Day
Night

Chapter 7 The Last Leaf

Textbook Questions and Answers

Think About It :

Question 1. 
What is Johnsy’s illness? What can cure her, the medicine or the willingness to live?
जौन्सी को क्या बीमारी है? उसे क्या ठीक कर सकता है दवा अथवा जीने की इच्छा?
Answer:
Johnsy is suffering from pneumonia. She has high fever, that makes her weak both mentally and physically. She has lost her desire to live and nurses a baseless belief that she would die with the falling of the last leaf of the creeper on the wall opposite her window.

No medicine has any effect on her. The doctor has told her friend Sue that no medicine can cure her unless she revives her desire to live. So, it is only her desire to live that can cure her.

जौन्सी न्यूमोनिया से पीड़ित है। उसके तेज बुखार है जिसने उसे मानसिक तथा शारीरिक दोनों रूपों में कमजोर कर दिया है। उसने अपनी जीने की इच्छा खो दी है तथा एक आधारहीन विश्वास पाल लिया है कि वह उसकी खिड़की के सामने वाली दीवार वाली लता के अन्तिम पत्ते के गिरने के साथ मर जायेगी। उस पर किसी दवा का कोई असर नहीं है। डॉक्टर ने उसकी सहेली सू को कहा है कि उसको कोई दवा ठीक नहीं कर सकती जब तक कि वह जीने की इच्छा नहीं रखेगी। अतः केवल उसकी जीने की इच्छा ही उसे ठीक कर सकती है।

Question 2. 
Do you think the feeling of depression Johnsy has, is common among teenagers?
क्या आप सोचते हैं हताशा की जो भावना जौन्सी में है, वह किशोरों में सामान्यतया होती है?
Answer:
Yes, I think the feeling of depression as Johnsy has is common among teenagers. The young minds are immature, sensitive, emotional and imaginative. Sometimes when they are physically and mentally weak, they nurse baseless and irrational beliefs. Such beliefs become so firm that no amount of reasoning can shake them away. Johnsy is also a teenager. She also nurses a baseless belief. But there are some teenagers, who remain happy and hopeful even in adverse conditions.

हाँ, मैं सोचता हूँ कि हताशा की जो भावना जौन्सी में है, वह किशोरों में आम होती है। युवा मस्तिष्क अपरिपक्व, संवेदनशील, भावुक तथा कल्पनाशील होते हैं । जब कभी वे मानसिक तथा शारीरिक रूप से कमजोर होते हैं वे आधारहीन तथा तथ्यहीन विश्वास पाल लेते हैं । ये विश्वास इतने दृढ़ हो जाते हैं कि कोई भी तर्क उन्हें दूर नहीं कर सकते। जौन्सी भी किशोर है। वह भी एक आधारहीन विश्वास पाल लेती है। लेकिन कुछ किशोर ऐसे भी हैं जो विपरीत परिस्थितियों में भी प्रसन्न तथा आशावादी रहते हैं। 

Question 3. 
Behrman has a dream. What is it ? Does it come true ? 
बेरमन का एक सपना है। वह क्या है? क्या वह सच होता है?
Answer:
Behrman is a sixty years old painter. He has a dream. It is to paint a masterpiece. This dream does come true but only with his death. He paints an ivy leaf on a wall. He works in the cold winter rain. He catches pneumonia and dies. His painting proves a masterpiece. Even Sue and Johnsy, who are themselves artists, can’t know that it is not a real leaf.

बेरमन एक साठ वर्षीय वृद्ध चित्रकार है। उसका एक सपना है। यह एक श्रेष्ठतम कलाकृति बनाने का है। यह स्वप्न पूरा तो होता है किन्तु केवल उसकी मृत्यु केसाथ । वह एक दीवार के ऊपर आइवी का एक पत्ता पेन्ट करता है। वह ठण्डी शीत ऋतु की वर्षा में काम करता है। उसे न्यूमोनिया हो जाता है और वह मर जाता है। उसकी पेन्टिंग एक श्रेष्ठ कलाकृति साबित होती है। सू तथा जौन्सी भी, जो स्वयं कलाकार हैं, जान नहीं पाती हैं कि वह एक वास्तविक पत्ता नहीं है।

Question 4. 
What is Behrman’s masterpiece ? What makes Sue say so ? 
बेरमन की महान कलाकृति क्या है ? सू ऐसा क्यों कहती है?
Answer:
Behrman’s masterpiece is the painting of an ivy leaf. Sue and Johnsy are themselves artists. Even they cannot know that it is not a real leaf. So Sue calls it a masterpiece. It saves her friend Johnsy’s life who mistakes it to be a real leaf and revives her desire to live.

बेरमन की महान कलाकृति आइवी का पत्ता है। सू और जौन्सी स्वयं कलाकार हैं । वे भी नहीं जान पातीं कि यह वास्तविक पत्ता नहीं है। इसलिए सू इसे महान कलाकृति कहती है। यह उसकी सहेली जौन्सी की जान बचाती है जो इसे वास्तविक पत्ता समझती है तथा अपनी जीने की इच्छा जगाती है। 

Talk About It:

Q. Have you ever felt depressed and rejected ? How did you overcome such feelings ? Share your experience with your classmates.
क्या आपने कभी हताश अथवा अस्वीकार किये जाने की अवस्था महसूस की है? आप ऐसी भावनाओं से कैसे उबरे? अपना अनुभव अपने कक्षा साथियों के साथ बाँटो। 
Answer:
Overcome Depression When I got failed in VIII class, I felt depressed and rejected. My English teacher, Sri Ram Bairwa, came to me. He told me the story of the spider and the wall. Once a spider wanted to climb a wall. It fell again and again but at last succeeded. I got inspiration. I worked hard next year and got first position. Thus, I overcame my depression.

अवसाद से जीतना जब मैं आठवीं कक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया, तो मैं अवसादपूर्ण व अस्वीकृत हो गया था। मेरे अंग्रेजी के अध्यापक श्रीराम बैरवा, मेरे पास आये। उन्होंने मुझे मकड़ी व दीवार की कहानी सुनाई। एक बार, एक मकड़ी दीवार पर चढ़ने का प्रयास कर रही थी। वह बार-बार गिर जाती किन्तु अन्त में वह सफल हो गई। मैंने प्रेरणा ली। मैंने अगले वर्ष कठिन परिश्रम किया और प्रथम स्थान प्राप्त किया। इस प्रकार, मैंने अपने अवसाद को जीता।

Important Questions and Answers

I. Short Answer Type Questions :

Question 1. 
What do you know about Sue and Johnsy ? What happened to Johnsy? 
आप सू एवं जौन्सी के बारे में क्या जानते हैं? जौन्सी को क्या हुआ था? 
Answer:
Sue and Johnsy were two young artists. They were friends. They shared a small flat, which was on the third storey of an old house. Johnsy was seriously ill. She had pneumonia.

सू तथा जौन्सी दो युवा कलाकार थीं। वे मित्र थीं। वे एक फ्लैट में इकट्ठे रहती थीं, जो एक पुराने मकान की तीसरी मंजिल पर था। जौन्सी गम्भीर रूप से बीमार थी। उसे न्यूमोनिया था। 

Question 2. 
What did the doctor tell Sue about Johnsy? 
डॉक्टर ने सू को जौन्सी के बारे में क्या बताया?
Answer:
The doctor told Sue that it seemed that Johnsy had made up her mind not to get well. He also told her that no medicine can cure her if she did not want to live.

डॉक्टर ने सू को बताया कि ऐसा लगता है कि जौन्सी ने ठीक नहीं होने का मन बना लिया है। उसने यह भी बताया कि कोई दवा उसे ठीक नहीं कर सकती यदि वह जीना नहीं चाहे तो।

Question 3. 
Why did Johnsy just gazing out of the window? 
जौन्सी खिड़की के बाहर एकटक क्यों देखे जा रही थी?
Answer:
Johnsy was watching the falling leaves of the ivy creeper climbing half-way up the brick wall opposite the window. She believed that she would die when the last leaf would fall.

जौन्सी खिड़की के सामने ईंट की दीवार के आधे ऊपर तक चढ़ी हुई आइवी की बेल के गिरते पत्तों को ध्यान से देख रही थी। उसे विश्वास था कि जैसे ही अन्तिम पत्ता गिरेगा तब वह भी मर जायेगी।

Question 4.
What did Sue do to make Johnsy feel happy? 
सू ने जौन्सी को प्रसन्न महसूस करवाने के लिए क्या किया?
Answer:
She talked about clothes and fashions. But it had no response. She brought her drawing board into Johnsy’s room. She started whistling while working at her painting.

उसने वस्त्रों और फैशनों के बारे में बातें कीं। लेकिन इसका कोई प्रत्युत्तर नहीं आया। वह अपना ड्राइंग बोर्ड जौन्सी के कमरे में ले आयी। उसने अपनी पेन्टिंग पर काम करते हुए सीटियाँ बजानी शुरू कर दी।

Question 5. 
What did Sue say about Johnsy’s belief? 
सू ने जौन्सी की मान्यता के बारे में क्या कहा?
Answer:
Sue said that it was nonsense and silly to think like that. It was autumn and natural for the leaves to fall. Falling of leaves had nothing to do with her getting well.

सू ने कहा कि इस प्रकार सोचना बेमतलब तथा मूर्खतापूर्ण था। यह पतझड़ का मौसम था तथा पत्तियों का गिरना प्राकृतिक था। पत्तियों के गिरने का उसके ठीक होने से कोई सम्बन्ध नहीं था।

Question 6. 
Who was Behrman and what was his dream? 
बेरमन कौन था और उसका क्या सपना था?
Answer:
Behrman was a sixty-year-old painter who lived on the ground floor of the house where Sue and Johnsy lived. His life-long dream was to paint a masterpiece.

बेरमन एक साठ वर्षीय वृद्ध चित्रकार था जो उस मकान के भूतल पर रहता था जहाँ सू तथा जौन्सी रहती थीं। उसके जीवन का सपना एक महान कलाकृति चित्रित करना था।

Question 7. 
What did Sue tell old Behrman about Johnsy’s illness ? 
सू ने बेरमन को जौन्सी की बीमारी के बारे में क्या बताया?
Answer:
Sue told Behrman that Johnsy had pneumonia. She had high fever and did not eat anything. She was nursing a silly belief that she would die with the falling of the last leaf of the ivy creeper on the wall opposite her window.

सू ने बेरमन को बताया कि जौन्सी को न्यूमोनिया था। उसके तेज बुखार था तथा उसने कुछ नहीं खाया था। वह एक मूर्खतापूर्ण विश्वास पाले हुए थी कि उसकी खिड़की के सामने वाली दीवार की आइवी बेल की आखिरी पत्ती गिरने पर वह मर जायेगी।

Question 8. 
Why ‘was Sue nervous when Johnsy asked her to draw back the curtain of the window? 
जब जौन्सी ने सू को खिड़की का पर्दा हटाने को कहा तो वह क्यों घबरा गई?
Answer:
The previous night had been stormy and it also rained heavily. She was almost sure that the last leaf of the creeper must have fallen. So she became nervous when Johnsy asked her to draw the curtain of the window.

पिछली रात्रि तूफानी थी तथा बारिश भी हुई थी। वह लगभग निश्चित थी कि बेल का अन्तिम पत्ता भी अवश्य गिर गया होगा। अतः जब जौन्सी ने उसे खिड़की का पर्दा हटाने को कहा तो वह घबरा गयी।

Question 9. 
What happened to Behrman and why? 
बेरमन को क्या हुआ तथा क्यों?
Answer:
In order to save Johnsy, Behrman painted an ivy leaf on the wall opposite her window. He worked in the night. It was a cold and windy night. It was raining also. Behrman got pneumonia. He died after two days.

जौन्सी को बचाने के लिए बेरमन ने खिड़की के सामने वाली दीवार पर आइवी बेल का एक पत्ता चित्रित किया। वह रात में काम करता रहा। यह एक ठण्डी और तेज हवा वाली रात थी। वर्षा भी हो रही थी। बेरमन को न्यूमोनिया हो गया। वह दो दिन बाद मर गया।

Question 10. 
What was Behrman’s masterpiece? 
बेरमन की महान कलाकृति क्या थी?
Answer:
His masterpiece was the ivy leaf he had painted on the wall. It looked so real that Johnsy could not know it. She regained her desire to live. Thus the painting proved Behrman’s masterpiece.

उसकी महान कलाकृति आइवी का वह पत्ता था जो उसने दीवार पर चित्रित किया था। यह इतना वास्तविक लगता था कि जौन्सी को इसका पता नहीं चल पाया। उसने अपनी जीने की इच्छा फिर से प्राप्त कर ली। इस तरह वह पेन्टिंग बेरमन की महान कलाकृति साबित हुई। 

II. Long Answer Type Questions :

Question 1. 
Why did Sue go to Behrman? 
सू बेरमन के पास क्यों गई थी?
Answer:
Sue wanted to paint an old miner. Behrman himself was an artist. He was sixty years old. She wanted him to be her model. This way he could earn some more money. So Sue went to him to ask him to act as a model of an old miner for her. Moreover, she was worried about Johnsy. She knew that the old man sympathised with them. So she poured her worries to him to have some moral support from him.

सू एक वृद्ध खनिक की पेन्टिंग बनाना चाहती थी। बेरमन स्वयं भी एक कलाकार था। वह साठ वर्ष का था। वह उसे अपना मॉडल बनाना चाहती थी। इस तरह वह कुछ ज्यादा धन कमा सकती थी। इसलिए वह उसको वृद्ध खनिक के मॉडल के रूप में काम करने को कहने के लिए गई। इससे भी ज्यादा, वह जौन्सी के प्रति चिन्तित थी। वह जानती थी कि वह वृद्ध पुरुष उनसे सहानुभूति रखता था। अतः उससे कुछ नैतिक हिम्मत प्राप्त करने के लिए उसने उसके सामने अपनी सारी चिन्ताएँ रख दीं।

Question 2. 
Characterise Sue as a friend. 
मित्र के रूप में सू का चरित्र-चित्रण कीजिए।
Answer:
As a friend Sue had a high character. She was a very sincere friend of Johnsy. She loved her. She looked after her very well when Johnsy was suffering from pneumonia. She was very caring. When Johnsy had high fever she at once called the doctor.

When the doctor advised her to create Johnsy’s interest in life, she first talked about clothes and fashions. Then she brought her drawing-board into her room and started whistling cheerfully to create a cheerful atmosphere.

एक मित्र के रूप में सू का चरित्र बहुत ऊँचा था। वह जौन्सी की एक वफादार मित्र थी। वह उसे प्यार करती थी। जब जौन्सी न्यूमोनिया से पीड़ित थी तब उसने उसकी अच्छी देखभाल की। वह बहुत ध्यान रखने वाली थी। जब जौन्सी को तेज बुखार हुआ तब उसने तुरन्त डॉक्टर को बुलवाया। जब डॉक्टर ने उसे जीवन में जौन्सी की रुचि उत्पन्न करने के लिए कहा तो उसने कपड़ों तथा फैशन के बारे में बातें कीं। फिर वह अपना ड्राइंग बोर्ड उसके कमरे में ले आई तथा खुशनुमा माहौल पैदा करने के लिए सीटी बजाने लगी।

Question 3. 
Do you think Behrman was right in sacrificing his life ? Why ? 
क्या आप समझते हैं कि बेरमन अपने जीवन का बलिदान करने में ठीक था? क्यों?
Answer:
Behrman was an old painter. He was already sixty. He always wished to paint a masterpiece. But he could never begin it. Now he saw how he could save the life of a young artist. He at once decided to work in the cold night. He painted an ivy leaf on the wall. It looked so real that Johnsy could not recognise it. She regained her will to live. Thus she was saved. But Behrman got pneumonia and died. His sacrifice was not in vain. He had painted a masterpiece and also saved a life.

बेरमन एक बूढ़ा चित्रकार था। उसकी आयु पहले ही साठ वर्ष की हो चुकी थी। उसने सदा एक श्रेष्ठ कलाकृति की रचना करनी चाही थी। किन्तु वह इसे कभी शुरू नहीं कर पाया। अब उसने देखा कि वह एक युवा चित्रकार का जीवन कैसे बचा सकता था। उसने तुरन्त ठण्डी रात में काम करने का निश्चय कर लिया।

उसने दीवार के ऊपर आइवी का एक पत्ता चित्रित कर दिया। यह इतना वास्तविक लगता था कि जौन्सी उसे नहीं पहचान पाई। उसने जीवित रहने की अपनी इच्छा फिर से प्राप्त कर ली। इस तरह वह बच गई। किन्तु बेरमन को न्यूमोनिया हो गया और वह मर गया। उसका बलिदान व्यर्थ नहीं गया। उसने एक महान कलाकृति चित्रित कर दी थी और एक जीवन भी बचा दिया था।

Question 4. 
What was Johnsy’s silly belief? How was her faith in life restored ? 
जौन्सी की मूर्खतापूर्ण मान्यता क्या थी? उसका जीवन के प्रति विश्वास कैसे बहाल हुआ?
Answer:
Johnsy was a painter. Once she had an attack of pneumonia. There was an ivy creeper climbing half way up the brick wall opposite their window. It was the month of November. The leaves of the ivy were falling. A very strange idea entered Johnsy’s mind.

She thought that she would die when the last ivy leaf fell. Behrman who had known about it painted a leaf on the wall. Johnsy took it for a real leaf. This leaf did not fall in spite of heavy wind and rain. Johnsy regained her will to live. Very soon she recovered from her illness.

जौन्सी एक चित्रकार थी। एक बार उसे न्यूमोनिया हो गया। उनकी खिड़की के सामने की ईंट की दीवार पर आधी ऊँचाई तक एक आइवी की बेल बढ़ आई थी। नवम्बर का महीना था। आइवी के पत्ते झड़ रहे थे। जौन्सी के दिमाग में एक अजीब विचार ने घर कर लिया। वह सोचने लगी कि जब आइवी का आखिरी पत्ता गिरेगा तो वह मर जाएगी। बेरमन, जो इस बारे में जान चुका था, ने दीवार पर एक पत्ता चित्रित कर दिया। जौन्सी ने उसे एक असली पत्ता समझा। भारी तूफान और वर्षा के बावजूद यह पत्ता नहीं गिरा । जौन्सी ने अपनी जीने की इच्छा-शक्ति फिर से प्राप्त कर ली। शीघ्र ही वह स्वस्थ हो गई।

0:00
0:00