RBSE Class 9 English Beehive

Poem 1 The Road not taken

The Road not taken Textbook Questions and Answers

Thinking About The Poem :

Question1.

Where does the traveller find himself? What problem does he face? 
यात्री अपने को कहाँ पाता है? वह किस समस्या का सामना करता है? 
Answer: 

The traveller finds himself in a yellow wood from where the two roads diverged.
He faces the problem of decision-making. He is supposed to choose the road for travelling further.

यात्री अपने को पीले (पतझड़ वाले) वन में पाता है जहाँ से सड़क दो भागों में विभाजित हो रही थी।
वह निर्णय लेने की समस्या का सामना करता है। आगे यात्रा करने के लिए उसे किस सड़क पर चलना है इसका निर्णय लेना है।

Question 2. 
Discuss what these phrases mean to you : 
(i) a yellow wood 
(ii) it was grassy and wanted wear 
(iii) the passing there. 
(iv) leaves no step had trodden black 
(v) how way leads on to way 
चर्चा करें कि ये वाक्यांश आपके अनुसार क्या अर्थ रखते हैं
(i) एक पीला वन 
(ii) यह घास से परिपूर्ण था और प्रयोग होकर घिसना चाहता था 
(iii) वहाँ से गमन (गुजरना) 
(iv) पत्ते जिसे किसी पैर ने कुचल कर काला नहीं किया था 
(v) किस प्रकार एक मार्ग दूसरे मार्ग पर ले जाता है

Answer: 
(i) A yellow wood means that the poet saw a wood in autumn season. The leaves of the trees had turned yellow.
(ii) The other road was not used so much as the first one so there was abundant grass on it. This road needed to be used so that the grass might wear out.
(iii) The passing there means’ walking on the road.
(iv) ‘Leaves no step had trodden black means that the leaves hadn’t turned black as they weren’t trampled by any human foot.
(v) How way leads on to way means that one path carries us to the other.

(i) एक पीले वन का अर्थ है कि कवि ने पतझड़ में एक वन को देखा। वृक्षों के पत्ते पीले पड़ चुके थे।
(ii) दूसरी सड़क का प्रयोग इतना नहीं हुआ था जितना कि प्रथम सड़क का, अतः इस पर काफी घास थी। इस सड़क को प्रयोग करने की आवश्यकता थी ताकि इसकी घास घिस सके (कम हो सके)।
(iii) इसका अर्थ है सड़क पर चलना या गमन करना। 
(iv) इसका अर्थ है कि पत्ते काले नहीं पड़े थे क्योंकि ये किसी मानवीय पैर द्वारा कुचले नहीं गए थे। 
(v) इसका अर्थ है कि एक मार्ग दूसरे मार्ग तक ले जाता है।

Question 3. 
Is there any difference between the two roads as the poet describes them :
(i) in stanzas two and three?
(ii) in the last two lines of the poem? 
क्या दोनों सड़कों में कोई अन्तर है जैसे कवि उनका वर्णन करता है
(i) छन्द दो व तीन में? 
(ii) कविता की अन्तिम दो पंक्तियों में?

Answer
(i) In stanzas two and three, the poet finds no difference between the two roads. The poet in the second stanza says that the other road is also just as fair. In the third stanza the poet says that both the roads lay equally that morning.
(ii) In the last two lines the poet says that he took the less travelled road which made all the difference.

(i) द्वितीय व तृतीय छंद में कवि दोनों सड़कों में कोई अंतर नहीं पाता है। द्वितीय छंद में कवि कहता है कि दूसरी सड़क भी उतनी ही अच्छी है। तृतीय छंद में कवि कहता है कि उस प्रात:काल दोनों सड़कें समान रूप से फैली थीं। 
(ii) अन्तिम दो पंक्तियों में कवि कहता है कि उसने कम चली हुई सड़क ली जिसने उसके जीवन में अन्तर ला दिया।

Question 4. 
What do you think the last two lines of the poem mean? (Looking back, does the poet regret his choice or accept it?)
आपके विचार में कविता की अन्तिम दो पंक्तियों का अर्थ क्या है? (पीछे देखते हुए, क्या कवि अपने चुनाव पर पछताता है या स्वीकृति देता है?)
Answer: 
The last two lines of the poem mean that he took the road less travelled by and it made all the difference in his life.
Looking back, the poet seems to be regretting his choice. He missed the opportunity standing then and there. He postponed it for another day. He thinks perhaps his life would have been happier if he had taken the road more travelled by.

कविता की अन्तिम दो पंक्तियों का अर्थ है कि कवि ने कम प्रयोग की हुई सड़क पर चलने का चुनाव किया और उसने उसके जीवन में अन्तर स्थापित कर दिया। पीछे देखते हुए, कवि अपने चुनाव पर पछताता-सा दिखाई जान पड़ता है। उसने उसके सामने उपस्थित अवसर को छोड़ दिया। उसने इसको किसी अन्य दिन के लिए आगे सरका दिया। वह अब सोचता है कि शायद उसका जीवन अधिक प्रसन्न होता यदि वह अधिक प्रयोग की गई सड़क पर चलने का निर्णय लेता।

II. 
Question 1.
Have you ever had to make a difficult choice (or do you think you will have difficult choices to make)? How will you make the choice (for what reasons)?
क्या आपको कभी कठिन चुनाव करना पड़ा (या क्या आप सोचते हैं कि आपको कठिन चुनाव करने पड़ेंगे)? आप चुनाव कैसे करेंगे (किन कारणों से)?
Answer: 
Yes, I once had to make a difficult choice (or I think I’ll have difficult choices to make.) I’ll make the choice for the following reasons : First, I’ll weigh on the merits and demerits. Then, I’ll consult with my family, friends and guides.

हाँ, मुझे एक बार कठिन चुनाव करना पड़ा था (या मैं सोचता हूँ कि मुझे कठिन चुनाव करने होंगे। मैं निम्न तर्कों पर आधारित चुनाव करूँगा : प्रथम, मैं गुण व अवगुण के आधार पर तोलूँगा। फिर, मैं अपने परिवार, मित्रगण व मार्गदर्शकों से परामर्श करूँगा।

Question 2. 
After you have made a choice do you always think about what might have been, or do you accept the reality?
चुनाव करने के उपरान्त क्या आप हमेशा सोचते हो कि क्या होता; या आप वास्तविकता को स्वीकार कर लेते हैं?
Answer: 
After I have made a choice I always think about what might have been. I accept the reality but I make amend on the basis of my own experience in the matter. And then make the realistic or practical choice and ensure success.

मेरे द्वारा चुनाव करने के उपरान्त मैं सदा सोचता हूँ कि क्या हुआ होता। मैं वास्तविकता को स्वीकार करता हूँ लेकिन उस मामले में अपने अनुभव के आधार पर त्रुटि सुधार भी करता हूँ। और फिर सच्चे या यथार्थपूर्ण चुनाव करता हूँ और सफलता सुनिश्चित कर लेता हूँ।

RBSE Class 9 English

The Road not taken

 Important Questions and Answers

Question 1.
Give the theme/central idea of the poem briefly. 
कविता की विषय-वस्तु/केन्द्रीय भाव संक्षिप्त रूप में दें।
Answer: 
The theme/central idea of the poem is decision-making. When two roads diverged in a yellow wood, the poet makes a decision to take the one less travelled by. And this decision made all the difference.

कविता की विषय-वस्तु/केन्द्रीय भाव निर्णयन क्षमता है। जब दो सड़कें एक पीले वन में विभाजित हुईं तो कवि ने उस सड़क को प्रयोग करना चुना जिस पर कम ही लोग चले थे। और इस निर्णय ने सारा अन्तर कर दिया (अर्थात् जीवन की दिशा बदल दी)।

Question 2.
Highlight the message of the poem. 
कविता के सन्देश पर प्रकाश डालें।
Answer: 
The poem gives the message of utilization of opportunity and of accepting challenges. The poet did not utilise the opportunity of treading the road more travelled by. And this made all the difference. But he accepted the challenge and trode the untrodden path.

कविता अवसरों को भुनाने और चुनौतियों को स्वीकार करने का सन्देश देती है। कवि ने उस सड़क पर चलने का अवसर नहीं भुनाया जिस पर अधिकाधिक लोग चल रहे थे। और इसने उसे जीवन में बहुत पीछे रखा। लेकिन उसने चुनौती स्वीकारी और अचल मार्ग पर चल कर दिखाया।

Question 3. 
In the poem ‘The Road Not Taken’ which road did the poet take? How did he make the choice?
कविता ‘सड़क जो नहीं ली गई’ में कवि कौनसी सड़क पकड़ता है? उसने यह चयन कैसे किया?
Answer: 
There were two roads-one was more trodden, the other was less trodden. The poet stood at the crossing for a long time and considered thoughtfully which road to take. At last he chose the second less trodden road.

दो सड़कें थीं एक अधिक चली हुई, दूसरी कम चली हुई। कवि चौराहे पर लम्बे समय खड़ा रहा और गहनता से विचार किया कि कौनसी सड़क पकड़ी जाये। अन्त में उसने दूसरी कम चली सड़क को चुना।

Question 4. 
What sort of road seemed the first one? Why was it so? 
पहली सड़क किस प्रकार की लगती थी? वह ऐसी क्यों थी?
Answer: 
The first road seemed easier and more trodden because more people had walked on it. It is a common trend, a common human nature to go after the easier way and avoid difficulties or uncertainties. Only a few adventurous people take the unusual path.

प्रथम सड़क आसान दिखी और अधिक चली हुई थी क्योंकि इस पर अधिक लोग चल चुके थे। यह एक सामान्य बात है, एक सामान्य मानवीय प्रकृति कि आसान मार्ग पर चला जाये और कठिनाइयों व अनिश्चितता से बचा जाए। केवल कुछ साहसी लोग ही असाधारण मार्ग चुनते हैं।

Question 5.
Discuss on the aptness of the title of the poem ‘The Road Not Taken’. कविता The Road Not Taken’ के शीर्षक की उपयुक्तता पर विचार-विमर्श करें।
Answer: 
The title is apt and suggestive. The title ‘The Road Not Taken’ suggests he choice which was not made. The poet didn’t make a choice for the easy path so he had to suffer in his life.

शीर्षक उपयुक्त व विचारोत्तेजक है। शीर्षक ‘The Road Not Taken’ उस चुनाव या निर्णय की ओर संकेत करता है जो नहीं किया गया। कवि ने सरल मार्ग का चुनाव नहीं किया इसलिए उसे अपने जीवन में दुःख उठाने पड़े।

Question 6. 
How does the poem ‘The Raod Not Taken’ open ?
कविता ‘The Road Not Taken’ कैसे आरंभ होती है?
Answer:
The poem “The Road Not Taken’ opens with the information that the poet is travelling on a road but at some place in a yellow wood this road is divided into two. The poet then stands long to make a choice.

कविता ‘The Road Not Taken’ इस सूचना के साथ आरंभ होती है कि कवि एक सड़क पर चल रहा है किंतु एक पतझड़ वाले जंगल में एक स्थान पर यह सड़क दो भागों में विभक्त हो जाती है। कवि निर्णय लेने के लिए वहाँ काफी लंबे समय खड़ा रहता है।

Question 7. 
Why does the poet take the other road and not the first one ? 
कवि दूसरी सड़क क्यों चुनता है व पहली वाली क्यों नहीं?
Answer:
The poet takes the other road because he wants to tread upon less travelled one or travel on a difficult or challenging one. He does not take the first road as it is an easy road.

कवि दूसरी. वाली सड़क चुनता है क्योंकि वह एक कम चली सड़क पर चलना चाहता है या एक कठिन या चुनौतीपूर्ण सड़क पर चलना चाहता है। वह पहली वाली सड़क पर चलना नहीं चाहता है क्योंकि यह एक आसान सड़क है।

Question 8. 
Why does the poet doubt his coming back ? 
कवि अपनी वापसी पर संदेह क्यों करता है?
Answer: 
The poet doubts his coming back because it so happens in our life that once a road is taken or a choice is made then it leads to another and so on.

कवि अपनी वापसी पर संदेह करता है क्योंकि हमारे जीवन में ऐसा घटित होता है कि एक बार जब कोई मार्ग चुन लिया जाता है या कोई निर्णय कर लिया जाता है तो यह आगे, और आगे बढ़ता ही जाता है आदिआदि।

Question 9. 
How does the poem ‘The Road Not Taken’ conclude ? 
कविता ‘The Road Not Taken’ कैसे समाप्त होती है?
Answer: 
The poem ‘The Road Not Taken’ concludes with poet’s repentance for making a choice to travel on a difficult or challenging road which made all the difference in his life.

कविता ‘The Road Not Taken’ कवि के इस पछतावे से समाप्त होती है कि उसमें एक कठिन या चुनौतीपूर्ण मार्ग का चुनाव क्यों किया जिसने उसके जीवन में बहुत अंतर ला दिया। 

 Chapter 1 The Road Not Taken