Day
Night

An Elementary School Classroom in a Slum

By- Stephen Spender

(Poem with Vocabulary, Explanation & Hindi Translation)

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

Far far from gusty waves these children’s faces.
Like rootless weeds, the hair was torn round their pallor:
The tall girl with her weighed-down head. The paper seeming
Boy, with rat’s eyes. The stunted, unlucky heir
Of twisted bones, reciting a father’s gnarled disease,
His lesson, from his desk. At back of the dim class
One unnoted, sweet and young. His eyes live in a dream,
Of squirrel’s game, in tree room, other than this.

कठिन शब्दार्थ : gusty (गस्टि) = झोंकेदार, प्रबल। rootless (रूट्लेस्) = निर्मूल, जड़रहित। weeds (वीड्ज) = जंगली घास-फूस । torn (टॉन्) = बिखरे हुए। pallor (पैल(र)) = पीली चमड़ी। stunted (स्टन्ट्ड) = अविकसित, बौने। reciting (रिसाइटिङ्) = दोहराते हुए। gnarled (नाल्ड्) = गाँठदार । dim (डिम्) = कम रोशनी वाला।

हिन्दी अनुवाद : प्रबल लहरों से बहुत दूर इन बच्चों के चेहरों की पीली चमड़ी पर बिना जड़ों वाले – घास-फूस की भाँति उनके बाल बिखरे हुए हैं। एक लम्बी लड़की सिर झुकाए बैठी है। कागज जैसे दिखाई देने वाले लड़के की आँखें चूहे की आँखों जैसी हैं । वह अविकसित लड़का मुड़ी हुई हड्डियों का अभागा उत्तराधिकारी, अपने पिता की गाँठदार, मुड़ी हड्डियों की बीमारी को दोहराता हुआ अपनी डेस्क के निकट से अपना पाठ बोलकर सुना रहा है। धुंधली रोशनी वाले कक्षा के कमरे के पीछे की ओर एक प्यारा-सा, छोटा लड़का बैठा है, जिस पर किसी का भी ध्यान नहीं है। उसकी आँखें एक स्वप्न में रहती हैं। यह स्वप्न एक गिलहरी के खेल के बारे में है, जो इस कमरे के अतिरिक्त किसी पेड़ वाले अन्य कमरे में होता रहता है।

On sour cream walls, donations. Shakespeare’s head,
Cloudless at dawn, civilized dome riding all cities.
Belled, flowery, Tyrolese valley. Open-handed map
Awarding the world its world. And yet, for these
Children, these windows, not this map, their world,
Where all their future’s painted with a fog,
A narrow street sealed in with a lead sky
Far far from rivers, capes, and stars of words.

कठिन शब्दार्थ : Sour cream (साउअ(र) क्रीम्) = खट्टी क्रीम के रंग वाली। donations (डोनेशन्ज) = दान, उपहार। Tyrolese (टाइरोलिस्) = एल्प्स पर्वतों का एक प्रदेश। open-handed (ओपन्-हैन्ड्ड) = उदार। world (बल्ड्) = संसार की सभी अच्छी चीजें । sealed in (सील्ड इन्) = बन्द, कैद। lead (लेड्) = सीसा, सीसे के रंग वाला। capes (केप्स) = अन्तरीप, समुद्र में जाता हुआ जमीन का सिरा।

हिन्दी अनुवाद : खट्टी क्रीम जैसी पीली, भद्दी दीवारों पर उपहार में मिली चीजें हैं—शेक्सपियर का एक चित्र, सूर्योदय के समय स्वच्छ आकाश का चित्र, सभी शहरों पर छाया हुआ सभ्यता का गुम्बद, घण्टियों वाली, फूलों से भरी टाइरोलिस घाटी तथा एक उदार विश्व-मानचित्र है जो दुनिया की सभी अच्छी चीजें दर्शाता है। किन्तु इन बच्चों के लिए यह मानचित्र दुनिया नहीं (कक्षा की), ये खिड़कियाँ ही उनकी दुनिया है , जहाँ उनका सारा भविष्य धुंध से लिखा है, एक संकरी गली जो हल्के भूरे आकाश से बन्द है जो नदियों, अन्तरीपों और शब्दों के सितारों से बहुत दूर है।

Surely, Shakespeare is wicked, the map a bad example,
With ships and sun and love tempting them to steal
For lives that slyly turn in their cramped holes
From fog to endless night? On their slag heap, these children
Wear skins peeped through by bones and spectacles of steel
With mended glass, like bottle bits on stones.
All of their time and space are foggy slum.
So blot their maps with slums as big as doom.

कठिन शब्दार्थ : Wicked (विकिड) = अरुचिकर। tempting (टेप्टिङ्) = ललचाने वाला। slyly (स्लाइलि) = चुपचाप । turn in (टन् इन्) = प्रवेश करते हैं। cramped (क्रैम्प्ट ) = तंग, संकरे। holes (होल्ज) = (यहाँ-) झोंपड़े। slag (स्लैग्) = धातुओं को पिघलाने के पश्चात् बचा मैल। peeped (पीप्ट) = झाँकते थे। spectacles (स्पेक्टक्ल्ज् ) = चश्में, ऐनकें। blot (ब्लॉट) = मिटा देना। doom (डूम्) = प्रलय, महाविनाश।

हिन्दी अनुवाद : निश्चित ही शेक्सपियर इनके लिए अरुचिकर है तथा मानचित्र एक बुरा उदाहरण है जिसमें जहाज तथा सूर्य तथा प्रेम दर्शाए गये हैं और ये सब चीजें उन्हें चोरी करने को ललचाती हैं। वे लोग जो चुपचाप अपने तंग झोंपड़ों में कोहरे से बचने के लिए प्रवेश करते हैं, जहाँ उनकी रात्रि अन्तहीन बन जाती है। धातु के मैल के ढेर पर रहने वाले इन बच्चों की चमड़ी से उनकी हड्डियाँ झाँकती प्रतीत होती हैं। उनकी ऐनकें (चश्में) स्टील के फ्रेम से बनती हैं जिनमें मरम्मत किए गये शीशे लगे होते हैं, ये शीशे पत्थरों पर पड़े काँच के टुकड़ों की तरह होते हैं। उनका पूरा समय एवं क्षेत्र (देश एवं काल) धुंधभरी गन्दी बस्ती ही है। इसलिए उन लोगों के मानचित्रों को मिटा दो और प्रलय जैसी विशाल गन्दी बस्तियों को उनके स्थान पर दर्शाओ।

Unless, governor, inspector, visitor,
This map becomes their window and these windows
That shut upon their lives like catacombs,
Break O break open till they break the town
And show the children to green fields, and make their world
Run azure on gold sands, and let their tongues
Run naked into books the white and green leaves open
History theirs whose language is the sun.

कठिन शब्दार्थ : Catacombs (कैटकोम्) = कब्रों का तहखाना | azure (ऐश(र)/ऐजुअ(र)) = आकाश जैसा नीला। naked (नेकिड्) = खुले रूप से।

हिन्दी अनुवाद : गवर्नर, निरीक्षक, आगन्तुक जब तक यह मानचित्र उनकी खिड़की नहीं बनता, और ये खिड़कियाँ जिन्होंने उनके जीवन को कब्रों के तहखाने की भाँति कैद कर रखा है, नहीं टूटतीं, टूट कर खुल नहीं जातीं; नगर को तोड़ दो, और बच्चों को हरे-भरे खेत दिखाओ और उनके संसार को सुनहरी रेत पर नीले समुद्र की भाँति चलाओ और उनकी जीभ किताबों में खुल कर दौड़े, सफेद एवं हरे रंग के पन्ने खुलें, इतिहास उनका होता है जिनकी भाषा में सूर्य (ज्ञान) होता है।

Explanations with Reference to the Context

Stanza: 1

Far far from gusty waves these children’s faces.

Like rootless weeds, the hair torn round their pallor;

The tall girl with her weighed-down head. The paper seeming boy, with rat’s eyes.

Reference—These are the opening lines of Stephen Spender’s poem “An Elementary School Classroom in a Slum”.

Context—The poet is describing the deplorable condition of the children in a slum school. He is talking about two children, a boy and a girl, to give a picture of their condition.

Explanation—The school which these children attend is far away from the sea in which waves rise high during storm. It is situated in a slum area where poor people live in dirty surroundings. These children are neglected by the society. Their faces look like rootless weeds and their hair are scattered over their pale skin. A girl, who is tall, keeps her head bent down. She is exhausted and ill. Then there is a boy who is thin like paper. His eyes resemble those of a rat. He seems permanently hungry.

सन्दर्भ-प्रस्तुत पंक्तियां स्टीफन स्पेंडर की कविता “An Elementary School Classroom in a Slum” की प्रारंभिक पंक्तियां हैं।

प्रसंग-कवि गन्दी बस्ती के एक स्कूल के बच्चों की बुरी दशा का वर्णन कर रहा है। वह दो बच्चों के बारे में बात कर रहा है, जिनमें एक लड़का और एक लड़की है, ताकि उनकी हालत का चित्रण कर सके।

व्याख्याजिस स्कूल में ये बच्चे पढ़ने जाते हैं वह समुद्र से बहुत दूर है जहाँ तूफान के समय लहरें ऊँची उठती हैं। यह स्कूल एक गन्दी बस्ती के क्षेत्र में स्थित है जहाँ गरीब लोग गन्दे क्षेत्र में रहते हैं। ये बच्चे समाज द्वारा उपेक्षित हैं। उनके चेहरे जड़-विहीन घास-फूस के समान दिखाई देते हैं और उनके बाल उनकी पीली पड़ी त्वचा पर विखरे हुए हैं। एक लड़की जो ऊँचे कद की है, उसके सिर को झुकाए रहती है। वह थकी हुई एवं बीमार है। एक लड़का है जो कागज की तरह पतला-दुबला है। उसकी आँखें चूहे की आँखों जैसी दिखाई देती हैं। वह स्थायी रूप से भूखा प्रतीत होता है।

Stanza: 2

The stunted, unlucky heir

Of twisted bones, reciting a father’s gnarled disease,

His lesson, from his desk. At back of the dim class

One unnoted, sweet and young. His eyes live in a dream,

Of squirrerl’s game, in tree room, other than this.

ReferenceThese lines have been taken from Stephen Spender’s poem “An Elementary School Classroom in a Slum”.

Context: – The poet describes two boys of a slum school to bring out their physical and mental abnormalities.

ExplanationOne of the boys is under-developed in body. He is unlucky in that he has inherited twisted bones from his father. He is reciting his lesson sitting at his desk. The other boy is sweet and young. He sits at the back of the classroom where no light reaches. He is not noticed by others. His eyes reveal that he is dreaming about a so about in another room. He does not seem to concentrate on his lesson.

सन्दर्भ: ये पक्तियां स्टीफन स्पेंडर की कविता “An Elementary School Classroom in a Slum” से ली गई हैं।

प्रसंग-कवि गन्दी बस्ती के स्कूल के दो बच्चों का वर्णन कर रहा है ताकि उनकी शारीरिक एवं मानसिक विकृतियों को बता सके।

व्याख्याउनमें से एक लड़का अल्प-विकसित शरीर वाला है। वह इस विषय में दुर्भाग्यशाली है कि उसने उसके पिता से टेढ़ी-मेढ़ी हड्डियां विरासत में पाई हैं । वह उसकी डेस्क के पास बैठा उसके पाठ का वाचन कर रहा है। दूसरा लड़का प्यारा-सा तथा छोटा है। वह कक्षा में पीछे की ओर बैठता है जहाँ रोशनी नहीं पहुँचती ९। अन्य लोग उसे नहीं देख पाते हैं। उसकी आँखें बताती हैं कि वह एक गिलहरी के बारे में स्वप्न देखता रहता है जो दूसरे कमरे में खेलती रहती है। लगता है कि वह उसके पाठ में ध्यान केन्द्रित नहीं कर पाता।

Stanza: 3

On sour cream walls, donations. Shakespeare’s head,

Cloudless at dawn. civilized dome riding all cities.

Belled, flowery, Tyrolese valley. Open-handed map

Awarding the world its world. And yet, for these

Children, these windows, not this map, their world,

Where all their future’s painted with a fog,

A narrow street sealed in with a lead sky

Far far from rivers, capes, and stars of words.

Reference—These lines are from Stephen Spender’s poem “An Elementary School Classroom in a Slum”.

Context—The poet is describing the classroom of a school in a slum and the future of the children studying there.

Explanation- On the walls, dirty and pale, of the classroom are hanging pictures and a map. These are donated items. The pictures show the English dramatist, Shakespeare’s head, a scene of a dawn with cloudless skies, buildings in cities with domes on them and Tyrolese valley, with flowers and churches. The map shows generously the countries of the world with all their prosperity, progress, and the things connected with a civilized society. But, for the children of the slum school, their world is what they see through the windows of the school classroom. They see their uncertain dark future and a narrow street covered with light-brown sky. This slum area of theirs is very far from rivers, capes and great literature.

सन्दर्भ:- ये पंक्तियां स्टीफन स्पेंडर की कविता, “An Elementary School Classroom in a Slum से ली गई हैं।

प्रसंग-कवि एक गन्दी बस्ती के स्कूल के कक्षा कक्ष का वर्णन कर रहा है तथा वहाँ पढ़ने वाले बच्चों के भविष्य की बात कर रहा है।

व्याख्या-कक्षा-कक्ष की गन्दी एवं पीली दीवारों पर तस्वीरें तथा एक मानचित्र लटक रहे हैं। ये दान में दी गर्द चीजें हैं। ये तस्वीरें अंग्रेजी के नाटककार शक्सपियर के सिर, सूर्योदय के समय के स्वच्छ आकाश शहर की इमारतें जिन पर गुम्बद हैं तथा आस्ट्रिया के एक प्रदेश में स्थित टाइरोल की घाटी जहाँ फल या एक प्रदेश स्थित टाइरोल की घाटी, जहाँ फूलों एवं चर्च की बहुलता है. आदि को दर्शाती हैं। मानचित्र, उदारतापूर्वक, दुनिया के देशों को उनकी समस्त गाज की चीजों के साथ दिखाता है। किन्तु गदा बस्ती के स्कूल के बच्चों के लिए उनकी दनिया जो स्कूल के कक्षा-कक्ष की खिडकियों से दिखाई देती हैं । वे उनका अनिश्चित, अंधकारमय भविष्य देखते हैं तथा एक संकरी गली उन्हें दिखाई देती है जो हल्के भूरे आकाश से ढकी है। उनका यह गन्दी बस्ती का क्षेत्र नदियों, अन्तरीपों तथा महान साहित्य से बहुत दूर है।

(Stanza : 4 )

Surely, Shakespeare is wicked, the map a bad example,

With ships and sun and love tempting them to steal –

For lives that slyly turn in their cramped holes

From fog to endless night? On their slag heap, these children

Wear skins peeped through by bones and spectacles of steel

With mended glass, like bottle bits on stones.

All of their time and space are foggy slum.!!.

So blot their maps with slums as big as doom.

Reference-These lines are from Stephen Spender’s poem, “An Elementary School Classroom in a Slum”.

Context—The poet wants to prove meaninglessness and unsuitability of the pictures and the map hanging on the walls of the slum school’s classroom.

Explanation—The poet declares that Shakespeare’s photograph is uninteresting for the slum school children and the map sets a bad example to them. The map shows ships that symbolise prosperity and the sun that symbolises knowledge. They carry no meaning to the children of the slum. They receive no love from anyone as they are unwanted. Such pictures and maps raise hopes in these children. But they are never fulfilled. They only tempt them to take to wrong means. These children live in narrow holes covered with fog. They sleep uncomfortably in them and their night becomes endlessly painful. On the heaps of slag, they can be seen with their bones peeping through their skin. Their wear glasses that are broken and cheap. All their time is spent in places covered with fog. It would be, therefore, better to blot their maps with big slums.

संदर्भप्रस्तुत पंक्तियाँ स्टीफन स्पेंडर की कविता “An Elementary School Classroom in a Slum” से ली गई हैं।

प्रसंग-कवि गन्दी बस्ती के स्कूल की कक्षा की दीवारों पर लटकी हुई तस्वीरों तथा मानचित्र की अर्थहीनता तथा अनुपयुक्तता सिद्ध करना चाहता है।

व्याख्या-कवि घोषणा करता है कि शेक्सपियर की तस्वीर गन्दी बस्ती के स्कूल के बच्चों के अरूचिकर है और मानचित्र उनके खराब उदाहरण पेश करता है। यह मानचित्र जहाजों को, जो समृद्धि के प्रतीक हैं तथा सूर्य को, जो ज्ञान का प्रतीक है, दर्शाता है। ये गन्दी बस्ती के बच्चों के लिए कोई अर्थ नहीं रखते। उन्हें किसी से भी प्रेम नहीं मिलता क्योंकि वे अनचाहे माने जाते हैं । ऐसी तस्वीरें तथा मानचित्र इन बच्चों में आशाएँ जागृत करते हैं। लेकिन ये आशाएँ कभी भी पूरी नहीं होतीं। ये उन्हें गलत साधनों को अपनाने हेतु ललचाती हैं। ये बच्चे संकरे झोपड़ों में रहते हैं जो धुंध से ढके रहते हैं । वे बेचैनी के साथ इन झोंपड़ों में सोते हैं और उनकी रात्रि अनन्त रूप से कष्टभरी हो जाती है। धातुओं के पिघलाने के बाद बचे मैल के ढेरों पर इन्हें देखा जा सकता है। इनकी हड्डियाँ इनकी चमड़ी से बाहर झांकती हुई प्रतीत होती हैं । इनका सारा समय कोहरे से ढके स्थानों पर बीतता है। इसलिए अच्छा होगा अगर इन बच्चों के मानचित्रों को बड़ी-बड़ी गन्दी बस्तियों से ढक दिया जाए।

(Stanza: 5)

Unless, governor, inspector, visitor.

This map becomes their window and these windows

That shut upon their lives like catacombs,

Break O break open till they break the town

And show the children to green fields, and make their world

Run azure on gold sands, and let their tongues

Run naked into books the while and green leaves open

History theirs whose language is the sun.

Reference-These lines have been lifted from Stephen Spenders poem, An Elementary School Classroom in a Slum”.

ContextThe poet is trying to suggest the measures which the administration should take to improve the lot of the slum children and bring change in their lives.

Explanation—The poet says that unless the world shown in the map becomes the world of the slum children, no improvement in their condition is possible. They must be brought to the places where they can be exposed to knowledge and progress. At present, the slum children are living in hellish conditions. The foggy surroundings with filth, poverty and neglect are like underground graves inside which the lives of these children are buried. Unless these children are exposed to progress and knowledge and allowed to live freely in mainstream areas, their lot cannot be improved. Let them roam over golden sand beaches under the blue sky, read books they like, gain knowledge and make history, the poet suggests.

सन्दर्भये पंक्तियाँ स्टीफन स्पेंडर की कविता “An Elementary School Classroom in a Slum” से ली गई हैं।

प्रसंग-कवि उन उपायों का सुझाव देने का प्रयास कर रहा है जिन्हें प्रशासन अमल में लाकर गंदी बस्ती के बच्चों के भाग्य को बदलकर उनके जीवन में परिवर्तन ला सकता है।

व्याख्याकवि का कथन है कि जब तक मानचित्र में दर्शायी गई दुनिया गंदी बस्ती के बच्चों की दुनिया नहीं बन जाती तब तक उनकी दशा में कोई सुधार संभव नहीं है। उन्हें उन स्थानों पर लाया जाना होगा जहाँ उनका सामना उन्नति एवं ज्ञान से हो । वर्तमान में गन्दी बस्तियों के बच्चे नारकीय स्थितियों में रह रहे हैं। कोहरे से भरा वातावरण जिसमें गंदगी, गरीबी तथा उपेक्षा भरी हैं, भूमिगत कब्रों की तरह है जिनमें इन बच्चों की जिन्दगियां दफन हैं। जब तक इन बच्चों का सामना उन्नति एव ज्ञान से नहीं कराया जाता है. और मुख्य धारा के क्षेत्रों में उन्हें निवास नहीं करने दिया जाता है तब तक उनकी दशा को नही सुधारा जा सकता। उन्हें सनहरी रेत वाले समुद्री किनारों पर घुमने दें, नीले आकाश के नीचे उन्हें उनकी रुचि की पुस्तकें पढ़ने दें, ज्ञान अर्जित करने दें और इतिहास रत्नने दें, ऐसा कवि का सुझाव है। ।

0:00
0:00