Rajasthan Board RBSE Class 12 English Prudence Poetry Chapter 6 Trees

RBSE Class 12 English Prudence Poetry Chapter 6 Textual Questions

1. Choose the correct alternative :

Question (a)
“There seemed to rise a Tune ……….. ” From where do you feel it seems to rise the tune ?
(i) sea-side
(ii) trees
(iii) colonies
(iv) school
Answer:
(ii) trees

Question (b)
“To let the orchards grow ……….. “What do you understand by orchards ?
(i) garden of fruits
(ii) agricultural fields
(iii) clumps of trees
(iv) a group of administrations
Answer:
(i) garden of fruits

2. Answer the following questions in 15-20 words each :
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 15-20 शब्दों में दीजिए :

Question (a)
Enamoring the ear…….. what enamores the ear ?
कानों को क्या प्यारा लगता है?
Answer:
With sunrise, small creatures like bees, gnats etc., come out. The sound of their movement is like music which enamors the ear.
सूर्योदय के साथ छोटे-छोटे प्राणी जैसे मधुमक्खियाँ पतंगे इत्यादि निकल आते हैं। उनकी गतिविधियों की आवाज संगीत के समान है जो कानों को प्यारा लगता है।

Question (b)
“The sun shone whole at intervals Then half-then utter hid” What do you understand about the sun here ?
सूर्य के बारे में आप यहाँ क्या समझते हैं?
Answer:
Here the sun is like a whimsical monarch who comes out of his estate of clouds at will to help the orchards grow.
यहाँ सूर्य एक सनकी राजा के समान है जो अपने बादलों की जागीर से इच्छानुसार बाग-बगीचों को फलने-फूलने में सहायता देने के लिये निकलता है।

Question (c)
Why is the bird careless on the fence?
चाहरदीवारी पर बैठी चिड़िया लापरवाह क्यों है?
Answer:
The bird sitting on the fence is lazing about in the warmth of the morning sun. So it is careless.

(lazing about – to rest = आराम कर रही।) चाहर दीवारी पर बैठी चिड़िया प्रातः सूरज की गुनगुनी धूप में आराम कर रही है। इसलिये यह लापरवाह है।

Question (d)
On silver matters charmed a snake ….. What does the snake symbolize ?
सर्प किस चीज का प्रतीक है?
Answer:
The snake symbolizes the creatures which live on the land and get energy from the sun for their lives.
सर्प उन प्राणियों का प्रतीक है जो जमीन पर रहते हैं और सूरज से अपने जीवन के , लिये ऊर्जा प्राप्त करते हैं।

Question (e)
“Bright flowers slit a calyx ………” Interpret the line in your own words.
इस लाइन की अपने शब्दों में व्याख्या कीजिये।
Answer:
In the morning, most flowers bloom. Their colourful petals come out of their outer’ green cover and spread their fragrance in the air.
प्रात: अधिकतर फूल खिलते हैं। उनकी रंगीन पंखुडियाँ अपने बाहरी हरे आवरण से बाहर निकल आती हैं और हवा में अपनी सुगंध फैला देती है।

3. Answer the following questions in 50 words each :
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 50 शब्दों में दीजिए :

Question (a)
What do you understand by the psalteries of summer?
ग्रीष्म ऋतु के धार्मिक भजन से आप क्या समझते हो?
Answer:
‘Psalteries’ means collection of religious songs sung by bards in praise of God. Here, psalteries refer to the different sound in nature produced by trees, bees, gnats and other small creatures with the coming out of the sun in the morning during summer. These sounds are soothing to the ear like psalteries.

‘Psalteries’ का अर्थ है भगवान की स्तुति में चारणों द्वारा गाये गये धार्मिक गीत। यहाँ धार्मिक गीत’ को प्रयोग प्रकृति में ग्रीष्म ऋतु में प्रातः सूरज निकलने के साथ पेड़ों, मधुमक्खियों, पतंगों व अन्य छोटे प्राणियों द्वारा उत्पन्न की हुयी भिन्न-भिन्न आवाजों के लिये है। ये आवाजें psaltires के समान ही कानों को प्रिय लगती हैं।

Question (b)
How would you explain the image of the “Hindered Flags” ?
बन्द पड़े झण्डों की कल्पनाशीलता को आप किस प्रकार स्पष्ट करेंगे?
Answer:
The image of the ‘Hindered Flags’ describes the opening of the calyxes of buds like the opening of the folds of flags when hoisted. The petals within calyxes come out and blossom into flowers on their stems like flags unfurled on poles. The flowers wave in the air as flags do on poles.

बन्द पड़े झण्डों की कल्पनाशीलता कलियों के पुष्प-पुटों के खुलने का वर्णन करती है वैसे ही जैसे बन्द झण्डों की तहों का खुलना जब उन्हें फहराया जाता है। पुष्प-पुटों के अन्दर की पंखुडियाँ बाहर आती हैं और अपने तनों पर फूल बन कर खिलती हैं वैसे ही जैसे खम्बे पर झण्डे खुल जाते हैं। फूल हवा में लहराते हैं जैसे झण्डे खम्बों पर लहराते हैं।

Question (c)
Why does the poet capitalize pronouns referring to the sun ?
कवियत्री ने सूर्य को संकेत करने के वाले सर्वनाम बड़े अक्षरों में क्यों लिखे हैं?
Answer:
In the poem, the poet has presented the sun as Supreme Power, like God, which is the source of all life and energy on the earth. Without the sun, growth is impossible. Since all pronouns referring to God are capitalized, the poet has capitalized all pronouns referring to the sun.

कविता में कवियत्री ने सूर्य को ईश्वर के समान सर्वशक्तिमान के रूप में प्रस्तुत किया है जो पृथ्वी के सभी जीवन और ऊर्जा का स्रोत है। बिना सूर्य के विकास असम्भव है। क्योंकि ईश्वर को संकेत करने वाले सभी सर्वनाम बड़े अक्षरों में लिखे जाते हैं, कवियत्री ने सूर्य को संकेत करने वाले सभी सर्वनामों को बड़े अक्षरों में लिखा है।

Question (d)
Discuss the central idea of the poem.
कविता के केन्द्रीय भाव बताइये।
Answer:
The poem ‘Trees’ by Emily Dickinson describes a summer day. In the morning breeze, the trees swing. The sun appears and disappears behind clouds. Small creatures sing their psalteries. Birds and animals enjoy the morning warmth and flowers blossom and leave their fragrance in the air.

‘Emily Dickinson’ कविता “Trees” ग्रीष्म ऋतु के एक दिन का वर्णन करती है। प्रातः की हवा में पेड़ लहराते हैं। सूरज निकलता है और बादलों में गायब हो जाता है। छोटे-छोटे प्राणी अपना-अपना गीत गाते हैं। पक्षी और जानवर प्रातः की हल्की गरमी का आनन्द उठाते हैं और फूल खिल जाते हैं और अपनी सुगन्ध हवा में छोड़ देते हैं।

4. Answer the following questions in 100 words each:
निम्न प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 100 शब्दों में दीजिए :

Question (a)
What imagery does the poet use to delineate summer’s day more picturesquely?
ग्रीष्म दिवस के वर्णन को किसी भी अन्य चित्रकार से अच्छा चित्रित करने के लिए कवयित्री किस कल्पनाशीलता को प्रयोग में लाती है?
Answer:
The imagery of the wind playing through leaves and branches of trees as with tassels, the music produced by miniature creatures like summer psalteries make the description of a summer day very vivid. Besides, the whimsical sun appearing from and disappearing behind his estate of clouds, doing its duty to let the orchards grow, birds sitting carelessly or gossiping, a snake winding round a stone add to the graphic description. Finally, the use of the wonderful imagery of flowers slitting open their calyxes like hindered flags makes the poet’s description of a summer day more picturesque than a painter could.

पत्तियों और डालियों के बीच जैसे हुँदने के साथ हवा का खेलना, ग्रीष्म कालीन धार्मिक गीतों के समान छोटे-छोटे प्राणियों द्वारा उत्पन्न संगीत की कल्पना-सृष्टि ग्रीष्म काल के दिन के वर्णन को अत्यधिक सजीव बनाती है। इसके अतिरिक्त, सनकी सूर्य का बादलों की जागीर से निकलना और पीछे छिप जाना, बाग-बगीचों को विकसित होने देने के अपने कर्तव्य को करना, चिड़ियों की लापरवाही से बैठना या बातचीत करना, एक साँप का एक पत्थर पर लिपटना सुचित्रित वर्णन को और व्यापक बना देता है। अन्त में, फूलों का अपने पुष्प-पुटों को बन्द झण्डों के समान फाड़ने की कल्पना-सृष्टि ग्रीष्म काल के दिन के कवियत्री के वर्णन
को किसी भी चित्रकार से अधिक अच्छा बनाती है।

Question (b)
Give examples from the poem to show that great poetry is a result of close observation of natural phenomena.
इस कविता में से यह सिद्ध करने के लिए उदाहरण दो कि अच्छी कविता प्राकृतिक घटनाओं के गहन निरीक्षण का परिणाम होती है।
Answer:
Emily Dickenson made keen observation of natural phenomena and used it in her poems to great effect. In the poem, “Trees”, she describes how the branches and leaves wave in the morning breeze during summer. Miniature creatures start humming tunes when the sun rises. The sun appeares from and disappears behind thick clouds. Birds sit carelessly on the fence or chirp in the lanes. A snake winds round a stone for warmth. Petals of the buds slit open their calyxes and blossom into flowers. These examples in the poem show that great poetry is a result of close observation of natural. phenomena.

Emily Dickenson ने प्राकृतिक दृष्यमान परिस्थितियों का सूक्ष्म अवलोकन किया और उसका अपनी कविताओं में प्रभावी रूप से प्रयोग किया। कविता “Trees” में कवयित्री ने वर्णन किया है कैसे ग्रीष्म ऋतु में डालियाँ और पत्तियाँ सुबह की हवा में लहराती हैं। छोटे-छोटे प्राणी जब सूरज निकलता है गीत गुनगुनाने लगते हैं। सूरजे घने बादलों से निकलता है और उनके पीछे छिप जाता है। पक्षी चाहर दीवारी पर लापरवाही से बैठे है या गलियों में चहचहाते हैं। एक साँप पत्थर के चारों ओर हल्की गरमी के लिये लिपटा है। कलियों की पंखुड़ियाँ अपने पुष्प-पुटों को फाड़कर निकलती है और फूल बनकर खिल जाती हैं। कविता में ये उदाहरण यह दिखाते हैं कि अच्छी कविता प्राकृतिक घटनाओं के गहन निरीक्षण का परिणाम होती है।

RBSE Class 12 English Prudence Poetry Chapter 6 Additional Questions

RBSE Class 12 English Prudence Poetry Chapter 6 Short Answer Type Questions

Answer the following questions in about 50 words each :

Question 1.
How does the poet characterise the responses of some sensible and some other rude species ?
कवियत्री समझदार और अशिष्ट प्राणियों के व्यवहारों को किस प्रकार चित्रित करती है ?
Answer:
The poet characterises the responses of some sensible and some rude species through the description of birds and a snake. A bird sits on the fence cerelessly and is chirping in the lane enjoying the cool summer morning. A snake slithers round a stone to find a spot of warmth.

कवयित्री पक्षियों और एक सर्प के वर्णन के माध्यम से कुछ समझदार और कुछ अशिष्ट प्राणियों के व्यवहार को चित्रित करती है। सुहानी ग्रीष्म काल की सुबह का आनन्द लेते हुये एक चिढ़िया लापरवाह होकर चाहरदीवारी पर बैठी है, और दूसरी गली में चहक रही है। एक साँप गरमाहट पाने के लिये एक पत्थर पर रेंग रहा है।

Question 2.
In which lines are creatures attributed with human qualities? How does this add to the beauty of the summer’s day?
किन पंक्तियों में जीव-जन्तु मानवीय गुणों से विभूषित (अलंकृत) हैं ? यह किस प्रकार ग्रीष्म दिवस की सुन्दरता में वृद्धि करता है ?
Answer:
These lines are :
ये पंक्तियाँ हैं

  1. A Bird sat careless on the fence – One gossiped in the lane.
  2. On silver matters charmed a Snake just winding round a stone.
  3. Bright Flowers slit a Calyx.

All these have been personified by the poet. They have been attributed human qualities which add to the beauty of the summer’s day.
इन सभी को कवियत्री द्वारा मानवीकृत किया गया है। इन सब में मानवीय गुण दिखाये गये हैं जो ग्रीष्म ऋतु के दिन के सौन्दर्य को बढ़ाते हैं।

Question 3.
“They never yet did satisfy”. What is the poet referring to ?
“उन्होंने कभी सन्तुष्ट नहीं किया।” कवयित्री किसकी ओर संकेत कर रही है?
Answer:
By the expression “They never yet did satisfy”, the poet is referring to the sounds produced by swarms of bees and gnats that come out at sunrise. The music of their flapping wings and humming is so beautiful that it can never satisfy and always leaves one wanting more.

अभिव्यक्ति “उन्होंने कभी सन्तुष्ट नहीं किया” से कवयित्री सूर्योदय के समय निकले मधुमक्खियों और पतंगों के झुंडों द्वारा उत्पन्न की हुई ध्वनि की ओर संकेत कर रही है। उनके फड़फड़ाते पंखों और गुनगुनाने का संगीत इतना सुन्दर होता है कि वह कभी सन्तुष्ट नहीं कर सकता और व्यक्ति की और अधिक की चाहत के साथ छोड़ देता है।

Question 4.
Who is Vandyke ? Why has he been mentioned in the poem?
Vandyke कौन है? उसका कविता में जिक्र क्यों किया गया है?
Answer:
Sir Anthony Vandyke was a painter. He made portraits of nobility. The poet compares the beauty of his portraits with that of natural scenery on a summer day. She says that a glorious summer day has so many riches that even a Vandyke masterpiece would seem mean in comparison.

Sir AnthonyVandyke एक चित्रकार थे। वे कुलीन वर्ग के लोगों के चित्र बनाते थे। कवयित्री उनके चित्रों की सुन्दरता की तुलना ग्रीष्म काल की सुबह प्राकृतिक दृष्य की सुन्दरता से करती है। इसका कहना है कि एक सुन्दर ग्रीष्म काल की सुबह में इतनी सुन्दर चीजें होती है कि Vandyke का सबसे सुन्दर चित्र भी तुलना में फीका लगे।

Question 5.
Mention and explain the expressions in which the poet has made comparisons between a natural phenomenon and a human activity.
उन अभिव्यक्तियों को बताइये और व्याख्या कीजिये जिनमें कवयित्री ने प्राकृतिक परिस्थिति की मानवीय क्रिया से तुलना की है।
Answer:
In ‘Trees like Tassels’, the poetess compares the Waring of branches and leaves with that of tassels. In ‘Psalteries of summer’, she compares the sounds of miniature creatures with the religious songs sung by bards. In ‘Hindered Flags’, she compares the opening of calyxes with the unfurling of flags.

‘पेड़ फुदनों के समान’ में कवयित्री ने डालियों और पत्तियों के लहराने का फुदनों के लहराने से तुलना की है। ‘ग्रीष्म काल के धार्मिक गीत’ में कवयित्री ने छोटे-छोटे प्राणियों की आवाजों की तुलना चारणों द्वारा गाये धार्मिक गीतों से की है। ‘बन्द झण्डों’ में कवयित्री ने पुष्प-पुटों के खुलने की तुलना झण्डों के फहराने से की है।

RBSE Class 12 English Prudence Poetry Chapter 6 Long Answer Questions

Answer the following question in 100 words each :
निम्न प्रश्न का उत्तर 100 शब्दों में दीजिए :

Question 1.
Explain how the poem, ‘Trees’ is purely a nature poem.
व्याख्या कीजिये, कैसे कविता ‘Trees’ विशुद्ध प्रकृति की कविता है।
Answer:
In this poem, “Trees”, Emily Dickinson describes the riches of a summer day. She begins with the morning wind that buffets the branches and leaves that bend and swing like tassels. At sunrise, swarms of miniature creatures sing the morning psalteries. The sun is covered by clouds but it keeps coming out to do its duty. A bird sits lazily on the fence or chirps in a lane. A snake slithers round a stone. The calyxes of buds slit open like hindered flags. The beautiful description of all these natural phenomena without any symbolism makes the poem purely a nature poem.

इस कविता “Trees” में Emity Dickenson ने ग्रीष्म काल के एक दिन की सुन्दर घटनाओं का वर्णन किया है। उन्होंने इसका आरम्भ सुबह की हवा से किया है जो डालियों, और पत्तों से टकराती है जो फुदनों के सामान झुकते और झूलते हैं। सूर्योदय के समय छोटे-छोटे प्राणियों के झुण्ड सुबह के गीत गाते हैं। सूर्य बादलों से ढका है लेकिन वह अपना कर्तव्य करने हेतु बाहर निकलता रहता है। एक चिड़िया लापरवाह होकर चाहर दीवारी पर बैठी है या गली में चहचहा रही है। एक साँप पत्थर के चारों ओर रेंगता है। कलियों के पुष्ट-पुट बन्द झण्डों के समान खुल जाते हैं। प्राकृतिक परिस्थितियों का यह सुन्दर वर्णन बिना किसी प्रतीकों के इस कविता को एक विशुद्ध प्रकृति कविता बनाता है।