The Lotus [कमल] -Toru Dutt

कवयित्री के बारे में (About the Poet : March 4, 1856-Aug. 30, 1877)

तोरु दत्त भारत की एक जानी-मानी कवयित्री हैं जिनका अंग्रेजी में भारतीय लेखन के क्षेत्र में स्मरणीय योगदान रहा है। उनके पिता कलकत्ता के एक धनी व्यक्ति थे। उनकी माँ हिन्दू पौराणिक कथाओं की गहरी जानकारी रखती थीं। यह परिवार पश्चिम की चकाचौंध से प्रभावित था तथा इसने ईसाई धर्म अपना लिया था। लेकिन तोरु दत्त की भारत के महाकाव्यों एवं पौराणिक-साहित्य में गहरी रुचि थी। उन्होंने रामायण, महाभारत, विष्णु पुराण तथा भगवद्गीता पढ़ी थीं। उनकी कल्पनाशीलता को इन भारतीय शास्त्रीय ग्रन्थों ने आकार प्रदान किया था। उनका साहित्य भारत की सांस्कृतिक धरोहर से ओतप्रोत है।

कविता के बारे में (About the Poem)-

The Lotus’ एक लघु कविता है जिसे सॉनिट् (Sonnet) कहा जाता है। यह एक पैट्रार्कन सानिट है। कमल का फूल भारत के देवी-देवताओं का एक प्रिय फूल रहा है। भगवान विष्णु तथा देवी लक्ष्मी दाना इस फूल से प्रेम करते हैं। वर्तमान समय में कई सारे पुरस्कारों के नाम कमल पर रखे गए हैं—पद्मश्रा, | पद्मभूषण, पद्मविभूषण आदि।

तोरु दत्त के लिए कमल (Lotus) रंगों एवं स्वरूपं के सम्मिश्रण की दृष्टि से सर्वाधिक पूर्ण पुष्प है। कवयित्री विभिन्न पुष्पों के बीच एक विवाद का वर्णन करती है, जो सौन्दर्य प्रतियोगिता से मिल जुलता प्रतीत होता है। गुलाब एवं कुमुदिनी (लिलि) श्रेष्ठ पुष्प के सम्मान को पाने के लिए पर प्रतिद्वन्द्वी हैं। लेकिन फ्लोरा, जो फूलों की देवी है, कमल का चयन श्रेष्ठ सौन्दर्य से सम्पन्न पुष्प के रूप कर लेती है क्योंकि यह पुष्प लिलि की धवलता के साथ-साथ गुलाब की लालिमा भी रखता है । इस न तो लिलि और न ही गुलाब सौन्दर्य की दृष्टि से कमल की बरावरी कर सकते हैं। प्रतीकात्मक रूप से, कमल की विजय पाश्चात्य जगत पर भारतीय संस्कृति की विजय है| लिलि एवं गुलाब पश्चिम के फूल हैं।

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

Love came to Flora………………Had sung their claims. (Page 149)

कठिन शब्दार्थ-Love (लव) = प्रेम का देवता। Flora (फ्लॉरा) = फूलों एवं वनस्पति की देवी।

undisputed (अनडिस्प्यूटिड) = सर्वमान्य। queen (क्वीन) = रानी। lily (लिलि) = कुमुदिनी, एक मार का सुन्दर सफेद फूल। long, long (लॉन्ग, लॉन्ग) = बहुत समय से। rivals (राइवल्ज) =

द्वन्द्वी। high honour (हाइ-ऑनर) = उच्च-सम्मान। Bards of power = शक्तिशाली कवि, अर्थात् … म कवि। had sung = गाये थे अर्थात् कविताएँ बनाई थीं। claims (क्लेम्ज़) = दावे।

हिन्दी अनुवाद : प्रेम का देवता, फूलों एवं वनस्पति की देवी, फ्लोरा के पास आया और फ्लोरा से एक

माँगा। उसने फ्लोरा से ऐसा फूल देने के लिये कहा जो सर्वमान्य रूप से फूलों की रानी हो, अर्थात् सर्वश्रेष्ठ हो। कुमुदिनी (लिलि) तथा गुलाब का फूल, दोनों ही बहुत समय से इस सम्मानजनक पद को प्राप्त

ने के लिए प्रतिद्वन्द्वी थे। महान् कवियों ने उनके दावों (अर्थात् कुमुदिनी तथा गुलाब) की प्रशंसा में अनेक कविताएँ लिखी थीं।

“The rose can never tower…………in Psyche’s bower. (Page 149)

कठिन शब्दार्थ-tower (टाउअ(र)) = सर्वोच्च स्थान पाना। pale (पेल) = पीली। Juno mien (जूनो मीन) = वर्षा के देवता जुपीटर की पत्नी के समान सुन्दरता वाली। lovelier (लवलिअर) = अधिक सुन्दर। flower factions (फ्लाउअर फैक्शन्स) = फूलों के गुट। strife (स्ट्राइफ) = झगड़ा। Psyche (साइकि) = मानव की आत्मा अथवा मन। bower (बाउअर) = लतामण्डप।

हिन्दी अनुवाद : पीले रंग की कुमुदिनी जो वर्षा के देवता की बहुत सुन्दर पत्नी जूनो के समान सुन्दर है उसके मुकाबले में गुलाब सर्वोच्च स्थान प्राप्त नहीं कर सकता है। किन्तुं क्या कुमुदिनी अधिक सुन्दर है? इस प्रकार मनुष्य के मन के लतामण्डप में फूलों के गुटों (दलों) के बीच यह झगड़ा था। ..

‘Give me a flower…………or, both provide.’ (Page 149) कठिन शब्दार्थ-delicious (डिलिशस) = अच्छी सुगन्ध देने वाला। stately (स्टेटलि) = शानदार। pride (प्राइड) = गर्व । provide (प्रोवाइड) = प्रदान करना। . हिन्दी अनुवाद : मुझे गुलाब के फूल की मधुर सुगन्ध जैसी सुगन्ध का फूल दो, और जब कुमुदिनी गव में होती है तो जैसी शानदार दिखाई पड़ती है, वैसा शानदार फूल दो। ____ “किन्तु किस रंग का (फूल +)?”_”गुलाब की तरह लाल”, प्रेम के देवता ने पहले (लाल रंग को चुना) कहा। फिर निवेदन किया—’नहीं, कुमुदिनी, सफेद (अर्थात् सफेद रंग का फूल दो) या दोनों रंगों के फूल दो।’

And Flora gave……………flower that blows. (Page 149)

शब्दार्थ-Flora = फूलों की रानी। lotus (लोटस) = कमल का फूल। dyed (डाइड) = ” हुआ! queenliest (क्वीनलिएस्ट) = सबसे ज्यादा शानदार। blows (ब्लोज) = फूल खिलता है।

अनुवाद : और प्रेम की देवी फ्लोरा ने कमल का फूल दिया, जो कि लाल रंग का था और उपना के फूल के समान सफेद था—जो सबसे ज्यादा शानदार फूल था और खिल रहा था।

Explanations with Reference to the Context

(सन्दर्भ सहित व्याख्याएँ)

Stanza 1: Love came to Flora asking for a flower

That would of flowers be undisputed queen,

The lily and the rose, long, long had been

Rivals for that high honour

Reference-These lines have been taken from the poem ‘The Lotus’. The poem is a composition of Toru Dutt, a poetic genius.’

Context—The poetess says that the Lotus flower contains the beauty of both of the flowers-Rose and Lily. Lotus, the most beautiful flower can be called the queen of flowers.

Explanation—In these lines the poetess narrates a story relating to the most beautiful flower. She says that once the God of Love came to the goddess of flowers and vegetation. He asked her to give him the most beautiful flower, which might be called the queen of flowers. The claim of this title should remain unchallenged for that beautiful flower. For a: very long time the Rose and the Lily claimed this title. Both the flowers—the Rose and the Lily were the competitors for this title.

सन्दर्भ-ये पंक्तियाँ कविता ‘The Lotus’ से ली गई हैं। इस कविता की रचयिता एक प्रतिभाशाली कवयित्री तोरु दत्त हैं।

प्रसंग-कवयित्री कहती है कि कमल के फूल में दोनों ही फूलों का सौन्दर्य निहित होता है—गुलाब के फूल का तथा कुमुदिनी के फूल का। कमल का फूल जो सबसे अधिक सुन्दर फूल है, फूलों की रानी कहा जा सकता है।

व्याख्या-इन पंक्तियों में कवयित्री एक कहानी कहती है जिसका सम्बन्ध सबसे अधिक सुन्दर फूल स है। वह कहती है कि एक बार प्रेम के देवता फूलों तथा वनस्पति की देवी के पास आये। उन्होंने (प्रेम के दवता ने) ठससे (फूलों तथा वनस्पति की देवी से) उसको सबसे अधिक सुन्दर फूल देने के लिए कहा। उस सुन्न फूल को फूलों की रानी कहा जा सके। इस सम्मान के लिये उस सुन्दर फूलों की रानी को कोई भी अन्य पू चुनोती नहीं दे सके। लम्बे समय से गुलाब का फूल तथा कुमुदिनी का फूल इस सम्मान को प्राप्त करने का दावे करते रहे थे। दोनों ही फूल-गुलाब का फूल तथा कुमुदिनी का फूल इस उपाधि को प्राप्त करना बहुत लम्बे समय से प्रतिद्वन्द्वी बने रहे थे।

Stanza 2 : Bards of power Had sung their claims.

The rose can never tower Like the pale lily with her “Juno mien”.

‘But is the lily lovelier?’ Thus between

Flower-factions rang the strife in Psyche’s bower.

Reference-These lines have been taken from the poem ‘The Lotus’. The poem a composition of Toru Dutt, a poetic genius. She was much interested in the songs and is a legend of India.

Context—The poetess says that the lotus flower contains the beauty of both the flowers—the rose and the lily. Lotus, the most beautiful flower can be called the queen of flowers. There has been a long battle between the rose and the lily to attain the title of the queen of flowers.

Explanation—The poets had praised their favourite flower in their poems. Some claimed that the rose could not surpass the lily, which was as beautiful as Juno, the wife of rain-god Jupiter. The other said that the rose was lovelier than the lily. Thus, a dispute went on to exist in the bower of man’s mind.

सन्दर्भ-ये पंक्तियाँ कविता ‘The Lotus’ से ली गई हैं। इस कविता की रचयिता एक प्रतिभाशाली कवयित्री, तोरु दत्त हैं। उनकी भारतीय गीतों तथा पौराणिक कथाओं में विशेष रुचि थी।

प्रसंग-कवयित्री कहती है कि कमल के फूल में दोनों ही फूलों की सुन्दरता निहित है—गुलाब के फल की भी तथा कुमुदिनी के फूल की भी। फूलों में सबसे सुन्दर फूल कमल के फूल को फूलों की रानी कहा जा सकता है। रानी फूल की पदवी को प्राप्त करने के लिये गुलाब के फूलों तथा कुमुदिनी के फूलों में बहुत लम्बे समय तक संघर्ष चलता रहा था।

व्याख्या-कवियों ने अपने प्रिय फूल की प्रशंसा अपनी कविताओं में की थी। कुछ कवि दावा करते थे कि गुलाब का फूल कुमुदिनी से आगे नहीं निकल सकता। लिलि वृष्टि-देव जुपीटर की पत्नी जूनो के समान सुन्दर थी। अन्य कवि गुलाब को कुमुदिनी से अधिक सुन्दर मानते थे। इस प्रकार मनुष्य के मन के लता-कुंज में विवाद चलता रहा।

Stanza 3: ‘Give me a flower delicious as the rose.

And stately as the lily in her pride’

‘But of what colour? ‘_’Rose-red’. Love first chose,

Then prayed,- ‘No, lily-white, or, both provide’.

Reference-These lines have been taken from the poem “The Lotus’. The poem is a composition of a poetic genius, Toru Dutt. She was interested in the songs and the -legends of India.

Context—The poetess says that there has been a long battle between the rose and the lily to attain the title of the queen of flowers.

Explanation—The God of Love requests the goddess of flowers to give him a Tower as sweet smelling as that of the rose and as grand and beautiful looking as that of the lily in her pride. On being asked what the colour of the flower is to be, the God of Love replied that it could be as red as that of the rose. Then he changes his mind and demands that the flower could be as white as that of the lily. But soon the God of Love concludes that it will be better if the most beautiful flower should contain a mixture of the colours of both of the flowers-the rose and the lily.

सन्दर्भ-ये पंक्तियाँ कविता ‘The Lotus’ से ली गई हैं। इस कविता की रचयिता एक प्रतिभाशाली मात्रा तोरु दत्त हैं। उनकी भारतीय गीतों तथा गाथाओं में विशेष रुचि थी।

प्रसग-कवयित्री कहती है कि फूलों की रानी की पदवी को प्राप्त करने के लिए गुलाब के फूल तथा उपना के फूल में बहुत लम्बे समय से संघर्ष चल रहा है।

व्याख्या-प्रेम का देवता, फूलों की देवी से प्रार्थना करता है कि उसको ऐसा खुशबूदार फूल दे जैसा कि गुलाब साथ ही ऐसा शानदार तथा सुन्दर दिखाई देने वाला फूल दे जैसाकि स्वाभिमानी कुमुदिनी का फूल। यह पूछे जाने पर कि उस फूल का रंग कैसा हो, प्रेम का देवता उत्तर देता है कि यह गुलाब जैसा लाल रंग को है। फिर वह अपना मानस बदल लेता है और माँग करता है कि फूल का रंग लिलि के समान सफेद हो है। लेकिन फिर शीघ्र ही प्रेम का देवता इस निष्कर्ष पर पहुँचता है कि अच्छा तो तभी रहेगा जबकि इस सुन्दरता वाले फूल में दोनों ही फूलों के रंगों का मिश्रण हो—गुलाब के फूल का तथा कुमुदिनी के फूल का मिश्रण हो |

. Stanza 4 : And Flora gave the lotus, ‘rose-red’ dyed.

And ‘lily white’, the queenliest flower that blows:

Reference-These lines have been taken from the poem ‘The Lotus’. This is a composition of a poetic genius, Toru Dutt.

Context—The poetess speaks that Lotus contains both—the red—the colour of the rose, and the white—the colour of the lily. Thus, lotus may claim the title “The Queen of Flowers for itself.

Explanation—The goddess of flowers chose lotus to give to the God of Love as the most beautiful flower. This flower possessed the red colour of the rose. It also had the white colour of the. lily. Thus, it had the colours of both the claimant flowers. So, it may rightly be called the majestic queen of all the flowers.

सन्दर्भ-ये पंक्तियाँ कविता ‘The Lotus’ से ली गई हैं। इस कविता की रचयिता एक प्रतिभाशाली कवयित्री तोरु दत्त हैं।

प्रसंग-कवयित्री कहती है कि कमल के फूल में दोनों ही—लाल, गुलाब के फूल का रंग और सफेद, कुमुदिनी के फूल का रंग होता है । इस प्रकार से कमल फूलों की सबसे महान् तथा शानदार रानी की पदवी प्राप्त करने का दावा कर सकता है ।

व्याख्या-फूलों की देवी, फ्लोरा ने प्रेम के देवता को देने के लिये कमल के फूल का चयन करने का निश्चय किया, यह समझकर कि यह सबसे सुन्दर फूल है। इस फूल में गुलाब के फूल का लाल रंग भी है। इसमें कुमुदिनी के फूल का सफेद रंग भी है। इस प्रकार इस कमल के फूल में दोनों ही दावेदारों (फूलों की रानी के पद के लिए दावे करने वालों) का रंग निहित है। इसको सही रूप में फूलों की सर्वोच्च शानदार रानी कहा जा सकता है।