Day
Night

6 No Men are Foreign

• कविता के विषय में : क्या आपने कुछ लोगों को अजनबी (विदेशी/विजातीय/बाहरी आदि) और अन्य देशों को परदेश माना है? हमारे पास, दूसरे लोगों को ‘हम’ से ‘उनको’ अलग समझने के, अनेक रास्ते हैं। ‘वे’ एक अलग देश से सम्बन्धित हो सकते हैं या एक अलग भाषा बोलते हो सकते हैं। फिर भी, इस कविता में कवि हमें अनेक तरीकों का स्मरण कराता है जिसमें हम सब समान हैं- क्योंकि हम सब मनुष्य हैं।

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

Stanza 1. 

Remember, no……….. …………….. shall lie.

कठिन शब्दार्थ : strange (स्ट्रेन्ज) = अजनबी, beneath (बिनीथ्) = नीचे, uniforms (यूनिफॉम्ज) = वस्त्र, breathes (ब्रेथ्ज) = श्वास लेना, lie (लाइ) = दफन रहेंगे।

हिन्दी अनुवाद : याद रखें, कोई मनुष्य अजनबी (पराये/विदेशी/विजातीय) नहीं हैं, कोई देश परदेश नहीं हैं। सभी प्रकार के वस्त्रों के नीचे एक ही प्रकार का शरीर श्वास ले रहा है जो हमारे जैसा ही है। धरती जिस पर हमारे बन्धु चलते हैं, वह धरती हमारी धरती जैसी ही है जिसके तले हम सब दफन हो जायेंगे।

भावार्थ-आरम्भिक पद में कवि मनुष्यों में शारीरिक समानता (श्वास लेने की) व दफन होने की समानता की ओर ध्यान आकृष्ट करता है। अर्थात् भिन्नताएँ बाहरी हैं और समानताएँ आन्तरिक हैं।। 

Stanza 2: 

They, too……………………….our own. 

कठिन शब्दार्थ : aware (अवेअ(र)) = अनुभव करना, starv’d (स्टाव्ड) = भूखे रहते हैं, labour (लेब(र)) = परिश्रम।

हिन्दी अनुवाद : वे भी धूप, वायु व जल को अनुभव करते हैं, शान्ति से अन्न को खाते हैं, और युद्ध की लम्बी सर्दी से भूखे मरते हैं। उनके हाथ भी हमारे हाथों जैसे हैं, और उनकी रेखाओं से हमें पता चलता है कि उनका परिश्रम हमारे परिश्रम से अलग नहीं है।

भावार्थ-सभी मनुष्य जीवन में कष्टों का सामना करते हैं और परिश्रम की दृष्टि से भी उनमें समानता है। 

Stanza 3. 

Remember, they………………..understand. 

कठिन शब्दार्थ : recognise (रेकग्नाइज्) = पहचानना।

हिन्दी अनुवाद : याद रखें, उनकी आँखें भी हमारी आँखों जैसी हैं जो जागती हैं और सोती हैं, और उनमें भी हमारी तरह शक्ति है जिसे प्यार से जीता जा सकता है। प्रत्येक देश में जीवन एकसमान है जिसे सब पहचान सकते हैं और समझ सकते हैं।

भावार्थ-सभी मनुष्य जागते और सोते हैं। सभी मनुष्य ताकत रखते हैं। सभी मनुष्य प्यार कर सकते हैं। सभी मनुष्य जीवन जीते हैं।

Stanza 4. 

Let us…………each other.

कठिन शब्दार्थ : dispossess (डिसपजेस्) = वंचित करना, betray (बिट्रे) = धोखा देना, condemn (कन्डेम्) = बुरा बताना।।

हिन्दी अनुवाद : आओ हम याद रखें, जब भी हमें यह बताया जाए कि हम अपने साथी मनुष्यों से घृणा करें तो हम अपने आपको ही वंचित करेंगे, धोखा देंगे तथा स्वयं की ही निन्दा करेंगे। याद रखें, हम जो एकदूसरे के विरुद्ध शस्त्र उठाते हैं तो हम केवल स्वयं को ही मार रहे होंगे।
भावार्थ-मानव आपस में घृणा भाव व हिंसा भाव रखते हैं। 

Stanza 5.

It is………………….strange.

कठिन शब्दार्थ : defile (डिफाइल्) = अपवित्र करना, hells (हेल्ज) = नरक, outrage (आउट्रेज्) = अत्याचार, innocence (इन्सन्स्) = निर्दोष/अबोध।

हिन्दी अनुवाद : (हम जो एक-दूसरे के विरुद्ध शस्त्र उठाते हैं) तो हम मनुष्यों की पृथ्वी को ही अपवित्र करते हैं। हमारे नरक (दुष्टता) की अग्नि व धूल, वायु की निर्दोषता (शुद्धता) पर अत्याचार करते हैं (अर्थात् वातावरण प्रदूषित करते हैं) जो कि (यह वायु) सभी जगह हमारी होती है। याद रखें, कोई मनुष्य विदेशी नहीं हैं और कोई देश परदेश नहीं हैं। भावार्थ-मानव के नकारात्मक कार्य मानवता को कलंकित ही करते हैं।

0:00
0:00