malini’s death Pramod deserts Manjula and settles in Los Angeles (America).

1. मंजुला की प्रतिमा कहती है कि मालिनी को माता-पिता व उसका प्यार मिला। वह कहती है कि उसको मिलने वाली सुरक्षा और प्यार भी मालिनी के पल्ले पहुँच गया। वह कहती है कि मालिनी को समर्पित किये गये उपन्यास को मालिनी के प्रति उसके सच्चे प्यार के रूप में देखा जा सकता है।

2. मंजुला को बैंगलोर में एक नौकरी मिली। वहाँ उसकी प्रमोद मूर्ति से शादी हो जाती है। उसके माँ-बाप मालिनी को दिव्यांग हाल में छोड़कर मर जाते हैं। वह मालिनी की सेवा बहन के रूप में नहीं बल्कि अपने बच्चे की तरह करती है। मालिनी और प्रमोद प्रेम करने लगते हैं परन्तु वह इसे खुशी-खुशी सहन कर लेती है और मालिनी की भावनाओं का ध्यान रखती है। मंजुला ने मालिनी की सेवा करने का अपना संकल्प उसकी मृत्यु तक निभाया। मालिनी की मृत्यु के उपरान्त प्रमोद मंजुला को छोड़ जाता है और लॉस एंजिल्स (अमेरिका) में बस जाता है।

Question 4.
What are the issues that the playwright satirises through this T.V. monologue of a celebrity?
कौन-कौन से मामले हैं जिन पर नाटककार एक प्रसिद्ध हस्ती के टी. वी. एकल नाटक के द्वारा व्यंग्य करता है ?
Answer:
Issues satirised in this play :

  1. Fault finding nature of people in this country A priest has nothing to do with the novel but condemns Manjula saying that she is disloyal to the Kannada language. Some people say that Manjula has betrayed Kannada while some other say that she has greed for wealth.
  2. Prying in others private or the most individual affairs The acute questioning of image on Manjula’s private matters reveals this fact.
  3. Ambiguity and ambivalance Announcer and Manjula both declare that a telefilm made on Kannada translated version of her novel is shortly being displayed but it is not done. Again we see a sharp difference between Manjula’s statements before screen and that she says to her image.

मुद्दे जिन पर व्यंग्य किया गया है –

  1. इस देश में लोगों द्वारा दोषारोपण की प्रवृत्ति – पुजारी को उपन्यास से कोई लेना-देना नहीं है परन्तु वह मंजुला की यह कहकर निन्दा करता है कि मंजुला कन्नड़ भाषा के प्रति बेईमान है। कुछ व्यक्ति कहते हैं कि मंजुली ने कन्नड़ के साथ विश्वासघात किया है जबकि कुछ लो। कहते हैं कि वह धन के प्रति लालची है।
  2. दूसरे लोगों के व्यक्तिगत मामलों में दखल देना – प्रतिमा द्वारा तीक्ष्ण प्रश्न पूछना मंजुला के व्यक्तिगत मामलों के बारे में इस तथ्य को उजागर करता है।
  3. संदेह और दोगलेपन की आदत- उद्घोषक और मंजुला दोनों घोषणा करते हैं कि कुछ ही समय में कन्नड़ भाषा में अनुवादित उपन्यास की फिल्म दिखाई जाएगी परन्तु इसे नहीं दिखाया जाता है। मंजुला के पर्दे के सामने के भाषण और जो वह प्रतिमा के सामने कहती है, उनमें अन्तरे दिखाई देता है।

Question 5.
‘Broken Images’ takes up a debate that has grown steadily since 1947 – the politics of language in Indian literary culture, specifically in relation to modern Indian languages and English. Discuss.
‘टूटती प्रतिमाएँ’ एक वाद-विवाद का रूप धारण करती है जो 1947 से लगातार चल रही है – भारतीय साहित्यिक संस्कृति में भाषा की राजनीति-विशेष रूप से वर्तमान भारतीय भाषा और अंग्रेजी के सम्बन्ध ‘ में विवेचना कीजिए।
Answer:
1. According to the constitution, English was to be replaced by Hindi by 26th January, 1965.
2. There was a strong opposition from the South particularly from Chennai to it.
3. Official Language Act (Amendment) was passed in 1967. A guarantee was given to Non Hindi States that the use of English would continue indefinitely.
4. It was provided that the knowledge of either English or Hindi was compulsory for recruitment of All Indian Services. People in non-Hindi states would learn three languages viz. regional language, Hindi and English.

1. संविधान के अनुसार हिन्दी को अंग्रेजी का स्थान 26 जनवरी, 1965 को दिया जाना था।
2. दक्षिण द्वारा विशेष रूप से चेन्नई द्वारा इसका तीव्र विरोध किया गया।
3. कार्यालयी भाषा कानून (संशोधन) 1967 में पारित हुआ। अहिन्दी राज्यों को गारण्टी दी गई कि अंग्रेजी का प्रयोग अनिश्चित रूप से जारी रहेगा।
4. इस प्रकार का प्रावधान रखा गया कि भारतीय सेवाओं के लिए हिन्दी या अंग्रेजी का ज्ञान आवश्यक है। अहिन्दी भाषी क्षेत्र में लोग तीन भाषाएँ सीखेंगे – क्षेत्रीय भाषा, हिन्दी तथा अंग्रेजी।

Question 6.
The play deals with a Kannada woman writer who unexpectedly produces an international bestseller in English.
1. Can a writer be a truly bilingual practitioner ?
2. Does writing in an ‘other tongue’ amount to betrayal of the mother tongue ?
नाटक कन्नड़ भाषा की महिला लेखिका से सम्बन्धित है जो अप्रत्याशित रूप से अंग्रेजी में अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति की अच्छी बिक्री वाली पुस्तक को प्रस्तुत करती है।
1. क्या सच्चे अर्थों में एक लेखक द्विभाषी लेखक हो सकता है ?
2. क्या दूसरी भाषा में लिखने से मातृभाषा के साथ विश्वासघात होता है ?
Answer:
1. Yes, there is no doubt that a writer can be truly bilingual practitioner. If a writer has a vast knowledge about the foreign language, he may express his ideas in that language also. There are no limitations of expression. We have experienced so many writers who wrote in more than one language and got popularity in literary creations.

2. No, it is not wise to say that to write in an other tongue is the betrayal of the mother tongue. The writers should give preferences to mother tongue. But there happens many ups and downs in the lives of writers. If a writer takes some assistance from other tongues to express his feelings, he should not be checked.

1. हाँ, इसमें कोई सन्देह नहीं कि एक लेखक द्विभाषी हो सकता है। यदि एक लेखक को विदेशी भाषा का गहन ज्ञान है तो वह अपने विचारों को उस भाषा में भी व्यक्त कर सकता है। अभिव्यक्ति की कोई सीमा नहीं है। हमें बहुत से लेखकों का अनुभव है जो एक से अधिक भाषा में लिखते हैं और साहित्यिक विधाओं में उन्होंने लोकप्रियता प्राप्त की।

2. नहीं, यह कहना बुद्धिमानी नहीं है कि दूसरी भाषाओं में लिखना अपनी मातृभाषा के साथ विश्वासघात है। लेखकों को अपनी मातृभाषा को वरीयता देनी चाहिए। परन्तु लेखकों के जीवन में बहुत से उतार-चढ़ाव आते हैं। यदि लेखक अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए अन्य भाषा से कुछ सहायता ले लेता है तो उसे रोकना नहीं चाहिए।

Question 7.
This drama ‘Broken Images’ is alike Edna St.Vincent Millay’s statement on life. “My andle burns at both ends, it will not last the night, but, Ah, my foes and Oh, my friends – it gives a lovely light.” Because much or less the same has happened to Manjula, the novelist described here. Do you agree to this statement ? Justify with reference to the content of this drama.
यह नाटक ‘ब्रोकन इमेजिस’ एड्ना सैण्ट विसेंट मिले के जीवन पर कथन के समान है – मेरी मोमबत्ती दोनों ओर से जल गई है – यह पूरी रात नहीं जल सकेगी लेकिन आह मेरे शत्रुओं और ओ मेरे मित्रोंयह बहुत ही प्यारी रोशनी दे रही है।” क्योंकि लगभग इसी प्रकार मंजुला, यहाँ वर्णित नाटक लेखिका के साथ घटित हो रहा है। क्या आप इस कथन से सहमत हैं ? नाटक के कथानक से इसे युक्तियुक्त ठहराइए।
Answer:
Yes, we can prove this under following heads :

  1. Manjula’s neglected childhood – Malini was born with a disease called meningo myelocele. Her parents took her to Koramangala and Manjula was left behind at Dharwad with her grand parents. She could not receive close affection from her parents in her childhood.
  2. Manjula’s neglected youth -Pramod, her husband was a software engineer. He used to conduct his profession from home so Pramod and Malini developed an intimate relationship.
  3. Majula’s undeveloped motherhood – She lived a life without any children.
  4. Manjula’s self denial-We see a complete self-denial on the part of Manjula for happiness of her sister Malini. It is indeed a fire like acceptance by Manjula in order to provide Malini, a cool breeze to keep her ever smiling. Thus, we see Manjula has burnt candle at both ends and her friends and foes see the light that candle is giving.

हाँ, हम निम्नलिखित शीर्षकों के अन्तर्गत इसे प्रमाणित कर सकते हैं –

  1. मंजुला का उपेक्षित बाल्यकाल – मालिनी जन्म से मेनिन्गोमाएलोसील नामक बीमारी से पीड़ित थी। उसके माँ-बाप उसे कोरामंगला ले गए और मंजुला को दादा-दादी के पास धारवाड़ छोड़ ग़ए। वह (मंजुला) अपने बाल्यकाल में माँ-बाप के प्यार से वंचित रही।
  2. मंजुला का उपेक्षित यौवन – मंजुला का पति प्रमोद सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। वह अपने घर से ही अपना व्यवसाय चलाता था इसलिए उसमें और मालिनी में एक गहन सम्बन्ध स्थापित हो गया।
  3. मंजुला का अविकसित मातृत्व – वह सन्तानविहीन जीवन जी रही थी।
  4. मंजुला की स्व-अस्वीकृति – हमें देखते हैं कि मालिनी की खुशी के लिए मंजुला की स्वयं अस्वीकारिता निहित है। यह वास्तव में आग के समान है जिसे मंजुला स्वीकार करती है जिससे मालिनी को ठण्डी हवा मिलती रहे और वह हमेशा मुस्कुराती रहे। इस प्रकार हम देखते हैं कि मंजुला ने अपनी मोमबत्ती को दोनों सिरों से जला दिया है और उसके मित्र और दुश्मन उसकी रोशनी को देखते हैं जो मोमबत्ती दे रही है।

Question 8.
What do you think an essence like here in this drama for the students of Senior Secondary Schools ? Discuss.
सीनियर सैकण्डरी छात्रों के लिए इस नाटक का सार क्या समझते हो ? वर्णन कीजिये।
Answer:
Manjula has sacrificed her life for her sister. We can mention the essence embedded with this drama as under :

  1. Manjula’s childhood – Malini was Manjula’s younger sister. Her parents left Manjula in care of grand parents at Dharwad and took Malini to Koramangala. She did not make any complaint to her parents. It reveals her sense of self-sacrifice for her sister.
  2. Manjula’s education – Manjula admits – “Malini was the apple of their eye.” Had she fallen in the trap of sibling rivalry, she would have not finished her college and never she could become the English lecturer. On the other hand Malini was provided with a teacher.

मंजुला ने अपनी बहन के लिए अपने जीवन को न्यौछावर कर दिया है। इस नाटक में संकलित सार को हम इस प्रकार व्यक्त कर सकते हैं –

  1. मंजुला का बचपन – मालिनी मंजुला की छोटी बहन थी। उसके माँ-बाप मंजुला को दादा-दादी के संरक्षण में धारवाड़ में छोड़ गए. तथा मालिनी को साथ लेकर कोरामंगला चले गए। उसने अपने माँ-बाप से कोई शिकायत नहीं की। यह उसका अपनी बहन के लिए आत्म-बलिदान की भावना को व्यक्त करता है।
  2. मंजुला की शिक्षा – मंजुला स्वीकारती है – “मालिनी उनकी आँखों का तारा थी।” यदि वह (मंजुला) सहोदर विरोधाभास के चक्कर में पड़ जाती तो वह अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूर्ण नहीं कर पाती और वह कभी भी अंग्रेजी व्याख्याता नहीं बन पाती। दूसरी ओर मालिनी को पढ़ाने के लिए घर पर ही अध्यापक की व्यवस्था की गई।