Kaleidoscope Short Stories Chapter 4 Tomorrow

Textbook Questions and Answers
Understanding the Text :

Question 1.
What is the consistency one finds in the old man’s madness?
वह एकरूपता कौनसी है जो बूढ़े आदमी ( हैगबर्ड) के पागलपन में दिखाई पड़ती है ?
Answer:
Captain Hagberd’s madness is consistent in nature. He is mad after his son who has run away to sea and has not come back even after sixteen years. Hagberd comes to Colebrook from his native place, Colechester, to wait for the return of his son. He has been advertising in newspapers to get a clue about his whereabouts. His focus on his son’s return remains fixed.

He is so obsessed with it that any attempt or even a hint by anyone at a sane approach fills him with rage and he seems to go out of his mind. In his obsession for his son, he becomes careless about his food and dress, does everything to make his home comfortable for his son and hangs his hopes on ‘tomorrow.’ He makes a self enclosed world for himself and any disturbance in it makes him go out of his mind. Thus he is consistently mad.

कैप्टन हैगबर्ड का पागलपन एकरूपता रखता है । वह उसके पुत्र को लेकर पागल है, जो भागकर समुद्र पर चला गया है और सोलह वर्षों बाद भी वापस लौटकर नहीं आया है। हैगबर्ड उसके मूल निवास के स्थान कोलचेस्टर से कोलबुक आ जाता है ताकि वहाँ उसके पुत्र के वापस आने का इन्तजार कर सके। वह उसके पतेठिकाने के बारे में सुराग प्राप्त करने के लिए अखबारों में विज्ञापन देता रहा है। उसके पुत्र की वापसी पर उसका ध्यान अडिग रहता है।

वह इस बात को लेकर इतना मनोग्रस्त है कि समझारी के दृष्टिकोण का कोई भी संकेत उसे क्रोध से भर देता है और वह दिमाग पर से नियंत्रण खोता दिखाई पड़ता है। उसके पुत्र के बारे में उसकी मनोग्रस्तता इतनी अधिक है कि वह उसके भोजन एवं वस्त्रों के बारे में लापरवाह हो जाता है, वह उसके पुत्र के लिए घर को आरामदायक बनाने के लिए सब कुछ करता है, और उसकी सारी आशाएँ आने वाले ‘कल’ पर टिका देता है। वह स्वयं एक बंद-कपाट संसार बना लेता है और इसमें किसी भी प्रकार का व्यवधान अथवा छेड़छाड़ उसे आत्मनियंत्रण खो देने को बाध्य कर देती है। इस प्रकार वह स्थायी रूप से पागल है।

Question 2.
How does Captain Hagberd prepare for Harry’s homecoming?
कैप्टन हैगबर्ड हैरी के घर लौटने के लिए किस प्रकार तैयारियाँ करता है?
Answer:
Captain Hagberd waits for his long-lost son to return. He tries to do everything that he can to make his life comfortable. He buys furniture, carpets, utensils and other household items to make a comfortable home for his son when he returns. He has a vacant plot of land in front of his cottage.

He plans to sow seeds of flower-bearing plants to make it look attractive to his son. However, he doesn’t sow the seeds without consulting his son. He has even found a girl to be his wife. In Bessie, his tenant’s daughter, he sees his future daughterin-law. He does not allow anyone to see his purchases until his son Harry has seen them first. He starves himself for the sake of his son who may never return.

कैप्टन हैगबर्ड काफी समय पूर्व खो चुके उसके पुत्र की प्रतीक्षा करता है। वह उसके जीवन को आरामदायक बनाने के लिए हर चीज करता है । वह उसके पुत्र के आगमन के बाद उसके जीवन को आरामदायक बनाने के लिए फर्नीचर, गलीचे, घर के बर्तन तथा अन्य उपयोगी वस्तुएँ खरीदता है। उसकी झोंपड़ी के सामने 115 जमीन का एक खाली टुकड़ा है। उसकी योजना है कि वह इसमें फूलों वाले पौधों के बीज बोएगा ताकि इसे उसके पुत्र के लिए आकर्षक बना सके।

किन्तु वह बीजों को बोता नहीं है, बिना उसके पुत्र की सलाह लिए। उसने उसकी पत्नी बनने के लिए एक लड़की भी खोज ली है। उसके किराएदार की पुत्री बैसी में उसे उसकी भावी पुत्रवधू दिखाई देती है । वह किसी को भी उसकी खरीदी हुई चीजें देखने की आज्ञा नहीं देता जब तक उन्हें पहले हैरी न देख ले। वह उसके पुत्र के खातिर स्वयं को भूखा रखता है, जो शायद कभी लौटकर न आए।

Question 3.
How did Bessie begin to share Hagberd’d insanity regarding his son?
उसके पुत्र के बारे में हैगबर्ड के पागलपन में बैसी ने किस प्रकार भागीदारी निभाना प्रारम्भ कर दिया?
Answer:
Bessie was a miserable daughter of a cruel, abusive, lazy and domineering father. In Captain Hagberd she found someone with whom she could talk and on whom she could depend. Sometimes, she pitied Hagberd for his unreasonable hopes regarding his son. Whenever she tried to argue along the lines of sanity, Hagberd seemed to go out of his mind and she had to keep mum.

She was not sure that he ever had a son and if he existed anywhere, he had been too long away and might never return. But the madness of Hagberd for his son entered her life through the kindness of her heart. When Hagberd got excited in his talks, she would calm him down by a pretence of belief.

Gradually, she came to half believe in Hagberd’s tomorrow. She started dreaming of a happy home, which would give her an escape from her hellish life with her father. In this way Hagberd’s madness entered Bessie’s life and she began sharing his delusion regarding his son.

बैसी एक निर्दयी, बदजुबान, आलसी तथा अत्याचारी पिता की दुःखी पुत्री थी। कैप्टन हैगबर्ड में उसे एक ऐसा व्यक्ति मिल गया जिससे वह बातें कर सके और जिस पर वह निर्भर हो सके। कभी-कभी वह हैगबर्ड पर उसके पुत्र के लिए उसकी अनुचित आशाओं के लिए दया करती थी। वह जब भी बुद्धिमत्ता के आधार पर तर्क करती, हैगबर्ड आत्मनियंत्रण खोता नजर आता था और उसे (बैसी को) चुप रहना पड़ता। बैसी आश्वस्त नहीं थी कि उसके कोई पुत्र भी था और अगर वह कहीं अस्तित्व में था भी तो भी वह इतने समय तक दूर रहा.था कि शायद कभी वापस न लौटे।

लेकिन पुत्र के बारे में हैगबर्ड का पागलपन बैसी के जीवन में उसके हृदय की दयालुता के माध्यम से प्रवेश कर गया। जब हैगबर्ड उसकी बातों के दौरान उत्तेजित हो उठता तो बैसी उसे उसकी बातों में विश्वास करने का बहाना कर शांत करती थी। धीरे-धीरे वह हैगबर्ड की ‘कल’ वाली बात में थोड़ा विश्वास करने लगी। उसने सुखी घर के स्वप्न देखने शुरू कर दिए। ऐसा घर उसे उसके पिता के साथ नर्क जैसे जीवन से बच निकलने का उपाय प्रदान कर सकता था। इस प्रकार हैगबर्ड का पागलपन बैसी के जीवन में प्रवेश कर गया और वह हैगबर्ड के उसके पुत्र के बारे में भ्रम की भागीदार बनने लगी।

Question 4.
What were Harry’s reasons for coming to meet old Hagberd?
बूढ़े हैगबर्ड से मिलने आने के पीछे हैरी के क्या कारण थे?
Answer:
When Bessie asked Harry where he had come from, he replied that he was coming from a jolly good spree by the London train. He further said that he disliked to come back to a rabbit hutch. When asked about the purpose of his visit, he answered promptly that he had come there just for a sum of five quid.

He said that they allowed their spree to go on a little too long and got hard up. His intimate friend saw the newspaper carrying the advertisement and told him to go and get five quid from his loving father. So they collected the fare and he reached here. To sum up, Harry came to meet his father not out of any love for him but for money that he badly needed.

जब बैसी ने हैरी से पूछा कि वह कहाँ से आया था तो उसने उत्तर दिया कि वह एक मजेदार मौजमस्ती भरी शराब की पार्टी से आ रहा था, लन्दन वाली ट्रेन से। उसने आगे कहा कि उसे खरगोशों के पिंजरे (उसके पिता का घर) में आना पसन्द नहीं था। जब उसे आने के उद्देश्य के बारे में पूछा गया तो उसने तुरन्त उत्तर दिया कि वह केवल पाँच पाउन्ड की रकम के लिए आया था। उसने कहा कि उन्होंने उनकी पार्टी को थोड़ा अधिक चलने दिया और उन्हें धन की कमी पड़ गई।

उसके जिगरी दोस्त ने अखबार को देखा जिसमें हैगबर्ड ने विज्ञापन दिया था,और उसे जाने और उसके प्रेम करने वाले पिता से पाँच पाउन्ड की रकम प्राप्त करने को कहा। इस प्रकार उन्होंने किराए के लिए पैसा बटोरा और वह यहाँ पहुँच गया। संक्षेप में, हैरी उसके पिता से इसलिए मिलने को नहीं आया था क्योंकि उसे पिता से प्रेम था, बल्कि इसलिए आया था क्योंकि उसे धन की अत्यधिक आवश्यकता थी।

Question 5.
Why does Harry’s return prove to be a disappointment for Bessie?
हैरी का वापस आना बैसी के लिए निराशा का कारण क्यों सिद्ध हुआ?
Answer:
Bessie was spending the best time of her life in serving her father who was blind, heavy in body, lazy, abusive, cruel and domineering. He had made Bessie’s life a virtual hell by ill-treating her. She wanted to escape from this kind of life. She didn’t believe that old Hagberd ever had a son and, if he had one, he had been away so long that he might never return. Yet, she came to share Hagberd’s hopes regarding his son’s return some day.

Hagberd assured her, time and again, that he would make him marry her at all costs. She started dreaming of a comfortable, peaceful life with Harry after he returned. However, when he did return to borrow money from his father, she came face to face with reality about him.

He was a wanderer with no love for a place or a profession or a person. He was not fit for a life with a wife and children and could not be trusted with family responsibities. When Harry went away taking with him Bessie’s savings, she broke down and was mad with disappointment. Her dreams of escaping from her miserable existence into a happy, domestic, blissful one were shattered.

बैसी उसके जीवन का श्रेष्ठ समय उसके पिता की सेवा में बिता रही थी, जो अंधा था, भारीभरकम शरीर का था, आलसी था, बदजुबान था, निर्दयी एवं अत्याचारी था। उसने बैसी के जीवन को साक्षात् नर्क बना दिया था, उसके साथ दुर्व्यवहार करते हए। वह इस प्रकार के जीवन से बचकर निकल जाना चाहती थी।

उसे विश्वास नहीं था कि बूढ़े हैगबर्ड के कभी पुत्र भी था, और अगर था भी, तो भी वह इतने समय से दूर था कि शायद ही वापस लौटे अथवा कभी न लौटे। फिर भी वह हैगबर्ड की उसके पुत्र के वापस लौटने के बारे में आशाओं में भागीदार बन गई । हैगबर्ड उसे बार-बार आश्वस्त करता था कि वह उसके पुत्र को बैसी से शादी करने को बाध्य कर देगा।

बैसी एक आरामदायक, शांत जीवन के सपने देखने लगी, हैरी के वापस लौटने के बाद । किन्तु जब हैरी वापस आ गया, उसके पिता से धन उधार लेने के लिए, तो जैसी का सामना हैरी के बारे में वास्तविकता से हुआ। वह एक घुमक्कड़ व्यक्ति था जिसे किसी स्थान, अथवा किसी व्यवसाय, अथवा किसी व्यक्ति से कोई लगाव नहीं था।

वह ऐसे जीवन के लिए उपयुक्त नहीं था जिसमें पत्नी तथा बच्चे हों और पारिवारिक जिम्मेदारियों के लिए उस पर विश्वास नहीं किया जा सकता था। जब हैरी बैसी की बचत की राशि लेकर चला गया तो वह टूट गई और निराशा से पागल हो उठी। दुःख से भरे अस्तित्व से बचकर एक सुखद, घरेलू एवं आनन्दपूर्ण अस्तित्व में चले जाने के उसके स्वप्न बिखर गए।

Page : 42

Question 1.
What brought Captain Hagberd to Colebrook?
कैप्टन हैगबर्ड को कौनसी परिस्थिति कोलब्रक लेकर आई?
Answer:
Captain Hagberd’s son, Harry, had run away to sea from home in Colechester. Hagberd tried to search him out by visiting the area all around, but to no avail. He even advertised for information about him in the newspapers. In the meantime, his wife too died.

What brought him down to Colebrook was a letter. Some joker had written to him about a seafaring man hanging about some girl either in Colebrook or in the neighbourhood. Hagberd thought that his son would visit Colebrook some day again and settled down there to wait for his possible arrival.

कैप्टन हैगबर्ड का पुत्र हैरी कोलचेस्टर स्थित घर से भागकर समुद्र पर चला गया था। हैगबर्ड ने आस-पास के क्षेत्र को उसकी तलाश में छान मारा किन्तु सब कुछ.व्यर्थ रहा। उसने उसके बारे में सूचना पाने के लिए अखबारों में विज्ञापन भी दिए। इस दौरान उसकी पत्नी भी चल बसी। एक पत्र उसे कोलबुक ले आया। किसी मजाकिए व्यक्ति ने उसे लिखकर भेज दिया कि एक नाविक को किसी लड़की साथ कोलबुक अथवा आस-पास के क्षेत्र में घूमते-फिरते देखा गया था। हैगबर्ड ने सोचा कि उसका पुत्र किसी दिन पुनः कोलबुक में आएगा और वह उसके संभावित आगमन इन्तजार में वहीं रहने लगा।

Question 2.
Why did the people of Colebrook not have a favourable opinion of Captain Hagberd?
कोलबुक के लोग कैप्टन हैगबर्ड के बारे में अच्छा दृष्टकोण ( मत ) क्यों नहीं रखते थे?
Answer:
Captain Hagberd was a retired coasting skipper. His son had run away to sea. He was trying to search him out by going to places all around Colechester. One day, he received a letter saying that a seafaring man was seen in or around Colebrook. He came rushing to that place. However, he found no trace of him.

Thinking that he would visit Colebrook once again, Hagberd settled down in Colebrook to wait. He clothed himself in sailcloth. The people of Colebrook were amused to see him in such a strange dress. They made fun of him by asking about his dress. This enrage him.

He was also a very stingy man who bought the cheapest meat and other items. When asked how his son looked, he only described him as a clever-looking, high spirited boy’. Besides, he was an unsociable man who avoided people and feared any contact with them. This made him an unpopular person in Colebrook.

कैप्टन एक सेवानिवृत्त, जहाज का कप्तान था। उसका पुत्र घर से भागकर समुद्र पर चला गया था। वह उसे खोजने का प्रयास करते हुए कोलचेस्टर के चारों ओर के स्थानों पर जाता था। एक दिन उसे एक पत्र मिला जिसमें यह कहा गया था कि एक नाविक को कोलबुक अथवा उसके निकट के स्थानों में देखा गया था। हैगबर्ड शीघ्रता से उस स्थान पर पहुँचा। किन्तु उसे उसके पुत्र का कोई चिह्न नहीं मिला। यह सोचते हुए कि वह (उसका पुत्र) किसी दिन पुनः कोलब्रुक में वापस आएगा, वह उसकी प्रतीक्षा में वहीं बस गया।

उसने जहाज के पाल के कपड़े से बने वस्त्र पहनना शुरू कर दिया। कोलबुक के लोग उसे ऐसी अनूठी पोशाक में देखकर हँसते थे। वे उसकी पोशाक के बारे में प्रश्न पूछकर उसका मजाक बनाते थे। ऐसा करने पर वह क्रोधित हो उठता था। वह बड़ा कंजूस व्यक्ति था और बाजार से सबसे सस्ता माँस तथा अन्य चीजें खरीदता था।

जब उससे पूछा जाता कि उसका पुत्र कैसा दिखाई देता था, वह केवल इतना ही कहता कि वह ‘एक चतुर दिखने वाला, उत्साही व्यक्ति’ था। इसके अतिरिक्त, वह एक असामाजिक प्रवृत्ति का व्यक्ति था जो लोगों से दूर रहता था और उनसे सम्पर्क करने से डरता था। इस कारण वह कोलबुक में अलोकप्रिय बन गया था।

Page : 46

Question 1.
What sort of seaman had Captain Hagberd been?
कैप्टन हैगबर्ड किस प्रकार का नाविक रहा था?
Answer:
Captain Hagberd had been a sailor who liked to pursue his calling within sight of land. He was apprenticed to a coasting skipper by his father, who was a bankrupt farmer. However, he hated the sea. He liked to work on the land with its houses, and the people gathered around firesides. He had a profound and emotional animosity for the sea.

He could not understand why people let their boys go to sea. Letting them go to sea was a kin to making them convicts. One could never get used to a life on the sea, he said. The longest voyage he ever made had lasted a fortnight, that too near the coast. As soon as his wife inherited a house and enough to live on, he threw up his job of commanding a ship and felt he escaped from the galleys.

हैगबर्ड एक ऐसा नाविक था जो उसके व्यवसाय को समुद्र में इतनी दूरी पर ही करना पसंद करता था जितनी दूरी से जमीन दिखाई देती रहे। उसे उसके पिता द्वारा एक जहाज के कप्तान के पास प्रशिक्षण के लिए भेज दिया गया था। उसका पिता एक दिवालिया किसान था। किन्तु उसे समुद्र से नफरत थी। उसे जमीन पर ही काम करना पसंद था, जहाँ बहुत सारे मकान हों और लोग घरों में आग के पास बैठते हों।

वह समुद्र के प्रति जबरदस्त तथा भावनात्मक शत्रुता रखता था। वह समझ नहीं पाता था कि लोग उनके लड़कों को समुद्र पर क्यों जाने देते थे। उन्हें समुद्र पर जाने देना उन्हें कैदी बना देने के समान था। वह कहता था कि कोई भी व्यक्ति समुद्र पर रहने का अभ्यस्त नहीं हो सकता था। सबसे लम्बी समुद्री यात्रा जो उसने कभी की होगी, वह एक पखवाड़े से अधिक नहीं थी और वह भी किनारे के निकट । ज्योंही उसकी पत्नी ने उत्तराधिकार में एक घर तथा जीने योग्य धनराशि प्राप्त की, त्योंही उसने जहाज की कप्तानी करने के कार्य को त्याग दिया और उसने महसूस किया कि जैसे वह चप्पुओं से चलाए जाने वाले जहाजों से बचकर आ गया हो।

Question 2.
Captain Hagberd constantly hinted at something that made Bessie blush. What was it?
कप्तान हैगबर्ड लगातार ऐसी किसी चीज की ओर संकेत करता था जो बैसी को शर्मिंदा कर दिया करती थी। यह क्या चीज थी?
Answer:
Hagberd saw in Bessie a future daughter-in-law. He shared his plans for his son with Bessie as if she had a legitimate interest in them. They met on the ground of unreserved confidence. Hagberd often winked affectionately and Bessie liked it. She laughed at his winks, which were charming to her.

Hagberd constantly hinted at his son’s return and his marriage with Bessie. Bessie too, shared his dreams about his son though she sometimes pitied him for his hopes. She often blushed out of a pleasurable emotion. She had also started dreaming of a comfortable, domestic happiness with Harry. Hagberd constantly assured her of such a life by talking of how she would live happily with his son as soon as he returned. This made her blush.

हैगबर्ड ने बैसी में भविष्य में होने वाली बहू को देखा। उसने बैसी के साथ उन योजनाओं को बाँटा जो उसने उसके पुत्र के लिए बनाई थीं, जैसे कि उसे उन योजनाओं में कोई तर्कसंगत रुचि हो । बैसी तथा हैगबर्ड खुले विश्वास के मिलते थे। हैगबर्ड प्रायः स्नेह के साथ आँख की पलक को झपकाता था और बैसी इस बात को पसंद करती थी। वह उसके पलक झपकाने पर हँस देती थी, जो उसे आकर्षक प्रतीत होती थीं। हैगबर्ड लगातार उसके पुत्र की वापसी तथा बैसी के साथ उसकी शादी की ओर संकेत करता था।

बैसी भी उसके पुत्र के बारे में हैगबर्ड के सपनों में भागीदार बन जाती थी, यद्यपि वह कभी-कभी हैगबर्ड पर उसके सपनों को लेकर दया करती थी। वह प्रायः आनन्दित करने वाली भावना के वशीभूत हो शरमा जाती थी। उसने भी हैरी के साथ आरामदायक घरेलू प्रसन्नता का सपना देखना शुरू कर दिया था। हैगबर्ड लगातार उसे ऐसे जीवन के बारे में आश्वस्त करता रहता था। वह चर्चा करता था कि किस प्रकार वह उसके पुत्र के वापस आने के बाद सुखपूर्वक रहेगी। इन बातों से वह शरमा जाती थी।

Page : 49

Question 1.
What were Bessie’s reactions to old Hagberd’s ravings? बूढ़े हैगबर्ड के पागलपन से भरे प्रलापों के प्रति बैसी की प्रतिक्रियाएँ कैसी होती थीं?
Answer:
Hagberd had made for himself a world full of false hopes, unreal dreams and delusions. Whenever someone tried to show him the falsehood of his hopes or the unreality of his dreams and delusions, he lost control over himself and started raving. Once when Bessie tried pityingly to throw some doubt on his hope of his son’s return, he was alomost on the brink of madness.

He often complained about the behaviour of the people of the town. He called their behaviours queer’. She humoured him in silence, listened to him patiently, often smiled a little and often gave the impression that she believed in all that he said. This is how she reacted to his mad ravings.

हैगबर्ड ने स्वयं के लिए एक ऐसी दुनियाँ का निर्माण कर लिया था जो झूठी आशाओं, मिथ्या सपनों तथा भ्रम से परिपूर्ण थी। जब भी कोई व्यक्ति उसे उसकी आशाओं का मिथ्यापन अथवा उसके सपनों तथा भ्रमों की अवास्तविकता दिखाने का प्रयास करता, वह आत्मनियंत्रण खो देता था और पागलपूर्ण प्रलाप करने लगता था।

एक बार जब बैसी ने दया से भरकर उसके पुत्र की वापसी को लेकर उसकी उम्मीद पर थोड़ा संदेह जताने की कोशिश की, वह पागलपन की कगार पर पहुँच गया। वह प्रायः शहर के लोगों के व्यवहार के बारे में शिकायत किया करता था। वह उनके व्यवहार को ‘अटपटा’ कहता था। बैसी चुपचाप रहकर उसे राजी करती थी, धैर्य के साथ उसकी बातें सुनती थी, प्रायः थोड़ा मुस्करा देती थी और प्रायः ऐसा महसूस कराती थी कि वह उसकी सारी बातों में विश्वास करती थी। वह इसी प्रकार उसकी पागलपन से भरी बातों के प्रति प्रतिक्रिया करती थी।

Question 2.
What sort of a person was Mr. Carvil?
मि. कार्विल किस प्रकार का व्यक्ति था?
Answer:
Mr. Carvil was a widowed boat-builder who had gone blind. He lived with Bessie, his young daughter, in one of Captain Hagberd’s two cottages, as a tenant. He was a domestic tyrant who ill-treated his daughter. He was heavy in body, selfish, lazy, cruel and abusive man.

He behaved to his daughter as if she had been responsible for his incurable blindness. He treated her as his slave, abused her and shouted at her. He was so lazy and self-centred that he sought Bessie’s services even in the smallest matters. He made Bessie’s life a virtual hell.

मि. कार्विल एक विधुर नाव बनाने वाला व्यक्ति था जो अंधा हो गया था। वह उसकी युवा पुत्री बैसी के साथ कैप्टन हैगबर्ड की दो झोंपड़ियों में से एक झोंपड़ी में किराए पर रहता था। वह घर में तानाशाह था जो उसकी पुत्री के साथ दुर्व्यवहार किया करता था। वह शरीर से भारी-भरकम, स्वार्थी, आलसी, निर्दयी तथा गाली-गलौच करने वाला व्यक्ति था।

वह उसकी पुत्री से इस प्रकार व्यवहार करता था मानो वही उसके लाइलाज अंधेपन के लिए उत्तरदायी हो। वह उसे अपना गुलाम मानता था, उसे गालियाँ देता था और उसकी ओर चिल्लाता था। वह इतना आलसी एवं स्वार्थी था कि छोटी-से-छोटी बात में भी उसे बैसी की सेवाएँ चाहिए थीं। उसने बैसी की जिन्दगी को लगभग नर्क में बदल दिया था। |

Page : 52

Question 1.
What was the point of similarity between Captain Hagberd and old Mr. Carvil?
कैप्टन हैगबर्ड तथा बूढ़े मि. कार्विल के बीच किस बात में समानता थी?
Answer:
There was one point of similarity between Captain Hagberd and Mr. Carvil. Both were blind. The former was blind to truth and probability and the latter was blind to the light and beauty of the world. In other words, Hagberd could not see the unrealistic nature of his hope, which had become his delusion, whereas Mr. Carvil had lost his eye-sight and was blind to the fact that the world was so beautiful and full of light.

कैप्टन हैगबर्ड तथा मि. कार्विल में एक प्रकार की समानता थी। दोनों ही अंधे थे। हैगबर्ड सत्य एवं संभावना के प्रति अंधा था, जबकि मि. कार्विल दुनियां के सौन्दर्य एवं रोशनी के प्रति अंधा था। दूसरे शब्दों में, हैगबर्ड उसकी आशा की मिथ्या प्रकृति को नहीं देख सकता था और उसकी मिथ्या आशा ही उसका भ्रम बन गई थी। दूसरी ओर मि. कार्विल उसकी नेत्र-ज्योति को खो चुका था और इस सत्य से अनजान था कि दुनियाँ कितनी सुन्दर थी और रोशनी से भरी थी।

Question 2.
Why did Bessie sometimes show signs of irritation and disgust?
बैसी कभी-कभी क्रोध एवं प्रबल अनिच्छा के संकेत क्यों देती थी?
Answer:
Bessie was a young girl, who was condemned to a life of slavery, ill-treatment from her father and unending misery. She was hopeless about her life getting changed for the better. When Hagberd remarked that, when his son returned tomorrow’, he would get her a servant to help her in the housework, she was badly irritated.

Hagberd’s hopeful madness seemed to mock her own want of hope. In her irritation and disgust, she felt like screaming at him. When things went beyond her endurance, she felt irritated and disgusted with her life of unending misery with no hope of any redemption.

बैसी एक युवा लड़की थी जिसकी नियति थी गुलामी का जीवन बिताना, पिता का दुर्व्यवहार झेलना तथा अन्तहीन दुःख का जीवन बिताना। वह निराशा थी कि उसका जीवन बेहतर बन जाएगा। जब हैगबर्ड ने टिप्पणी की कि जब उसका पुत्र कल वापस लौटेगा, वह उसके लिए एक नौकर रख देगा जो घर के कामों में उसकी मदद करेगा, तब वह बुरी तरह चिढ़ गई।

हैगबर्ड का आशा भरा पागलपन बैसी की आशाहीनता का मजाक उड़ाता प्रतीत हुआ। नाराजगी और प्रबल अनिच्छा के वशीभूत होकर उसे लगा कि वह उस पर चिल्ला पड़ेगी। जब स्थितियाँ उसकी सहनशीलता से परे निकल जाती थीं तब वह उसके अंतहीन दुःख से भरे जीवन और इससे छुटकारा पाने की आशा न होने के कारण क्रुद्ध हो जाती थी और प्रबल अनिच्छा से भर उठती थी।

Page : 58

Question 1.
Who was the stranger who met Captain Hagberd? What was the Captain’s reaction to the meeting?
वह अजनबी कौन था जो कैप्टन हैगबर्ड से मिला? कैप्टन हैगबर्ड की इस मीटिंग के प्रति क्या प्रतिक्रिया थी?
Answer:
The stranger who met Captain Hagberd was his son, Harry Hagberd. He had suddenly returned after sixteen long years. The stranger was passing by Hagberd’s house when he caught sight of Captain Hagberd. He asked him if he was Captain Hagberd. Hagberd answered him in the affirmative. Hagberd said that he was advertising for his son, Harry and that he was coming home tomorrow. The stranger was surprised to hear this.

He made fun of his beard and his clothes. He also laughed at him, which made Hagberd terribly angry. He asked him to go his way. He was pained to be grinned at by the stranger. He shouted that he didn’t want any information from him about his son. He went inside his cottage and bolted the door from inside.

जो अजनबी हैगबर्ड से मिला वह उसका पुत्र हैरी हैगबर्ड था। वह अचानक सोलह वर्षों बाद आ मया था। अजनबी हैगबर्ड के घर के पास से गुजर रहा था तभी उसे कैप्टन हैगबर्ड दिखाई पड़ा। उसने पूछा कि क्या वह कैप्टन हैगबर्ड था। हैगबर्ड ने हाँ में उत्तर दिया । हैगबर्ड ने कहा कि वह उसके पुत्र के लिए विज्ञापन दे रहा था और कि वह कल घर आने वाला है। अजनबी यह सुनकर आश्चर्यचकित हो गया। उसने हैगबर्ड की दाढ़ी तथा कपड़ों का मजाक उड़ाया। वह उस पर हँसा भी।

इस कारण हैगबर्ड भयानक रूप से क्रोधित हो गया। उसने अजनबी को उसके रास्ते चले जाने को कह दिया। उसे कष्ट पहुँचा कि अजनबी ने उसका मजाक उड़ाया था। वह चिल्लाया और उसने कहा कि उसे उसके पुत्र के बारे में किसी सूचना की आवश्यकता नहीं थी। वह उसकी झोपड़ी में चला गया और भीतर से दरवाजे को कुन्दी लगा ली।

Question 2.
What did young Hagberd think it meant when old Hagberd said that his son would be coming home ‘tomorrow’?
युवा हैगबर्ड ने क्या सोचा जब बूढ़े हैगबर्ड ने यह कहा कि उसका पुत्र ‘कल’ आ रहा है?
Answer:
Harry Hagberd was surprised to hear from his father that his son (Harry) was coming home tomorrow’. He was confused as to the identity of the man who was coming. He thought it was a trick being played on the old man by someone to cheat him.

He said to Bessie, ‘I don’t understand. I hadn’t written or anything.’ He also thought that Bessie too, might be a partner in the game and that he had come just in time to spoil their sport. He also doubted that Bessie might be encouraging the funny notion of ‘tomorrow.’

हैरी हैगबर्ड उसके पिता से यह बात सुनकर आश्चर्यचकित हो गया कि उसका पुत्र (हैरी) ‘कल’ आ रहा है। वह उस व्यक्ति की पहचान को असमंजस में पड़ गया जो आ रहा था। उसने सोचा कि यह किसी व्यक्ति की चालाकी थी जिसे उस वृद्ध व्यक्ति को ठगने के लिए खेला जा रहा था। उसने बैसी को कहा, ‘मैं नहीं समझ रहा। मैंने तो ऐसा कुछ लिखा नहीं था।’ हैरी ने यह भी सोचा कि इस खेल में बैसी भी भागीदार हो सकती थी, और कि वह उनका खेल बिगाड़ने के लिए ठीक समय पर आ पहुँचा था। उसे यह संदेह भी था कि बैसी ‘कल’ के हास्यास्पद विचार को प्रोत्साहित कर रही थी।

Question 3.
What reasons did Bessie give for encouraging old Hagberd in his insane hopes?
बैसी ने बूढ़े हैगबर्ड को उसकी पागलपन से भरी आशाओं के लिए प्रोत्साहित करने के पक्ष में क्या कारण दिए?
Answer:
Harry said that he had never heard of the funny idea of tomorrow’ without any today. He asked whether she was not encouraging that funny notion. Bessie replied that she never contradicted the old man because, if she had, it would only have made him (old Hagberd) miserable.

He would have gone out of his mind. Besides there was no harm in it. Contradicting him would have given rise to quarrels between them, which she avoided. His false hopes about his son’s return had to be allowed to keep him in his senses.

हैरी ने कहा कि उसने ‘कल’ के हास्यास्पद विचार के बारे में कभी नहीं सुना था, एक ऐसा विचार जिसमें ‘आज’ नहीं होता। उसने जैसी से पूछा कि क्या वह इस हास्यास्पद विचार को प्रोत्साहित नहीं कर रही थी। बैसी ने उत्तर दिया कि उसने कभी इसे गलत नहीं ठहराया क्योंकि अगर उसने ऐसा किया होता तो बूढ़ा हैगबर्ड दुःखी ही होता।

वह पागल हो गया होता। इसके अतिरिक्त, इस विचार में कोई हानि भी नहीं थी। उसके विचार को गलत ठहराए जाने से उनके बीच झगड़े ही पैदा होते जिन्हें उसने टाला। उसके पुत्र के वापस आने के बारे में उसकी पागलपन से भरी आशाओं को बने रहने देना उसकी मानसिक स्थिति के लिए आवश्यक था।

Page : 64

Question 1.
What makes Bessie convinced that the young man is indeed Harry?
बैसी किस बात से पूर्णतया आश्वस्त हो जाती है कि वह युवक वास्तव में हैरी ही था?
Answer:
Bessie swiftly asked Harry, “Are you really Harry Hagberd?” “Can you prove it?” Harry admitted confidently that he was and he could prove it. Harry stuck a fancy beard on his chin and asked Bessie whether he was resembling his father or not.

Bessie murmured, ‘It is true.’ After that he told Bessic every possible detail about his past that convinced her that he was indeed Harry. He told her that Mother nagged him for being idle and the old man said he would cut his soul out of his body rather than let him go to sea. So he went away. These details based on memory convinced Bessie that the young man was indeed Harry.

बैसी ने शीघ्रता से हैरी से पूछा, “क्या तुम वास्तव में हैरी हैगबर्ड हो?””क्या तुम इस बात को सिद्ध कर सकते हो?” हैरी ने स्वीकार किया कि वह हैरी था और वह यह सिद्ध कर सकता था। हैरी ने उसकी ठोड़ी पर एक काल्पनिक दाढ़ी लगाई और बैसी से पूछा कि वह उसके पिता से समानता रखता था अथवा नहीं। बैसी ने बुदबुदाते हुए कहा कि “यह सच है।”

इसके बाद उसने बैसी को हर संभव विवरण उसके अतीत के बारे में दिया जिसने उसे पूर्णतया आश्वस्त कर दिया कि वह वास्तव में हैरी ही था। उसने उसे बताया कि माँ उसे निठल्ला होने के लिए ताने देती थी और बूढ़ा आदमी कहता था कि वह उसके शरीर से काटकर उसकी आत्मा निकाल लेगा, बजाय उसे समुद्र पर जाने देने के। इसलिए वह घर से चला गया। याददाश्त पर आधारित इस विवरण ने बैसी को पूर्णतया आश्वस्त कर दिया कि वह युवक वास्तव में हैरी ही था।

Question 2.
What kind of life had Harry lived after he left home?
हैरी ने घर छोड़ने के बाद किस प्रकार का जीवन जीया था?
Answer:
In answer to Bessie’s question, Harry himself says that he has lived a wanderer’s life. He has visited the gold country in Mexico where the Gambusinos prospected for gold. He had done a variety of jobs from being a boundary rider to sheering sheep, carrying stolen goods on his back, harpooning whales, rigging ships, prospecting for gold and skinning dead bullocks. He says he turned his back on more money than the old man would have scraped in his whole life. He had also been a womanizer.

बैसी के प्रश्न के उत्तर में हैरी स्वयं कहता है कि उसने एक घुम्मकड़ व्यक्ति का जीवन जीया है। वह मैक्सिको के स्वर्ण देश में जा चुका है जहाँ गैम्बुसिनो लोग स्वर्ण की खोज किया करते थे। उसने बहुत प्रकार के व्यवसाय किए थे, सीमा पर घुड़सवार होने से लेकर भेड़ों की ऊन उतारने, चोरी का माल पीठ पर ढोने, व्हेल मछलियों का शिकार करने, जहाजों में नए पाल आदि बाँधने, स्वर्ण की खोज करने, मृत बैलों की चमड़ी उतारने आदि तक। वह कहता है कि उसने इतने धन से मुँह मोड़ा है जितना धन उसके वृद्ध पिता ने जिन्दगीभर में नहीं बटोरा होगा। वह कई स्त्रियों से सम्बन्ध भी रखता था।

Page : 66

Question 1.
What does Bessie tell Harry about his father’s plans for him?
बैसी हैरी को उसके लिए उसके पिता की योजनाओं के बारे में क्या बताती है?
Answer:
Bessie told Harry that his father starved himself for his sake and that all he had in the world was for him. But Harry rejected everything that his father had planned for him. ‘That is his game, is it?’ he said in a rising tone of scathing contempt.

बैसी ने हैरी को बताया कि उसके पिता उसके खातिर भूखे रहते हैं और कि दुनियाँ में उसके पिता के पास जो कुछ भी है, उसी के लिए है। लेकिन हैरी ने उस प्रत्येक चीज को नकार दिया जिसकी योजना उसके पिता ने उसके लिए बनाई थी। यह उसका तमाशा है, है न?’ उसने उठते हुए कड़वाहटपूर्ण नफरत के स्वर में कहा।

Question 2.
What did Captain Hagberd call out to Bessie from the window?
कैप्टन हैगबर्ड ने खिड़की से पुकारते हुए बैसी से क्या कहा? .
Answer:
While young Hagberd and Bessie were talking together in the front garden of the Carvils, an upstairs window of old Hagberd’s cottage rattled up: He called Harry “a grinning information fellow.’ Harry had made fun of the old man’s beard and clothes. He had also laughed and grinned. Captain Hagberd told her in a loud voice that something was wrong with the people of the town.

He also advised Bessie not to have anything to do with that ‘grinning, information fellow.’ He cried in a piercing voice that he was aware of her chatting with that man and that he would tell Harry, when he came, about that. He exhorted Bessie to send the stranger (Harry) away as he was only a vagabond. He also added that she only wanted a good home and that chap had no home. He was not like Harry who was coming ‘tomorrow’. He asked her not to have any doubt about Harry marrying her.

जब हैरी हैगबर्ड और बैसी कार्विल परिवार के घर के सामने के बगीचे में बातें कर रहे थे, बूढ़े हैगबर्ड की झोंपड़ी की ऊपर की मंजिल की खिड़की खड़खड़ाहट की आवाज के साथ खुल गई। उसने हैरी को एक ‘हँसता हुआ, सूचना देने वाला व्यक्ति’ कहकर पुकारा। हैरी ने वृद्ध हैगबर्ड का उसकी दाढ़ी तथा कपड़ों को लेकर उपहास किया था। वह हँसा भी था और दांत दिखाते हुए मुस्कराया भी था। कैप्टन हैगबर्ड ने बैसी को ऊँचे स्वर में कहा कि इस शहर के लोगों में कुछ गड़बड़ है।

उसने बैसी को सलाह दी कि वह इस ‘हँसने वाले, सूचना देने वाले व्यक्ति’ से कोई बात न करे। वह तीखी आवाज में चिल्लाया कि उसे उस व्यक्ति के साथ बैसी की बातचीत की जानकारी थी और कि वह इस बारे में हैरी को, जब वह आएगा, बता देगा। उसने जोर देकर बैसी को कहा कि वह उस अजनबी व्यक्ति को जाने के लिए कह दे क्योंकि वह तो एक बेघर, घुमक्कड़ व्यक्ति है। उसने यह भी कहा कि बैसी को केवल एक अच्छा घर चाहिए और उस व्यक्ति के पास कोई घर नहीं है। वह व्यक्ति हैरी जैसा नहीं है, जो कल आने वाला है। उसने बैसी से निवेदन किया कि वह इस बात पर संदेह न करे कि हैरी उससे शादी करेगा।

Appreciation :

Question 1.
Comment on the technique used by the author to unfold the story of Captain Hagberd’s past.
कैप्टन हैगबर्ड के अतीत की कहानी को प्रकट करने के लिए लेखक द्वारा प्रयोग की गई तकनीक पर टिप्पणी कीजिए।
Answer:
The author has used both the methods-direct as well as indirect-to unfold the story of Captain Hagberd’s past. The author himself states that Hagberd was one of the many children of a bankrupt farmer and he was hurriedly apprenticed to a coasting skipper. Hagberd had remained on the coast all his sea life.

Hugberd never liked his job and his affections turned to the land. He had a profound and emotional animosity for the sea. Hagberd himself says that those who let their boys go to sea make convicts of them at once. Harry also says to Bessie the same kind of thing. He says that Hagberd used to go about looking very sick for three days before he had to leave on one of his trips to South Shields for coal.

Also, that Hagberd threw up his job as soon as his wife inherited some money and a house from her uncle. Harry recounts how his father tried to force him to be a lawyer’s clerk. He was beaten up badly for refusing to do. The author, therefore, unfolds Hagberd’s past by direct narration as well as through the indirect narration by characters.

लेखक ने हैगबर्ड के अतीत की कहानी को बताने के लिए प्रत्यक्ष एवं परोक्ष दोनों तरीकों का प्रयोग किया है। लेखक स्वयं कहता है कि हैगबर्ड एक दिवालिया किसान के कई बच्चों में से एक था और उसे जल्दी में एक जहाज के कप्तान के पास काम सीखने को भेज दिया गया था। इस प्रकार हैगबर्ड उसके समुद्री जीवन काल में किनारे पर ही रहा। हैगबर्ड ने कभी भी उसके व्यवसाय को पसंद नहीं किया और उसका प्रेम जमीन से ही रहा।

समुद्र से उसे जबरदस्त भावनात्मक दुश्मनी थी। हैगबर्ड स्वयं कहता है कि जो लोग उनके लड़कों को समुद्र पर जाने देते हैं वे तुरन्त उन्हें कैदी बना देते हैं। हैरी भी बैसी को इसी प्रकार की बात कहता है। वह कहता है कि हैगबर्ड कोयला लेने जब साउथ शील्ड्स नामक स्थान पर जाता था, तीन दिन पहले से बीमार जैसा दिखाई देता हुआ इधर-उधर घूमता रहता था।

उसने यह भी कहा कि हैगबर्ड ने उसकी जहाज की नौकरी तब छोड़ दी जब उसकी पत्नी ने उसके चाचा से कुछ धन तथा एक घर उत्तराधिकार में पा लिया। हैरी यह भी बताता है कि उसके पिता ने उसे एक वकील का मुंशी बनने के लिए बाध्य करने की कोशिश की। उसे ऐसा करने से मना करने पर बुरी तरह पीटा गया था। इस प्रकार लेखक ने हैगबर्ड के अतीत के जीवन की कहानी बताने के लिए प्रत्यक्ष वर्णन तथा पात्रों के द्वारा अप्रत्यक्ष वर्णन का प्रयोग किया है।

Question 2.
Identify instances in the story in which you find streaks of insanity in people other than Hagberd. What implications do they suggest?
कहानी में उन उदाहरणों को पहचानिए जिनमें आपको लोगों में, हैगबर्ड को छोड़कर, पागलपन की प्रवृत्ति दिखाई देती है। ये उदाहरण क्या निहितार्थ रखते हैं ?
Answer:
Besides Capt. Hagberd, we see streaks of insanity in people such as, the barber and Mr. Carvil. The barber makes fun of old Hagberd without knowing the full truth. His judgements about Hagberd are irrational and, therefore, non-sensical. When the barber asked Hagberd about the return of his son, the latter replied that he would return ‘next month’.

The barber laughed and remarked ‘The old one and the young one will be strolling arm in arm to get shaved in my place presently. Now such remarks border upon insanity. Such remarks imply that a sorrowful old man becomes an easy victim of ridicule by insensitive people. Mr. Carvil’s treatment of Bessie is both insane and insensitive. He treats his daughter like a slave and bellows loudly to call Bessie. His behaviour to Bessie shows his insanity.

कैप्टन हैगबर्ड के साथ-साथ हम अन्य लोगों में भी पागलपन की प्रवृत्ति देखते हैं। नाई तथा मि. कार्विल भी इसी प्रकार के लोग हैं । नाई बूढ़े हैगबर्ड का मजाक बनाता है जबकि वह पूरे सत्य को नहीं जानता। हैगबर्ड के बारे में उसके निर्णय अतार्किक हैं और इस कारण अर्थहीन हैं। जब नाई ने हैगबर्ड से उसके पुत्र के वापस आने के बारे में पूछा तो हैगबर्ड ने उत्तर दिया कि वह अगले महीने’ लौटेगा। नाई हँसा और उसने टिप्पणी की कि “बूढ़ा और उसका युवा लड़का दोनों ही बड़ी जल्दी मेरे यहाँ दाढ़ी बनवाने आ रहे होंगे।” ऐसी टिप्पणियाँ

पागलपन के आस-पास होती हैं। ऐसी टिप्पणियों का निहितार्थ यह होता है कि एक दुःखी बूढ़ा व्यक्ति संवेदनाहीन लोगों के उपहास का आसानी से शिकार बन जाता है। बैसी के प्रति मि. कार्विल का व्यवहार पागलपन से भरा एवं संवेदनाहीन दोनों है। वह उसकी पुत्री के साथ गुलाम के जैसा व्यवहार करता है और बैसी को बुलाने के लिए बैल की तरह चीख मारता है। बैसी के प्रति उसका व्यवहार उसके पागलपन को दर्शाता है।

RBSE Class 12 English Tomorrow Important Questions and Answers
Short Answer Type Questions :

Question 1.
How did Captain Hagberd come and settle down in Colebrook?
कैप्टन हैगबर्ड किस प्रकार कोलबुक में आया और बस गया?
Answer:
Captain Hagberd’s son, Harry, had run away from home. He was advertising in the newspapers to get a clue about his whereabouts. One day, he received a letter that said that a seafaring man with some such name was seen hanging about some girl. Hagberd came down to search for his son there and didn’t go back.

कैप्टन हैगबर्ड का पुत्र हैरी घर से भाग गया था। वह अखबारों में उसका सुराग पाने के लिए विज्ञापन देता रहा था। एक दिन, उसे एक पत्र मिला जिसमें लिखा था कि एक नाविक, जिसका नाम मिलता-जुलता था, किसी लड़की के साथ घूमता-फिरता दिखाई दिया था। हैगबर्ड उसके पुत्र की तलाश करने के लिए चला आया और फिर वापस नहीं गया।

Question 2.
How did Hagberd become a sensation in the High Street?
हाई स्ट्रीट में हैगबर्ड किस प्रकार हलचल का विषय बन गया?
Answer:
Hagberd had secretly made a No. 1 canvas suit. One fine morning, he put on that suit. It caused a sensation in the High Street. People came out of their doors, shopkeepers ran to their doors. Every one was surprised.

हैगबर्ड ने चुपचाप एक पाल के कपड़े का सूट बना लिया था। एक सुबह उसने इस सूट को पहन लिया। इससे मुख्य बाजार में हलचल मच गई। लोग उनके घरों से बाहर आ गए, दुकानदार उनके दरवाजों की ओर दौड़ पड़े। हर व्यक्ति आश्चर्यचकित हो गया।

Question 3.
How did Hagberd come to earn the reputation of a miser?
हैगबर्ड ने किस प्रकार एक कंजूस व्यक्ति होने की प्रतिष्ठा अर्जित कर ली?
Answer:
He earned the reputation of a awful skinflint, of a miser in the matter of living. He mumbled regretfully in the shops, bought inferior scraps of meat after long hesitations. He also discoveraged all allusions to his costume. He was unwilling now to talk with the townsfolk.

उसने एक भयंकर कंजूस होने की प्रतिष्ठा अर्जित कर ली थी, जीवन यापन के मामले में कंजूस होने की। वह दुकानों में पश्चाताप के साथ बड़बड़ाता था, माँस के घटिया टुकड़े खरीदता था, काफी संकुचाहटों के बाद। वह उसकी पोशाक के बारे में उल्लेख किए जाने को भी निरुत्साहित करता था। अब वह शहर के लोगों से बातचीत करने में आनाकानी करने लगा था।

Question 4.
What kind of intimacy did Hagberd and Bessie share?
हैगबर्ड तथा बैसी परस्पर किस प्रकार की घनिष्ठता रखते थे?
Answer:
They met on the grounds of unreserved confidence. They talked across the railings of backyard and front garden. Hagberd talked with Bessie paternally, reasonably and arrogantly. He gave a loving wink now and then. Bessie liked his winks. She laughed at them. She expressed her pleasurable emotion by a faint blush.

वे खुले विश्वास के धरातल पर मिलते थे । वे पीछे के अहातों तथा सामने के बगीचों के बीच लगी लोहे की रेलिंग के आरपार बात करते थे। हैगबर्ड बैसी से पिता-सदृश भाव से, तर्क सम्मत तरीके से तथा दम्भ के साथ बात करता था। यदा-कदा वह प्रेम भरी दृष्टि से पलक झपका दिया करता था। बैसी उसकी पलकें झपकाने को पसंद करती थी। वह इस बात पर हँस देती थी। वह उसकी प्रसन्नता की भावना को हल्की-सी मुख पर लालिमा से व्यक्त कर देती थी।

Question 5.
How did Hagberd enter the profession of a coasting-skipper? Did he like his job? Why?
हैगबर्ड जहाज का कप्तान किस प्रकार बना? क्या उसने अपने व्यवसाय को पसंद किया? क्यों?
Answer:
His bankrupt father, who was a farmer, hurriedly sent him to a coasting-skipper to be apprenticed. Thus he came to remain on the coast all his sea life. He never liked this job. He liked to be on the land, with its houses, and its people sitting quietly round their fire-sides.

उसके दिवालिया पिता ने, जो एक किसान था, उसे जल्दी से एक जहाज के कप्तान के पास काम सीखने के लिए भेज दिया। इस प्रकार वह नाविक के रूप में पूरे जीवन भर किनारे पर ही रहा। उसने इस व्यवसाय को कभी भी पसंद नहीं किया। वह जमीन पर ही रहना पसंद करता था जहाँ घर हों और लोग आग के चारों ओर शांतिपूर्वक बैठे हों।

Question 6.
How did Hagberd react if Bessie tried to cast doubt on his hope?
हैगबर्ड की प्रतिक्रिया किस प्रकार की होती थी जब बैसी उसकी आशा पर संदेह करने का प्रयास करती थी?
Answer:
Bessie knew that Hagberd’s hope for his son’s return was doomed to disappointment. She pitied him for it. If she ever tried to cast a doubt on his hope, Hagberd lost all control over himself. He seemed to go mad and a look of horror and incredulity came on his face. However, he soon recovered from that emotion.

बैसी जानती थी कि हैगबर्ड का उसके पुत्र के वापस लौटने की आशा का निराशा में बदलना तय था। उसे इस कारण उस पर दया आती थी। अगर वह कभी उसकी आशा पर संदेह करने का प्रयास करती थी तो हैगबर्ड स्वयं पर से सारा नियंत्रण खो देता था। वह पागल होता दिखाई देता था तथा उसके चेहरे पर आतंक एवं अविश्वास का भाव आ जाता था। किन्तु वह इस भावना से जल्दी ही उबर जाता था।

Question 7.
What was Hagberd’s opinion of the people of Colebrook?
कोलबुक के लोगों के बारे में हैगबर्ड का मत क्या था?
Answer:
In a bit of temper, Hagberd once confided to Bessie that the people of the town were certainly queer. Their way of looking at you and talking to you was queer. He had never got on with anyone in the place. He didn’t like the people. He said he would not have left his own country if he had not be sure that his son had taken a fancy to Colebrook.

क्रोध के एक दौर में हैगबर्ड ने एक बार बैसी को एक गोपनीय बात कही। उसने कहा कि इस शहर के लोग निश्चित रूप से विचित्र थे। उनका तुम्हारी ओर देखने तथा बात करने का तरीका विचित्र था। उसकी उस स्थान में किसी के साथ भी नहीं निभती थी। वह वहाँ के लोगों को पसंद नहीं करता था। उसने कहा कि वह उसके क्षेत्र को छोड़कर कभी नहीं आता अगर वह आश्वस्त नहीं होता कि उसके पुत्र को कोलबुक अच्छा लग गया था।

Question 8.
What does Harry say to Bessie about his parents?
हैरी उसके माता-पिता के बारे में बैसी को क्या कहता है ?
Answer:
Harry talks about his parents and recalls the memories of experiences with them. He says that his father, Captain Hagberd, has always been a domestic character. He remembers how his father used to go about looking very sick three days before he had to leave home on one of his trips. Also, they drove him away by their high-handedness.

हैरी उसके माता-पिता के बारे में बात करता है और उनके साथ उसके अनुभवों की यादों को बताता है। वह कहता है कि उसका पिता, कैप्टन हैगबर्ड, हमेशा से एक घरेलू व्यक्ति रहा है। वह याद करता है कि किस प्रकार उसका पिता समुद्र की यात्रा पर जाने से तीन दिन पहले से बहुत बीमार दिखाई देता हुआ घूमता रहता था। इसके अतिरिक्त, उसके माता-पिता ने उसे अत्यधिक सख्ती बरतकर घर छोड़ने पर बाध्य कर दिया था।

Question 9.
What does Harry tell Bessie about his father’s tyranny towards him?
हैरी बैसी को उसके पिता के उसके प्रति अत्याचार के बारे में क्या बताता है ?
Answer:
Harry says that he was not hard-hearted to have run away. His father did not care for his interests. He wanted to make a lawyer’s clerk of him just to please himself. His father considered himself master in his own house. His mother egged him on supposedly for her son’s good. He was beaten up black and blue the day he left home.

हैरी के अनुसार घर से चले जाने के कारण उसे कठोर दिल का व्यक्ति नहीं कहा जा सकता। उसका पिता उसकी रुचियों की परवाह नहीं करता था। वह उसे एक वकील का मुंशी बना देना चाहता था, स्वयं की खुशी के लिए। उसका पिता स्वयं को घर का सर्वेसर्वा समझता था। हैरी की माँ भी पिता को उसके विरुद्ध भड़काती थी, शायद अपने पुत्र के हित को सोचते हुए। उसे उस दिन भी बुरी तरह पीटा गया था जिस दिन उसने घर छोड़ा था।

Long Answer Type Questions :

Question 1.
Prove the appropriateness of the title of the story ‘Tomorrow’.
‘Tomorrow’ कहानी के शीर्षक का औचित्य सिद्ध कीजिए।
Answer:
The story is about Captain Hagberd, a coasting-skipper. His son, Harry Hagberd had run away to sea some sixteen years ago. The old Hagberd madly believed that he would return one day. He gave advertisements in newspapers to get any information. Gradually, he weaved a myth that he would return ‘tomorrow’.

He leaves his native town of Colechester and settles down in another town, Colebrook, to wait for his son. But the son, Harry, hated him from the core of his heart. He does return one day but is not recognized by the old man because his son had to return tomorrow’ only. The title of the story is thus appropriate.

यह कहानी कैप्टन हैगबर्ड के बारे में, जो एक जहाज का कप्तान हैं । उसका पुत्र, हैरी हैगबर्ड सोलह वर्ष पूर्व भागकर समुद्र पर चला गया। बूढ़ा हैगबर्ड पागलपन की सीमा तक मानता था कि वह एक दिन वापस आएगा। वह अखबारों में विज्ञापन देता था ताकि कोई सूचना पा सके। धीरे-धीरे उसने एक मनगढंत कथा बना ली कि वह ‘कल’ आएगा।

वह उसके मूल स्थान, कोलचेस्टर, को छोड़कर एक अन्य शहर कोलबुक में रहने लगता है, पुत्र का इन्तजार करने के लिए। लेकिन हैरी उससे तहे दिल से नफरत करता था। एक दिन वह वापस आता भी है किन्तु उसका बूढ़ा पिता उसे नहीं पहचानता है क्योंकि उसके पुत्र को तो ‘कल’ आना था। इस प्रकार कहानी का शीर्षक उपयुक्त है।

Question 2.
‘Tomorrow’ by Joseph Conrad is a story of deluded hopes. Elucidate.
‘Tomorrow’ शीर्षक से जोजफ कॉरेड की कहानी भ्रमित आशाओं की कहानी है। स्पष्ट कीजिए।
Answer:
“Tomorrow is a story of deluded hopes. It is a story of a retired coasting-skipper whose son has run away for sixteen long years. His son hates him for his tyrannical behaviour towards him. He can never imagine of returning home. However, Captain Hagberd thinks that his son will return some day.

This becomes his obsession. Hagberd settles down in another town to wait for him and keeps on giving advertisements in newspapers to get a clue about him. Whatever he does, he does for his son and postpones everything till “tomorrow that never comes.

प्रस्तुत कहानी ‘Tomorrow’ एक भ्रमित आशाओं की कहानी है। यह सेवानिवृत्त एक जहाज के कप्तान की कहानी है जिसका पुत्र सोलह वर्षों से घर छोड़कर चला गया है। उसका पुत्र उससे उसके प्रति अत्याचार से परिपूर्ण व्यवहार के कारण नफरत करता है । वह घर लौटने की कल्पना भी नहीं कर सकता।

किन्तु कैप्टन हैगबर्ड सोचता है कि उसका पुत्र एक दिन वापस लौटेगा। यह उसकी मनोग्रस्तता बन जाती है। हैगबर्ड उसका इन्तजार करने के लिए दूसरे शहर में बस जाता है तथा अखबारों में पुत्र का सुराग पाने के लिए विज्ञापन देना जारी रखता है। वह जो कुछ भी करता है, उसके पुत्र के लिए करता है और प्रत्येक कार्य को ‘कल’ तक के लिए स्थगित कर देता है। यह ‘कल’ कभी नहीं आता है।

Question 3.
The story ‘Tomorrow’ is full of dramatic irony. Explain.
‘Tomorrow’ कहानी नाटकीय विडम्बनाओं से भरी है। समझाइए।
Answer:
The story ‘Tomorrow’ is full of dramaticirony. Captain Hagberd waits eagerly for his long lost son, Harry Hagberd. He advertises for him in newspapers, but to no avail. He starves himself for his sake and buys things to make his life comfortable on his return.

The son hates him and has nothing to do with him. He doesn’t want to be oppressed and enslaved by his tyrannical father. Hagberd is obsessed with his son’s return tomorrow’, which never comes. Bessie’s dreams of a comfortable homely life with Harry are also shattered. Thus the story is full of ironical events. What happens in the story is just opposite of what the characters expect.

कहानी Tomorrow’ नाटकीय विडम्बना से भरी हुई है। कैप्टन हैगबर्ड उसके लम्बे समय से गायब पुत्र, हैरी हैगबर्ड, की बड़ी उत्सुकता के साथ प्रतीक्षा करता है। वह उसके लिए अखबारों में विज्ञापन देता रहता है, किन्तु कोई परिणाम नहीं निकलता। वह उसके खातिर स्वयं को भूखा रखता है और उसके लौटने पर उसके जीवन को आरामदायक बनाने के लिए वस्तुएँ खरीदता है। उसका पुत्र उससे नफरत करता है तथा उससे कोई वास्ता नहीं रखता है।

वह नहीं चाहता कि उसका अत्याचारी पिता उसे गुलाम बना ले और उसका दमन करे । हैगबर्ड उसके पुत्र की ‘कल’ होने वाली वापसी से मनोग्रस्त हो जाता है किन्तु यह दिन कभी नहीं आता है। बैसी के आरामदायक, घरेलू जीवन से संबंधित स्वप्न भी बिखर जाते हैं । इस प्रकार यह कहानी विडम्बनात्मक घटनाओं से भरी है। इस कहानी में जो कुछ होता है वह पात्रों की अपेक्षाओं के विपरीत होता है।

Question 4.
Captain Hagberd is an eccentric person. How?
कैप्टन हैगबर्ड एक सनकी व्यक्ति है। कैसे?
Answer:
Captain Hagberd is an eccentric person. His hopes for the return of his son are exaggerated and abnormal. He has come to live in the town of Colebrook to wait his son, who, he thinks, has taken a fancy for that place. Ironically, it was the high-handed treatment of his son by Hagberd that drove him out and kept him away from him. Again, the son has been away so long that any hope of his return will never be fulfilled. He forms a self-enclosed system of belief about his son and prepares a homecoming which sustains him. He also starts believing in a “tomorrow’ that never comes.

कैप्टन हैगबर्ड एक सनकी व्यक्ति है। उसके पुत्र के वापस लौटने को लेकर उसकी आशाएँ अतिशयोक्तिपूर्ण एवं असाधारण हैं । वह कोलबुक शहर में आकर रहने लगता है ताकि उसके पुत्र की प्रतीक्षा कर सके। वह सोचता है कि उसके पुत्र को यह शहर अच्छा लग गया है। बिडम्बना यह है कि हैगबर्ड का उसके पुत्र के प्रति अत्याचार से भरा व्यवहार ही उसे घर से निकल जाने को बाध्य कर देने के लिए उत्तरदायी था

और इसी व्यवहार ने उसे हैगबर्ड से दूर रखा था। पुनश्च, पुत्र इतने समय से दूर रह चुका है कि उसके वापस आने की कोई भी आशा कभी भी पूरी नहीं हो सकती। हैगबर्ड उसके पुत्र के बारे में एक कपाट-बंद धारणा बना लेता है और उसके घर लौटने की तैयारी कर लेता है। यही धारणा एवं तैयारी उसे जीवित बनाए रखती है। वह आने वाले ‘कल’ में विश्वास करने लगता है जो कभी नहीं आता है।

Question 5.
Draw a character-sketch of Bessie Carvil.
बैसी कार्विल का चरित्र-चित्रण कीजिए।
Answer:
Bessie Carvil is the daughter of Josiah Carvil, the blind, retired boat-builder. The father and daughter are tenants of Captain Hagberd. Bessie is a meek and submissive girl who has to lead a miserable life on account of her bad-tempered, abusive and lazy father. She silently suffers at the hands of her father whom she serves day and night.

In return, she is shouted at and abused by her father. She pities Hagberd for his abnormal and exaggerated hopes about his son’s return. However, she starts believing in them herself and thinks of an escape from her miserable existence by marrying Harry Hagberd. Her hopes are shattered when Harry meets her. She wins old Hagberds confidence by her amiable nature.

बैसी कार्विल जोसीहा कार्विल की पुत्री है । जोसीहा कार्विल एक अंधा, सेवानिवृत्त नाव बनाने वाला है। पिता एवं पुत्री कैप्टन हैगबर्ड के किराएदार हैं । बैसी एक शांत रहने वाली एवं भोली-भाली लड़की है जिसे उसके बदमिजाज, गाली-गलौच करने वाले तथा आलसी पिता के कारण दुःखभरा जीवन बिताना पड़ता है। वह चुपचाप उसके पिता के हाथों पीड़ा झेलती रहती है। वह उसके पिता की रात-दिन सेवा करती है। बदले में पिता उस पर चिल्लाता रहता है और उसे गालियाँ देता रहता है।

वह हैगबर्ड पर उसके पुत्र के वापस लौटने के बारे में उसकी अतिशयोक्तिपूर्ण एवं असाधारण आशाओं के लिए दया करती है। किन्तु वह स्वयं भी इन आशाओं में विश्वास करने लगती है और हैरी हैगबर्ड से विवाह कर उसकी पीड़ा भरी जिन्दगी से बच निकलने के बारे में सोचती रहती है। उसकी आशाएँ तब बिखर जाती हैं जब हैरी उससे मिलता है । वह बूढ़े हैगबर्ग का विश्वास भी अपनी मैत्रीपूर्ण प्रकृति के कारण जीत लेती है।

Question 6.
Draw character-sketch of Josiah Carvil.
जोसिहा कार्विल का चरित्र-चित्रण कीजिए।
Answer:
Josiah Carvil-blind Carvil, the retired boat-builder-was a man of evil repute as a domestic tyrant. He lived with his daughter, Bessie, who was a submissive, meek girl. Carvil became blind in the midst of his flourishing business. He rented a cottage that belonged to Captain Hagberd.

Carvil was an ill-tempered, abusive, cruel and selfish man who tortured his daughter, Bessie, without any reason. She served him night and day, fulfilled his demands for the smallest things and endured abuse and ill-treatment without a word of prostest. Carvil made himself helpless beyond his affliction, to enslave her better. He made Bessie’s life a virtual hell.

जोसीहा कार्विल-अंधा कार्विल, सेवानिवृत्त नाव-निर्माता-एक कुख्यात व्यक्ति था, घर के अत्याचारी के रूप में। वह उसकी पुत्री बैसी के साथ रहता था जो एक भोली-भाली एवं चुप रहने वाली लड़की थी। कार्विल उसके फलते-फूलते व्यापार के दौरान ही अंधा हो गया था। उसने हैगबर्ड से एक झोंपड़ी किराए पर ले ली थी।

कार्विल एक बदमिजाज, गाली-गलौच करने वाला, निर्दयी तथा स्वार्थी व्यक्ति था जो उसकी पुत्री बैसी को अकारण ही उत्पीड़ित करता रहता था। वह उसकी रात-दिन सेवा करती थी तथा विरोध में बिना एक शब्द भी बोले गाली-गलौज एवं दुर्व्यवहार को सहन कर लेती थी। कार्विल ने उसके कष्ट से भी अधिक स्वयं को विवश बना लिया था ताकि वह उसकी पुत्री को गुलामी में अधिक अच्छे तरीके से जकड़ सके। उसने बैसी के जीवन को साक्षात् नर्क बना दिया था।

Question 7.
What kind of person was Harry Hagberd?
हैरी हैगबर्ड किस प्रकार का व्यक्ति था?
Answer:
Harry Hagberd was Captain Hagberd’s son. He had run away from home some sixteen years ago. The reasons he gave for this act of his were genuine. He revealed to Bessie that his father and mother drove him out by their high-handed treatment. His father wanted to make a lawyer’s clerk of him, whereas he wanted to go to sea.

His mother nagged him for being idle. His father beat him badly for not obeying his commands. He had, therefore, to leave home. He did many kinds of jobs-from being a sailor to being a boundary-rider, to being a sheep-shearer etc. He hated his father and could never think of living with him. He said he wanted to enslave him. Harry seemed happy with his life of a vagabond.

हैरी हैगबर्ड कप्तान हैगबर्ड का पुत्र था। वह करीब सोलह वर्ष पूर्व घर से भाग गया था। उसके इस कृत्य के जो कारण उसने दिए वे सच्चे थे। उसने बैसी के समक्ष इस बात को प्रकट किया कि उसकी माँ तथा पिता ने अत्याचार से भरे व्यवहार से उसे घर से बाहर निकल जाने को बाध्य कर दिया था। उसका पिता उसे एक वकील का मुंशी बना देना चाहता था जबकि हैरी समुद्र पर जाना चाहता था। उसकी माँ उसे निठल्ला होने के ताने मारती थी।

उसका पिता उसे आदेश नहीं मानने पर बुरी तरह पीटता था। इसलिए उसे घर छोड़कर जाना पड़ा। उसने कई प्रकार के व्यवसाय किए। वह नाविक से लेकर सीमा पर घुड़सवारी करने वाला, तथा भेड़ों की ऊन काटने वाला आदि बना। वह उसके पिता से नफरत करता था और उसके साथ रहने की बात सोच भी नहीं सकता था। वह बोला कि वह (उसका पिता) उसे गुलाम बनाना चाहता था। हैरी उसके बेघर, घुमक्कड़ के जीवन से संतुष्ट दिखाई देता था।

Seen Passages

Passage-1

He was unwilling now to talk with the townsfolk. He had earned for himself the reputation of an awful skinflint, of a miser in the matter of living. He mumbled regretfully in the shops, bought inferior scraps of meat after long hesitations, and discouraged all allusions to his costume.

It was as the barber had foretold. For all one could tell, he had recovered already from the disease of hope; and only Miss Bessie Carvil knew that he said nothing about his son’s return because with him it was no longer “next week’, ‘next month’, or even next year’. It was tomorrow’.

Questions :

  1. What changes came over him?
    उसमें क्या परिवर्तन हुए?
  2. What reputation did he earn? How?
    उसने कैसी प्रतिष्ठा अर्जित की? कैसे?
  3. Was he recovered from the disease of hope? Why?
    क्या वह आशा करने की बीमारी से मुक्त हो गया? क्यों?
    Answers :
  4. He was not interested any more in talking with the townsfolk. Also, he earned for himself the reputation of miser.
    उसकी शहर के लोगों से बात करने में कोई रुचि न रही। उसने स्वयं के लिए कंजूस होने की प्रतिष्ठा भी अर्जित कर ली।
  5. He earned reputation of being an awful skinflint. He mumbled regretfully and bought inferior meat.
    उसने भयानक कंजूस की प्रतिष्ठा अर्जित कर ली। वह पश्चाताप से बड़बड़ाता और घटिया मांस खरीदता था।
  6. No, he wasn’t cured of the disease of hope. Unlike before he simply said tomorrow’ when asked about his son’s return.
    नहीं, वह आशा करने की बीमारी से ठीक नहीं हुआ। पूर्व के विपरीत, उसके पुत्र की वापसी के बारे में पूछे जाने पर वह केवल ‘कल’ कह देता था।

Passage-2.

Captain Hagberd had been one of those sailors that pursue their calling within sight of land. One of the many children of a bankrupt farmer, he had been apprenticed hurriedly to a coasting-skipper, and had remained on the coast all his sea life.

It must have been a hard one at first: he had never taken to it; his affection turned to the land, with its innumerable houses, with its quiet lives gathered round its firesides. Many sailors feel and profess a rational dislike for the sea, but his was a profound and emotional animosity-as if the love of the stabler element had been bred into him through many generations.

Questions :

  1. What kind sailor was Captain Hagberd?
    कैप्टन हैगबर्ड किस प्रकार का नाविक था?
  2. How did Captain Hagberd come to be a sailor?
    कैप्टन हैगबर्ड किस प्रकार एक नाविक बन गया?
  3. What kind of attitude did Hagberd have towards the sea?
    समुद्र के प्रति हैगबर्ड का दृष्टिकोण किस प्रकार का था?
    Answers :
  4. Hagberd hated to go far in the sea. He wanted to sail near the land. He liked domestic comforts more than being on the sea.
    हैगबर्ड को समुद्र में दूर तक जाने से नफरत थी। वह जमीन के निकट ही जहाज चलाना पसंद करता था। उसे घरेलू सुख-सुविधाओं से समुद्र पर होने की अपेक्षा अधिक लगाव था।
  5. His father, being a bankrupt farmer, sent him hurriedly’ to a coasting-skipper as an apprentice. This is how he became a sailor.
    उसका पिता एक दिवालिया किसान था, इसलिए उसने जल्दी से हैगबर्ड को एक जहाज के कप्तान के पास प्रशिक्षु के रूप में भेज दिया। इस प्रकार वह एक नाविक बन गया।
  6. He was emotionally hostile to the sea and always liked to be near the land.
    वह भावनात्मक रूप से समुद्र के प्रति शत्रुता से भरा हुआ था और हमेशा जमीन के निकट ही रहना पसंद करता था।

Passage-3.

With her sewing. Captain Hagberd, in his canvas suit, leaned on a spade. He dug every day in his front plot. He turned it over and over several times every year, but was not going to plant anything “just at present’. To Bessie Carvil he would state more explicitly: ‘Not till our Harry comes home tomorrow.’ And she had heard this formula of hope so often that it only awakened the vaguest pity in her heart for that hopeful old man.

Everything was put off in that way, and everything was being prepared likewise for tomorrow. There was a boxful of packets of various flower-seeds to choose from, for the front garden. He will doubtless let you have your say about that, my dear,’ Captain Hagberd intimated to her across the railing

Questions:

  1. Why did Hagberd not plant anything in the dug up plot?
    खोदे जा चुके जमीन के टुकड़े पर हैगबर्ड पौधे क्यों नहीं लगाना चाहता था?
  2. What awakened pity in Bessie’s heart and why?
    बैसी के हृदय में किस बात से दया जाग्रत हो जाती थी तथा क्यों?
  3. Why didn’t Hagberd sow flower-seeds from the packets?
    हैगबर्ड फूलों के बीजों से भरे पैकिटों से बीज लेकर क्यों नहीं बोता था?
    Answers :
  4. He didn’t want to plant anything in the dug up plot until Harry came tomorrow.’
    वह खोदे जा चुके. जमीन के टुकड़े पर कुछ भी बोना तब तक नहीं चाहता था जब तक कि कल हैरी नहीं आ जाए।
  5. Bessie did not believe in the myth that Harry would come one day. Therefore, she pitied the old man for his delusion about his son’s return.
    बैसी इस काल्पनिक कहानी में विश्वास नहीं करती थी कि एक दिन हैरी आएगा। इसलिए उसे उस वृद्ध व्यक्ति पर उसके भ्रम को लेकर दया आती थी जो उसे उसके पुत्र के वापस आने के बारे में था।
  6. He didn’t sow the flower-seeds because was expecting his son to come back and saw the seeds in consultation with his Bessie, who was to be his wife.

वह फूलों के बीज इसलिए नहीं बोता था क्योंकि वह उसके पुत्र के लौटने तथा उन बीजों को बैसी की सलाह से बोने की अपेक्षा करता था। बैसी को उसकी पत्नी बनना था।

Passage-4.

‘Bessie! my hat!’ old Carvil bellowed out suddenly. He had been sitting under the tree mute and motionless, like an idol of some remarkably monstrous superstition. He never opened his mouth but to howl for her, at her, sometimes about her; and then he did not moderate the terms of his abuse.

Her system was never to answer him at all; and he kept up his shouting till he got attended to till she shook him by the arm, or thrust the mouthpiece of his pipe between his teeth. He was one of the few blind people who smoke. When he felt the hat being put on his head he stopped his noise at once. Then he rose, and they passed together through the gate.

Questions :

  1. What was special about the howling of old Carvil?
    बूढ़े कार्विल के हूकने में क्या विशिष्टता थी?
  2. What was Bessie’s system to deal with his abusive father?
    गाली-गलौज करने वाले उसके पिता से निपटने का बैसी का तरीका क्या था?
  3. When did he stop shouting?
    वह चिल्लाना कब बन्द करता था?
    Answers :
  4. He used to bellow out suddenly. He opened his mouth only for howling and did not stop until he got attented to.
    वह अचानक हूकने लगता था। वह केवल हूकने के लिए ही मुँह खोलता था और तब तक नहीं रुकता था जब तक उसके लिए उपस्थित नहीं हो जाता।
  5. Bessie’s system was never to answer him at all. She did what was asked to her to do by her father.
    बैसी का तरीका यह था कि वह उसकी बात का उत्तर कभी नहीं देती थी। वह पिता द्वारा बताए गए काम को कर दिया करती थी।
  6. When Bessie came and attended to him, he stopped shouting.
    जब बैसी आती और उसका काम करने लगती थी, तब वह चीखना बंद कर देता था।

Passage-5.

He advertised still in the Sunday papers for Harry Hagberd. These sheets were read in foreign parts to the end of the world, her informed Bessie. At the same time he seemed to think that his son was in England-so near to Colebrook that he would of course turn up ‘tomorrow’.

Bessie, without committing herself to that opinion in so many words, argued that in that case the expense of advertising was unnecessary; Captain Hagberd had better spend that weekly half-crown on himself. She declared she did not know what he lived on. Her argumentation would puzzle him and cast him down for a time.

‘They all do it,’ he pointed out. There was a whole column devoted to appeals after missing relatives. He would bring the newspaper to show her.

Questions :

  1. Which opinion did Bessie not commit herself to?
    बैसी किस विचार से सहमत नहीं थी?
  2. What did Bessie suggest to Captain Hagberd?
    बैसी ने कैप्टन हैगबर्ड को क्या सुझाव दिया?
  3. What argument did Hagberd give in favour of giving advertisements?
    हैगबर्ड ने विज्ञापन देने के पक्ष में क्या तर्क दिया?
    Answers :
  4. She didn’t commit herself to Hagberd’s opinion that Harry was in England and that he would turn up tomorrow.’
    वह हैगबर्ड के इस मत से सहमत नहीं थी कि हैरी इंग्लैण्ड में था और कि वह ‘कल’ आएगा।
  5. She suggested that Hagberd should spend the weekly half-crown on himself instead of wasting it on advertisements.
    उसने सुझाव दिया कि साप्ताहिक रूप से खर्च की जाने वाली आधे क्राउन की रकम को विज्ञापनों पर बरबाद करने की अपेक्षा वह इसे स्वयं पर खर्च करे।
  6. He argued that all those whose relatives were missing gave advertisements in news papers.
    उसने तर्क दिया कि वे सभी लोग जिनके संबंधी गायब थे, अखबारों में विज्ञापन देते थे।

Passage-6.

For all their intimacy, which had lasted some years now, they had never talked without a fence or a ralling between them. He described to her all the splendours accumulated for the setting-up of their housekeeping, but had never invited her to an inspection. No human eye was to behold them till Harry had his first look.

In fact, nobody had ever been inside his cottage: he did his own housework, and he guarded his son’s privilege so jealously that the small objects of domestic use he bought sometimes in the town were smuggled rapidly across the front garden under his canvas coat. Then, coming out, he would remark apologetically, ‘It was only a small kettle, my dear.’

Questions :

  1. Why did Hagberd not allow anyone to see the things that he had gathered for his son’s housekeeping?
    हैगबर्ड किसी को भी उन वस्तुओं को देखने की इजाजत क्यों नहीं देता था जिन्हें उसने उसके पुत्र की गृहस्थी के लिए एकत्र किया था?
  2. What privilege of his son did Hagberd guard?
    हैगबर्ड उसके पुत्र के किस विशेषाधिकार की रक्षा करता था?
  3. How did he guard his son’s privilege?
    उसके पुत्र के विशेषाधिकार की रक्षा वह किस प्रकार किया करता था?
    Answers :
  4. He was so mad after his son that he thought it was he (his son) who should look at those things first before anyone did. वह उसके पुत्र के बारे में इतना पागल हो गया था कि वह सोचता था कि वह उन वस्तुओं को किसी अन्य व्यक्ति की अपेक्षा पहले देखे।
  5. He considered it a privilege of his son to have his first look of the things Hagberd had purchased for his son’s housekeeping.
    वह इस बात को उसके पुत्र का विशेषाधिकार मानता था कि वह उन वस्तुओं को सर्वप्रथम देखे जिन्हें हैगबर्ड ने उसकी गृहस्थी के लिए खरीदी थीं।
  6. He almost smuggled the goods into his cottage under his canvas coat. This is how he guarded his son’s privilege.
    वह सामान को चोरी-चोरी झोंपड़ी में उसके पाल के कपड़े से बने कोट के नीचे छिपाकर लाता था। इस प्रकार वह उसके पुत्र के विशेषाधिकार की रक्षा करता था।

Passage-7.

‘Bessie! Bessie! Bessie!’ howled old Carvil inside. “Bessie!-my pipe!’ That fat blind man had given himself up to a very lust of laziness. He would not lift his hand to reach for the things she took care to leave at his very elbow. He would not move a limb; he would not rise from his chair, he would not put one foot before another in that parlour

(where he knew his way as well as if he had his sight) without calling her to his side and hanging all his atrocious weight on her shoulder. He would not eat one single mouthful of food without her close attendance. He had made himself helpless beyond his affliction, to enslave her better. She stood still for a moment, setting her teeth in the dusk, then turned and walked slowly indoors.

Questions :

  1. How did old Carvil show his laziness?
    बूढ़ा कार्विल उसके आलसीपन को किस प्रकार दर्शाता था?
  2. Why had Carvil made himself helpless beyond his affliction?
    कार्विल ने स्वयं को उसके कष्ट से अधिक निस्सहाय क्यों बना लिया था?
  3. How did Bessie behave?
    बैसी कैसा व्यवहार करती थी?
    Answers :
  4. Old Carvil was an epitome of laziness. He did not do even those tasks that he could do such as, moving a limb, rising from his chair or eat his food without Bessie’s help.
    बूढ़ा कार्विल आलस्य की प्रतिमूर्ति था। बैसी की मदद के बिना वह उन कामों को भी नहीं करता था जिन्हें वह कर सकता था, जैसे हाथ या पैर को हिलाना, कुर्सी से उठना या भोजन को खाना।
  5. Old Carvil took an undue advantage of his blindness to enslave Bessie better.
    बूढ़ा कार्विल उसके अंधत्व का अनुचित लाभ उठाता था ताकि वह बैसी को उसका बेहतर गुलाम बना सकता।
  6. She remained unruffled and did what her father told her to do.
    वह शान्त बनी रहती थी और उसके पिता के आदेश को मान लेती थी।

Passage-8.

“You have a hard heart, I am afraid,’ she sighed.
‘What for? For running away? Why! he wanted to make a lawyer’s clerk of me-just to please himself. Master in his own house; and my poor mother egged him on-for my good, I suppose. Well, then-so long; and I went. No, I tell you: the day I cleared out, I was all black and blue from his great fondness for me.

Ah! he was always a bit of a character. Look at that shovel, now. Off his chump? Not much. That’s just exactly like my dad. He wants me here just to have somebody to order about. However, we two were hard up and what’s five quid to him-once in sixteen hard years?’

Questions:

  1. What did his father want to make of him and why?
    उसका पिता उसे क्या बनाना चाहता था और क्यों?
  2. What happened on the day he cleared out?
    उस दिन क्या हुआ जिस दिन वह घर से चला गया था?
  3. What did his father want to have him for?
    उसके पिता उसे क्यों रखना चाहता था?
    Answers :
  4. His father wanted to make a lawyer’s clerk of him to please himself.
    उसका पिता उसे एक वकील का मुंशी बनाना चाहता था ताकि स्वयं को प्रसन्न कर सके।
  5. He was beaten up badly by his father the day he cleared out.
    उसे उसके पिता द्वारा बुरी तरह पीटा गया था जिस दिन उसने घर छोड़ा था।
  6. He wanted to have him there just to have somebody to order about.
    वह उसे इसलिए रखना चाहता था कि ताकि कोई व्यक्ति ऐसा हो जिस पर वह हुक्म चला सके।

Tomorrow Summary and Translation in Hindi
About the Author-

Joseph Conrad, born of polish parents in the Russian Ukraine, began a seafaring life in 1874. He learnt English at the age of 21, and in 1886 became a British citizen. His famous works include The Nigger of the Narcissus (1898), Lord Jim (1900) and Nostromo (1904).

1
His greatest skill lies in his capacity to evoke an atmosphere through careful attention to detail. He uses the method of story within a story to convey his sense of the inexplicable inner character of life and the shifting quality of the mind. All Conrad’s charac- Joseph Conrad ters suffer from a sense of isolation.

लेखक के बारे में-

जोजेफ़ कॉरेड ने रूस के यूक्रेन में पोलैंड निवासी माता-पिता के घर में जन्म लिया तथा 1874 में नाविक के रूप में जीवन शुरू कर दिया। उन्होंने 21 वर्ष की उम्र में अंग्रेजी भाषा को सीखा और 1886 में वे ब्रिटेन के नागरिक बन गए। उनकी प्रसिद्ध रचनाएँ हैं- द निगर ऑफ द नारसीसस् (1898), लोर्ड जिम (1900) तथा नोस्ट्रोमो (1904)। उनकी महानतम् चतुराई एक वातावरण के सृजन करने में निहित है। ऐसा वह सावधानीपूर्ण विस्तृत वर्णन करने की क्षमता के माध्यम से कर पाते हैं। वह कहानी के भीतर कहानी का तरीका अपनाते हैं ताकि जीवन के न-समझाए जा सकने वाले आन्तरिक गुण तथा मन की परिवर्तनशीलता को व्यक्त किया जा सके। कॉरेड के सभी पात्र अकेलेपन की भावना से पीड़ित रहते हैं।

About the Story-

The story “Tomorrow” by Joseph Conrad has three main characters in it-Captain Hagberd, his son Harry and a young girl, Miss Bessie Carvil. Retired skipper Hagberd goes from Colchester to Coalbrook in search of his son Harry, who ran away to sea. Failing to find him, Hagberd settles there. He confides his hopes for his son’s return (which he endlessly hopes will be “to-morrow’) to Bessie, the daughter of his next door neighbour and tenant.

Hagberd has been a reluctant sailor, rarely out of sight of land. He makes elaborate preparations for Harry’s return, and assumes he will be a suitable husband for Bessie. She looks after her cantankerous father, who mistreats her. Hagberd advertises in the newspapers for infomation about his son, and meanwhile furnishes the cottage for his arrival, letting nobody see the results.

One day a man arrives at the cottage claiming to have news of Hagberd’s son-but the old skipper refuses to hear it, claiming that he has all the information he needs, as his son will be returning soon. The man turns out to be his son Harry, and Bessie explains how he has kept up hopes with the myth of ‘to-morrow’.

Harry tells Bessie how his father mistreated him as a child. Harry tried to get inside Hagberd’s cottage, but his father will not let anybody in. He goes into Bessie’s cottage instead and recounts scenes from his childhood, including satirical accounts of his father boasting about going on long sea voyages, when it was just short trips up the coast to south shields for coal.

Harry reveals himself as a sailor adventurer who has been on a drinking spree in London and come to his father’s house in the hope of borrowing some money. He tells Bessie romantic tales of prospecting for gold in Mexico and mixing with gambucinos who live independent carefree lives.

Bessie tells him of Hagberd’s plans and preparations for his son-but Harry rejects them scornfully. He does not want to be pinned down to domestic life. Hagberd meanwhile shouts down from upstairs next door, warning Bessie not to deal with the stranger, but to wait for Harry who will be there the next day.

He threatens that if Harry does not marry her when he turns up, he will cut him out of his will and leave Bessie all his money. This alerts Harry to the full extent of his father’s plans. He borrows money from Bessie, showers her with kisses, and leaves.

कहानी के बारे में-

प्रस्तुत कहानी “Tomorrow” जिसे जोजेफ़ कॉरेड ने रचा है, में तीन प्रमुख पात्र हैं-कैप्टन हैगबर्ड, उसका पुत्र हैरी तथा एक युवती, मिस बैसी कार्विल। जहाज का सेवानिवृत्त कप्तान हैगबर्ड कोलचेस्टर से कोलबुक नामक जगह पर उसके पुत्र हैरी की तलाश में जाता है, जो समुद्र पर काम करने के लिए भाग गया होता है। उसे ढूंढ पाने में असफल रहने पर हैगबर्ड वहीं बस जाता है। उसके पुत्र के वापस लौटकर आने के बारे में उसकी आशाओं को वह गोपनीयता के विश्वास के साथ बैसी को बताता रहता है। वह अनन्त रूप से आशा धारण किए रहता है कि उसका पुत्र “कल” लौटकर आने वाला है । बैसी उसके पड़ोसी तथा किराएदार की पुत्री है।

हैगबर्ड एक अनिच्छुक नाविक रहा है जो मुश्किल से ही जमीन से दूर रहा है। वह हैरी की वापसी के लिए विस्तृत रूप से तैयारियां करता है । वह यह भी मानता है कि हैरी बैसी के लिए एक उपयुक्त पति सिद्ध होगा। बैसी उसके बदमिजाज एवं झगड़ालू पिता की देखभाल करती है। उसका पिता उसके साथ दुर्व्यवहार करता है। हैगबर्ड उसके पुत्र के बारे में जानकारी के लिए अखबारों में विज्ञापन देता रहता है और इस दौरान उसकी झोंपड़ी को उसके आगमन की आशा में फर्नीचर आदि से सुसज्जित करता रहता है और किसी को भी इन प्रयासों के परिणामों को देखने की इजाजत नहीं देता है।

एक दिन एक व्यक्ति हैगबर्ड की झोंपड़ी पर यह दावा करते हुए आता है कि उसके पास हैगबर्ड के पुत्र के बारे में समाचार है किन्तु वृद्ध नाविक (हैगबर्ड) उसकी बात सुनने से मना कर देता है, यह दावा करते हुए कि उसके पास वह सब जानकारी है जिसकी उसे आवश्यकता है, क्योंकि उसका पुत्र जल्दी ही वापस आ रहा होगा। वह व्यक्ति उसका पुत्र हैरी ही होता है और बैसी उसे बताती है कि किस प्रकार उसके पिता ने उसकी आशाओं को “कल”के भ्रम से जीवित रखा है।

हैरी बैसी को बताता है कि किस प्रकार उसके पिता ने उसके साथ, जब वह बालक था, दुर्व्यवहार किया था। हैरी ने हैगबर्ड की झोंपड़ी में भीतर जाने का प्रयास किया, लेकिन उसका पिता किसी को भी अन्दर आने की इजाजत नहीं देता था। हैरी उसके पिता की झोंपड़ी में जाने के बजाय बैसी की झोंपड़ी में चला जाता है और उसके बचपन की घटनाओं का वर्णन करता है जिसमें उसके पिता के झूठे दंभ का व्यंग्यात्मक वर्णन भी शामिल होता है जिसके अनुसार उसके पिता लम्बी-लम्बी समुद्री यात्राओं पर जाने का झूठा दम भरते थे, जबकि ये केवल साऊथ शील्ड्स नामक जगह के लिए छोटी-छोटी यात्राएँ किनारे के साथ-साथ कोयले को प्राप्त करने हेतु की जाती थीं।

हैरी स्वयं को एक नए एवं उत्तेजक कार्यों के शौकीन नाविक के रूप में प्रकट करता है जो लंदन में शराब की मौजमस्ती मनाता रहा है और वह उसके पिता के साथ कुछ धन उधार लेने की उम्मीद से आया है। वह बैसी को मैक्सिको में सोने की खोज के बारे में रोमांचक कहानियां सुनाता है तथा गैम्बुसिनो लोगों से उसके मिलने-जुलने की बातें कहता है । ये लोग स्वतंत्र, चिन्तामुक्त जिंदगियां जीते हैं ।

बैसी हैरी को उसके पिता हैगबर्ड द्वारा उसके लिए बनाई गई योजनाओं तथा तैयारियों के बारे में बताती है, किन्तु हैरी इन्हें नफरत के साथ ठुकरा देता है । वह घरेलू जिंदगी में फंसना पसंद नहीं करता है। इसी दौरान हैगबर्ड पास के मकान की ऊपरी मंजिल से नीचे की ओर चिल्लाता है, बैसी को यह चेतावनी देते हुए कि वह उस अजनबी से कोई व्यवहार न करे, बल्कि हैरी का इंतजार करे जो अगले ही दिन (कल) आने वाला है।

वह धमकी देता है कि अगर वह यहां आने के बाद बैसी से शादी नहीं करेगा तो वह (हैगबर्ड) उसे उसकी वसीयत से बाहर कर देगा और उसका सारा धन बैसी को दे देगा। यह बात हैरी को उसके पिता की योजनाओं के बारे में सब कुछ प्रकट कर देती है। वह (हैरी) बैसी से धन उधार लेता है, उस पर चुम्बनों की बौछार करता है और वहां से चला जाता है।

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद

What was known of Captain…………..as far as Colebrook knew. (Pages 39-40)

कठिन शब्दार्थ-Circumstances (सकम्स्टन्स्ज़ ) = facts and events, परिस्थितियां। communicative (कम्यूनिकटिव्) = willing to talk and share ideas, बातचीत करने तथा विचारों के आदान-प्रदान का इच्छुक। morbid (मॉबिड्) = unpleasant, अप्रिय, अरुचिकर। repute (रिप्यूट्) = fume, ख्याति, प्रतिष्ठा । tyrant (टाइरन्ट्) = a cruel person, अत्याचारी व्यक्ति । tea-cloths (टी-क्लॉथ्स्) = old cloths for drying plates, knives, forks etc., प्लेटों, छुरियों तथा कांटे आदि को पोंछने के कपड़े। blue rags (ब्लू रैग्ज़) = cloths for cleaning, सफाई करने के फटे-टूटे कपड़े।

rots (रॉट्ज्) = cause to decay, सड़ाना-गलाना । privilege (प्रिवलिज्) = special right, विशेष अधिकार। unthrifty (अन्थिफ्टि) = careless in spending, लापरवाह, खर्चीला। cultivate (कल्टिवेट्) = grow, पौधों को उगाना। extravagantly (इक्स्ट्रै वगटिल) = unusually, असाधारण रूप से। exotic clime (इग्जॉटिक् क्लाइम) = from a different clime, अलग तरह की जलवायु का । hale (हेल्) = strong and healthy, मजबूत एवं स्वस्थ । rank (रैङ्क) = too luxuriant, gross, घास-फूस की तरह अधिकता में उगे हुए। weeds (वीड्ज़) = wild plants, जंगली पाये। uncouth (अन्कूथ) = awkward, boorish, असभ्य, भौंडा। wilderness (विल्डनस्) = confused mass of things, अस्त-व्यस्त पड़ी वस्तुओं का ढेर।

हिन्दी अनुवाद- कैप्टन हैगबर्ड के बारे में कोलबुक नामक छोटे से बन्दरगाह में जो कुछ जाना जाता था, वह उसके ठीक पक्ष में नहीं था। वह इस स्थान का निवासी नहीं था। वह यहाँ बसने हेतु जिन परिस्थितियों में आया था वे बिल्कुल भी रहस्यमय नहीं थीं-वह उस समय इन परिस्थितियों को लेकर बहुत मुखर था। किन्तु ये परिस्थितियां अत्यधिक अप्रिय एवं अनुचित अवश्य थीं। स्पष्टतः उसके पास थोड़ा धन था क्योंकि उसने जमीन का एक टुकड़ा खरीदा था, और उसने भद्दी पीली ईटों से बनी दो झोंपड़ियां सस्ते में बनवाली थीं।

उनमें से एक में वह स्वयं रहता था तथा दूसरी को उसने जोसीह कार्विल को किराए पर दे दी थी। अन्धा कार्विल एक सेवानिवृत्त नाव बनाने वाला था, एक बुरी प्रतिष्ठा का व्यक्ति, एक घर के तानाशाह के रूप में। इन झोंपड़ियों की एक दीवार साझा थी, जिन्हें लोहे की एक रेलिंग अलग करती थी, उनके सामने के बगीचों को अलग करती हुई।

उनके पीछे के बगीचों को लकड़ी से बनी बाड़ अलग करती थी। मिस बैसी कार्विल को इजाजत मिली हुई थी-जैसे कि यह उसका अधिकार हो- कि वह रसोईघर की चीजें, जैसे प्लेटें, छुरियां एवं कांटे आदि को पोंछने के पुराने कपड़े के टुकड़े, सफाई के पुराने कपड़ों के चिथड़े, अथवा कोई चोगा को सुखाने को लकड़ी की बाड़ पर डाल सकती थी।

‘ऐसा करने से लकड़ी सड़-गल जाती है, बैसी, मेरी बच्ची,’ कैप्टन ठंडेपन के साथ टिप्पणी करता, बाड़ की उसकी तरफ से, जब भी वह बैसी को इस विशेषाधिकार का प्रयोग करते देखता। बैसी एक ऊंचे कद की लड़की थी, बाड़ नीची थी, और वह उसकी कोहनियों को इस पर फैला सकती थी।

उसके हाथ कपड़ों की धुलाई के कारण लाल रंग के होते, किन्तु उसकी आगे की भुजाएँ सफेद एवं सुडौल थीं, और वह उसके पिता के मकान-मालिक की ओर चुपचाप देखती रहती- एक ऐसी चुप्पी के साथ जिसे जानबूझकर अपनाया गया था और जिसमें जानकारी, अपेक्षा एवं आकांक्षा का भाव रहता था।

‘ऐसा करना लकड़ी को सड़ा देता है, ‘कैप्टन हैगबर्ड ने कहा। यही एक अपव्ययता, लापरवाही की आदत तुम्हारे अन्दर है, जिसे मैं जानता हूं। तुम तुम्हारी झोंपड़ी के पिछवाड़े में कपड़े सुखाने के लिए एक रस्सी क्यों नहीं बांध लेती?’ मिस कार्विल इस बात का कोई उत्तर नहीं देती थी- वह नकारात्मकता से केवल सिर हिला देती थी।

उसकी झोंपड़ी के छोटे-से पिछवाड़े में कुछ पत्थरों से घिरी काली मिट्टी की छोटी-छोटी क्यारियां थीं, जिनमें सादे फूल, जिन्हें उगाने का समय उसे मिलता था, किसी तरह असाधारण रूप से बढ़े हुए दिखाई दे रहे थे, जैसे कि वे अलग तरह की जलवायु के हों, और कैप्टन हैगबर्ड का सीधा, मजबूत एवं स्वस्थ शरीर जो सिर से पैरों तक जहाज के पाल के कपड़े से ढका हुआ रहता था,

घुटनों तक बढ़े घास-फूस तथा लम्बे जंगली पौधों से बाड़ की उसकी तरफ से बाहर निकलता था। वह प्रकट होता, उस असाधारण कपड़े के रंग एवं कठोरता के साथ जिसमें उसने स्वयं को लपेट रखा था- ‘कुछ समय के लिए’ उसकी धीमी टिप्पणी होती इस विषय में कही गई किसी भी बात के प्रत्युत्तर में ।

वह प्रकट होता, एक ऐसे व्यक्ति के रूप में जिसे ग्रेनाइट पत्थर से कठोरता एवं दृढ़ता मिली हो और वह अस्त-व्यस्त उगी घास-फूस एवं जंगली पौधों के बीच खड़ा हो जाता, एक ऐसे स्थान में जो बिलियर्ड खेलने के लिए बने कमरे के लिए भी पर्याप्त न होता। पत्थर से बने व्यक्ति की आकृति, जिसका सुन्दर, लाल रंग का चेहरा था, एक नीली घूमती हुई आंख थी और एक बड़ी सफेद दाढ़ी थी, जो उसकी कमर तक पहुंचती थी और जिसे, जहां तक सारा कोलबुक जानता था, कभी काटा-छांटा नहीं गया था।

Seven years before, he had………tear himself away from Colebrook. (Pages 40-41)

कठिन शब्दार्थ- Chaffing (चाफिङ्) = teasing, चिढ़ाते हुए। custom (कस्टम्) = support froma customer, ग्राहक द्वारा समर्थन। wit (विट्) = a man of quick intelligence, हाजिर जवाब व्यक्ति। insolently (इन्सलट्ल) = lacking respect, अवमाननापूर्वक, ढीठता के साथ। cynically (सिनिक्लि ) =without having faith, दोषदर्शिता के साथ। Davy Jones’s locker (डेवि जोन्स लॉकर) = the bottom of the ocean, समुद्र के पेंदे में।

smoker (स्मोक्र) = train, रेलगाड़ी। hoax (होक्स्) = a trick, झांसापट्टी। sardonic (सॉडॉनिक्) = full of bitter mockery, निरादरपूर्ण, उपहासात्मक । gusto (गस्टो) = zest, enjoyment, आनंद, मजा। plodding (प्लॉडिङ्) = making slow progress, धीमी, बोझिल। perseverance (पसिविअरन्स) = firmness, दृढ़ता। dangling (डैलिङ्) = pursuing, पीछे-पीछे घूमता हुआ। slunk off (स्ल ङ्क् ऑव्) = moved slowly and quietly, चुपचाप चला गया।

हिन्दी अनुवाद-सात वर्ष पूर्व उसने गंभीरता से उत्तर दिया था, ‘अगले महिने, मैं सोचता हूं।’ यह उत्तर उसने जाने-माने स्थानीय वाक्चतुर कोलबुक के नाई को दिया था जो उसकी ग्राहकी को पक्का करने हेतु चिढ़ाने का प्रयास कर रहा था। वह नाई ढीठपन के साथ बन्दरगाह के निकट स्थित न्यू इन नामक सराय के शराबखाने में बैठा था, जहाँ कैप्टन एक औंस तम्बाकू खरीदने के लिए घुसा था।

खरीदी गई वस्तु का मूल्य चुकाने के बाद, जो तीन आधे-पेंस था और जिन्हें उसने रूमाल के कोने से निकाला था और इस रूमाल को वह उसकी बांह के कफ में लेकर चलता था, कैप्टन हैगबर्ड बाहर चला गया। ज्योंही दरवाजा बन्द हुआ, नाई हँसने लगा। ‘बूढ़ा व्यक्ति तथा युवा दोनों, बांह में बांह डाले, घूमते हुए जल्दी ही मेरी दुकान पर दाढ़ी बनवाने आएंगे। दर्जी को, नाई को तथा मोमबत्ती बनाने वाले को काम पर लगा दिया जाएगा। कोलबुक के बढ़िया पुराने दिन लौट रहे हैं, जरूर लौट रहे हैं। पहले “अगले सप्ताह” होता था अब “अगले महिने” होने लगा है, और इस प्रकार-जल्दी ही “अगले बसंत” होगा, जितना मैं जानता हूं।’

एक अजनबी को खाली-खाली मुस्कराहट के साथ सुनते हुए देखकर नाई ने स्पष्ट किया, निरादरपूर्वक टांगें फैलाते हुए, कि यह अजीब बूढ़ा हैगबर्ड, जो सेवा-निवृत्त जहाज का कैप्टन है, उसके एक पुत्र के वापस लौटने का इंतजार कर रहा था। लड़के को घर से चले जाने को बाध्य कर दिया गया था, उसे इसका आश्चर्य नहीं है। लड़का भागकर समुद्र पर चला गया था और तब से उसके बारे में कुछ भी नहीं सुना गया था। समुद्र के दे पर आराम कर रहा है, अब तक।

वह बूढ़ा आदमी दौड़ता हुआ तीन वर्ष पूर्व कोलबुक आया था, काला, चमकीला कपड़ा धारण किए हुए (तब उसकी पत्नी कुछ समय पहले ही चल बसी थी)। वह थर्ड क्लास, धूम्रपान की इजाजत वाले, रेल के डिब्बे से बाहर आया था जैसे कि शैतान उसके पीछे पड़ा था। और, एकमात्र चीज जो उसे यहां लाई थी, वह थी एक चिट्ठी-सम्भवतया एक चकमा देने हेतु लिखी गई चिट्ठी।

किसी मजाकिया ने उसे एक जहाज पर काम करने वाले व्यक्ति के बारे में लिख दिया था, जिसका नाम कुछ इसी तरह का था, और जो कोलबुक अथवा उसके आस-पास किसी लड़की के साथ घूम रहा था। ‘मजे की बात है, है न?’ बूढ़ा व्यक्ति लंदन के अखबारों में विज्ञापन दे रहा था, उसके पुत्र हैरी हैगबर्ड के लिए और संभावित सूचना के बदले पुरस्कार का प्रस्ताव दे रहा था।

और वह नाई उपहासात्मक आनंद के साथ वर्णन करता रहता कि किस प्रकार शोकग्रस्त व्यक्ति की वेशभूषा में वह अजनबी व्यक्ति ग्रामीण क्षेत्र को खोजता दिखाई देता था, गाड़ियों में बैठकर, पैदल चलते हुए, प्रत्येक व्यक्ति को विश्वास में लेते हुए, सभी सरायों तथा शराबखानों पर जाते हुए, चारों ओर मीलों तक, लोगों को सड़कों पर प्रश्नों के साथ रोकते हुए, खाइयों में भी झांकते हुए। पहले तो अधिकतम उत्तेजना के साथ और फिर बोझिल प्रकार की लगन के साथ, जो धीमी पड़ती जाती थी, वह ऐसा करता।

और वह आपको स्पष्ट रूप से यह भी नहीं बताता था कि उसका पुत्र कैसा दिखाई देता था। उस नाविक को दो व्यक्तियों में से एक माना गया जिन्होंने इमारती लकड़ी के जहाज को छोड़ा था, और वह उसे किसी लड़की के पीछे घूमता देखा गया था। लेकिन वृद्ध व्यक्ति ने उसका वर्णन एक चौदह वर्षीय लड़के के रूप में किया था- ‘एक चतुर- दिखाई देने वाला, ऊंचे हौंसले का लड़का।’ और जब लोग उसकी बात पर केवल मुस्करा देते तो वह उसके ललाट को उलझनभरे तरीके से रगड़ता, नाराज दिखाई देते हुए वहां से चले जाने के पहले। उसे यद्यपि कोई नहीं मिला, किसी व्यक्ति का चिन्ह भी नहीं-विश्वास करने योग्य कुछ भी नहीं सुना, लेकिन वह कोलबुक से चले जाने के लिए कभी भी समर्थ न हो सका।

‘It was the shock…………..was the barber’s firm opinion. (Page 42)

कठिन शब्दार्थ-Insight (इन्साइट) = mental penetration, मानसिक तीक्ष्णता। inducement (इन्ड्यू स्मन्ट) = motive, प्रलोभन, प्रोत्साहन। craze (क्रेज्) = a strong interest, धुन, पागलपन, सनक । establishment (इस्टैब्लिश्मन्ट) = institution, प्रतिष्ठान । judicious (जूडिशस्) = sensible, carefully considered, बुद्धिमतापूर्ण, सुविचारित।

हिन्दी अनुवाद-‘इस निराशा का सदमा ही था, शायद, जो उसकी पत्नी के चले जाने के शीघ्र बाद ही उसे लगा था, जिसने उसे उस समय पागल कर दिया था,’ नाई ने सुझाव दिया, महान मनोवैज्ञानिक समझ के साथ। कुछ समय बाद उस वृद्ध व्यक्ति ने सक्रिय खोज का त्याग कर दिया। स्पष्टतः उसका पुत्र कहीं जा चुका था; लेकिन वह वृद्ध व्यक्ति ने इन्तजार करने हेतु स्वयं स्थापित कर लिया। उसका पुत्र कभी कोलबुक में आया था, उसके जन्मस्थान से अधिक इस स्थान को चाहते हुए। इसके पीछे अवश्य कोई कारण रहा होगा, वृद्ध व्यक्ति सोचता प्रतीत होता था, कोई बहुत शक्तिशाली प्रलोभन (आकर्षण), जो उसे वापस पुनः कोलबुक लेकर आएगा।

‘हा, हा, हा! अरे, बिल्कुल, कोलब्रुक। और कहां? यही तो एकमात्र स्थान है यू.के. (यूनाइटेड किंगडम) में आपके लम्बे समय से खोए हुए पुत्रों के लिए। इसलिए उसने कोलचेस्टर के उसके पुराने घर को बेच दिया,और यहां वह चला आया। ठीक, यह एक पागलपन है, किसी भी अन्य पागलपन की तरह । यह पागलपन मुझे तो नहीं पकड़ सकता, अगर मेरे छोकरों में से कोई भी चला जाए। मेरे घर में तो आठ लड़के हैं।’ नाई उसकी मानसिक शक्ति का प्रदर्शन उस हँसी के बीच कर रहा था जिसने शराबघर को हिला दिया था। यद्यपि यह बड़ी अजीब बात है, इस तरह की चीज (पागलपन) का होना, वह (नाई) स्वीकार करता, बेहतर बुद्धिमता वाले व्यक्ति की स्पष्टवादिता के साथ, कि ऐसा पागलपन पकड़ बनाता प्रतीत होता था।

उदाहरण के लिए, उसका (नाई का) प्रतिष्ठान बन्दरगाह के निकट था और जब कभी भी कोई नाविक बाल कटवाने अथवा दाढ़ी बनवाने आता- अगर वह कोई अजनबी व्यक्ति होता तो नाई सीधे-सीधे यह सोचे बिना नहीं रहता, ‘हो सकता है, वह बूढ़े हैगबर्ड का पुत्र ही हो!’ वह (नाई) इस बात के लिए स्वयं पर हँसता। यह एक शक्तिशाली पागलपन था। उसे याद था कि एक समय पूरा कस्बा इस पागलपन से भरा था। लेकिन वह (नाई) बूढ़े आदमी के बारे में अभी तक आशान्वित था।

वह उस बूढ़े आदमी का उपचार बुद्धिमतापूर्ण तरीके से उसे चिढ़ाकर करेगा। वह इस उपचार की सफलता पर निगाह रखे हुए था। अगले सप्ताह-अगले महिने-अगले वर्ष । जब बूढ़ा कप्तान उसके पुत्र की वापसी को अगले वर्ष तक के लिए स्थगित करने लगेगा तब वह इस बारे में कुछ भी और अधिक न कहने के निकट होगा। (अर्थात् बूढ़े व्यक्ति का उपचार पूरा हो रहा होगा)। अन्य मामलों में वह (बूढ़ा व्यक्ति) पूरी तरह समझदार है, इसलिए इस मामले में भी वह अवश्य समझदार हो जाएगा। ऐसा नाई का दृढ़ मत था।

Nobody had ever contradicted …It was ‘tomorrow’. (Page 43)

कठिन शब्दार्थ-Contradicted (कॉन्ट्रडिक्ड ) = to say the opposite of, खंडन करता था। grey (ग्रे) = colour between black and white, खिचड़ी बाल, स्लेटी। majestic (मजेस्टिक्) = impressive, शानदार। tarred (टा(र)ड) = a viscous liquid, एक चिपचिपा द्रव। twine (ट्वाइन्) = twisted together, गूंथी हुई रस्सी, धागा आदि। assumed (अस्यूमट्) = put on, पहन लिया। sensation (सेन्सेश्न्) = great excitement, अत्यधिक उत्तेजना, सनसनी।

scared (स्केअड) = frightened, भयभीत। startled (स्टाट्ल्ड ) = shocked or frightened, चौंका हुआ। evasive (इवेसिव्) = trying to avoid, टालमटोल वाला। disregarded (डिस्प्रिगाड्ड्) = took no notice of, उपेक्षा की गई। infirmity (इन्फमटि) = weakness caused by old age, बुढ़ापे के कारण कमजोरी। canvas (कैनवस्) = strong cloth for sails, bags etc., पाल बनाने का मजबूत कपड़ा। quaint (क्वेन्ट्) = unusual, अनूठा ।

furtively (फटिव्लि ) = secretly, लुके-छिपे, चुपचाप । of yore (ऑव् योर) = of long past, अतिप्राचीन समय का । diffident (डिफिडन्ट्) = not having confidence, आत्मविश्वासहीन । compromising (कॉम्प्रमाइजिङ्) = putting in a bad situation, अशोभनीय स्थिति में डालने वाली | oddity (ऑडटि) = unusual thing, अटपटी बात, वस्तु । skinflint (स्किन्फ्लिन्ट) = a miser, कंजूस व्यक्ति। allusions (अलूश्न्ज् ) = indirect hints, संकेत, इशारे।

हिन्दी अनुवाद-किसी ने भी उसकी बातों को गलत नहीं ठहराया; उसके स्वयं के बाल भी उस समय से तब तक स्लेटी हो चुके थे, और कैप्टन हैगबर्ड की दाढ़ी बिल्कुल सफेद हो गई थी, और इसने (दाढ़ी ने) पाल के मजबूत कपड़े से बने सूट पर शानदार तरीके से लटकना शुरू कर दिया था। इस सूट को उसने स्वयं के लिए चुपचाप गुंथे हुए, टार लगे धागे की मदद से बना लिया था। और उसने इसे अचानक पहन लिया था तथा एक सुबह घर से बाहर चला आया था, जबकि इससे पूर्व की शाम उसे शोक-वस्त्रों में घर जाते हुए देखा गया था।

उसके इस कृत्य ने मुख्य बाजार में सनसनी फैला दी थी। दुकानदार उनके दरवाजों पर आ गए थे, घरों के भीतर के लोग उनके टोप उठाकर बाहर की ओर दौड़ने लगे थे। यह ऐसी हलचल थी जिसके बारे में वह स्वयं भी अजीब प्रकार से आश्चर्यचकित दिखाई दिया था और बाद में भयभीत। लेकिन आश्चर्य कर रहे लोगों के प्रश्नों का उसका एकमात्र उत्तर था, चौंकाने वाला एवं टालमटोल करने वाला, ‘अभी के लिए’।

वह सनसनीखेज घटना काफी समय पहले ही भुला दी गई थी और कैप्टन हैगबर्ड स्वयं अगर भुलाया नहीं गया तो भी उसकी उपेक्षा की जाने लगी थी-जो रोज दिखाई देने का दण्ड था-क्योंकि सूर्य की भी उपेक्षा कर दी जाती है जब तक वह उसकी शक्ति को महसूस नहीं करा देता। कैप्टन हैगबर्ड की चाल-ढाल कोई भी वृद्धावस्था की कमजोरी नहीं दिखाती थी; वह उसके पाल के कपड़े से बने सूट में तनकर चलता था, एक अनूठी, आकर्षक आकृति के साथ।

केवल उसकी आँखें अतीत के समय की अपेक्षा अधिक लुके-छिपे रूप से घूमती थीं। घर से बाहर उसके तौर-तरीकों ने उत्तेजित हो जाने वाली सावधानीपूर्ण निगरानी को खो दिया था। वे चकराए हए एवं आत्मविश्वासहीन हो जाते थे जैसे कि उसे संदेह हुआ हो कि उसमें कोई-न-कोई हल्की-सी कमजोरी थी, कोई शर्मिंदा करने वाली अटपटी चीज़। किन्तु वह यह खोजने में असमर्थ रहा कि आखिर वह गलत चीज़ क्या हो सकती थी।

अब वह कस्बे के लोगों से बातचीत करने में भी अनिच्छा रखने लगा था। उसने स्वयं के लिए अत्यधिक कंजूस व्यक्ति होने की प्रतिष्ठा अर्जित कर ली थी, जीवन जीने के मामले में कंजूस होने की । वह पश्चाताप के साथ दुकानों पर बड़बड़ाता था, काफी समय तक हिचकिचाने के बाद मांस के घटिया टुकड़े खरीद लेता था और उसके वस्त्र के बारे में सभी संकेतों को निरुत्साहित करता था। वैसा ही हुआ जैसा नाई ने भविष्यवाणी करते हुए कहा था।

केवल इतना ही कहा जा सकता था, वह आशा रखने की बीमारी से पहले ही मुक्त हो चुका था। और केवल मिस बैसी कार्विल जानती थी कि वह उसके पुत्र की वापसी के बारे में कुछ नहीं कहता था, क्योंकि अब वह ‘अगले सप्ताह’, ‘अगले महिने’ अथवा ‘अगले वर्ष’ भी नहीं बोलता था। अब था, ‘आने वाला कल’।

In their intimacy of backyard…………..through many generations. (Pages 43-44)

कठिन शब्दार्थ-Intimacy (इन्टिमसि) = close personal relationship, घनिष्ठता। paternally (पटन्लि) = like a father, पिता-सदृश तरीके से। dogmatically (डॉग्मैटिक्लि ) = arrogantly, हठपूर्वक। arbitrariness (आबिट्ररिनस्) = not based on any reason or plan, मनमानापन। unreserved (अब्रिजव्ड्) = without limit, अबाध, सम्पूर्ण। authenticated (ऑथेन्टिकेट्ड्) = certified, प्रमाणित किया गया।

discomposed (डिस्कम्पोज्ड्) = disturbed, परेशान, असहज। incredulous (इन्क्रेड्यलस्) = unbelieving, अविश्वासी। vulgarity (वल्गैरटि) = impoliteness, अभद्रता, अशिष्टता। bankrupt (बैप्ट्) = not having enough money to pay debts, दिवालिया। apprenticed (अप्रेन्टिस्ट्) = sent for a training, प्रशिक्षण दिलाया गया। animosity (ऐनिमॉसटि) = strong dislike, शत्रुता।

हिन्दी अनुवाद-झोंपड़ियों के पिछवाड़े तथा सामने के बगीचे की उनकी घनिष्ठता में वह (कैप्टन हैगबर्ड) बैसी से बात किया करता, पिता-सदृश, तर्कसम्मत तरीके से तथा हठीलेपन एवं थोड़े मनमानेपन के साथ। वे अबाध आत्मविश्वास के आधार पर मिलते थे, जिसका प्रमाणीकरण यदा-कदा प्रेमभरी पलक की झपक द्वारा कर दिया जाता था। मिस कार्विल इन्हीं पलकों की झपकों की अपेक्षा करने लगी थी। प्रारंभ में तो पलकों के झपकाए जाने ने उसे असहज किया था : बेचारा बूढ़ा पागल था। (ऐसा वह सोचती थी)।

बाद में तो वह पलकों के झपकाए जाने पर हँसना सीख गई थी : उस व्यक्ति में कोई दोष नहीं था। (वह सोचने लगी थी)। अब बैसी को एक स्वाभाविक, आनन्ददायक, अविश्वास-से-भरी अनुभूति का अहसास होता था जो चेहरे पर हल्की-सी लालिमा से व्यक्त हो जाता था। वह बिल्कुल भी अशिष्टता से आँख नहीं मिचमिचाता था। उसका पतला लाल चेहरा सुडौल मुड़ी हुई नाक के साथ एक प्रकार की विशिष्टता रखता था। इतना ही नहीं, जब भी वह बैसी से बात करता था तो वह अधिक स्थिर एवं बुद्धिमतापूर्ण नजर से देखा करता था। एक सुंदर, मजबूत, अत्यधिक सम्माननीय व्यक्ति जो सफेद दाढ़ी से युक्त है। आप उसकी उम्र के बारे में विचार नहीं करते हैं । उसका पुत्र, वह पुष्टि करता था, आश्चर्यजनक रूप से उससे समानता रखता था, उसकी प्रारंभिक शैशव-अवस्था से ही।

अगली जुलाई के महिने में हैरी इकत्तीस वर्ष का होगा, उसने घोषणा की। यह एक सुशील, बुद्धिमान लड़की से शादी करने हेतु सही उम्र है। एक ऐसी लड़की जो अच्छे घर की कद्र समझती हो। वह एक उच्चमनोवृत्ति रखने वाला लड़का था। उच्च-मनोवृत्ति रखने वाले पतियों को नियंत्रण में रखना सरलतम होता है। ये तुच्छ, नरम दिखने वाले छोकरे, जिनके मुंह में मक्खन भी नहीं पिघलता प्रतीत होता है, किसी स्त्री को पूरी तरह से दुखी बना देते हैं ।

और घर जैसी कोई चीज़ भी नहीं है- आग के निकट की जगह- एक अच्छी छत (मकान): सभी प्रकार के मौसम में गर्म बिस्तर से बाहर न निकलना। क्यों, मेरी प्रिय बच्ची?’ कैप्टन हैगबर्ड उन नाविकों में से एक था जो उनके व्यवसाय को जमीन के आस-पास (जहां से जमीन दिखाई देती रहे) ही करना ठीक मानते हैं। एक दिवालिया किसान के कई बच्चों में से एक, हैगबर्ड को एक जहाज के कप्तान के पास जल्दबाजी में प्रशिक्षण के लिए भेज दिया गया था और वह उसके नाविक-जीवन में किनारे पर ही रहा।

यह चीज़ उसके लिए प्रारंभ में अवश्य कठिन रही होगी : उसे यह कभी पसंद नहीं थी। उसका प्रेम तो जमीन की ओर ही जाता था। उस जमीन की ओर जिस पर असंख्य मकान होते हैं, जिस पर शांतिप्रिय लोग आग के स्थान के चारों ओर इकट्ठे होकर बैठते हैं। कई नाविक लोग समुद्र के प्रति एक तर्कसम्मत नापसंदगी रखते हैं, लेकिन हैगबर्ड की नापसंदगी तो एक जबरदस्त एवं भावनात्मक शत्रुता थी- लगता था स्थायित्व के प्रेम का तत्व उसके भीतर कई पीढियों से पोषित हो रहा था।

‘People did not know what……….intimated to her across the railing. (Pages 44-45)

कठिन शब्दार्थ-Expounded (इक्स्पाउन्ड्ड ) = explained, स्पष्ट करता था। convicts (कॉन्विक्ट्ज् ) = guilty of a crime, अपराधी, कैदी। voyages (वॉइइज्) = expedition to a distance, लम्बी यात्रा । collier (कॉलिअर) = a coal-ship, कोयला ढोने वाला जहाज । galleys (गैलिज़) = long flat ships rowed by criminals or slaves, गुलामों अथवा अपराधियों द्वारा चप्पुओं से चलाये जाने वाले जहाज।

soundings = a part of a body of water where a hand sounding line will reach bottom, समुद्र का कम गहराई वाला हिस्सा। fathoms (फैदम्ज) = a measure of the depth of water, पानी गहराई की माप (6 फीट)।ash (ऐश्) = a type of forest tree, एक प्रकार का जंगली वृक्ष । vaguest (वेगेस्ट) = quite unclear, बिल्कुल अस्पष्ट ।

हिन्दी अनुवाद-‘लोग नहीं जानते कि वे उनके लड़कों को घर में क्यों प्रवेश देते हैं, जब वे उन्हें समुद्र पर काम करने भेज देते हैं ?’ वह बैसी को समझाता। यह तो वैसा ही हुआ कि उन्हें तुरंत अपराधी एवं कैदी बना दिया जाए। (अर्थात् जहाजों में नौकरी करना कैदी बन जाने के समान होता है क्योंकि जिस प्रकार एक कैदी जेल से घर नहीं आ सकता, उसी तरह एक जहाज का कर्मचारी भी जब चाहे घर नहीं लौट सकता)। हैगबर्ड कभी नहीं मानता था कि कोई व्यक्ति समुद्र पर काम करने का आदी भी हो सकता है।

ऐसी जिन्दगी का उबाऊपन बूढ़े होने के साथ अधिक बुरा होता चला जाता है । यह किस प्रकार का व्यवसाय है जिसमें जीवन के आधे से अधिक समय तुम तुम्हारा पैर घर के भीतर नहीं रख सकते? ज्योंही तुम समुद्र पर चले जाते हो, तुम्हारे पास कोई तरीका यह जानने का नहीं होता कि तुम्हारे घर में क्या चल रहा है। कोई व्यक्ति उसे (हैगबर्ड को) दूर की यात्राओं से थका हुआ मान सकता है : और सबसे लम्बी यात्रा उसने कभी की होगी, वह केवल एक पक्ष (दो सप्ताह) चली थी। इस अवधि का अधिकतर भाग जहाज के लंगर डालकर खड़े रहने में बीता, मौसम से बचते हुए। ज्योंही उसकी पत्नी ने एक घर तथा जीने के लिए पर्याप्त धन उत्तराधिकार में पाया

(एक अविवाहित चाचा से, जिसने कोयले के व्यापार में कुछ धन कमा लिया था), त्योंही हैगबर्ड ने ईस्ट कॉस्ट कोलियर (कोयले ढोने वाले जहाज) की कप्तानी छोड़ दी, इस अनुभूति के साथ कि जैसे उसने अपराधियों या गुलामों द्वारा चप्पू चलाने से चलने वाले जहाज से छुट्टी पा ली है। इन सभी वर्षों के बाद वह उसके दोनों हाथों की अंगुलियों पर उन दिनों की संख्या को गिन सकता था जब वह इंगलैंड से दूर गया हो, जहां से इंगलैंड उसे न दिखाई पड़ा हो। उसने कभी नहीं जाना था कि समुद्र की कम गहराई वाले भाग से परे जाना क्या होता है। मैं जमीन से 80 फैदम् से अधिक दूर कभी नहीं रहा हूं।'(एक फैदम् 6 फीट के बराबर होता है)। यह उसके द्वारा हांके जाने वाली डींगों में से एक थी।

बैसी कार्विल इन सब बातों को सुनती थी। उनकी झोंपड़ी के सामने एक छोटा एश (एक प्रकार का जंगली वृक्ष) का पेड़ खड़ा था और ग्रीष्म की दुपहर में वह एक कुर्सी निकालकर घास की जमीन पर ले आती और उसके सिलाई के काम को करने लगती थी। कैप्टन हैगबर्ड उसके पाल के कपड़े से बने सूट को पहने हुए एक फावड़े पर झुका हुआ रहता। वह रोज उसकी झोंपड़ी के सामने की जमीन के टुकड़े पर खुदाई किया करता ।

वह हर वर्ष इसकी मिट्टी को कई बार उलट-पुलट किया करता, लेकिन उसे इसमें कोई भी पौधे नहीं लगाने होते थे अभी वर्तमान में।बैसी कार्विल से वह अधिक स्पष्टता से कहता : ‘तब तक नहीं जब तक हमारा हैरी कल घर न लौट आए।’ और बैसी ने उम्मीद के इस फार्मूले को इतनी बार सुन रखा था कि यह उसके हृदय में केवल अस्पष्टतम दया उस आशान्वित बूढ़े आदमी के प्रति जगा देता।

प्रत्येक चीज इसी प्रकार स्थगित कर दी जाती थी, और इसी प्रकार प्रत्येक चीज को “आने वाले कल” के लिए तैयार किया जाता था। एक बॉक्सभर कई प्रकार के फूलों के बीजों के पैकेट थे जिनमें से चुनाव किया जा सकता था और उन बीजों को सामने के बगीचे में बोया जा सकता था। “निश्चित ही वह (हैरी) इस मामले में तुम्हारी सलाह को मानेगा, मेरी बच्ची,’ कैप्टन हैगबर्ड रेलिंग के दूसरी ओर से बैसी को यह बात कहता।

Miss Bessie’s head remained bowed ………….. you don’t think he is drowned!’ (Pages 45-46) क

ठिन शब्दार्थ-gentle (जेन्ट्ल् ) = not strong, violent or extreme, हल्का ।ravings (रेविङ्ज) = wild talk, अनर्गल बातचीत। wrapped up (रैप्ट अप्) = covered up, लिपटे हुए। sacking (सैकिङ्ग) = rough heavy material, बोरा, बोरी। vertical (वटिक्ल) = going straight up, सीधे खड़े हुए। fragments (फ्रैग्मेन्ट्ज) = a small piece, छोटा टुकड़ा। gleam (ग्लीम्) = a soft light, हल्की चमक।

blinds (ब्लाइन्ड्ज् ) = window-curtains, खिड़की के पर्दे । legitimate (लिजिटिमट्) = reasonable, तर्कसंगत, उचित। steady (स्टेडि) = calm down, शांत करना, स्थिर करना। pretence (प्रिटेन्स्) = pretext, दिखावा, बहाना । salve (सैल्व्) = quiet, assuage, शांत करना । conscience (कॉन्शन्स्) = moral sense of right and wrong, सही तथा गलत की नैतिक भावना, अन्तर्रात्मा। doomed (डूम्ड) = fated, destined, नियत, तय । firmament (फमामन्ट) = sky regarded as vault, आकाशरूपी छत।

हिन्दी अनुवाद-मिस बैसी का सिर उसके सिलाई के काम पर झुका हुआ था। उसने यह सब कई बार सुना था। लेकिन यदा-कदा वह उठ खड़ी होती, उसके सिलाई के सामान को नीचे रख देती और धीरे-धीरे बाड़ के पास आ जाती। इस हल्की-फुल्की अनर्गल बातचीत में एक आकर्षण था। उसने (कैप्टन हैगबर्ड) ने संकल्प कर लिया था कि उसका पुत्र फिर से वापस न चला जाए, उसके लिए तैयार घर के अभाव में। वह (हैगबर्ड) दूसरी झोंपड़ी को सभी प्रकार के लकड़ी के सामान से भर रहा था। बैसी कल्पना करती थी कि यह सामान बिल्कुल नया, ताजी वार्निश से पॉलिश किया हुआ था तथा ढेर लगाकर रख दिया गया था, जैसे कि गोदाम में रखा जाता है ।

बोरों में लिपटी टेबलें होंगी : सिमटे हुए कालीन होंगे जो मोटे तथा खड़े बंडलों के रूप में रखे गए होंगे, जैसे खंभों के टूटे हुए हिस्से हों : उनके ऊपरी सिरे मार्बल से बने खम्बों के सिरों की भांति पर्दे लगी खिड़कियों 87 से आने वाली मद्धिम रोशनी में हल्के से चमकते होंगे। कैप्टन हैगबर्ड हमेशा उसकी खरीदी गई चीजों का वर्णन बैसी के सामने करता था, सावधानी से, जैसे कि वह कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसकी उन चीजों में रुचि उचित एवं तर्कसंगत हो।

उसकी झोंपड़ी के पिछवाड़े का बाड़ा जिसमें अत्यधिक झाड़-झंखाड़ थे, में कंक्रीट बिछाई जा सकती थी……… कल के बाद। ‘हम बाड़ को भी हटा सकते हैं । तुम तुम्हारी कपड़े सुखाने की रस्सी बाहर की ओर बांध सकती हो, तुम्हारे फूलों से बिल्कुल दूर।’ उसने पलक झपकायी, और उसके (बैसी के) चेहरे पर शर्माने की हल्की-सी लालिमा आ गई। यह पागलपन जो बैसी के जीवन में उसके हृदय की दयालु भावनाओं के माध्यम से प्रवेश कर गया था, उचित बारीकियां रखता था।

क्या हो अगर किसी दिन उसका पुत्र लौटकर आ जाए? लेकिन वह बिल्कुल आश्वस्त भी नहीं हो सकती थी कि उसके कोई पुत्र भी था और अगर उसका कहीं अस्तित्व भी हो तो भी वह अत्यधिक लम्बे समय से दूर रहा था। जब कैप्टन हैगबर्ड उसकी बातचीत के दौरान उत्तेजित हो जाता, वह (बैसी) उसे उसकी बातों में विश्वास करने के दिखावे से शांत करती, थोड़ा हँसते हुए ताकि वह स्वयं की अन्तर्रात्मा को मरहम लगा सकती।

केवल एक बार उसने दयावश उसकी उम्मीद, जो निराशा में बदलनी ही थी, पर कुछ संदेह व्यक्त करने की कोशिश की, लेकिन उसकी इस कोशिश के प्रभाव ने उसे बुरी तरह डरा दिया था। अचानक उस व्यक्ति के चेहरे पर आतंक एवं अविश्वास का भाव आ गया, जैसे कि उसने आकाश रूप छत में किसी दरार को आते देख लिया हो। ‘तुम-तुम-तुम यह तो नहीं सोचती कि वह समुद्र में डूब गया है !’

For a moment he seemed…………….with a bad-tempered, surly face. (Pages 46-47)

कठिन शब्दार्थ-Complacent (कम्प्ले स्न्ट्) = feeling too satisfied, अति संतुष्ट, निश्चिंत। cunningly (कनिलि ) = cleverly, चालाकी या धूर्तता से। temper (टेम्प(र)) = anger, क्रोध । taken a fancy (टेकन् ए फैन्सि ) = started liking, अच्छा लगने लगना। humoured (ह्यूम(र)ड्) = kept happy, मन रखती, खुश रखती। crocheting (क्रोशेटिङ्) = making cloth by using wool or cotton and a needle, क्रोशे से कपड़ा बुनते हुए। opulence (आप्यलन्स्) = richness, समृद्धि। mahogany (महॉगनि) = hard dark reddish brown wood, कठोर गहरी लाल-भूरे रंग की लकड़ी।

carroty (कैरटि) = like a carrot,गाजर के जैसे रंग की। vaunted (वॉन्ट्डि ) = praised too much, अत्यधिक प्रशंसा की। propriety (प्रप्राइअटि) = correctness, औचित्य। bestial (बैस्टिअल) = of or like beasts, पाशविक, पशुओं जैसा। strolling (स्ट्रोलिङ्) = walking leisurely, आराम से टहलते हुए। profound (प्रफाउन्ड्) = deep, गहरी । gross (ग्रोस्) = bloated, भारी-भरकम। unwieldy (अन्वील्डि ) = slow or clumsy of movement, बेढंगे तरीके से चलने वाला । surly (सलि) = unfriendly and rude, रूखा एवं उजड्ड।

हिन्दी अनुवाद-एक क्षण के लिए बैसी को लगा कि वह पागल हो जाने वाला था, क्योंकि उसकी साधारण अवस्था में वह बैसी को अधिक समझदार प्रतीत होता था। अन्य लोगों को वह इतना समझदार नहीं लगता था। उस मौके पर उसकी भावना की उग्रता के बाद एक सर्वाधिक पिता-सदृश एवं आत्म-संतुष्टि से भरी भावना उत्पन्न हुई।

‘स्वयं को इतना भयग्रस्त न करो, प्रिय बच्ची,’ वह थोड़ी चतुराई के साथ बोला, ‘समुद्र उसे उसके भीतर नहीं रख सकता। वह समुद्र का नहीं है। हममें से कोई भी हैगबर्ड वंश का व्यक्ति समुद्र का कभी था भी नहीं। मेरी तरफ देखो; मैं नहीं डूबा । इसके अतिरिक्त, वह (हैरी) बिल्कुल भी नाविक नहीं है; और अगर वह एक नाविक नहीं है तो वह अवश्य ही वापस आएगा। उसे वापस आने से रोकने वाली कोई चीज़ नहीं है……।’

उसने टहलना शुरू कर दिया। ‘कल’ बैसी ने फिर कभी कोशिश नहीं की, इस डर से कि वह व्यक्ति (कैप्टन हैगबर्ड) वहीं पर पागल हो जाएगा। वह बैसी पर निर्भर था। वह उस शहर में एकमात्र समझदार व्यक्ति प्रतीत होती थी; और वह स्वयं को स्पष्ट शब्दों में बधाई देता था, बैसी के सामने, कि उसने ऐसी मानसिक रूप से संतुलित एवं ठंडे दिमाग वाली पत्नी उसके पुत्र के लिए प्राप्त कर ली थी।

उसने बैसी को गोपनीय तरीके से बताया था कि उसके अलावा शेष शहरवासी निश्चित ही बड़े अजीब लोग थे। जिस तरह से वे लोग तुम्हारी ओर देखते थे-जिस तरह वे तुमसे बात करते थे। हैगबर्ड तो उस स्थान पर किसी से भी सामंजस्य नहीं रख पाया था। वह लोगों को पसंद नहीं करता था। वह स्वयं के क्षेत्र को नहीं छोड़ता अगर यह स्पष्ट नहीं हुआ होता कि उसके पुत्र को कोलबुक अच्छा लग गया था।

वह शांत रहकर उसे खुश करती थी, बाड़ के पास खड़ी होकर धैर्यपूर्वक उसकी बातें सुनते हुए; आँखें झुकाए हुए क्रोशे से बुनाई करती हुई। उसके अत्यंत श्वेत रंग के चेहरे पर शरमाने के कारण उत्पन्न होने वाली लालिमा मुश्किल से आती थी। उसकी गहरे लाल-भूरे रंग की समृद्ध केशराशि लापरवाही के साथ गुंथी होती थी। उसका पिता स्पष्टतः गाजर के रंग का था।
वह पूर्ण विकसित आकृति तथा एक थका हुआ, ताजगी से रहित चेहरा रखती थी। जब कैप्टन हैगबर्ड एक घर तथा स्वयं के आग के स्थान के चारों ओर बैठने के आनन्दों की आवश्यकता एवं औचित्य को बढ़ा-चढ़ाकर कहता था तब बैसी थोड़ा मुस्करा देती थी, केवल उसके होठों से। बैसी के घरेलू आनन्द केवल उसके जीवन के श्रेष्ठ दस वर्षों के दौरान उसके पिता की सेवा करने तक ही सीमित थे।

एक पशुओं जैसी दहाड़ जो ऊपर की मंजिल की एक खिड़की से आती थी, उनकी बातचीत में बाधा पहुंचा देती थी। वह तुरंत उसके क्रोशे के कार्य को समेटती अथवा सिलाई के कपड़ों की तह लगाती, बिना जरा सी भी जल्दीबाजी का संकेत दिए। इस दौरान उसके नाम की चीखें एवं दहाड़ें जारी रहतीं। इन्हें सुनकर सड़क के दूसरी ओर स्थित समुद्र के किनारे की दीवार पर आराम से जा रहे मछुआरे झोंपड़ियों की ओर देखने के लिए सिर घुमाने को बाध्य हो जाते। वह (बैसी) धीरे-धीरे सामने के दरवाजे से भीतर जाती, और इसके एक क्षण बाद ही एक गहरी शांति छा जाती थी। शीघ्र ही वह पुनः प्रकट होती, एक व्यक्ति को हाथ को पकड़कर लाती हुई जो भारीभरकम था एवं बेढंगे तरीके से चलता था, एक अफ्रीकी दरियाई घोड़े, हिपॉपाटमस् की तरह और जिसका चेहरा एक बदमिजाज़, रूखे एवं उज्जड व्यक्ति जैसा था।

He was a widowed boat-builder………………..passed together through the gate. (Pages 47-48)

कठिन शब्दार्थ-Bellow (बैलो) = to roar like a bull, सांड की तरह दहाड़ना। defy (डिफाइ) = disobey, अवज्ञा करना। ham (हैम्) = meat from a pig’s back leg, सूअर की पिछली टांग का मांस। fiendish (फीन्डिश्) = very unpleasant or cruel, दुष्ट, पैशाचिक। mounds (माउन्ड्स् ) = large piles of earth, मिट्टी के बड़े ढेर। rig (रिग्) = rope that supports a ship’s sails, पाल को बांधने की रस्सी ।

Father Neptune (फाद(र) नेप्ट्यू न) = eighth planet from the sun, वरुण, समुद्र का देवता । deposed (डिपोज्ड्) = removed from power, अपदस्थ किया गया शासक। trident (ट्राइडन्ट्) = a long polelike weapon with three sharp points at one of its ends, त्रिशूल । mute (म्यूट्) = not speaking, चुप। monstrous (मॉन्स्ट्रस्) = shocking and unacceptable, स्तब्ध करने वाला और अस्वीकार्य । moderate (मॉडरेट) = to make less extreme, उग्रता में कमी करना।

हिन्दी अनुवाद-वह एक विधुर, नाव बनाने वाला था जो व्यापार की पूर्ण उन्नत अवस्था में वर्षों पूर्व अंधत्व का शिकार हो गया था। वह उसकी पुत्री के साथ इस प्रकार व्यवहार करता था जैसे कि वही उसके अंधत्व के लाइलाज होने के लिए जिम्मेदार हो । उसे सांड की तरह दहाड़ते सुना गया था, उसके उच्चतम स्वर में, जैसे कि ईश्वर को चुनौती देता हो, कि उसे कोई परवाह नहीं थी। उसने पर्याप्त धन कमा लिया था ताकि वह प्रत्येक सुबह नाश्ते में सूअर की पिछली टांग का मांस एवं अंडे खरीद सके। वह इसके लिए ईश्वर को धन्यवाद देता था, अप्रिय एवं स्तब्धकारी स्वर में, जैसे कि वह गालियाँ दे रहा हो।

कैप्टन हैगबर्ड उसके किराएदार से इतना नकारात्मक रूप से प्रभावित था कि एक बार उसने बैसी को कहा, ‘वह (मि. कार्विल) एक अत्यधिक खर्चीला आदमी है, मेरी प्रिय बच्ची।’ बैसी उस दिन बुनाई कर रही थी, उसके पिता के लिए जुर्राबों की एक जोड़ी को पूरा कर रही थी।

उसके पिता उम्मीद करते थे कि वह जुर्राबों की सप्लाई बनाए रखे, कर्त्तव्यपरायणता के साथ । उसे (बैसी को) बुनाई के काम से नफरत थी, और चूंकि वह एड़ियों वाले हिस्से पर ही थी, उसे उसकी आँखों को बुनाई करने की सलाइयों पर गड़ाए रखनी थी। ‘बिल्कुल, ऐसा नहीं है कि उसे किसी पुत्र को जीवनयापन के साधन देने हैं, ‘ कैप्टन हैगबर्ड बोलता रहा, थोड़ा भाव-शून्य होकर। लड़कियाँ, सच है, इतनी आवश्यकता नहीं रखतीं- हैं-हैं। वे घर से नहीं भागतीं, मेरी बच्ची ।’

‘नहीं’ मिस बैसी से धीमे से कहा। कैप्टन हैगबर्ड ने खुदी हुई मिट्टी के ढेरों के बीच दबी हुई हँसी निकाली। उसके जहाज के पाल में प्रयुक्त रस्से, उसके मौसम की मार खाए चेहरे, उसकी वरुण देवता की जैसी दाढ़ी के साथ वह अपदस्थ समुद्र-देव के समान दिखाई देता था, जिसने त्रिशूल के बदले फावड़ा ले लिया था। ‘और वह अवश्य तुम्हारे लिए यह मानता होगा कि तुम्हें जीवनयापन के साधन पहले ही दिए जा चुके हैं, एक प्रकार से। लड़कियों के मामले में यही श्रेष्ठ बात है। पति लोग………..’ उसने आँख मिचमिचायी। मिस बैसी जो उसकी बुनाई के काम में व्यस्त थी, के चेहरे पर हल्की लालिमा आ गई। ‘बैसी, मेरा टोप!’ बूढ़ा कार्विल अचानक चीखा।

वह पेड़ के नीचे बिना कुछ बोले तथा बिना हिले-डुले बैठा रहा था, किसी स्तब्धकारी, अस्वीकार्य अंधविश्वास की मूर्ति की तरह । वह कभी उसका मुंह नहीं खोलता था, केवल तब को छोड़कर जब उसे चिल्लाकर बैसी को बुलाना होता, उसकी ओर चीखना होता, अथवा उसके बारे में चीखकर बोलना होता, और तब वह उसकी गालियों के शब्दों को कम उग्र बनाने की कोशिश भी न करता।

बैसी का तरीका था, उसकी बातों का कोई उत्तर नहीं देना; और वह उसकी चिल्लाहट को तब तक जारी रखता जब तक बैसी उसके लिए उपस्थित नहीं हो जाती- जब तक वह उसकी भुजा को पकड़कर उसे हिला न देती, अथवा उसकी चिलम के मुंह में रखे जाने वाले सिरे को उसके दांतों के बीच नहीं घुसा देती। वह कुछ ही अंधे लोगों में से एक था जो धूम्रपान करते हैं। जब उसे महसूस होता कि उसका टोप उसके सिर पर रखा जा रहा है, तुरन्त ही वह शोर करना बन्द कर देता। तब वह उठ खड़ा होता, और वे साथ-साथ दरवाजे से होकर निकल जाते।

He weighed heavily on ………… patience with you, sometimes, she would say. (Pages 48-50)

कठिन शब्दार्थ-Weighed (वेड्) = to put weight, वजन, भार डालता था। toilful (टॉइल्फ्ल् ) = full of labour, परिश्रम से भरा। penance (पेनन्स्) = punishment given onself, प्रायश्चित, स्वयं को दिया गया दंड। bulk (बल्क्) = size or weight of something large, बड़ी वस्तु का आकार या वजन। ascending (असेन्डिङ्) = climbing up, चढ़ते हुए। imperceptibly (इम्पसेप्टअब्लि ) = without being noticed, बिना दिखाई दिए या ध्यान में आए। embankment (इम्बैंङ्क्म न्ट) = a wall of stone or earth, तटबंध ।

creeping (क्रीपिङ्) = very slow, बहुत धीमी। gait (गेट) = the way that somebody walks, चाल, चलने का तरीका। pottering (पॉट(रि)ङ्) = pass time doing small things, मस्ती से समय बिता रहा। promenade (प्रॉमनाड्) =a wide path beside the sea, तटपथ। committing (कमिटिङ्) = giving an opinion, सम्मति प्रकट करते हुए। argumentation (आग्युमन्टेश्न्) = reasoning, तर्कवितर्क।

हिन्दी अनुवाद-उसने बैसी की भुजा पर भारी बोझ डाल दिया। उनके धीमे, परिश्रम-से-भरे भ्रमण के दौरान बैसी उस अशक्त, विशाल आकार के बोझ को प्रायश्चित के रूप में घसीटती हुई प्रतीत होती थी। सामान्यतया, वे सड़क को तुरन्त पार कर लिया करते (झोंपड़ियां बन्दरगाह के निकट के मैदानों में खड़ी थीं, जो गली के सिरे से दो सौ गज की दूरी पर थे), और लम्बे समय तक वे लोगों की दृष्टि में रहते, लोगों के ध्यान में न आते हुए, लकड़ी से बनी सीढ़ियों पर चढ़ते रहते जो समुद्र के किनारे की दीवार पर पहुंचाती थीं।

यह दीवार पूर्व से पश्चिम दिशा की ओर जाती थी और रेलवे लाइन के लिए बिछाई गई दीवार की भांति, जिस पर कोई रेलगाड़ी कभी नहीं चली थी, समुद्र को अलग करती थी। बलशाली मछुआरों के समूह आकाश पर प्रकट होते, थोड़ा-सा चलते और धीरे-धीरे दृष्टि से ओझल हो जाते। उनके भूरे रंग के जाल, विशालकाय मकड़ियों के जालों की भांति ढलान की अस्तव्यस्त घास पर पड़े होते । और गली के सिरे पर से देखते हुए शहर के लोग कार्विल पिता-पुत्री को पहचान लेते, उनकी अत्यन्त धीमी चाल से । कैप्टन हैगबर्ड निरुद्देश्य, उसकी झोंपड़ियों के आसपास, मस्ती के साथ समय गुजारता हुआ उसका सिर ऊपर की ओर उठाता, यह देखने को कि समुद्र के किनारे पर के रास्ते में (तटपथ पर) उनका भ्रमण कैसा चल रहा था।

हैगबर्ड अभी भी रविवार के अखबारों में हैरी के लिए विज्ञापन देता था। ये अखबार विदेशों में दुनियां के अंतिम छोर तक पढ़े जाते थे, वह बैसी को सूचित करता था। साथ-ही-साथ वह यह सोचता प्रतीत होता कि उसका पुत्र इंगलैंड में था- कोलबुक के इतना निकट कि वह, बिल्कुल, ‘कल’ लौट आएगा। बैसी उसके साथ बिना सम्मति प्रकट किए तर्क देती थी कि उस स्थिति में (उसके इंगलैंड में होने की स्थिति में) विज्ञापन देने का खर्चा अनावश्यक था। अच्छा हो, हैगबर्ड हर सप्ताह खर्च होने वाली आधे क्राऊन की रकम स्वयं पर खर्च करे।

बैसी ने कह दिया कि उसे नहीं पता कि वह कितने धन पर जीवन यापन करता था। बैसी का तर्क करना उसे कुछ समय के लिए चक्कर में डाल देता था और निराश कर देता था। वे सब ऐसा करते हैं, वह कहता। अखबार में पूरा एक कॉलम खोए हुए रिश्तेदारों के लिए किए गए निवेदनों को समर्पित रहता था। वह बैसी को दिखाने के लिए अखबार ले आता था। वह एवं उसकी पत्नी ने वर्षों तक विज्ञापन दिया था; केवल वह एक अधीर महिला थी। कोलबुक से समाचार उसी दिन उसे दफनाने के बाद आया था; अगर वह इतनी अधीर न होती तो आज यहां होती, उसे एक दिन से अधिक का इन्तजार नहीं करना पड़ता। ‘तुम तो एक अधीर महिला नहीं हो, मेरी प्रिय बच्ची ।’ ‘मैं कभी-कभी तुम्हारे साथ धैर्य नहीं रख सकती,’ वह कहती।

If he still advertised for……was something wrong somewhere. (Pages 50-51)

कठिन शब्दार्थ-Muddled (मड्लड्) = confused, उल्टा-सीधा । lucidity (लूसिडटि) =clarity, स्पष्टता और सुबोधता। derangement (डिरेन्ज्ड्म न्ट्) = mental abnormality, मानसिक असमर्थता । conviction (कन्विक्शन्) = a very strong opinion or belief, प्रबल मत या आस्था । assent (असेन्ट्) = agreement, स्वीकृति। flings and jerks (फ्लिङ्स् ऐन्ड् जक्स) = throwing suddenly, अचानक उठापटक करना। tantrums (टेन्ट्रम्ज) = sudden explosion of anger, क्रोध का विस्फोट । splendours (स्पलेन्ड(र)स) = impressive things, सुन्दर चीजें । behold (बिहोल्ड्) = look at, की ओर देखना। smuggled (स्मग्ल्ड ) = took things secretly, चोरी-चोरी चीजों को लाना । bashfulness (बैश्फ्ल्न स्) = shyness, शरमीलापन।

हिन्दी अनुवाद-भले ही वह उसके पुत्र के लिए अभी भी विज्ञापन देता था, फिर भी वह अब सूचना के बदले इनाम का प्रस्ताव नहीं देता था, क्योंकि मानसिक असमर्थता की उलझी हुई स्पष्टता के साथ उसने स्वयं को तर्क द्वारा इस विश्वास के लिए तैयार कर लिया था, स्पष्टतः, कि उसने पहले ही वह सब प्राप्त कर लिया था जिसकी अपेक्षा की जा सकती थी।

वह और अधिक क्या चाह सकता था? कोलबुक उसके लिए एक स्थान था, और इससे अधिक कुछ मांगने की आवश्यकता भी नहीं थी। मिस कार्विल उसकी समझदारी के लिए उसकी प्रशंसा करती थी और उसकी उम्मीद में उसकी भागीदारी उसे आराम पहुंचाती थी। यही उम्मीद उसका भ्रम बन चुकी थी। वह उस विचार में भी भागीदार थी जिसने उसके मस्तिष्क को यथार्थ एवं संभावना के प्रति अंधा बना दिया था, जिस प्रकार दूसरे वृद्ध व्यक्ति को, जो दूसरी झोंपड़ी में था, किसी अन्य बीमारी ने दुनियां की रोशनी एवं सौंदर्य के प्रति अंधा बना दिया था।

लेकिन जिस भी चीज़ को वह संदेह के रूप में मान लेता-चाहे वो स्वीकारोक्ति का रूखापन हो अथवा उसके वापस लौट आए पुत्र तथा उसकी पत्नी के लिए घर संबंधी उसकी योजनाओं के विकास को लेकर थोड़ीसी उदासीनता-वह क्रोधित हो उठता और उठापटक करने लगता और दुष्टताभरी टेढ़ी नजरें डालने लगता। वह जमीन पर उसके फावड़े को पटक देता और इसके सामने इधर से उधर चलने लगता। मिस बैसी इसे उसके क्रोध का विस्फोट कहती। वह उसकी ओर अंगुली हिलाती।

फिर, जब वह पुनः बाहर आती, जब वह क्रोध में उससे अलग हो जाता था, तो वह उसकी आँखों के कोनों से देखता रहता कि कोई प्रोत्साहन का संकेत मिले ताकि वह लोहे की रेलिंग के पास आ सके और उसके पिता-सदृश तथा कृपाभाव वाले रिश्तों को पुनः स्थापित कर सके। उनकी सारी घनिष्ठता के बावजूद, जो अब तक कुछ वर्षों से चल रही थी, उन्होंने कभी भी उनके बीच में रेलिंग अथवा बाड़ के बिना बातें नहीं की थीं। वह बैसी से उन सुन्दर वस्तुओं का वर्णन करता जो उसने उनकी घरेलू सुविधाओं को स्थापित करने हेतु जुटाई थीं, लेकिन उसने बैसी को कभी भी उन चीज़ों का निरीक्षण करने के लिए आमंत्रित नहीं किया था।

किसी भी मनुष्य की आँख उन्हें तब तक नहीं देख सकती थी जब तक हैरी उन्हें पहली बार न देख ले। वास्तव में किसी भी व्यक्ति ने उसकी झोंपड़ी में प्रवेश नहीं किया था। वह स्वयं उसके घर का काम करता था और वह उसके पुत्र के विशेषाधिकार की रक्षा इतनी ईर्ष्या के साथ करता था कि घर के उपयोग की जो भी छोटी चीजें वह शहर में खरीदता था, उन्हें वह पाल के कपड़े से बने कोट के नीचे छिपाकर सामने के बगीचे के पार चोरी-चोरी ले आता था। फिर बाहर आकर वह क्षमायाचना की मुद्रा में कहता, ‘यह तो एक छोटी केतली थी, प्रिय बच्ची।’

और, अगर वह मेहनतभरे कार्य से बहुत अधिक थकी हुई न होती, अथवा उसके पिता द्वारा सहनशक्ति की सीमा से परे परेशान नहीं कर दी जाती, वह शरमाते हुए उसकी ओर हँसती और कहती : ‘वह ठीक है, कैप्टन हैगबर्ड; मैं अधीर नहीं हूं।”ठीक है, मेरी प्रिय बच्ची, अब तुम्हें लंबे समय तक इंतजार नहीं करना है, वह उत्तर देता, अचानक शरमाते हुए, और बेचैनी के साथ इधर-उधर देखते हुए, जैसे कि उसे संदेह हो कि कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ थी।

Every Monday she paid him……………………….. Harry will get you one.’ (Page 51)

कठिन शब्दार्थ-Bearing (बेअरिङ्) = the way of standing, moving or behaving, खड़े होने, चलने तथा बर्ताव करने का तरीका-विशेष । sanction (सैंङ्क्श्न् ) = permission, मंजूरी। queerness (क्विअ(र)नस्) = strangeness, विचित्रता। unwarranted (अन्वॉरन्टिड्) = without good reason, अनुचित। incomprehensible (इन्कॉम्प्रिहेन्सब्ल्) = impossible to understand, जिसे समझा न जा सके।

drummed (ड्रम्ड) =made noise like a drum, थपथपाती थी। saturated (सैचरेटिड्) = made extremely wet, खूब भिगो दिया। quagmire (क्वैग्माइअर्) = a soft wet area with mud, दलदल। disconsolate (डिस्कॉन्सलट्) = extremely unhappy, अत्यधिक दुःखी एवं निराश। muffled (मफ्ल्ड ) = made quieter, दबी हुई, मंद । exasperated (इग्जैस्परेटड्) = angry, क्रोधित । smudgy (स्मजि) = dirty, untidy, गंदे, भद्दे ।

हिन्दी अनुवाद-प्रत्येक सोमवार को वह रेलिंग्स के ऊपर से उसे उसका किराया चुकाती थी। वह शिलिंग में दी गई रकम को लालचीपन के साथ पकड़ लेता था। उसे स्वयं की देखभाल पर उसके द्वारा खर्च की जाने वाली प्रत्येक पेनी से परेशानी होती थी, और जब वह बैसी को छोड़कर उसकी खरीददारी करने चला जाता तो उसकी चालढाल एवं व्यवहार गली में प्रवेश करते ही बदल जाते थे।

बैसी की दया से मिलने वाली सहमति से दूर वह स्वयं की पोल खलती महसूस करता, बिना किसी सुरक्षा के। वह उसके कंधों से दीवारों को रगडता हुआ चलता। वह लोगों की विचित्रता पर अविश्वास करता : यद्यपि, तब तक शहर के बच्चों ने भी उसे पीछे से आवाजें लगाना छोड़ दिया था, और व्यापारी बिना कुछ बोले उसे सामान आदि दे दिया करते थे। उसके कपड़ों पर की गई हल्की-सी टिप्पणी भी उसे चक्कर में डालने और विशेष रूप से डरा देने की शक्ति रखती थी, जैसे कि यह कोई बिल्कुल ही अनुचित एवं समझ से परे की बात हो।

पतझड़ की ऋतु में भारी बरसात उसके पाल के कपड़े से बने सूट पर भडाभड़ की आवाज के साथ गिरती। यह सूट पूरी तरह गीला होकर लोहे की चादर जैसी कठोरता प्राप्त कर लेता था और इसकी सतह पर पानी बहता रहता था। जब मौसम अत्यधिक खराब होता तो वह छोटे पोर्च के नीचे शरण ले लेता, और, दरवाजे से सटकर खड़े हुए अहाते के बीच रखे उसके फावड़े को देखा करता जो वहीं छूट जाया करता था। जमीन सभी जगह इतनी अधिक खुदी पड़ी होती कि जब ऋतु आगे बढ़ती तो वह दलदल में बदल जाती थी।

जब वह जमकर कठोर हो जाती तो वह अत्यधिक दुःखी हो उठता था। हैरी क्या कहेगा? और क्योंकि वर्ष के उस समय में उसे बैसी की उतनी संगति नहीं मिल पाती थी, बूढे कार्विल की चीखें, जो मंद होकर बन्द खिड़कियों से आती थीं, बैसी को भीतर बुलाती हुईं, उसे (हैगबर्ड) अत्यधिक क्रोधित कर देती थीं। ‘वह खर्चीला व्यक्ति तुम्हारे लिए एक नौकर क्यों नहीं रख लेता?’ उसने एक राहतभरी दुपहर को अधीरता से पूछा।

बैसी ने किसी चीज को फेंक दिया था ताकि थोड़ी देकर के लिए छोड़कर बाहर आ सके। ‘मैं नहीं जानती,’ कमजोर, परेशान जैसी ने ऊबकर कहा, भारी पलकों वाली, स्लेटी तथा आशारहित नजर से दूर घूरते हुए। उसकी आँखों के नीचे हमेशा भद्दे दिखाई देने वाले, छाया-जैसे घेरे होते थे। और वह उसके जीवन में कोई परिवर्तन अथवा जीवन कोई अन्त नहीं देखती प्रतीत होती थी। ‘तुम इन्तजार करो, जब तक तुम्हारी शादी नहीं होती, मेरी बच्ची,’ उसके एकमात्र मित्र (हैगबर्ड) ने कहा, बाड़ के निकट आते हुए। हैरी तुम्हारे लिए एक नौकर रख लेगा।’

His hopeful craze seemed……..walked slowly indoors. (Pages 51-52)

कठिन शब्दार्थ-Affected (अफेक्ड ) = full of artificial manner, बनावटीपन से युक्त। cackle (कैक्ल्) = loud silly laughter, मूर्खतापूर्ण, जोरदार हँसी। lust (लस्ट्) = passionate desire, तीव्र इच्छा। atrocious (अट्रोशस्) = extremely wicked, अत्यंत दुष्टतापूर्ण । affliction (अफ्लिक्शन्) = suffering, distress, कष्ट।

हिन्दी अनुवाद-हैगबर्ड का उम्मीदभरा पागलपन बैसी की.स्वयं की निराशा का मजाक उड़ाता प्रतीत हुआ, इतनी तीखी उपयुक्तता के साथ कि उसके घबराहटपूर्ण क्रोध में वह उसकी ओर सीधे ही चिल्ला पड़ती। लेकिन बैसी ने स्वयं का मजाक बनाते हुए केवल इतना कहा, और उससे इस प्रकार बोली जैसे कि वह समझदार हो, ‘क्यों, कैप्टन हैगबर्ड, तुम्हारा पुत्र मेरी ओर देखना भी पसंद न करे तो।’ उसने झटके से उसका सिर पीछे की ओर फेंका और क्रोध से भरी बनावटी, जोरदार हँसी हँस दिया। ‘क्या! वह लड़का? देखना नहीं चाहेगा, मीलों तक एकमात्र बुद्धिमान, समझदार लड़की की ओर? मैं तुम्हारे हिसाब से यहां किसलिए हूं मेरी प्रिय-मेरी प्रिय-मेरी प्रिय? क्या? तुम इन्तजार करो। जरा इन्तजार करो। तुम कल देखोगी। मैं जल्दी ही……..

बैसी ! बैसी ! बैसी! चीख पड़ा बूढ़ा कार्विल भीतर । ‘बैसी! मेरी चिलम!’ उस मोटे, अंधे व्यक्ति ने स्वयं को आलसीपन की तीव्र इच्छा के प्रति समर्पित कर दिया था। वह उन चीजों के लिए भी उसका हाथ नहीं उठाता था जिन्हें बैसी ध्यान से उसकी कोहनी के पास रख देती थी। वह शरीर के किसी भी अंग को हिलाना पंसद नहीं करता था; वह कुर्सी से उठना भी नहीं चाहता था, वह उस बैठक में भी एक पैर को दूसरे पैर के आगे नहीं रखना चाहता था

(जहां वह उसके रास्ते को उतनी ही अच्छी तरह से जानता था, जितनी अच्छी तरह तब जानता होता जब वह देख पाता) बिना उसे (बैसी को) उसके पास बुलाए तथा उसका दुष्टतापूर्ण वजन बैसी के कंधे पर डाले। वह भोजन का एक ग्रास भी नहीं खाता था जब तक बैसी उसके निकट उसकी उपस्थिति में नहीं होती। उस व्यक्ति ने उसकी तकलीफ़ से परे (अधिक) विवश बना लिया था ताकि बैसी को ज्यादा अच्छे तरीके से गुलाम बना सके। वह एक क्षण शांत खड़ी रही, शाम के धुंधलके में संकल्प के साथ उसके दांतों को भींचती हुई, फिर मुड़ी और धीरे-धीरे भीतर चली गई।

Captain Hagberd went back to……………….what would Harry say?’ (Pages 52-53)

कठिन शब्दार्थ-Lingered (लिङ्ग(र)ड्) = was slow to depaart, ठहरी हुई थी। assurance (अशॉरन्स्) = self confidence, आत्मविश्वास। guard (गाड्) = caution, सावधानी। marvelled (माव्ल्ड ) = felt surprise or wonder, आश्चर्य महसूस किया। resentfully (रिजैन्क्ल ) = with anger, क्रोध के साथ। equilibrium (ईक्विलिब्रिअम्) = state of balance, संतुलन ।trespassing (ट्रैसपसिङ्) =entering unlawfully, अवैध रूप से प्रवेश कर रहा।

हिन्दी अनुवाद-कैप्टन हैगबर्ड वापस उसके फावड़े की ओर चला गया। कार्विल की झोंपड़ी में चीखपुकार रुक गई, और कुछ समय बाद नीचे स्थित बैठक की खिड़की में रोशनी हो गई। गली के सिरे की ओर से आ रहा एक व्यक्ति जो मजबूत, आहिस्ता कदमों से चल रहा था, गुजरा, किन्तु ऐसा लगा कि उसने कैप्टन हैगबर्ड को देख लिया था, क्योंकि वह एक-दो कदम वापस लौटा। एक ठंडी, सफेद रोशनी पश्चिमी आकाश में ठहरी हुई थी। वह व्यक्ति गेट पर झुक गया, जैसे उसे कोई रुचि हो।

‘आप अवश्य कैप्टन हैगबर्ड होने चाहिए,’ वह बोला, सरलतापूर्ण आत्मविश्वास के साथ। बूढ़ा आदमी गोल घूमा, उसके फावड़े को जमीन से बाहर खींचते हुए, अजनबी स्वर से चौंकता हुआ। ‘हाँ, मैं हूँ,’ उसने घबराहट के साथ उत्तर दिया। दूसरा व्यक्ति, उसकी ओर मुस्कराते हुए बहुत धीरे से बोला : ‘आप आपके पुत्र के लिए विज्ञापन देते रहे हैं, मैं ऐसा मानता हूँ ?’ ‘मेरे पुत्र हैरी के लिए,’ कैप्टन हैगबर्ड ने बुदबुदाते हुए कहा, पहली बार लापरवाही होते हुए। वह कल घर आ रहा है।’

‘अवश्य आ रहा है, वह !’ अजनबी को बड़ा आश्चर्य हुआ, और फिर उसने कहना जारी रखा, केवल स्वर में थोड़ा-सा बदलाव करते हुए, ‘आपने स्वयं फादर क्रिसमस जैसी दाढ़ी बढ़ा रखी है।’ कैप्टन हैगबर्ड थोड़ा निकट आया, और फावड़े पर आगे की ओर झुक गया। अपने रास्ते जाओ,’ उसने क्रोध में भरकर तथा साथ-साथ डरते हुए कहा, क्योंकि उसे हमेशा डर रहता था कि कोई उस पर हँस देगा। प्रत्येक मानसिक अवस्था, चाहे वह पागलपन की अवस्था ही क्यों न हो, एक संतुलन रखती है, जो आत्मसम्मान पर टिका होता है। इससे भीड़भाड़ दुःख पैदा करती है।

और कैप्टन हैगबर्ड स्थापित धारणाओं की व्यवस्था के बीच जीता था। इस व्यवस्था को लोगों की हँसी के द्वारा बिगाड़े जाने से उसे कष्ट पहुंचता था। हाँ, लोगों की हँसी बड़ी बुरी थी। वह किसी गड़बड़ी की ओर संकेत करती थी : लेकिन कौनसी गड़बड़ी? वह नहीं बता सकता था; और वह अजनबी स्पष्ट रूप से हँस रहा था- वह जानबूझकर हंसने के लिए ही आया था।

गलियों में लोगों का उसकी ओर हँसना काफी बुरा था, किन्तु इस प्रकार तो कभी उसका अपमान पहले कभी नहीं किया गया था। अजनबी, इस बात से अनजान कि फावड़े से सिर खुलवाने केवल कितना निकट था, ने गंभीरतापूर्वक कहाः ‘मैं जहां खड़ा हूँ, वहाँ अवैध रूप से प्रवेश नहीं कर रहा हूँ, क्या मैं कर रहा हूँ? मैं सोचता हूँ कि आपके समाचार में कोई गड़बड़ है। मैं सोचता हूँ कि आप मुझे भीतर आने देंगे।’

‘तुम्हें अन्दर आने दूं!’ बूढ़ा हैगबर्ड बड़बड़ाया, व्यक्त न किए जा सकने वाले आतंक के साथ।
‘मैं आपके पुत्र के बारे में कुछ सही सूचना दे सकता हूँ- बिल्कुल नवीनतम संकेत, अगर आप सुनना चाहें।’
‘नहीं, ‘ हैगबर्ड चिल्लाया। वह अनियंत्रित होकर इधर से उधर चलने लगा, उसने फावड़े को कंधे पर रख लिया, वह दूसरी भुजा से इशारे करने लगा। यहां एक व्यक्ति है- एक हँसता हुआ व्यक्ति जो, कहता है कि कोई गड़बड़ है। मेरे पास, जितनी सूचना तुम्हारे पास है, से अधिक सूचना है। मेरे पास वह सारी सूचना है जिसकी मुझे चाह है। मेरे पास यह वर्षों से है-वर्षों से- वर्षों से- कल तक चल सकने तक पर्याप्त। तुम्हें अंदर आने दूं, बिल्कुल । हैरी क्या कहेगा?’

Bessie Carvil’s figure appeared ………….. an affected gurgling laugh within. (Pages 53-54)

कठिन शब्दार्थ-Silhouette (सिलुएट्) = the dark solid shape of somebody or something, किसी व्यक्ति अथवा वस्तु की काली ठोस आकृति, छायाचित्र । squelched (स्कवेल्च्ड्) = made round while moving in mud, कीचड़ में चलने की फचफच की ध्वनि । shrinkingly (शिङ्किङ्लि ) = becoming smaller, सिकुड़ते हुए। crestfallen (क्रेस्ट्फॉलन्) = sad or disappointed, दुःखी या निराश । deliberate (डिलिबरट्) = intentional, इरादतन, जानबूझकर किया हुआ। slamming (स्लैमिङ्) = shutting very loudly, ऊंची आवाज में बंद करते हुए। snapping (स्नैपिङ्) = done quickly and suddenly, अचानक किया गया। echo (इको) = repetition of sound, गूंज, प्रतिध्वनि । gurgling (गलिङ्) = bubbling, गड़बड़ की ध्वनि पैदा करता हुआ।

हिन्दी अनुवाद-बैसी कार्विल की आकृति काले छायाचित्र के रूप में बैठक की खिड़की पर, फिर दरवाजे के खुलने की आवाज के साथ, जो दरवाजा दूसरी झोंपड़ी पर लगा था, सम्पूर्ण रूप से काली, किन्तु सिर पर कोई सफेद चीज़ डाले हुए, बैसी प्रकट हुई। ये दोनों आवाजें जिन्होंने अचानक बाहर बात करना शुरू कर दिया था (बैसी ने इन आवाजों को भीतर सुन लिया था), ने उसे ऐसा भाव दे दिया था कि वह बिल्कुल भी नहीं बोल सकी। कैप्टन हैगबर्ड एक पिंजरे से निकलने का रास्ता खोजने की कोशिश करता दिखाई दे रहा था।

उसके पैर पानी से भरे गड्ढों में चलते हुए फचफचाहट की आवाज पैदा कर रहे थे। ये गड्ढे उसकी मेहनत से बने थे। वह बरबाद कर दी गई घास की जमीन के गड्ढों में लड़खड़ाया। वह बाड़ की ओर अंधा होकर बेतहाशा दौड़ा। ‘ठहरो, थोड़ा शान्त हो जाओ!’ दरवाजे पर खड़े व्यक्ति ने कहा, गंभीरता से, भुजा को फैलाते हुए और हैगबर्ड को उसकी बांह से पकड़ते हुए। कोई व्यक्ति आपके पास आने की कोशिश कर रहा है। हैलो! आपने यह क्या अटपटा पहन रखा है ? जहाज का पाल, हे जॉर्ज!’ वह जोर से हँसा। ठीक है, आप एक विचित्र व्यक्ति हो!’

कैप्टन हैगबर्ड ने स्वयं को झटककर मुक्त कर लिया, और सिकुड़ते हुए, डरते हुए पीछे हटने लगा। ‘वर्तमान के लिए,’ वह बड़बड़ाया, उदास, निराशाभरी आवाज में। ‘उसके साथ समस्या क्या है?’ अजनबी ने बैसी को अत्यधिक परिचय के साथ संबोधित किया, एक सोची-समझी स्पष्ट करने वाली आवाज में।’

मैं बूढ़े व्यक्ति को डराना नहीं चाहता था। उसने उसके स्वर को धीमा कर लिया जैसे कि वह बैसी को वर्षों से जानता हो। ‘मैं रास्ते में एक नाई के पास चला गया था, दो पैनी देकर दाढ़ी बनवाने, और वहां उन लोगों ने मुझे बताया कि वह एक प्रकार का विचित्र व्यक्ति है। यह बूढ़ा आदमी इसके पूरे जीवनभर एक विचित्र व्यक्ति रहा है।’

कैप्टन हैगबर्ड, उसके कपड़ों के बारे में उल्लेख किए जाने से भयभीत होकर भीतर चला गया था, उसका फावड़ा उसके साथ लेकर; और दोनों (अजनबी एवं बैसी) जो गेट पर खड़े थे, दरवाजे के अनायास जोर की आवाज के साथ बन्द होने से चौंक गए, उन्होंने दरवाजे की चिटकनियों को जल्दी से आवाज के बंद होते सुना, ताले को अचानक बंद होते सुना, तथा भीतर गड़बड़ की आवाज वाली, बनावटी हँसी की गूंज को सुना।

‘I didn’t want to upset him,.. ………It is you who come tomorrow.’ (Pages 54-55)

कठिन शब्दार्थ-Faltered out (फॉल्ट(र)ड आउट्) = spoke hesitatingly, सकुचाते हुए बोला। rabbit- hutches (रैबिट्-हचज) = cages for rabbit, खरगोशों के पिंजरे । swindle (स्विन्डेल) = an act of cheating, oot aa gora linsurmountable = insuperable, Forech = असंभव है। serenity (सरेनटि) = calm, शांति, गंभीरता। mug (मग्) = face, चेहरा । coon (कून्) = a nocturnal mammal, एक स्तनपायी जानवर। indulgence (इन्डल्जन्स्) = liking, पसंद, शौक। loaf about (लोफ अबाउट) = spend time idly, निरुद्देश्य भटकना।

हिन्दी अनुवाद–’मैं उसे परेशान नहीं करना चाहता था,’ उस व्यक्ति ने कहा, थोड़ समय की चुप्पी के बाद । ‘इस सबका क्या अर्थ है ? क्या वह बिल्कुल पागल नहीं है?’
‘वह उसके खोए हुए पुत्र के बारे में लम्बे समय से परेशान रहा है,’ बैसी ने कहा, धीमे, क्षमायाचना के स्वर में।

‘ठीक है, मैं उसका पुत्र हूँ।’
‘हैरी!’ वह चिल्लाई और पूर्णतया शांत हो गई।
‘मेरा नाम जानती हो? बूढ़े व्यक्ति से मित्रता है, क्यों?’
‘वह हमारा मकान-मालिक है,’ बैसी ने संकोच से कहा, लोहे की रेलिंग को पकड़ते हुए।
‘दोनों खरगोशों के पिंजरों का (झोंपड़ियों का) मालिक है, क्यों?’

युवा हैगबर्ड ने नफरत से कहा : ‘ठीक वैसी ही चीज़ है, जिस पर उसे गर्व हो सकता है। क्या तुम मुझे बता सकती हो कि वह कौन व्यक्ति है जो कल आ रहा है ? तुम जरूर इस बारे में कुछ जानती हो। मैं तुम्हें कहता हूँ, यह उस बूढ़े पर ठगी का कृत्य है- कुछ और नहीं।’ उसने कोई उत्तर नहीं दिया। वह एक ऐसी मुश्किल के सामने विवश थी जिसका समाधान असंभव था, एक स्पष्टीकरण की आवश्यकता, असंभवता तथा भय के सामने स्तब्ध थी, एक ऐसा स्पष्टीकरण जिसमें वह स्वयं तथा पागलपन साथ-साथ शामिल थे।

‘ओह-मुझे खेद है,’ वह बड़बड़ाई।
‘मामला क्या है ?’ उसने शांतिपूर्वक कहा। तुम्हें डरने की आवश्यकता नहीं है कि तुम मुझे परेशान कर दोगी। यह तो वह दूसरा व्यक्ति होगा जो परेशान होगा, जब उसे ऐसा होने की अपेक्षा ही नहीं होगी। मैं जरा भी परवाह नहीं करता ; लेकिन कुछ मजे की बात होगी जब वह उसका चेहरा कल दिखाएगा। मैं बूढ़े आदमी की चीजों की परवाह नहीं करता, लेकिन सही तो सही होता है। तुम मुझे उस जानवर पर एक सिर रखते देखोगी। (अर्थात् मैं उस ठग को मजा चखाऊंगा)। वह जो भी हो!’

वह और निकट आ गया था, और रेलिंग की दूसरी ओर बैसी पर झुक गया था। उसने सी के हाथों पर नजर डाली। उसने सोचा कि वह कांप रही थी, और उसे ऐसा लगा कि बैसी का भी शायद उस छोटे-से खेल में हाथ था जो उसके बूढ़े पिता पर कल खेला जाना था। वह उनका खेल बिगाड़ने को ठीक समय पर आ गया था। उसे इस विचार से आनन्द आया- उसे इस असफल षड्यंत्र से नफरत थी। लेकिन उसके पूरे जीवन में वह स्त्रियों की सभी प्रकार की चालाकियों का शौकीन था; वह वास्तव में बहुत कांप रही थी; उसके सिर पर लिपटा हुआ वस्त्र उसके सिर से खिसक गया था।

‘बेचारी!’ उसने सोचा। उस व्यक्ति की चिन्ता न करो। मैं कह सकता हूँ वह उसका विचार कल से पहले ही बदल लेगा। लेकिन मेरा क्या? मैं सुबह तक गेट के आस-पास भटकता नहीं रह सकता।’
वह फूट पड़ी : ‘वह तुम हो- तुम स्वयं, जिसका वह (हैगबर्ड) इन्तजार कर रहा है । वह तुम ही हो, जिसे कल आना है।’

He murmured “Oh! It’s me!’ blankly………..we have been waiting for.’ (Pages 55-56)

कठिन शब्दार्थ-Chum (चम्) = close friend, घनिष्ठ मित्र। contiguity (कॉन्टिग्यूअटि) = being next to each other, एक-दूसरे के साथ समीपता। caress (करेस्) = gentle and loving touch, प्यार-दुलार से स्पर्श । squared (स्क्व अड्) = placed facing forward, आगे की ओर किए। cavalierly (कैवलिअरलि) = discourteously, अस्त-व्यस्त तरीके से। mute (म्यूट) = silent, चुप, मौन।

हिन्दी अनुवाद-वह भावशून्यता के साथ बड़बड़ाया, ‘अरे! यह मैं हूँ!’ और वे एक साथ स्थिर हो गए। स्पष्टतः वह जो कुछ उसने सुना था उस पर चिन्तन कर रहा था। फिर, बिना चिड़चिड़ाहट के, किन्तु स्पष्ट रूप से असमंजस के साथ वह बोला, ‘मैं नहीं समझ रहा। मैंने तो ऐसा कुछ लिखा नहीं था और न ही। यह तो मेरा मित्र ही था जिसने अखबार को देखा और मुझे बताया- इसी सुबह….. है ? क्या?’

उसने कान को नीचे झुकाया; वह जल्दी-जल्दी फुसफुसाई और उसने कुछ समय तक सुना, कभी-कभी ‘हाँ’ तथा ‘मैं समझा’ शब्दों को बड़बड़ाता हुआ। फिर उसने अन्त में पूछा, ‘लेकिन आज से काम क्यों नहीं चलेगा?’ ‘आपने मुझे नहीं समझा!’ वह अधीरता के साथ बोली। रोशनी की स्पष्ट रेखा, जो बादलों के नीचे दिखाई देती थी, पश्चिम के आकाश में, मिट गई। वह पुनः अच्छी तरह सुनने हेतु थोड़ा झुका, और गहरी रात्रि ने फुसफुसाहट में बात कह रही महिला तथा ध्यान से सुन रहे पुरुष के बारे में सब कुछ छिपा दिया, केवल उनके चेहरों की घनिष्ठ निकटता को छोड़कर जिसमें गोपनीयता एवं प्यारभरे दुलार का भाव था।

उसने उसके कंधों को आगे किया, उसके सिर पर छाया जैसा टोप लापरवाही के साथ बैठा हुआ था। ‘बेतुका है, यह, क्यों?’ उसने बैसी से निवेदन किया। कल? अरे, अरे! ऐसा तो कभी कहते नहीं सुना था। फिर तो सभी कुछ ‘कल’ हुआ, बिना ‘आज’ के, जहाँ तक मैं समझता हूँ।’ वह स्थिर एवं शांत रही। ‘और तुम इस हास्यास्पद विचार को प्रोत्साहित करती रही हो,’ उसने कहा। ‘मैंने कभी उसकी बात का खंडन नहीं किया।’ ‘तुमने ऐसा क्यों नहीं किया?’

‘मैं ऐसा क्यों करती?’ उसने स्वयं का बचाव करते हुए कहा। अगर मैंने उसकी बात का खंडन किया होता, वह दुःखी ही होता। वह तो पागल हो गया होता।’
‘दिमाग से पागल!’ वह बड़बड़ाया, और उसने बैसी की छोटी-सी घबराहटभरी हँसी सुनी।
‘हानि क्या थी? क्या मैं बेचारे वृद्ध आदमी से झगड़ा करती? इस बात में थोड़ा विश्वास कर लेना मेरे लिए भी सरल था।’
‘हाँ, हाँ,’ उसने बुद्धिमता के साथ मनन किया! ‘मैं मानता हूँ कि उस वृद्ध ने चिकनी-चुपड़ी बातों से तुम्हें राजी कर लिया होगा। तुम अच्छे दिल की हो।’
बैसी के हाथ अंधेरे में घबराहट के साथ ऊपर की ओर उठे। और यह सच रहा होगा। यह सच था। यह आ पहुंचा है। और यह है। यह वही आने वाला कल’
है जिसका हम इन्तजार करते आ रहे हैं।’

She drew a breath, and he……….It grazed my shoulder.’ (Pages 56-57)

कठिन शब्दार्थ-Good-humouredly (गुड-ह्यूमड्लि ) = showing a good mood, अच्छी मनःस्थिति के साथ। dead-alive (डेड्-अलाइव्) = dull, spiritless, मृतप्रायः | racket (रैकिट) = illegal way of making money, गोरखधंधा, धोखाधड़ी। quid (क्विड्) = money, पैसा, धन। lark (लाक्) = a small brown singing bird, एक छोटी भूरी गाने वाली चिड़िया। come off (कम् ऑफ) = succeed, सफल होना ।

squeaked (स्क्वीक्ट्) = made a short high noise, चरमराया। frisky (फ्रिस्कि ) = full of life, playfull, उछल-कूद मचाने वाला। clanging (क्लैंगिंग्) = loud, unpleasant sound, जोरदार झनझनाहट की ध्वनि । rumbled down (रम्ब्ल्ड डाउन) = came down with a deep heavy sound, गड़गड़ाहट के साथ नीचे आ गई । walloped (वॉलप्ट) = hit hard, कसकर पीटता था। confounded (कन्फाउन्डिड्) = hateful, घृणित । shovel (शवल) = spade, बेलचा। grazed (ग्रेज़्ड) = rubbed the skin, चमड़ी को रगड़ दिया।

हिन्दी अनुवाद-बैसी ने सांस ली, और वह अच्छी मनःस्थिति में बोला : ‘हाँ, बन्द दरवाजे के साथ। मैं परवाह नहीं करता अगर…. और क्या तुम सोचती हो कि उसे मुझे पहचानने के लिए तैयार किया जा सकता है…. क्यों? क्या? तुम ऐसा कर सकती हो? तुम कहती हो एक सप्ताह में ? हूँ, मैं कह सकता हूँ तुम ऐसा कर सकती हो-लेकिन क्या तुम सोचती हो कि मैं इस मनहूस स्थान में एक सप्ताह रह सकता हूँ? मैं नहीं रह सकता।

मैं या तो कठोर पश्रिम का कार्य पसंद करता हूँ, या फिर कोई जोरदार गोरखधंधा, अथवा इतना बड़ा स्थान जितना बड़ा पूरे इंगलैंड में नहीं मिल सकता। मैं इस स्थान पर एक बार होकर गया हूँ, और एक सप्ताह से भी अधिक समय तक। यह वृद्ध व्यक्ति तब मेरे लिए विज्ञापन कर रहा था, और एक मेरा घनिष्ठ मित्र मेरे साथ था जो यह विचार रखता था कि हम थोड़ी मूर्खतापूर्ण बकवास एक पत्र में लिखकर इस वृद्ध से कुछ धन निकलवा सकते थे। वह चिड़िया तो नहीं आई (अर्थात् वह योजना सफल नहीं हो सकी)। हमें जाना पड़ा, जल्दी ही। लेकिन इस बार मेरा एक घनिष्ठ मित्र लंदन में मेरा इन्तजार कर रहा है, और इसके अतिरिक्त…..’

बैसी कार्विल जल्दी-जल्दी सांस ले रही थी। ‘क्या हो अगर मैं दरवाजे को खटखटाऊं?’ उसने सुझाया। . ‘कोशिश करो’ बैसी ने कहा। कैप्टन हैगबर्ड का दरवाजा चरमराया, और उसके पुत्र की छाया चलने लगी, फिर गले की गहरी हँसी के साथ ठहर गई। यह हँसी उसके पिता की हँसी की तरह ही धीमी एवं हल्की-फुल्की थी, जो बैसी के हृदय को आनन्दित करने वाली और उसके कानों को सचेत करने वाली थी।

‘वह बच्चों की तरह चंचल तो नहीं है, क्या है ? मैं उसे पकड़ने से डर जाऊंगा। लोग हमेशा मुझे कहते रहते हैं कि मैं अपनी शक्ति को नहीं जानता।’
‘वह सर्वाधिक निर्दोष प्राणियों में से एक है जो कभी हुए,’ बैसी ने टोका।

‘तुम ऐसा न कहती अगर तुमने उसे सीढ़ियों से ऊपर जाते हुए मेरा पीछा एक कठोर चमड़े का फीता लेकर करते देखा होता,’ वह बोला; ‘मैं इस बात को सोलह वर्ष में भी नहीं भूल पाया हूँ।’
वह सिर से पैर तक गरमाहट से भर उठी जब उसने एक और धीमी हँसी की आवाज सुनी। कुन्दे की खड़खड़ाहट से उसका कलेजा उड़कर मुंह में आ गया।
अरे पिताजी ! मुझे भीतर आने दो। मैं हैरी हूँ। मैं हूँ। सीधे ही! घर मैं एक दिन पहले ही आ पहुंचा।’ ऊपर की मंजिल की खिड़कियों में से एक खुल गई।
‘एक हँसता हुआ सूचना देने वाला व्यक्ति,’ बूढ़े हैगबर्ड की आवाज ने कहा, अंधेरे में आती हुई। ‘तुम्हें उससे कोई वास्ता नहीं रखना है। इससे प्रत्येक चीज़ बिगड़ जाएगी।’

बैसी ने हैरी हैगबर्ड को कहते सुना, ‘हैलो, पिताजी,’ फिर एक अप्रिय झनझनाहट की आवाज आई। खिड़की गड़गड़ाहट की ध्वनि के साथ नीचे आ गई, और वह पुनः बैसी के सामने खड़ा हो गया था। यह तो पुराने समय के जैसी ही बात है। उसने मुझे पीट-पीटकर मार ही डाला था, मुझे जाने से रोकने के लिए और अब जब मैं वापस आ गया हूँ तो वह मेरे सिर की तरफ घृणित बेलचा फेंक रहा है ताकि मैं बाहर ही रहूँ। इस बेलचे ने मेरी कंधे की चमड़ी को छील दिया।’

She shuddered………………………… From impatience.’ (Pages 58-59)

कठिन शब्दार्थ-Shuddered (शडर्ड्स) = trembled with fear, भय से कांप उठी। jovially (जोविअलि) = happily, प्रसन्नता से। swagger (स्वैगर्) = pride, too much confidence, अकड़। cleave (क्लीव्) = split, divide, चीरना, बांटना । domestic (डमेस्टिक) = enjoying doing things at home, घर के कामों में रुचि रखने वाला । cruise (क्रूज़) = sail without destination, बिना गंतव्य के जहाज की यात्रा।

हिन्दी अनुवाद-वह कांप उठी। : ‘मैं परवाह नहीं करूं’ उसने कहना शुरू किया, ‘अगर मैंने मेरे अन्तिम शिलिंग की रकम रेल के किराए पर और मेरे अन्तिम दो पेंस दाढ़ी बनवाने पर खर्च नहीं कर दिए होते- उस बूढ़े आदमी के सम्मान के बदले।’ ‘क्या तुम वास्तव में हैरी हैगबर्ड हो?’ बैसी ने जल्दी से पूछा। क्या तुम इस बात को सिद्ध कर सकते हो?’ ‘क्या मैं इस बात को सिद्ध कर सकता हूँ? क्या कोई अन्य व्यक्ति इसे सिद्ध कर सकता है ?’ उसने प्रसन्नता के साथ पूछा।

‘किस चीज से सिद्ध किया जाना है ? मैं क्या सिद्ध करना चाहता हूँ ? दुनियां का एक भी कोना, इंगलैंड को छोड़कर, शायद, ऐसा नहीं है जहां आपको कोई पुरुष, अथवा कोई महिला, नहीं मिल जाए तो मुझे हैरी हैगबर्ड के रूप में याद रखता है। मैं किसी भी जीवित व्यक्ति की अपेक्षा अधिक हैरी हैगबर्ड जैसा हूँ : और मैं इस बात को तुम्हारे समक्ष एक मिनट में सिद्ध कर सकता हूँ। बशर्ते तुम मुझे तुम्हारे दरवाजे के भीतर कदम रखने दो।’

‘अन्दर आ जाओ,’ बैसी ने कहा।
फिर वह कार्विल परिवार के सामने के बगीचे में प्रवेश कर गया। उसकी ऊंचे कद की छाया ने अकड़ के साथ कदम बढ़ाए । बैसी ने खिड़की की ओर पीठ घुमाई और प्रतीक्षा करने लगी, उस आकृति को देखती हुई जिसकी पदचाप सबसे महत्त्वपूर्ण प्रतीत होती थी। एक ओर झुके हुए टोप पर, एक शक्तिशाली कंधे पर जो अंधेरे को चीरता प्रतीत होता था, तथा एक टांग पर जो आगे की ओर कदम रख रही थी, रोशनी गिर रही थी। वह गोल घूमा और स्थिर खड़ा हो गया, पार्लर की रोशनी से जगमगाती बैसी के पीछे स्थित खिड़की के सामने । वह उसका सिर इधर से उधर घुमा रहा था और मन-ही-मन धीमी हँसी हंस रहा था।

‘जरा एक मिनट के लिए कल्पना करो, बूढ़े आदमी की दाढ़ी मेरी ठोड़ी से चिपक जाए । अरे? अब बोलो। मैं तो लड़कपन से ही उसकी प्रतिलिपि था।’
‘यह सच है, वह बुदबुदाई।
‘और यही बात है, कुल मिलाकर । वह हमेशा तुम्हारे घरेलू पात्रों में से एक था। अरे, मुझे तो याद है कि वह किस तरह कोयला लेकर आने के लिए साऊथ शील्ड्स की यात्राओं पर जाने से तीन दिन पूर्व बीमार दिखाई देता हुआ घूमता रहता था। उसके पास गैस के कारखाने से मिला हुआ जहाज था। तुम सोच सकती थी कि वह व्हेल मछली के शिकार के लिए जा रहा था- तीन वर्ष की यात्रा और मछली की एक पूंछ। हा, हा! ऐसा बिल्कुल भी नहीं था। घर से बाहर केवल दस दिन । स्किमर ऑफ द सीज एक चतुर जहाज था। अच्छा नाम था इसका, क्या नहीं था? मां का चाचा इसका मालिक था………..’

उसने स्वयं को रोक दिया, और धीमी आवाज में बोला, ‘क्या उसने कभी तुम्हें बताया कि मां किस कारण से मरी थी?’ उसने पूछा। ‘हाँ,’ मिस बैसी ने कहा, कड़वाहट के साथ। ‘अधीरता के कारण।’

He made no sound for………..I’ll wait here a bit.’ (Pages 59-60)

कठिन शब्दार्थ-Brusquely (ब्रुस्कलि) = bluntly, रुखेपन के साथ | hutch (हच्) = a wooden box for rabbits and other small animals, दड़बा। row (राओ) = a loud noise, शोर, हो-हल्ला । trysts (ट्रिस्ट्स) = appointed meetings, पूर्वनिश्चित गुप्त भेटें । squall (स्क्वॉल्) = a sudden storm, आंधी-तूफान । averted (अवटिड्) = turned away, दूसरी ओर मोड़े हुए। nape (नेप्) = the back part of neck, गर्दन का पिछला भाग। sombre (सॉम्बर्) = dark in colour, गहरे रंग का। wrap (रैप्) = warm cloth, गर्म कपड़ा, शॉल।

हिन्दी अनुवाद-उसने कुछ समय तक कोई आवाज नहीं की। फिर रूखेपन के साथ बोला, ‘वे (मातापिता) इतने भयभीत थे, इस कारण कि मैं खराब व्यक्ति बन जाऊंगा, कि उन्होंने मुझे बाहर चले जाने को बाध्य कर दिया। मां मुझे आलसी होने के ताने मारती थी और बूढ़ा पिता कहता था कि वह मेरी आत्मा को शरीर में से काटकर निकाल लेगा, बजाय मुझे समुद्र पर जाने देने के। ठीक, ऐसा लगता था कि वह ऐसा कर भी देगाइसलिए मैं चला गया। मुझे ऐसा लगता है कि जैसे मैं उनके यहां गलती से पैदा हो गया था-उस दूसरे दड़बे जैसे घर में।’

‘तुम्हें अधिकारपूर्वक कहां जन्म लेना चाहिए था?’ बैसी कार्विल ने उसे चुनौती देते हुए टोका। ‘खुले स्थान में, समुद्र के किनारे पर, एक तूफानी रात्रि को,’ वह बिजली की भांति शीघ्रता से बोला। फिर उसने धीरे-धीरे सोचा। वे दोनों अजीब प्रकार के पात्र थे, और बूढ़ा आदमी उसकी पात्रता को संभालकर रखता है-क्या नहीं रखता? एक घृणित बेलचा- सुनो! यह कौन है जो इतना शोर मचा रहा है ? “बैसी, बैसी।” यह शोर तुम्हारे घर में हो रहा है।’

‘यह शोर मेरे लिए है, ‘ वह उदासीनतापूर्वक बोली। वह एक ओर हट गया, रोशनी की रेखा से बाहर। ‘तुम्हारा पति है ?’ उसने पूछा, एक ऐसे व्यक्ति के स्वर में जो गैरकानूनी मुलाकातों का अभ्यस्त होता है। गरजते हुए तूफान में जहाज से निकलने वाली आवाज जैसी।’ ‘नहीं, मेरे पिता हैं । मैं शादीशुदा नहीं हूँ।’ ‘तुम एक अच्छी लड़की दिखाई देती हो। मिस बैसी,’ वह तुरन्त बोला। उसने (बैसी ने) उसका चेहरा दूसरी तरफ घुमा लिया। ‘अरे, मैं कहता हूँ- क्या चल रहा है ? उसे कौन मार रहा है?’

‘उसे उसकी चाय चाहिए।’ बैसी ने उसका सामना किया, स्थिर एवं ऊंचे कद के साथ, सिर को दूसरी ओर घुमाए हुए, उसके हाथों को उसके सामने बांध लटकाए रखते हुए। ‘क्या तुम्हें भीतर नहीं चले जाना चाहिए?’ उसने सुझाया, थोड़ी देर तक उसकी गर्दन के पिछले भाग को ध्यान से देखते हुए, जो चमचमाती सफेद त्वचा का धब्बा जैसा था और उसके कंधों के गहरे रंग के ऊपर मुलायम छाया के समान था। उसका शॉल खिसककर उसकी कोहनियों पर आ गया था। ‘तुम्हारे लिए अभी सारा शहर निकलकर बाहर आ जाएगा। मैं थोड़ी देर यहां प्रतीक्षा कर लूंगा।’

Her wrap fell to the ground……………….the earth had been a tolling bell. (Page 60)

कठिन शब्दार्थ-Stooped (स्टूप्ट्) = bent down, झुका हुआ। feat (फीट) = here, thing, चीज़। halo (हेलो) = a circle of light, रोशनी का घेरा । bust (बस्ट्) = a woman’s breasts, वक्षस्थल। go-by (गो-बाय) = deserted, त्याग दिया गया। chokey (चौकी) = police station, पुलिस थाना। confoundedly (कन्फाउन्डिडलि) = badly, बुरी तरह से । stamped (स्टैम्प्ट) =brought down heavily, जोर से ठोका।

sodden (सॉडन्) = soaked through, भीगी हुई । mast (मास्ट) = a tall wooden or metal pole, जहाज का मस्तूल । spree (स्प्री) = a shot time of enjoyment, आमोद-प्रमोद । rampart (रैम्पाट्) = a high thick wall, परकोटा, प्राचीर । swell (स्वेल्) = rise and fall of the surface of the sea, समुद्र की सतह का घटना-बढ़ना। gale (गेल्) = a very strong wind, बहुत तेज हवा।

हिन्दी अनुवाद-उसका (बैसी का) गरम कपड़ा जमीन पर गिर पड़ा और वह इसे उठाने को झुका : वह जा चुकी थी। उसने इसे अपनी भुजा पर डाल लिया और सीधे ही खिड़की के निकट जाकर उसने एक भयानक आकृति को देखा। एक मोटा आदमी, आराम कुर्सी पर बैठा था, एक नग्न बत्ती जल रही थी, एक बड़े मुंह द्वारा जंभाई ली गई थी और एक विशाल चेहरा उलझे हुए बालों से घिरा हुआ था- मिस बैसी का सिर एवं वक्षस्थल इस प्रकार प्रतीत हो रहे थे। चीख-चिल्लाहट थम गई; खिड़की का पर्दा नीचे सरका दिया गया था।

वह इस सोच में डूब गया था कि सब कुछ कितना अटपटा था। पिता पागल था, घर के भीतर जाना संभव न था। वापस लौटने के लिए पैसे नहीं थे; लंदन में भूखे मर रहा घनिष्ठ मित्र सोचने लगेगा कि उसे त्याग दिया गया था। ‘सत्यानाश!’ वह बड़बड़ाया। वह निश्चित ही दरवाजा तोड़कर भीतर जा सकता था; लेकिन वे लोग उसे बिना पूछताछ किए पुलिस थाने में डाल देंगे- कोई खास बात नहीं थी, केवल वह बन्द कर दिए जाने से बुरी तरह डरता था, गलती से भी। वह इस कल्पना से भी सुन्न हो गया था। उसने गीली घास पर पैरों को ठोका।
‘तुम क्या हो?- कोई नाविक?’ एक उत्तेजित स्वर ने पूछा।। वह जल्दी से बाहर आ गई थी। वह स्वयं एक छाया थी और उसके घर की दीवार के नीचे प्रतीक्षा कर रही बेपरवाह छाया से आकर्षित हो गई थी।

‘कुछ भी। मस्तूल के सामने नाविक के रूप में बहुत रह चुका हूँ। इस बार उस रास्ते से होकर घर आया
‘तुम कहां से आये हो?’ बैसी ने पूछा।
‘सीधे सैरसपाटे की मौज-मस्ती से, वह बोला, ‘लंदन वाली ट्रेन से-सुना? ओह! मुझे ट्रेन के भीतर बन्द रहने से नफरत है। मैं घर में बंद रहने को इतना बुरा नहीं समझता।’
‘आह,’ वह बोली, ‘यह तो सौभाग्य की बात है।’ ‘क्योंकि घर में तुम कभी भी दुष्ट दरवाजे को खेल सकते हो और सीधे चलकर जा सकते हो।’ ‘और फिर कभी लौटकर नहीं आ सकते हो?’ ‘नहीं, कम-से-कम सोलह वर्षों तक,’ वह हँस दिया। ‘एक खरगोशों के पिंजरे में और घृणित बेलचे की चोट खाने के लिए……’ ‘एक जहाज तो इतना बड़ा होता नहीं,’ बैसी ने ताना दिया। ‘नहीं, किन्तु समुद्र तो बड़ा (महान्) होता है।’

उसने (बैसी ने) सिर झुका दिया, और, जैसे उसके कान संसार की ध्वनियां सुनने हेतु खुल गए हों, उसने समुद्र के किनारे की दीवार के परे कल की तगड़ी हवा के उतार-चढ़ाव को नीरस स्वर में गंभीर कम्पनों के साथ समुद्र के किनारे से टकराते सुना, जैसे कि समस्त पृथ्वी कोई बजती हुई घंटी हो।

‘And then, why, a ship’s…..once in sixteen hard years?’ (Page 61)

कठिन शब्दार्थ-Snatch (स्नैच) = a short part, छोटा अंश। chattered (चैट) = knocked together, किटकिटाए। scraped (स्क्रेप्ट) = searched thoroughly, पूरी तरह तलाशी ली। egged on (एग्ड् ऑन) = encouraged, उकसाती थी। fondness (फॉन्ड्न स्) = liking, अनुराग, स्नेह । hard up (हाड् अप) = short of money, पैसे की तंगी।

हिन्दी अनुवाद-‘और फिर, एक जहाज तो जहाज होता है। तुम उसे प्रेम कर सकते हो और छोड़ सकते हो; और एक समुद्री यात्रा शादी तो नहीं होती है।’ उसने नाविक की कहावत को हल्के-फुल्के रूप से उद्धृत किया।
‘यह शादी तो नहीं होती है,’ उसने (बैसी ने) फुसफुसाते हुए कहा।
‘मैंने कभी मिथ्या नाम को नहीं अपनाया, और मैंने अभी तक किसी स्त्री से झूठ नहीं बोला। कौनसी झूठ? अरे, वही झूठ- । मुझे स्वीकार करो अथवा छोड़ दो, मैं कहता हूँ : और अगर तुम मुझे स्वीकार करती हो, तो फिर यह….. उसने धीमी आवाज में, दीवार से सटकर, एक अंश गुनगुनाया- ओह, ओह ! हो! रिओ!…..’
और तुम्हें अलविदा, मेरी सुन्दर, सुडौल प्रिया, हमें रिओ जाना है…. ग्रांड।

‘यह कैप्सटन (भारी वजन उठाने की एक मशीन) से संबंधित गीत है,’ उसने स्पष्ट किया। बैसी के दांत किटकिटा रहे थे।
‘तुम्हें ठंड लग रही है, वह बोला। यहां तुम्हारा गरम कपड़ा है जिसे मैंने उठा लिया।’ बैसी ने उसके हाथों को उसके चारों ओर महसूस किया, उसे निकटता से कपड़े को लपेटते हुए। ‘इस कपड़े के सिरों को सामने की ओर पकड़ कर रखो,’ उसने आदेश दिया। ‘तुम यहां किसलिए आये थे?’ बैसी ने पूछा, कंपकंपाहट को दबाते हुए। ‘पांच पाउन्ड की रकम,’ उसने जल्दी से उत्तर दिया। हमने हमारी मौजमस्ती को थोड़ा लम्बा चलने दिया और हमें धन की तंगी हो गई।’ ‘क्या तुम पीते रहे हो?’ बैसी ने कहा।

‘तीन दिनों तक, जमकर; जानबूझकर। मैं उस तरह का नहीं हूँ- ऐसा तुम न सोचना। कोई भी चीज अथवा व्यक्ति ऐसा नहीं है जो मुझ पर हावी हो जाए, जब तक मैं न चाहूँ। मैं पत्थर की तरह निश्चल हो सकता हूँ। मेरा घनिष्ठ मित्र इस सुबह अखबार को देखता है और मुझसे कहता है : “कोशिश जारी रखो, हैरी: तुम्हारा पिता तुमसे प्यार करता है। निश्चित ही पांच पाउन्ड मिलेंगे।” इसलिए हमने किराए के लिए हमारी सभी जेबों को तलाशा। सब बेकार हुआ।
‘तुम्हारा दिल कठोर है, मुझे डर है,’ बैसी ने आह भरी।

‘किस कारण से? घर से भाग जाने के कारण? अरे क्यों! वह मुझे एक वकील का मुंशी बनाना चाहता थाकेवल स्वयं की खुशी के लिए। वह अपने घर में मालिक बनना चाहता था; और मेरी बेचारी मां ने उसे ऐसा करने को प्रोत्साहित किया- मेरे भले के लिए, मैं सोचता हूँ। ठीक है, फिर ऐसा होता रहा और मैं चला गया। नहीं, मैं बताता हूँ तुम्हें, जिस दिन मैं गया, मैं पिटाई से काला-नीला पड़ गया था, उसके अत्यधिक प्रेम के कारण ।

अरे! वह हमेशा एक विचित्र पात्र था। उस बेलचे को देखो, अब । क्या वह उसके साथी से (पिता से) भिन्न प्रकार का है? बहुत अधिक नहीं। वह ठीक मेरे पिता के जैसा है। मेरा पिता मुझे यहां इसलिए रखना चाहता है क्योंकि उसे आदेश देने के लिए कोई व्यक्ति चाहिए, जिसे वह आदेश दे सके। किन्तु हम दोनों मित्र तंगी में थे और मेरे पिता के लिए पांच पाउन्ड की रकम क्या महत्त्व रखती है- सोलह वर्ष में एक बार?’

“Oh, but I am sorry for you………………………..It is fine.’ (Page 62)

कठिन शब्दार्थ-Humped (हम्प्ट्) = carried, लादकर ले गया। swag (स्वॉग्) = thief’s booty, चोरी का माल । sheared (शिअ ) = cut the wool off a sheep, भेड़ ऊन काटी। harpooned (हापून्ड्) = hunted, शिकार किया। rigged (रिग्ड्) = tied ropes to support a ship’s sails, मस्तूल-पाल को रस्सियों से बांधा। prospected (प्रॉस्पेक्टिड्) = searched, तलाशा। bar (बार्) = line, पंक्ति । outlandish (आउटलेंडिश्) = strange, अजीब। boulders (बोल्ड) = very large rocks, बहुत बड़ी चट्टानें।

हिन्दी अनुवाद-‘ओह, लेकिन मुझे तुम्हारे लिए खेद है। क्या तुमने कभी घर लौटने की प्रतीक्षा नहीं की?’
‘एक वकील का मुंशी बनने और यहां सड़ने के लिए-ऐसे किसी स्थान में?’ वह नफरत से चिल्लाया। ‘क्या हो! अगर यह बूढ़ा आदमी आज मुझे एक घर में रख दे, मैं इसे सिर पर मारूंगा- अथवा तीसरा दिन पूरा होने से पूर्व ही मर जाऊंगा।’

‘और अन्य कौनसी जगह तुम मरने की आशा रखते हो?’
‘कहीं किसी झाड़ी में, समुद्र में, किसी पहाड़ी की चोटी पर जहां मैं चाहूँ! घर पर? हाँ! दुनियां मेरा घर है; लेकिन मैं अपेक्षा करता हूँ कि मैं किसी दिन एक अस्पताल में मरूंगा। इससे क्या फर्क पड़ता है ? कोई भी स्थान अच्छा है जब तक मैं जीवित रहूँ ; और मैं प्रत्येक तरह का आदमी रहा हूँ, जिसके बारे में तुम सोच सकती हो, दर्जी अथवा सैनिक को छोड़कर ।

मैं सीमाओं की रक्षा करने वाला घुड़सवार रहा हूँ, मैंने भेड़ों की ऊन उतारी है और चोरी के माल को लादकर ले चला हूँ, और मैंने व्हेल मछली का शिकार किया है। मैंने मस्तूल-पाल को सहारा देने के लिए रस्सियाँ बाँधी हैं और सोने की तलाश की है, और मत बैलों की चमडी उतारी है और मैंने उस धन से भी पीठ मोड़ी है जो उस धन से अधिक था जो इस बूढ़े आदमी ने इसके पूरे जीवन में इकट्ठा किया होगा। हा, हा!’

उसने बैसी को भाव विभोर कर दिया। उसने स्वयं को संभाला और यह कह सकी, ‘अब आराम का समय हो गया है।’
उसने स्वयं को सीधा किया, दीवार से दूर हटते हुए और कठोर आवाज में बोला, ‘जाने का समय हो गया।’ लेकिन वह हिला नहीं। वह पुनः दीवार से सटकर खड़ा हो गया, और एक अजीब गीत की एक-दो पंक्तियाँ गुनगुनाने लगा।

बैसी को लगा जैसे वह रो पड़ेगी। यह तुम्हारे निर्दयी गीतों में से एक है, वह बोली। ‘इसे मैंने मैक्सिको में सीखा था-सोनोरा नामक स्थान पर।’ वह सरलता से बात की। यह गैम्बुसिनो लोगों का गीत है। तुम नहीं जानती? बेचैन लोगों का गीत । उन लोगों को कोई भी एक स्थान पर नहीं रख सकता थाएक स्त्री भी नहीं। पुराने जमाने में तुम उन्हें यहाँ-वहाँ देखते थे, स्वर्ण देश के किनारे पर, रिओ गिला से दूर उत्तर में। मैंने इसे देखा है। एक खोजी इंजीनियर, मजाल्टन में, मुझे अपने साथ ले गया, गाड़ियों की देखभाल में सहायता करने के लिए।

एक नाविक आदमी काम का व्यक्ति होता है, साथ रखने के लिए। यह स्थान पूरा रेगिस्तान है : जमीन में इतनी गहरी दरारें हैं कि तुम उनका पैंदा नहीं देख सकते : और पहाड़-केवल चट्टानें, जो दीवारों की तरह ऊँची खड़ी हैं और चर्च की मीनारों जैसी हैं, केवल उनसे सौ गुना बड़ी हैं। घाटियाँ बड़ी-बड़ी चट्टानों और काले पत्थरों से भरी हैं। देखने को वहाँ घास का एक तिनका भी नहीं है और सूर्य उस देश में अधिक लालिमा के साथ अस्त होता है, जैसा मैंने कहीं भी नहीं देखा-खून जैसा लाल और क्रुद्ध । यह अच्छा लगता है।’

‘You do not want to go.. ………………… You haven’t seen my faceyet.’ (Page 63)

कठिन शब्दार्थ-stammered (स्टैमर्ड्स) = spoke with difficulty, हकलाकर कहा। brazen (ब्रेज्न्) = without shame, निर्लज्ज । quavered (क्वॉवर्ड्स) = trembled, काँप गयी। scrape (स्क्रेप्) = trouble, परेशानी।

हिन्दी अनुवाद-‘तुम वहाँ पुनः वापस नहीं जाना चाहते ?’ बैसी ने हकलाते हुए कहा। वह थोड़ा हँसा। ‘नहीं।’ वह बदनाम स्वर्ण देश है। इसे देखकर मैं कभी-कभी काँप उठता था-और, ध्यान दो, हम एक साथ बहुत सारे लोग थे। लेकिन ये गैम्बुसिनो लोग अकेले भटकते थे। वे उस देश को तब से जानते थे जब किसी ने उसके बारे में नहीं सुना था।

उन लोगों में खनिजों को खोजने की एक प्रकार की प्रतिभा थी और इसकी ललक उन पर भी सवार थी और लगता था उन्हें सोने की बहुत इच्छा भी नहीं थी। वे कोई समृद्ध स्थान खोज लेते और फिर इसे पीठ दिखा देते थे; शायद थोड़ा बटोर लेते थे-मौजमस्ती के लिए पर्याप्त और चले जाते, अधिक की तलाश में ।

वे वहाँ अधिक समय नहीं ठहरते थे जहाँ घर होते। उनके न पत्नी होती थी, न प्रेमिका, न घर, न कोई मित्र । तुम गैम्बुसिनो से मित्रता नहीं कर सकते। वे बड़े बेचैन लोग थे-आज यहाँ हैं, और कल गायब, ईश्वर जाने कहाँ। वे उनके खजाने की खबर किसी को नहीं देते, और कोई गैम्बुसिनो सम्पन्न भी कभी नहीं रहा है । वे सोने की परवाह नहीं करते थे। यह उनकी सोने की तलाश में पथरीले देश में भटकने की इच्छा थी जो उनमें घुस गई थी और उन्हें चैन से नहीं बैठने देती थी।

इस कारण कोई स्त्री ऐसी पैदा नहीं हुई जो किसी गैम्बुसिनो को एक सप्ताह से अधिक समय तक रोक ले। यह गीत यही बताता है। यह एक सुन्दर लड़की के बारे में है जिसने एक गैम्बुसिनो प्रेमी को पकड़े रहने की भरसक कोशिश की ताकि वह उसके लिए बहुत सारा सोना ला सके। कोई बात नहीं। वह चला गया और उस लड़की ने उसे फिर कभी नहीं देखा। ‘उसका क्या हुआ?’ बैसी ने साँस छोड़ते हुए कहा।

‘यह गीत यह बात नहीं बताता। थोड़ी रोयी होगी, मैं कह सकता हूँ। वे ऐसे लोग थे : चुम्बन लो और चलते बनो। किन्तु किसी चीज की तलाश करना-कोई विशेष चीज ….. कभी-कभी मैं सोचता हूँ कि मैं स्वयं भी एक प्रकार का गैम्बुसिनो हूँ।’ ‘तब तो तुम्हें कोई स्त्री रोक कर नहीं रख सकती,’ बैसी ने निर्लज्ज स्वर में कहा, जो अचानक अन्त से पूर्व काँपने लगा।

‘एक सप्ताह से अधिक नहीं,’ उसने मजाक किया, उसके दिल के तारों को प्रसन्नता भरी, धीमी हँसी से छेड़ते हुए ‘किन्तु फिर भी मुझे सभी स्त्रियों से लगाव है। सही प्रकार की स्त्री के लिए मैं कुछ भी कर सकता हूँ। वे मुझे परेशानियों में डाल दें और मुझे परेशानियों से बाहर निकाल दें। मैं उन्हें प्रथम दृष्टि में ही प्रेम करने लगता हूँ। मैं तुमसे भी प्रेम करने लगा हूँ, तुम्हारा नाम मिस बैसी ही है न?’ वह थोड़ा पीछे हटी, और कंपकंपाती हँसी के साथ बोली : ‘तुमने अभी मेरा चेहरा नहीं देखा है।’

He bent forward gallantly……………….putting her hand against the wall. (Page 64)

कठिन शब्दार्थ-gallantly (गैलटिल) = politely and respectfully, विनम्रता एवं सम्मानपूर्वक। flutter (फ्लटर्) = nervousness, घबराहट, उत्तेजना। middling (मिड्लिंग) = average, औसत, थोड़ी। scare up (स्केअर् अप) = bring up, ले आना । jestingly (जेस्टिंग्लि ) = jokingly, मजाक में | pleaded (प्लीडेड्) = asked seriously, याचना की।scathing (स्केटिंग्) = very bitter, अत्यंत कटु। ungovernable (अन्गवनबल्) = uncontrolled, अनियंत्रित। shrank (अँक्) = moved back, पीछे हटी।।

हिन्दी अनुवाद-वह विनम्रता एवं सम्मानपूर्वक आगे की ओर झुका। थोड़ा पीला है (बैसी का चेहरा) : कुछ लोगों को ठीक लगता है। लेकिन अच्छे डीलडौल की लड़की हो। मिस बैसी।’ वह पूर्णतया घबरा गई थी। किसी ने उसे इससे पूर्व इतनी बात नहीं कही थी। उसका स्वर बदल गया। मैं थोड़ी भूख महसूस कर रहा हूँ।

आज मैंने नास्ता नहीं खाया था। क्या तुम मेरे लिए चाय के साथ कुछ ब्रेड नहीं ला सकती, अथवा’-वह पहले ही जा चुकी थी। वह पूछने ही वाला था कि वह उसे भीतर आने दे। कोई बात नहीं। कहीं भी चलेगा। बड़ी मुश्किल स्थिति है। उसका घनिष्ठ मित्र क्या सोचेगा?

‘मैंने तुमसे भिखारी के रूप में नहीं माँगा था, उसने मजाक करते हुए कहा, ब्रेड तथा मक्खन का एक टुकड़ा उस प्लेट से उठाते हुए जिसे बैसी ने उसके सामने पकड़ रखी थी। मैंने एक मित्र के रूप में माँगा था। मेरे पिता धनवान हैं, तुम जानती हो।’ ‘वह स्वयं को तुम्हारे खातिर भूखा रखते हैं।’

‘और मैं उनकी सनक के कारण भूखा रहा हूँ, ‘ उसने कहा, एक और टुकड़ा उठाते हुए। ‘दुनियाँ उनके पास जो भी है, तुम्हारे लिए है,’ उसने (बैसी ने) याचनापूर्वक कहा। ‘हाँ, अगर मैं यहाँ आकर इस पर टोड (मेढ़क) की तरह बिल में छिपकर बैठ जाऊँ। धन्यवाद, और उस बेलचे के बारे में तुम क्या कहोगी, हैं ? उसका हमेशा से प्रेम जताने का अजीब तरीका रहा है।’

‘उसे भेज दो यहाँ से प्रिय। वह केवल एक बेघर घुमक्कड़ व्यक्ति है। तुम एक अच्छा घर ही तो चाहती हो । उस व्यक्ति के पास तो कोई घर भी नहीं है-वह हैरी जैसा नहीं है। वह हैरी हो भी नहीं सकता। हैरी कल आ रहा है। क्या तुम सुन रही हो? एक दिन और (प्रतीक्षा करो), वह अधिक उत्तेजना के साथ बड़बड़ाया; तुम डरो नहीं-हैरी को तुमसे विवाह करना पड़ेगा।’ उसकी आवाज बहुत कर्कश एवं पागलपन से भरी होती चली गई, समुद्र के किनारे की दीवार के बाहरी भाग के आस-पास चक्कर लगाती लहरों की कराहट जैसी धीमी आवाज की अपेक्षा।

‘He will have to…………out of my scrapes.’ (Page 66)

कठिन शब्दार्थ-shamefaced (शेमफेस्ट्) = showing shame, शर्मिंदगी से भरा। bowing (बाउइंग) = bending झुकाते हुए। extended (इक्स्टेंडिड्) = stretched, आगे बढ़ाया।

हिन्दी अनुवाद-‘उसे तुमसे विवाह करना होगा। मैं उसे बाध्य कर दूंगा, और अगर ऐसा नहीं होता’उसने (कप्तान हैगबर्ड ने) एक बड़ी शपथ ली-‘मैं कल उसे उत्तराधिकार से वंचित कर दूंगा, और सब कुछ तुम्हारे लिए छोड़ दूंगा। मैं ऐसा करूँगा। तुम्हारे लिए। उसे भूखों मरने दो।’

खिड़की खड़खड़ाहट के साथ बंद हो गई। हैरी ने गहरी साँस ली, और एक कदम बैसी की ओर बढ़ाया। ‘तो यह तुम हो-वह लड़की’ उसने धीमे स्वर में कहा । वह हिली-डुली नहीं थी, और वह उसकी ओर से आधे घूम गई थी, उसके सिर को अपनी हथेलियों के बीच दबाए हुए। ‘आश्चर्य!’ वह बोलने लगा, उसके होठों पर अदृश्य आंशिक मुस्कराहट के साथ । ‘मेरा ठहरने का बड़ा इरादा है. ‘ बैसी की कोहनियाँ जोर से काँप रही थीं। “एक सप्ताह के लिए.’ उसने बिना रुके बात समाप्त की। बैसी ने अपने हाथों को चेहरे पर फटकारा।

वह बिल्कुल निकट आ गया, और उसने आहिस्ता से बैसी की कलाइयों को पकड़ लिया। बैसी ने उसकी साँस को अपने कान पर महसूस किया। ‘मैं मुश्किल में हूँ और तुम्हें ही मुझे इससे बाहर निकालना होगा।’ वह उसके चेहरे को उघाड़ने की कोशिश कर रहा था। उसने (बैसी ने) प्रतिरोध किया। फिर हैरी ने तब उसे जाने दिया, और थोड़ा पीछे हटता हुआ, बोला ‘क्या तुम्हारे पास थोड़ा पैसा है?’ उसने पूछा। ‘मुझे अब जाना होगा।’

बैसी ने जल्दी से सहमति में अपने शर्मिंदगी भरे सिर को हिलाया, और वह इन्तजार करता रहा, उससे दूर देखता हुआ, जहाँ पूरी तरह काँपते हुए और अपनी गर्दन को झुकाए हुए, बैसी ने अपने वस्त्रों की जेब को ढूँढ़ने का प्रयास किया।

‘यह रहा!’ उसने फुसफुसाते हुए कहा। ‘अरे, चले जाओ! ईश्वर के लिए चले जाओ! अगर मेरे पास कुछ अधिक होता तो मैं सारा पैसा तुम्हें दे देती, भुला देने को-ताकि तुम भूल सको।’ उसने अपना हाथ आगे बढ़ाया। ‘कोई बात नहीं! मैं आप लोगों में से एक को भी नहीं भूला हूँ। कुछ ने तो मुझे पैसे से भी कुछ अधिक दिया है लेकिन अब मैं भिखारी हूँ और आप स्त्रियों को हमेशा मुझे मेरी मुश्किलों से बाहर निकालना पड़ा था।’

He swaggered up to…………gold and spurn the find. (Pages 66-67)

कठिन शब्दार्थ-filtering through (फिल्टरिङ् श्रू) = to move in small amounts, थोड़ीथोड़ी छनकर आना। drooping (ड्रपिंग्) = hanging down, झुका हुआ। ardour (आडर्) = zeal, enthusiasm, उत्साह, लालसा। overwhelming (ओववेल्मिंग) = irresistible, जबरदस्त, सशक्त।caresses (करैसिज़) = kisses, चुम्बन । stranded (स्ट्रेन्डिड्) = in difficulties, मुश्किलों में। darted (डाटेट्) = moved in sudden, rapid motion, अचानक तेजी से चली। poise (पॉइज) = balance, संतुलन। ebbing (एबिंग्) = growing weaker, कमजोर पड़ती हुई। surf (सफ्) = the white part on the top of waves, समुद्री लहरों का फेन। spurn (स्पन्) = reject, refuse, ठुकरा देना।

हिन्दी अनुवाद-वह इठलाता हुआ बैठक की खिड़की के पास गया, और पर्दे से छनकर आती हुई मंद रोशनी में उसने हथेली में रखे सिक्के की ओर देखा। यह आधा सावरिन् (एक पाउन्ड की रकम का सोने का सिक्का) था। उसने इसे उसकी जेब में डाल दिया। वह एक थोड़ी एक ओर खड़ी हो गई, सिर को झुकाए हुए, जैसे वह घायल हो गई हो । उसकी भुजाएँ उसकी बगल में निष्क्रियता के साथ लटकी हुई थीं, जैसे कि वे मृत हों।

‘तुम मुझे खरीद कर प्राप्त नहीं कर सकती,’ वह बोला, ‘और न ही तुम स्वयं को खरीद कर मुक्त कर सकती हो।’ उसने उसके टोप को हल्की -सी थपकी देकर दृढ़ता से सिर पर ठीक तरह से रख लिया, और अगले ही क्षण बैसी ने स्वयं को उसकी भुजाओं के शक्तिशाली आलिंगन में ऊपर उठते हुए महसूस किया।

बैसी के पैरों के नीचे अब जमीन नहीं थी, उसका सिर पीछे की ओर लटक गया था ; उसने बैसी के चेहरे पर शांत एवं अनियंत्रित लालसा के साथ चुम्बनों की बौछार कर दी। ऐसा लगता था जैसे कि वह बैसी की आत्मा तक ही पहुँचने को जल्दी में हो। उसने बैसी के पीले एवं रंगहीन गालों, उसके कठोर ललाट, उसकी बोझिल पलकों, उसके रंगहीन होठों का चुम्बन लिया।

उसकी भुजाओं की आलिंगन की शक्ति के साथ संतुलित इच्छाओं एवं आहों की संगति थी, चुम्बनों की जबरदस्त शक्ति थी। ऐसा लगता था जैसे समुद्र ने उस दीवार को तोड़ते हुए जो शहर के घरों की रक्षा करती है, एक लहर बैसी के सिर पर से भेज दी हो। यह लहर चली गई ; वह लड़खड़ाते हुए पीछे की ओर हटी, उसके कंधे दीवार से सटाए हुए, थकी हुई, जैसे कि वह वहाँ मुश्किलों में छोड़ दी गई हो, एक तूफान तथा जहाज के टूट जाने के बाद।

उसने कुछ देर बाद अपनी आँखें खोली ; और विजय के साथ दृढ़ एवं आराम से जाते हुए कदमों की आवाज को सुनते हुए बैसी ने उसके स्कर्ट को एकत्र करना शुरू किया, पूरे समय अपने सामने की ओर घूरते हुए। अचानक वह खुले हुए गेट से होकर अंधेरी एवं वीरान गली में दौड़ गई। ‘ठहरो!’ वह चिल्लाई। ‘मत जाओ!’

और ध्यान देने की मुद्रा में सिर को संतुलित रख सुनते हुए, वह नहीं कह सकती थी कि यह लहरों की आवाज थी अथवा हैरी की निर्णायक कदमताल जो बैसी के हृदय पर निर्दयता से गिरती प्रतीत होती थी। तुरन्त प्रत्येक आवाज धीमी हो गई, जैसे कि वह धीरे-धीरे पत्थर में परिवर्तित होती जा रही हो। इस भयानक शांति का भय बैसी पर छा गया-यह भय मौत के भय से भी अधिक खराब था। उसने उसकी घटती हुई शक्ति को अन्तिम निवेदन करने हेतु बटोरा :
‘हैरी!’
चलते हुए कदम की मृतप्रायः प्रतिध्वनि भी न थी। कुछ भी न था। लहरों पर फेन की गर्जना, बेचैन समुद्र की आवाज भी रुक गई प्रतीत होती थी। कोई भी ध्वनि न थी-जीवन की कोई फुसफुसाहट भी नहीं थी, जैसे कि वह अकेली हो तथा पथरीले देश में भटक गई हो, जिसके बारे में उसने सुना था, जहाँ पागल लोग सोने की तलाश में जाते हैं और खोजे गए सोने को ठुकरा देते हैं।

Captain Hagberd, inside his ……………. in an everlasting tomorrow. (Page 68)

कठिन शब्दार्थ – inextinguishable = that cannot be put out, बुझाया न जा सके। chucle up (चक्ल अप) = to laugh quietly, मुँह बन्द कर हँसना। wallowing (वॉलोइंग्) = lying and rolling about, लोट-पोट हो रहा। regally (रीग्लि ) = like a king, शाही ठाठ = बाट के साथ। fiendish (फीन्डिश्) = very cruel and unpleasant, बहुत निर्दयी एवं बुरा। inferno (इन्फनो) = a place resembling hell, नर्क जैसा स्थान । forfeited (फॉफिटिड्) = lost, जिसे खो दिया गया।

हिन्दी अनुवाद-कप्तान हैगबर्ड ने उसके अंधेरे घर में चौकसी बरते हुए था। एक खिड़की खुली और पथरीले देश की शांति में बैसी के सिर के ऊपर एक आवाज बोल उठी, काली हवा में बहुत ऊपर-पागलपन की, मिथ्या की, तथा निराशा की आवाज-न बुझाई जा सकने वाली आशा की आवाज। क्या वह अब जा चुका हैवह सूचना देने वाला आदमी? क्या तुम उसकी बातें सुन रही हो, प्रिय?’

वह रो पड़ी। ‘नहीं! नहीं! नहीं! अब मैं उसकी बातें नहीं सुन रही’, उसने सुबकियां लीं। वह विजय के साथ मुँह बन्द कर हँसने लगा। ‘तुमने उसे डराकर भगा दिया। अच्छी लड़की हो तुम । अब हम ठीक रहेंगे। तुम अधीर न होओ, प्रिय । एक दिन और।’ . दूसरे घर में बूढ़ा कार्विल, उसकी आराम-कुर्सी में किसी राजा की भाँति लोटपोट होता हुआ, एक गोल बल्ब उसके बगल की टेबल पर जल रहा, बैसी को बुलाने के लिए चीखा, निर्दयी स्वर में : ‘बैसी! बैसी! तुम, बैसी।’

उसने अंत में उसको सुना, और, जैसे कि भाग्य के वशीभूत हो गई हो, वह लड़खड़ाते हुए चल पड़ी, चुपचाप वापस उसकी घुटनभरी, नर्क के समान प्रतीत होने वाली झोंपड़ी की ओर। इसका कोई ऊँचा दरवाजा न था, न ही खोयी हुई आशाओं का कोई डरावना लेख-वह नहीं समझ पायी कि उसने कहाँ पाप कर दिया था।

कप्तान हैगबर्ड ने धीरे-धीरे शोर भरी प्रसन्नता की स्थिति लिए स्वयं को तैयार कर लिया था, ऊपर की मंजिल में। ‘अन्दर जाओ! शांत रहो!’ आँसुओं से भरकर बैसी ने उसे फटकारा, नीचे के दरवाजे की देहरी पर से। हैगबर्ड ने बैसी की सत्ता के विरुद्ध विद्रोह कर दिया, उस ‘कोई गड़बड़’ से अन्ततोगत्वा पीछा छुड़ा लेने की खुशी में। ऐसा लगता था मानो दुनियाँ का सारा आशा भरा पागलपन बैसी के हृदय को भयभीत करने को फूट पड़ा हो, उस वृद्ध की आवाज के साथ जो चिल्लाती हुई आने वाले अनन्त कल में आस्था जता रही थी।

Kaleidoscope Short Stories Chapter 4 Tomorrow