Rajasthan Board RBSE Class 12 English Panorama Chapter 5 Love Across the Salt Desert

RBSE Class 12 English Panorama Chapter 5 Textual Questions

Comprehension Questions
A. Choose the correct alternative:

Question 1.
Drought in Kutch had lasted for:
(a) five years
(b) one year
(c) three years
(d) two years

Question 2.
Whenever Najib and his father crossed Rann earlier each time they had taken with them.
(a) tea leaf
(b) herbal leaf
(c) green leaf
(d) tendu leaf

Question 3.
The relationship between Kaley Shah and Fatimah was:
(a) brother-sister
(b) husband-wife
(c) teacher-student
(d) father-daughter

Question 4.
The name of Najib’s camel was:
(a) Janbaz
(b) Allaharakha
(c) Aftab
(d) Tabeez

Answers:
1. (C)
2. (d)
3. (d)
4. (b)

B. Answer the following questions in 30-40 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 30-40 शब्दों में दीजिये।

Question 1.
Why did the Rann look like a paralyzed monster’?
रन एक असहाय दैत्य जैसा क्यों दिखाई देने लगा था?
Answer:
The Rann looked like ‘a paralyzed monster’ because the earth had cracks as the monsoon had ignored the region. The earth looked like the monster’s back covered with scab and scar tissue and dried blister-skin.

रन एक असहाय दैत्य जैसा दिखाई देने लगा था क्योंकि मानसून की उपेक्षा की वजह से पृथ्वी पर दरारें पड़ गई थी। धरती उस दानव की, जिसकी पीठ सूखी परत, घाव के निशानों और सूखे हुए छालों जैसी त्वचा वाली हो, जैसी दिखती थी।

Question 2.
What important incident occurred when Fatimah came into the village?
जब फातिमा गाँव में आई तो क्या महत्वपूर्ण घटना घटित हुई?
Answer:
The first rains came on the day when Fatimah came into the village. It had rained after three successive years of drought and thus the incident became memorable

जिस दिन फातिमा गाँव में आई उस दिन पहली बरसात हुई थी। तीन सालों तक लगातार सूखे के बाद बरसात हुई थी, इसलिए यह घटना यादगार बन गयी।

Question 3.
Why did Fatimah not like Mahfuz Ali?
फातिमा को महफूज अली पसंद क्यों नहीं था?
Answer:
Fatimah did not like Mahfuz Ali because he was a stammerer. He could not pronounce words clearly. Urchins started mimicking him the moment they set eyes on him. It was just a step removed from being hounded like a madman and pelted with stones.

फातिमा को महफूज अली पसंद नहीं था क्योंकि वह हकलाता था। वह स्पष्ट रूप से शब्दों का उच्चारण नहीं कर सकता था। जैसे ही आवारा छोकरों की उस पर नजर पड़ती वे उसे चिढाने लगते थे। यह एक पागल आदमी के रूप में पीछा किये जाने तथा पत्थर फेंके जाने से कुछ ही कम था।

Question 4.
Why did Aftab open the door three times during the night? Was anybody knocking at the door?
आफताब ने रात को तीन बार दरवाजा क्यों खोला? क्या कोई दरवाजा खटखटा रहा था?
Answer:
Aftab opened the door three times during the night because he thought that his son had come. Nobody was knocking at the door. It was only the wind knocking against the door.

आफताब ने रात को तीन बार दरवाजा खोला क्योंकि उसने सोचा कि उसका पुत्र आ गया होगा। दरवाजे को कोई भी नहीं खटखटा रहा था। केवल हवा ही दरवाजे से टकरा रही थी।

Question 5.
Why was it not easy to cross the boundary? How were people checked while crossing the border?
सरहद को पार करना आसान क्यों नहीं था? सरहद को पार करते समय लोगों की जाँच किस प्रकार से की जाती थी?
Answer:
It was not easy to cross the boundary because there were patrolling parties in both countries. People were checked from the bamboo watch towers through binoculars by the Indus Rangers while crossing the border.

सरहद को पार करना आसान नहीं था क्योंकि दोनों देशों के गश्ती दल चौकसी करते थे। सरहद पार करते समय बाँस के बने चौकसी स्तम्भों से सिंधी रेंजर्स के द्वारा दूरबीन से चौकसी की जाती थी।

Question 6.
Why was Fatimah happy despite she was leaving her country as well as home?
यद्यपि फातिमा अपना देश तथा घर छोड़ रही थी फिर भी वह खुश क्यों थी?
Answer:
Najib and Fatimah loved each other very much. When Najib went to Fatimah to take her with him facing so many problems, she became very happy because it was the sweet fruit which both of them had been expecting for a long time.

नजब और फातिमा परस्पर बहुत प्यार करते थे। जब नजब फातिमा को लाने के लिए कईं कठिनाइयों का सामना कर उसके पास पहुँचा तो वह बहुत प्रसन्न हुई क्योंकि यह उनके प्यार की ऐसी परिणति थी जिसकी दोनों ही। बहुत समय से प्रतीक्षा कर रहे थे।

C. Answer the following questions in 125 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 125 शब्दों में दीजिये:

Question 1.
Discuss the aptness of the title ‘Love across the Salt Desert’.
शीर्षक ‘Love across the Salt Desert’ की उपयुक्तता पर विचार-विमर्श कीजिये।
Answer:
In the story, Najab is a very shy boy. His father doubts that he is so shy that he will not be able to charge money for what he sells. But one-day Najab saw the daughter of the spice-seller. Her name was Fatimah. She was an honour. Najab fell in love with her. But the girl was from Pakistan. To get her hand he had to cross the desert and international border where the rangers of both the countries patrolled all the time. He had earlier crossed the border four times so he knew when to cross the border. But he crossed during the day time. In crossing the border he and his camel got exhausted and injured. Finally, he reached Fatimah’s house and succeeded in eloping with her and crossing the border. So it can be said that the title of the story is apt.

उक्त कहानी में नायक नजब एक बहुत ही शर्मीली प्रकृति का लड़का है। उसके पिता को इस बात का संदेह है कि वह इतना शर्मीला है कि वह किसी वस्तु को बेचने के बाद ग्राहक से उसकी कीमत तक नहीं मांग पाएगा। लेकिन एक दिन नजब मसाले बेचने वाले की लड़की को देखता है। उसका नाम फातिमा है। वह अत्यधिक सुंदर है। वह उससे प्यार कर बैठता है। लेकिन वह लड़की पाकिस्तान की रहने वाली है। उसको पाने के लिए उसे भरी गर्मी में रेगिस्तान में अंतरर्राष्ट्रीय सीमा पार करनी पड़ती है। जहाँ पर दोनों देशों के रेंजर्स हर समय पहरा देते हैं। वह इस सीमा को इससे पहले चार बार पार कर चुका था इसलिए उसे पता था कि सीमा को किस समय पार किया जावे। लेकिन उसने सीमा को दिन में पार किया। सीमा पार करने में वह और उसका ऊँट बुरी तरह से थक गये व घायल हो गये। आखिरकारे नजब फातिमा के घर पहुँचकर उसे सरहद पार भगा लाने में सफल हुआ। अतः यह कहा जा सकता है कि कहानी का शीर्षक बिल्कुल उपयुक्त है।

Question 2.
Write about the rituals performed at Panchami Pir.
पंचमई पीर पर किए जाने वाले धार्मिक अनुष्ठान के बारे में लिखिये।
Answer:
The religious place, Panchami Pir was situated on the hilltop of Kala Doonger. There were footprints of Panchami Pir on it. When someone wanted to start a new work or set out on a journey, he would go there to pay homage. When he went there, he would leave some food there and started beating on his thali. In a few moments, jackals would materialise and gobbled up the food he had offered. If the jackals appeared and ate the offered food, it was considered auspicious and he could do what he wanted to do. If they did not turn up, it would be a sign of bad omen. Then he would have to cancel his plan and return home. A lamp was lighted in the Pir’s honour every night on the hilltop. This ritual was widely respected by the local population.

धार्मिक स्थान, पंचमई पीर काला डूंगर पहाड़ी की चोटी पर स्थित था। वहाँ पंचमई पीर के पदचिह्न बने थे। जब कोई नया काम शुरू करना चाहता या यात्रा शुरू करना चाहता था तो वह अपना आदर प्रदर्शित करने के लिये वहाँ जाता था। वह वहाँ पीर की सेवा में उपस्थित होता था, वह कुछ खाना वहाँ रखकर थाली बजाता था। कुछ ही पलों में सियार आ जाते और रखे हुए भोजन को खा जाते तो इसे शुभ समझा जाता था और ऐसा आयोजन करने वाला वह कुछ कर सकता था, जिसे वह करना चाहता था। यदि सियार आकर भोजन खा जाते थे, तो इसे शुभ समझा जाता था। यदि सियार उपस्थित नहीं होते थे, तो यह अशुभ होता था। तब उसे अपनी योजना को स्थगित करके घर लौटना पड़ता था। पहाड़ी की चोटी पर पीर के सम्मान में प्रत्येक रात्रि को एक दीपक जलाया जाता था। इस धार्मिक अनुष्ठान का स्थानीय लोगों में बड़ा मान था।

Question 3.
The image of Rann has been used twice in this story: in the beginning and also in the end. How was it associated with love, joy and harmony among the characters?
इस कहानी में रण की छवि को दो बार प्रस्तुत किया गया है। शुरू में और अंत में भी। यह किस प्रकार से पात्रों के मध्य प्यार, खुशी तथा मेल-मिलाप से संबंधित था?
Answer:
In the beginning, when the Rann had been described, there was drought. There was no hope for life. In the meantime, a girl named Fatimah came. She proved fortunate for the village. The day she arrived, it rained and the drought ended. The chief character of the story, Najib fell in love with Fatimah. Fatimah also got attracted towards Najib and he could not control over himself. At the end of the story there is a description of the Rann but this time Najib has eloped with his beloved and crossed the international border. In crossing the border his camel, Allaharakha helped him. The rain is described again. His mother also helped him in this planning. Father became too much worried about Najib. On hearing the knock at the door he opened the door three times but this sound was due to the wind.

पहली बार जब रण का वर्णन किया गया उस समय वहाँ पर अत्यधिक सूखा पड़ा हुआ था। जीवन की कोई आशा नजर नहीं आ रही थी। लेकिन इसी बीच वहाँ फातिमा नाम की एक लड़की आई। वह उस गाँव के लिए भाग्यशाली साबित हुई। जिस दिन वह गाँव मे आई उसी दिन बरसात हुई तथा वहाँ का सूखा समाप्त हो गया। इस कहानी का मुख्य पात्र नजब फातिमा को अपना दिल दे बैठा था। फातिमा भी उसकी ओर आकर्षित हो गई और नजब भी अपने आपको इससे रोक नहीं पाया। कहानी के अंत में फिर से रण का वर्णन है लेकिन इस बार नजब अपनी प्रेमिका को अन्तर्राष्ट्रीय सरहद पार करवाकर भगा लाया है। सरहद पार कराने में उसके ऊँट अल्लाहरखा ने उसको पूरी तरह से साथ दिया। पुनः बरसात का वर्णन होता है। उसके इस षड्यंत्र में उसकी माँ ने उसका साथ दिया। पिताजी नजब के लिए अत्यधिक चिंतित हुए। दरवाजे पर खटखटाहट की आवाज सुनकर उन्होंने रात में तीन बार दरवाजा खोला लेकिन यह आवाज हवा के कारण हुई थी।

Question 4.
Throw light on the difference of attitude between Najib’s mother and father when they came to know about his escapade.
जब नजब के माता व पिता को उसके दुस्साहसी कार्य के बारे में पता चला तो उनके व्यवहार में अंतर पर प्रकाश डालिये।
Answer:
When Najib’s father came to know about his escapade, he went to his wife to break the news. He thought that she would faint on hearing the news. When he reached home, he found her crouching with her back against the mud wall. When she heard the news, she expressed no surprise. Najib’s father knew nothing about it. He was not involved in this planning. And he thought that his wife also did not know about it. But the reality was quite different. She was completely involved in it, but she kept it a secret from her husband. Her husband came to know about it only when he saw that there was no gold bangle in her arm. When he asked her about it, then he could know and guess the fact. Thus the father was not involved in the escapade but the mother was involved in it.

जबे नज़ब के पिता को उसके दु:स्साहसी कार्य के बारे में पता चला तो वे इसके बारे में बताने के लिए अपनी पत्नी के पास गये। उन्होंने सोचा था कि यह खबर सुनकर वह बेहोश हो जाएगी। जब वे घर पहुँचे तो उन्होंने उसे कच्ची दीवार से टिककर ऊकडू बैठी हुई पाया। जब उसने यह खबर सुनी तो उसने कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की। नजब के पिताजी को इसके बारे में कुछ भी नहीं पता था। वे इस षड़यंत्र में बिल्कुल भी भागीदार नहीं थे। और उनके विचार से उनकी पत्नी भी इस बात के बारे में नहीं जानती थी। लेकिन वास्तविकता कुछ ओर ही थी। वह इसमें पूरी तरह से शामिल थी लेकिन उसने इस बात को अपने पति से छिपाये रखा। उसके पति को इसके बारे में तब पता चला जब उन्होंने देखा कि उसके हाथ में सोने के कंगन नहीं थे। जब उन्होंने उससे उनके बारे में पूछा तो उन्हें इसके बारे में पता चला। इस प्रकार से पिता इस दु:स्साहसी कार्य में शामिल नहीं था लेकिन उसकी माँ इसमें शामिल थी।

Question 5.
What difficulties did Najib face while crossing the border?
सरहद को पार करने में नजब को कौनसी परेशानी का सामना करना पड़ा?
Answer:
Najib crossed the border in daylight while none dared do so. It was very hot. While crossing the border, he knew the track he had to take. Najib crossed the International Boundary Pillar Number 1066. This track bisected the two posts of the Indus Rangers at Jagtarai and Vingoor. But he strayed slightly and from their watch-tower, the Rangers saw through their binoculars this sleek camel, warped and distorted by the heat shimmer into a lumbering leviathan. They could not stand for an Indian slipping into their territory with tendu leaf right under their noses, and that too without paying any bride. They chased him firing a mile-long distance. The spent bullets have flopped in the sand behind him. It caused dust to rise. This dust rose between him and the rangers and he could escape. But Najib’s camel got agonising cracks in his feet. He might have died of fatigue. To ease the camel of his burden Najib started walking beside him.

वस्तुतः नजब ने सीमा दिन में पार की जबकि ऐसा दुस्साहस कोई नहीं करता था। उस दिन बहुत गर्मी थी। सीमा पार करते समय उसे पता था कि उसे कौन-सा रास्ता पकड़ना है। नजब ने खम्भा नम्बर 1066 से अन्तर्राष्ट्रीय सीमा पार की। यह रास्ता सिन्धी सिपाहियों की दो चौकियों जगताराई और विंगूर के निकट दो समान भागों में विभाजित करता था। लेकिन वह थोड़ा-सा भटक गया और पाकिस्तानी निगरानी दल ने अपनी दूरबीन से इस चमकीले ऊँट को एक बड़े-से जहाज के रूप में चलते देखा जिसका रूप गर्मी से बिगड़ा हुआ (अस्पष्ट) था। एक भारतीय का उनके क्षेत्र में बिना रिश्वत दिए, उनकी नाक के नीचे तेन्दु पत्तों के साथ प्रवेश करने को सहन नहीं कर सकते थे। पाकिस्तानी रेंजर्स ने उसका एक मील दूर तक गोलियाँ चलाते हुए पीछा किया। चलाई गईं गोलियाँ उसके पीछे आकर रेत में धमाके से गिर रही थीं। इसकी वजह से जो धूल उड़ी। वह धूल उसके और सिपाहियों के बीच दीवार-सी बन गई और वह बच निकल पाया। किन्तु नजबे के ऊँट के पैरों में पीड़ादायक छाले पड़ गये। वह थकान से मर भी सकता था। ऊँट को बोझ से छुटकारा देने के लिए नजब ने उसके साथ-साथ पैदल चलना शुरू कर दिया।

D. State True or False:

Question 1.
‘Chagall’ was used to drink water.

Question 2.
The Spice-seller had a beautiful son.

Question 3.
Najib succeeded in crossing the border.

Question 4.
Najib’s mother knew about his escapade.

Question 5.
Kaley Shah helped Najib in taking his daughter away.

Answers:
1. True
2. False
3. True
4. True
5. False

E. Creative Writing:
Imagine you are a member of the drought relief team. Describe the measures you would take to help the drought-stricken people in a remote desert area.
कल्पना कीजिए कि आप सूखा राहत दल के सदस्य हैं। दूरस्थ मरुस्थलीय क्षेत्र में सूखा पीड़ित लोगों की मदद के लिए आप द्वारा किए जाने वाले उपायों का वर्णन कीजिए।
Answer:
The following steps can be taken to face the drought in a remote desert area.
1. First of all our team would teach people how to conserve water and put a water rationing plan in place in the event of water shortage.
2. We shall tell them about the drip irrigation method in which crops may be grown in less water.
3. We shall encourage them to adopt different methods of rainwater harvesting.
4. They would be taught to reuse water that would have been wasted. Instead of letting water flow down the drains, we can collect it and put it to some use.

RBSE Class 12 English Panorama Chapter 5 Additional Questions

A. Answer the following questions in about 30–40 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 30-40 शब्दों में दीजिये।

Question 1.
Give a short description of drought in Kutch.
कच्छ के सूखे का संक्षिप्त वर्णन कीजिए।
Answer:
The drought in Kutch had lasted for three successive years. The Rann lay like a paralysed monster. The earth had cracked. The cattle became thin and weak. The oxen died. Only the camel survived.

कच्छ में लगातार तीन वर्षों तक सूखा पड़ा। रण एक असहाय राक्षस की भॉति दिखता था। पृथ्वी पर दरारें पड़ गई थीं। पशु दुबले और निर्बल हो गए। बैल मर गए। केवल ऊँट जीवित बचे रहे।

Question 2.
How is Fatimah’s beauty described in the story?
कहानी में फातिमा की सुंदरता का वर्णन किस प्रकार से किया गया है?
Answer:
Fatimah is described as an hour. She smelt of clove and cinnamon. Her laughter had the timbre of ankle-bells. Her eyebrows were like black wisps of the night. Her hair was the night itself.

फातिमा को एक हूर बताया गया है। उससे लोंग तथा दालचीनी की खुशबू आती थी। उसकी हँसी में मुँघरू की खनखन होती थी। उसकी भौहें रात की लटों जैसी काली थीं। उसके बाल रात्रि जैसे थे।

Question 3.
What do you know about Kala Doongar?
काला डूंगर के बारे में आप क्या जानते हो?
Answer:
Kala Doongar is the highest hill in Kutch. It is a black hill capped with basalt. The religious place, Panchami Pir is situated on the hilltop of Kala Doongar. People go there to pay homage to the Pir.

काला डूंगर, कच्छ में सबसे ऊँची चोटी है। यह बैसाल्ट की चट्टानों से ढकी हुई है। पंचमई पीर नामक धार्मिक स्थल काला डूंगर की पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। लोग वहाँ पीर के प्रति समर्पित श्रद्धा से जाते हैं।

Question 4.
How did the ritual of the feeding of jackals start?
सियारों को खिलाने की प्रथा किस प्रकार से शुरू हुई?
Answer:
Over a hundred years earlier the Panchami Pir accompanied by a jackal had trudged these salt wastes serving the people. He was reclusive by habit. He used to retire to thorny jungles. The customs of feeding the jackals had started since then.

इन नमक वाले भू-भाग (प्रदेश) के लोगों की सेवा के लिए पंचमई पीर एक सियार के साथ यहाँ तक चले आए थे। वे एकांतवासी प्रकृति के थे। वह काँटों (कँटीली झाड़ियों) के जंगल में वापस चले जाया करते थे। सियारों को भोजन कराने की यह परम्परा तभी से शुरू हुई थी।

Question 5.
What are bhungas?
भुनगे क्या हैं?
Answer:
Bhungas are one-room mud houses. They are circular at the base, but tapering into conical thatch roofs at the top. They are found in villages of desert-like Kuran in Sindh and Kutch.

भुनगे मिट्टी के बने एक कमरे वाले मकान हैं। वे जमीन पर गोलाकार रूप में होते है किन्तु ऊपर उठने पर छत शंकु के आकार के छप्परों से बनी होती है। वे सिंध व कच्छ में रेगिस्तान के कुरान जैसे गाँवों में पाये जाते हैं।

Question 6.
What did Najib’s friends think about him?
नजब के दोस्तों की उसकी बारे में क्या राय थी?
Answer:
Najib’s diffidence was notorious among his friends. He was known to have blushed at the mere mention of a girl. He was an introverted lad with dreamy eyes. No one had ever associated him with an act of bravado.

नजब की लज्जा (शर्मीलापन) उसके मित्रों के बीच में बदनाम थी। केवल लड़की के वर्णन मात्र से वह शरमा जाता था। वह स्वप्निल आँखों वाला अंतर्मुखी लड़का था। किसी ने कभी भी किसी बहादुरीपूर्ण कार्य के लिए उसका उल्लेख नहीं किया।

Question 7.
What did Najib’s father think about his son?
नजब के पिताजी अपने पुत्र के बारे में क्या विचार रखते थे?
Answer:
Najib’s father thought that the lad would squander away all that his ancestors and he had acquired during a hundred years not because he was spendthrift but because he would be too shy to charge money for what he sold.

उनके विचार से जो कुछ उनके पुरखों और उन्होंने सौ साल में अर्जित किया है, यह लड़का उसे इसलिए नहीं खर्च कर डालेगा कि यह फिजूलखर्च है बल्कि इसलिए कि जो कुछ यह बेचेगा, अपने शर्मीले स्वभाव के कारण उसकी कीमत भी वसूल नहीं कर पाएगा।

Question 8.
How did Kaley Shah look?
काले शाह कैसा दिखाई देता था?
Answer:
Kaley Shah was tall and well-fleshed and his thick-jowled face had a purple tinge about it as if somewhere along the way it had got stuck with a discoloured patch. He always wore a Rahmat of black and white checks.

काले शाह लम्बा, अच्छी चरबी वाला और फूले गालों वाला था जिसका चेहरा बैंगनी रंग लिए था, कुछ ऐसे ही जैसे कहीं-कहीं यह रंगहीन धब्बे के रूप में अटक-सा गया हो। वह हमेशा काले-सफेद चारखाने (चेक्स्) वाली तहमद पहनता था।

Question 9.
What is the pattern of life in the border villages?
सरहद के गाँवों में जीवन का स्वरूप कैसा है?
Answer:
In the villages of the border area, the pattern of life is special. It is that if a man was absent along with his camel, it was taken for granted that he had made a foray across the desert into Pakistan.

सरहद के गाँवों में जीवन का स्वरूप विशिष्ट है। यह इस प्रकार से था कि यदि कोई व्यक्ति अपने ऊँट के साथ गायब होता तो यह मान लिया जाता था कि उसने रेगिस्तान को पार कर पाकिस्तान जाने का प्रयास कर लिया था।

Question 10.
What did Najib’s father think about his son when he did not find him?
नजब के पिता ने अपने पुत्र के बारे में क्या सोचा जब उन्होंने उसे नहीं देखा?
Answer:
Najib’s father thought at first that his son would be around somewhere. But when he found him missing with his camel, he thought that he had gone across the salt desert taking Tendu leaf. But in reality, he went there empty-handed.

नजब के पिता ने पहले तो सोचा कि उसका पुत्र यहीं-कहीं होगा। किन्तु जब उसने उसे अपने ऊँट के साथ गायब पाया तो उसने सोचा कि वह तेन्दु पत्ते लेकर सीमा पार गया है। परन्तु वास्तव में वह खाली हाथ ही गया था।

Question 11.
How did Zaman manage the border crossing?
जमन सरहद पार करने में किस प्रकार से सहायता करता था?
Answer:
Zaman was a smuggler. He was the man who kept the Rangers across the border happy by paying a bribe to them. Anyone crossing the Rann without his support was running the gauntlet with the law.

जमन एक तस्कर था। वह ऐसा व्यक्ति था जो कि सरहद पार के रेंजरों को रिश्वत देकर खुश रखता था। किसीका भी उसकी सहायता के बगैर भागना कानून को चुनौती देने के समान था।

Question 12.
How did Zaman react when he came to know that Najab had crossed the border?
जब जमन को पता लगा कि नजब सरहद पार चला गया था, तो उसकी कैसी प्रतिक्रिया थी?
Answer:
He addressed Najab as a pig and expressed his anger shouting loudly. Besides, he blamed Najab that he had made a blunder by crossing the border without informing him.

उसने नजेब को सूअर कहा और चिल्ला-चिल्ला कर क्रोध प्रकट किया। इसके अलावा उसने नजब पर आरोप लगाया कि बिना उसे सूचित किए सीमा पार करके उसने एक भयंकर भूल की थी।

Question 13.
What did Zaman wish for Najab?
जमन ने नजब के लिए क्या कामना की?
Answer:
Zaman could not stomach Najab crossing the border without his permission or knowledge. He did not think that Najab might come back safely. He wished Najab to turn into carrion with vultures hovering around.

अपनी अनुमति या जानकारी के बगैर नज़ब के सरहद पार करने को जमन हजम नहीं कर पाया। उसने यह नहीं सोचा कि नजब सुरक्षित वापस आएगा। उसने कामना की कि नजब एक मरे हुए जानवर की भाँति पड़ा रहे जिसके चारों ओर गिद्ध मंडराते रहें।

Question 14.
What did Aftab think about his wife’s reaction to Najib’s escapade?
नजब के दुस्साहसिक कार्य पर आफताब ने अपनी पत्नी की प्रतिक्रिया के बारे में क्या सोचा?
Answer:
Aftab thought that she would faint when she would know about it but she did not even blink in surprise. Then he understood that she was waist-deep in that conspiracy along with her son.

आफताब ने सोचा कि जब उसकी पत्नी को यह बात पता चलेगी तो वह बेहोश हो जाएगी लेकिन उसने आश्चर्य में पलक तक न झपकाई। तब उसने समझा कि अपने बेटे के साथ-साथ वह भी इस षड्यंत्र में पूरी तरह शामिल थी।

Question 15.
What were the arrangements for checking the movement on the international boundary?
अन्तर्राष्ट्रीय सीमा पर आवागमन की निगरानी के क्या प्रबन्ध किए हुए थे?
Answer:
There were patrolling parties in both countries. They had binoculars. They kept a watch with the help of binoculars from bamboo watchtowers on the international boundary.

वहाँ पर दोनों देशों की ओर से निगरानी दल थे। उनके पास दूरबीनें थी। वे अंतर्राष्ट्रीय सरहद पर बाँस से बने टावरों से अपनी दूरबीनों से निगरानी रखते थे।

Question 16.
What do you know about a mirage?
मरीचिका के बारे में आप क्या जानते हो?
Answer:
Mirage is created by the heat of the sand. A depression in the sand looks like a splash of water, a freak, stunted cactus gives the appearance of a grove, and a camel looks like a huge pre-historic animal on the move.

मरीचिका गर्म रेत से निर्मित होती है। रेत में बना कोई भी गड्ढा पानी का आभास कराता था, छोटे-छोटे नागफनी के पौधे पेड़ों के कुंज की तरह लगते थे और ऊँट विशाल प्रागैतिहासिक काल के चलते हुए जानवर जैसा प्रतीत होता था।

Question 17.
Why did people go from here to there and how did they manage it?
लोग यहाँ से वहाँ (भारत से पाकिस्तान) क्यों जाते थे और वे इसका प्रबन्ध कैसे करते थे?
Answer:
People went from here to there to smuggle things like Tendu leaf, cloves, terylene clothes etc. To make it possible, they obliged officials and some mediators by giving them hush money.
लोग यहाँ से वहाँ तेन्दु पत्ता, लौंग, टेरेलिन के कपड़े आदि की तस्करी हेतु जाते थे। इसके लिए वे अधिकारियों और दलालों को रिश्वत देते थे।

Question 18.
How was Najab received by Fatimah?
फातिमा ने नजब का स्वागत किस प्रकार से किया?
Answer:
As Najab called out Fatimah’s name softly through the window bars, she rose from her bed like a panic-stricken doe. She felt difficulty in recognizing him. Her lustrous eyes lit up the dark of the room as she opened the door.

जब नजब ने खिड़की की सलाखों से फातिमा का नाम हल्के से पुकारा तो वह एक आतंकित हिरण के बच्चे की तरह से अपने बिस्तर से ऊठी। फातिमा को उसे पहचानने में दिक्कत हुई। जब उसने दरवाजा खोला तो उसकी (फातिमा की) चमकीली आँखों से अंधेरे कमरे में प्रकाश हो गया।

Question 19.
Why did Kaley Shah become angry on finding Najab at his home?
नजब को अपने घर में पाकर काले शाह नाराज क्यों हो गया?
Answer:
Kaley Shah became angry because firstly Najab had come unannounced, and dragged the police behind him. Moreover, he came there empty-handed. According to him, trading with him was going to be a dead loss.

काले शाह नाराज हो गया क्योंकि प्रथम तो वह बगैर सूचना के आया था तथा वह अपने पीछे-पीछे पुलिस को भी घसीट लाया था। इसके अतिरिक्त खाली हाथ आया था। उसके अनुसार उससे व्यापार करने का मतलब था। बिल्कुल नुकसान।

Question 20.
How did Kaley Shah become ready to help Najab?
काले शाह नजब की सहायता करने के लिए किस प्रकार तैयार हो गया?
Answer:
Kaley Shah became angry when he saw Najab empty handed but then Najab showed him the gold bracelet. He told him that he would pay in gold to buy cloves. This lured Kaley Shah and he became ready to help Najab.

जब काले शाहने नजब को खाली हाथ देखा तो वह नाराज हो गया लेकिन नजब ने उसे सोने का कंगन दिखाया। उसने उससे कहा कि वह लौंग खरीदने की कीमत सोने में अदा करेगा। इसने काले शाह को ललचा दिया और वह मदद करने को तैयार हो गया था।

Question 21.
What change occurred in Fatimah’s life once she had crossed the border?
एक बार सीमा पार कर लेने के बाद फातिमा के जीवन में क्या परिवर्तन आया?
Answer:
She gave up thinking about her country and home. She felt herself to be very comfortable and happy with her lover. She changed her dialect adding a smear of Kutchi and lessened a little of Sindhi.

उसने अपने देश और घर के बारे में सोचना बन्द कर दिया। वह अपने प्रेमी के साथ बहुत आश्वस्त व प्रसन्न थी। उसने अपनी बोली सिन्धी भाषा को कच्छी भाषा का पुट देकर कम कर दिया।

Question 22.
How did Fatimah prove lucky to her new destination?
अपने नए गन्तव्य स्थान के लिए फातिमा किस प्रकार भाग्यशाली सिद्ध हुई?
OR
How did Fatimah bring good luck to her new place? (S. S. Exam. 2007)
अपने नये स्थान के लिए फातिमा किस प्रकार सौभाग्य को ले आई?
Answer:
Before her arrival, there had been a drought in that area for three successive years. But when she entered the village, on that very night, it rained heavily and swept away the drought. Thus, she was lucky for her new place.

उसके आने से पूर्व उस क्षेत्र में पिछले तीन सालों से लगातार सूखा चल रहा था। लेकिन जिस रात वह आई उसी रात भारी बरसात हुई और सूखे को बहा ले गई। इस प्रकार वह अपने नये स्थान के लिए भाग्यशाली सिद्ध हुई।

B. Answer the following questions in 125 words each:
निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 125 शब्दों में दीजिये:

Question 1.
How did Najab fall in love with Fatimah?
नजब फातिमा से किस प्रकार से प्यार कर बैठा?
Answer:
When Najab was staring at Fatimah, she caught him looking at her and laughed back. And in the evening when Fatimah repeated the performance and her face flooded with excitement as if she dared him to take the next step, he took her in his arms. Thus, he fell into love. He flung his arms around her in a reckless dizzy moment. He promised her that he would come again. She did not believe his word because he had answered the question that she had not asked. He promised that the next time, he would come alone with no father or uncle to cramp his style. And as he left, he looked behind to find her gaze following him, her eyes like a pair of storm lanterns in the dark. In fact, it was love at first sight for both of them.

जब फातिमा ने नजब को अपनी ओर देखते हुए पाया तो प्रत्युत्तर में वह भी हँस पड़ी। और शाम को भी जब फातिमा ने उसी व्यवहार को दोहराया (दुबारा मुस्कराई) और उसका चेहरा उत्तेजना से लाल हो गया मानो वह उसे आगे कदम बढ़ाने को ललकार रही हो, तो उसने उसे बाहों में ले लिया। इस प्रकार से वह उससे प्यार कर बैठा। ऐसे ही असावधान और पागलपन-भरे क्षणों में उसने (नज़ब ने अपनी बाँहें उसके गले में डाल दीं। उसने उससे वायदा किया कि वह फिर लौटकर आएगा। उसने इस पर विश्वास नहीं किया क्योंकि उसने उस प्रश्न का उत्तर दे दिया था जो उसने पूछा ही नहीं था। उसने वायदा किया कि अगली बार अकेला आएगा, न पिता और न ही चाचा साथ होंगे जो उसके लिए बाधा बनेंगे। और जब वह रवाना हुआ, तो उसने पीछे मुड़कर देखा तो पाया कि वह उसे टकटकी लगाकर देख रही थी, अंधेरे में उसकी आँखें तूफान में जलने वाली लालटेन के प्रकाश की तरह चमक रही थी। वस्तुतः उन दोनों के लिए यह प्रथम दृष्टि में प्रेम होना था।

Question 2.
Write a character sketch of Fatimah.
फातिमा का चरित्र-चित्रण कीजिये।
Answer:
Fatimah is the leading female character of the story. She is described as an hour. Her eyes were so bright that they would have lit up the darkness of the underworld. She was the daughter of the spice-seller, Kaley Shah. She smelt of cloves and cinnamon. Her laughter had the timbre of ankle-bells. Her eyebrows were like black wisps of the night. Her hair was the night itself. She was taken by the quite and pleasant behaviour of Najab. She dared him to take the next step. She made him fall in love. Though Najab was shy by nature, he crossed the border for her. She eloped with Najab leaving her village and country behind. She proved lucky for the Rann. The night she came, it rained heavily and swept away the drought.

फातिमा इस कहानी की अग्रणी महिला पात्र है। उसे हूर के रूप में वर्णित किया गया है। उसकी आँखों में इतनी चमक थी कि वह पाताल के अंधेरे में भी रोशनी कर देती। वह मसाले विक्रेता काले शाह की पुत्री थी। उसमें लौंग व दालचीनी की खुशबू आती थी। उसकी हँसी में घुघरूओं की खनक थी। उसकी भौंहे काली रात की लटों जैसी काली थी। उसके बाल स्वयं ही काली रात थे। वह नजब के शांत व खुशनुमा व्यवहार से प्रभावित हो गई थी। उसने उसे अगला कदम उठाने के लिए चुनौती दी थी। उसने उसे प्यार करने के लिए मजबूर किया। यद्यपि नजब शर्मीले स्वभाव का था, फिर भी उसने उसके लिए सरहद पार की। अपना गाँव तथा देश को छोड़कर वह नजबे के साथ भाग आई। वह रन के लिए भाग्यशाली साबित हुई। जिस रात वह आई थी उस रात जोरदार बारिश हुई और सूखे को धो गई।

Question 3.
How did Najab set out on his journey to cross the desert?
नजबे रेगिस्तान पार करने की अपनी यात्रा पर किस प्रकार से निकल पड़ा?
Answer:
Najab set out on his journey to cross the desert with his camel, Allaharakha. He had stayed during the day at Kala Doongar. It was a black hill capped with basalt. It was the highest in Kutch. At dusk, he paid homage to the footprints of the Panchami Pir on the hilltop. He left some food there and started beating on his thali, according to custom here. In a few minutes, jackals materialized and gobbled up the food. This was auspicious. If they had not turned up, it would have considered the ill-effects of the omen serious enough to have cancelled the journey. A lamp was lighted in the Pir’s honour every night on the hilltop and the flame could be seen all the way from Khavda. Najab bowed before the flame and set out.

नजब रेगिस्तान पार करने की यात्रा पर अपने ऊँट अल्लाहरक्खा के साथ निकल पड़ा। वह दिन में काला डूंगर पर रुका। यह बैसाल्ट से ढकी एक काली पहाड़ी थी। यह कच्छ की सबसे ऊँची पहाड़ी थी। शाम को पहाड़ी पर उसने पंचमई पीर के पदचिन्हों की पूजा की। यहाँ के रिवाज के अनुसार, उसने कुछ भोजन को छोड़कर थाली को पीटना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में वहाँ सियार आ गए और उस खाने को जल्दी-जल्दी खा गए। यह अच्छा शकुन था। यदि वे इस तरह आकर खाना न खाते तो यह अशुभ होता और इसके दुष्प्रभावों से बचने के लिए उसे अपनी यात्रा तक रद्द करनी पड़ जाती। पीर के सम्मान में उस पहाड़ी की चोटी पर प्रत्येक रात को दीया जलाया जाता था और इसकी लौ खावदा के पूरे रास्ते से देखी जा सकती थी। नजब दीपक के सामने झुका और रवाना हो गया।

Question 4.
What do you know about the smuggling in the border areas?
सरहद पर तस्करी के बारे में आप क्या जानते हो?
Answer:
The people at the border smuggled tendu leaf. They took the leaf worth about five hundred and sold it across the border for twelve hundred. But it was not a much profitable bargain. Between the pay-off to officials and to the intermediaries who arrange the sale of the bird leaf, to the man who takes the camel out to graze and to the friend or relative who harboured them, there was precious little left. It was just enough to buy some used terylene garments and then it was time to make the long trek back across the desert. The crossing of the border was not easy. Zaman was one such wily old smuggler. When Najab crossed the border without the knowledge of Zaman, he became very angry. Nobody could cross the Rann without his support.

सरहद के लोग तेंदु पत्तों की तस्करी करते थे। वे अपने साथ लगभग पाँच सौ रुपये के तेन्दु पत्ते ले जाते थे जिन्हें वहाँ सरहद के पार बारह सौ रुपये में बेच देते थे। लेकिन यह एक ज्यादा फायदेमंद सौदा नहीं होता था। संबंधित अधिकारियों और दलालों (मध्यस्थों) जो तेन्दु पत्ता बिकवाने की व्यवस्था करते थे और वह व्यक्ति जो ऊँट को चराने ले जाता था तथा उन मित्रों या रिश्तेदारों को जो उन्हें शरण देते थे, को रिश्वत देने के बाद मुश्किल से ही कुछ बचता। जो कुछ बचता वह टेरेलिन के प्रयुक्त वस्त्र खरीदने के लिए काफी होता और तब फिर से रेगिस्तान से होकर लम्बी यात्रा कर लौटने का समय हो जाता। सरहद को पार करना आसान नहीं होता था। जमन एक ऐसा ही कपटी बूढ़ा तस्कर था। जब नजब ने बगैर जमन की जानकारी के सरहद को पार कर लिया तो वह बहुत नाराज हो गया था। उसकी सहायता के बगैर कोई भी रन को पार नहीं कर सकता था।

Question 5.
How did Najab elope with Fatimah?
नजब फातिमा को किस प्रकार से भगा ले गया था?
Answer:
Najab crossed the border and stayed in the cattle-shed of Fatimah’s house. He stayed in the evening there and slipped into Fatimah’s room late at night. Fatimah told Najab that her father wanted her to marry Mahfuz Ali but she did not like him. Then Najab asked her if she would cross the border with him on the back of Allaharakha. She kept silent and her silence was her assent. He knew that she was ready to go with him. The next evening, with the first lurch of the camel they were off on their long journey. He had waited for her with his camel at the outskirts of the village. When her father started snoring at night, she slipped out quietly. It was too big a moment for them.

नजब सरहद पार करके फातिमा के घर के पशुओं के बाड़े में ठहरा। वह शाम को वहाँ रुका और देर रात में फातिमा के कमरे में चुपके से चला गया। फातिमा ने नजब को बताया कि उसके पिताजी उसकी शादी महफूज अली से करना चाहते थे लेकिन वह उसे पसंद नहीं करती थी। फिर नजब ने उससे पूछा कि क्या वह उसके साथ अल्लाहरक्खा की पीठ पर सवार होकर सरहद को पार करेगी। वह चुप रही और उसकी चुप्पी का मतलब उसकी सहमति था। वह जान गया था कि वह उसके साथ जाने को तैयार थी। अगली शाम को ऊँट के पहले झटके के साथ उनका लम्बा सफर आरम्भ हो गया। गाँव के बाहरी छोर पर उसने अपने ऊँट के साथ उसका (फातिमा का) इंतजार किया। जब उसके (फातिमा के) पिताजी रात में खर्राटे लेने लगे तो वह चुपचाप खिसक गई। यह उनके लिए बहुत ही बढ़ा क्षण था।