Poem 3 The Voice of the Rain

Textbook Questions and Answers

Think it Out 
I.

Question 1. 
There are two V… yes in the poem. Who do they belong to ? Which lines indicate this?
कविता में दो आवाजें हैं। वे किसकी हैं ? कौन-सी पंक्तियाँ इस ओर इंगित करती हैं ? 
Answer: 
These two voices are of the poet and of the rain. The lines indicating this are: “And who art thou,” said I to the soft-falling shower: The voice of the poet. “I am the Poem of the Earth,” said the voice of the rain. : The voice of the rain. 

ये दो आवाजें हैं-कवि की और वर्षा की। इस ओर इंगित करने वाली पंक्तियाँ हैं”और तुम कौन हो ?” मैंने धीमे-धीमे गिरती हुई वर्षा से कहा-कवि की आवाज। “मैं धरती की कविता हूँ,” वर्षा की आवाज़ ने कहा – वर्षा की आवाज़। 

Question 2. 
What does the phrase “strange to tell” mean?
“कहने में अजीब लगता है” वाक्यांश का क्या तात्पर्य है ?
Answer: 
It means that ‘the rain gave an answer to the poet’ seems strange to tell. We are surprised to think how the rain answered the poet. 

इसका तात्पर्य यह है कि कहने में अजीब लगता है कि ‘वर्षा ने कवि को उत्तर दिया।’ हमें यह सोचकर आश्चर्य होता है कि वर्षा ने कवि को उत्तर कैसे दिया। 

Question 3. 
There is a parallel drawn between rain and music. Which words indicate this ? Explain the similarity between the two. 
वर्षा और संगीत में समानता प्रस्तुत की गई है। कौन-से शब्द इस बात की ओर इंगित करते हैं ? इन दोनों के बीच समानता की व्याख्या कीजिए। 
Answer: 
The words indicating a parallel between rain and music are :
“……song issuing from its birth-place after fulfilment, wandering Reck’d or unreck’d, duly with love returns.” The similarity between rain and music is that they both receive love from everybody. They may wander anywhere, but at last return to their birth-place. 

वर्षा और संगीत में समानता को इंगित करने वाले शब्द हैं”…….. अपने उत्पत्ति-स्थल में उठता हुआ गीत पूर्णता को प्राप्त करके इधर-उधर घूमता हुआ, चाहे कोई ध्यान दे या न दे, अवश्य ही प्रेमसहित वापिस लौट आता है।” वर्षा व संगीत के बीच यह समानता है कि उन दोनों को सबका प्रेम मिलता है। वे इधर-उधर कहीं भी घूमें, परन्तु अन्त में अपने उत्पत्ति-स्थल (उद्गगम) पर लौट आते हैं। 

Question 4. 
How is the cyclic movement of rain brought out in the poem ? Compare it with what you have learnt in science.
इस कविता में वर्षा-चक्र को किस प्रकार दर्शाया गया है ? इसकी तुलना विज्ञान में सीखे अपने वर्षा-चक्र के ज्ञान से (माध्यम से) कीजिए। 
Answer: 
The poem describes that rain rises upwards, then takes a completely different and unclear form. Then it comes down and washes the earth. This cycle is just like the one described in science : Rain rises upwards in the form of vapour Takes a completely different form – of clouds and unclear form Comes down and washes the earth – in the form of rain drops 

कविता वर्णन करती है कि वर्षा ऊपर को उठती है, फिर एक बिल्कुल अलग और अस्पष्ट रूप धारण करती है। फिर यह नीचे आती है और धरती को धो देती है। यह चक्र विज्ञान में वर्णित वर्षा-चक्र के समान है वर्षा ऊपर उठती है – भाप के रूप में। एक बिल्कुल अलग और अस्पष्ट रूप धारण करती है – बादल का रूप। नीचे आती है और धरती को धो देती है| वर्षा की बूंदों के रूप में। 

Question 5. 
Why are the last two lines put within brackets?
अन्तिम दो पंक्तियों को कोष्ठक में क्यों रखा गया है ? 
Answer: 
There may be two causes behind it : 
(i) This is not the part of the dialogue between the poet and the rain. This is a general comment to finish the poetic thought. 
(ii) These lines give an extended meaning to the greatness of rain. 

इसके पीछे दो कारण हो सकते हैं
(i) यह कवि और वर्षा के मध्य संवाद का हिस्सा नहीं है। यह काव्य-विचार को पूर्णता देने हेतु प्रयुक्त एक सामान्य टिप्पणी है।
(ii) ये पंक्तियाँ वर्षा की महानता को एक विस्तृत अर्थ प्रदान करती हैं। 

Question 6. 
List the pairs of opposites found in the poem.
कविता में पाये जाने वाले विलोम शब्दों की सूची बनाइए। 
Answer: 
(i) rise (उठना) — descend (नीचे उतरना) 
(ii) changed (परिवर्तित) — same (वैसी की वैसी) 
(iii) land (धरती) — bottomless sea/heaven (अथाह समुद्र/आकाश) 
(iv) reck’d (ध्यान दिया गया) — unreck’d (ध्यान नहीं दिया गया) 
(v) day (दिन) — night (रात)। 

II. Notice the following sentence patterns :

निम्न वाक्य संरचनाओं पर ध्यान दीजिए

1. And who art thou ? said I to the soft-falling shower. 
2. I am the Poem of Earth, said the voice of the rain. 
3. Eternal I rise. 
4. For song …….. duly with love returns 
Rewrite the above sentences in prose. 
1. I said to the soft-falling shower, “And who are you ?” 
2. The voice of the rain said, “I am the Poem of the Earth.” 
3. I rise eternally. 
4. The rain is the song of the earth. She takes birth here, goes to the sky, turns into clouds, and, whether someone notices or not, comes back with more love and benefits the earth. 

III. Look for some more poems on the rain and see how this one is different from them. 

वो पर और कविताएँ ढूंढ़िये और देखिए कि यह कविता उनसे अलग कैसे है। 

Note : There are many poems on rain. Find as many as you can by yourself. 
नोट-वर्षा पर बहुत-सी कविताएँ हैं। आप जितनी कविताएँ ढूँढ़ सकते हैं, स्वयं ढूंढ़िए।

RBSE Class 11 English The Voice of the Rain Important Questions and Answers

Very Short Answer Type Questions 

Question 1. 
How is this poem unique ?
यह कविता अनूठी क्यों है ? 
Answer: 
This poem is unique in the sense that it is in the form of a dialogue between the poet and the rain. Besides, it personifies rain.

यह कविता इस प्रकार अनूठी है कि यह कवि और वर्षा के मध्य एक संवाद के रूप में है। इसके अलावा, यह वर्षा का मानवीकरण करती है। 

Question 2.
Why does the poet feel the need of translation ?
कवि को अनुवाद की आवश्यकता क्यों अनुभव होती है ? 
Answer: 
The poet hears the voice of the rain in the sound of her soft-falling shower. Being a poet, he understands what the rain says but for his readers, he feels the need to translate it.

कवि वर्षा की धीमे-धीमे गिरती आवाज में वर्षा के स्वर को सुनता है। कवि होने के कारण, वह समझ जाता है कि वर्षा क्या कह रही है, परन्तु अपने पाठकों के लिए उसे इसका अनुवाद करने की आवश्यकता अनुभव होती है। 

Question 3. 
List the benefits of rain given in the poem.
कविता में दिये गए वर्षा के लाभों की सूची बनाइए। 
Answer: 
The benefits of rain are :
(i) It removes droughts and washes off dust. 
(ii) It gives life to the earth. 
(iii) It makes the earth pure and beautiful. 
(iv) It pleases the world as does a song. 

वर्षा के लाभ हैं- 
(i) सूखे को समाप्त करती है और धूल को धो देती है। 
(ii) धरती को जीवन देती है।
(iii) धरती को साफ और सुन्दर बनाती है। 
(iv) एक गीत की भाँति, संसार को प्रसन्न कर देती है। 

Question 4.
What is the significance of the title ‘The Voice of the Rain’ ?
‘वर्षा की आवाज’ शीर्षक की क्या सार्थकता है ? 
Answer: 
This title holds the theme in itself. It arises a curiosity to read the poem and to know what the voice of the rain is. Thus, the title is apt and appropriate. 

इस शीर्षक में विषय-वस्तु निहित है। यह कविता को पढ़ने की और यह जानने की उत्सुकता जगाता है कि वर्षा की आवाज क्या है। इस प्रकार यह शीर्षक सटीक और उचित है।

Question 5. 
How is rain like a song ? 
वर्षा एक गीत की भाँति कैसे है ? 
Answer: 
Rain is like a song because it always has a music and a poetic beauty. It touches one’s heart and pleases the soul. 

वर्षा एक गीत की भाँति इसलिए है क्योंकि इसमें हमेशा एक संगीत और काव्य-सौन्दर्य होता है। यह दिल को छू लेती है और आत्मा को प्रसन्न कर देती है। 

Question 6. 
What would happen if there is no rain ? Explain with the help of the poem.
यदि वर्षा न हो तो क्या होगा ? कविता की सहायता से समझाइए। 
Answer: 
If there is no rain : 
(i) there will be drought;
(ii) the earth will become lifeless; 
(iii) the earth will become dirty and ugly; 
(iv) the world will be unhappy. 

In short, absence of rain will make the world unfit to live. यदि वर्षा न हो तो : 
(i) सूखा पड़ेगा; 
(ii) धरती जीवनविहीन हो जाएगी; 
(iii) धरती दूषित व कुरूप हो जाएगी; 
(iv) संसार दु:खी हो जाएगा। संक्षेप में, वर्षा की अनुपस्थिति संसार को जीने हेतु अयोग्य बना देगी। 

Question 7.
How is the rain impalpable while rising upwards ?
ऊपर उठते समय वर्षा पहुंच से बाहर कैसे होती है ? 
Answer: 
The rain rises upwards in the form of water vapour. Then it takes the form of clouds. Thus, in the form of water vapour and clouds, it is impalpable. 

वर्षा पानी की भाप के रूप में ऊपर की ओर उठती है। फिर यह बादलों का रूप ले लेती है। इस प्रकार, भाप और बादलों के रूप में यह पहुँच से बाहर होती है। 

Question 8. 
What is the mission of the rain ?
वर्षा का क्या उद्देश्य होता है ? 
Answer: 
The mission of the rain is :
(i) to remove drought and wash dust; 
(ii) to give life to the earth. 
(iii) to make the earth pure and beautiful; 
(iv) to please hearts. 

वर्षा का उद्देश्य होता है- 
(i) सूखे को समाप्त करना और धूल को धो डालना। 
(ii) धरती को जीवन देना।
(iii) धरती को साफ और सुन्दर बनाना। 
(iv) दिलों में प्रसन्नता का संचार करना। 

Question 9. 
What answer does the rain give to the poet ? 
वर्षा कवि को क्या उत्तर देती है ? 
Answer: 
The rain says that she is the ‘Poem of the Earth.’ She rises high, takes the form of clouds, and then comes back to give life to the earth. 

वर्षा कहती है कि वह ‘धरती की कविता’ है। वह ऊँचा उठती है, बादलों का रूप लेती है और फिर धरती को जीवन देने के लिए वापिस आ जाती है। 

Question 10. 
How is the rain ‘Poem of the Earth’ ?
वर्षा ‘धरती की कविता’ कैसे है ? 
Answer: 
Rain gives a new life to the earth. She makes the earth pure and beautiful. All these are the qualities of a poem. Thus, the rain is the ‘Poem of Earth’. 

वर्षा धरती को एक नया जीवन देती है। वह धरती को साफ और सुन्दर बनाती है। ये सब एक कविता की विशेषताएँ हैं। इस प्रकार वर्षा ‘धरती की कविता’ है। 

Question 11. 
How does rain make the earth fertile ? 
वर्षा धरती को उपजाऊ कैसे बनाती है ? 
Answer: 
When the rain comes, the seeds lying under the layer of soil get sprouted. They come out in the form of saplings. Thus, the earth becomes fertile and green. It gets a new life. 

जब वर्षा होती है तो मिट्टी की सतह के नीचे पड़े हुए बीज अंकुरित हो जाते हैं। वे पौधों के रूप में बाहर निकल आते हैं। इस प्रकार, धरती उपजाऊ और हरी-भरी हो जाती है। उसे एक नया जीवन मिल जाता है। 

Question 12. 
How does rain make the earth pure and beautiful ?
वर्षा धरती को साफ और सुन्दर कैसे बनाती है ? 
Answer: 
Rain comes in the form of showers. These showers wash off the dust-layers. They wash away each and every tiny particle. Thus, the earth looks pure and beautiful. 

वर्षा जल की बौछारों के रूप में आती है। ये बौछारें धूल की सतहों को धो डालती हैं। वे प्रत्येक छोटे से छोटे कण को धो देती हैं। इस प्रकार, धरती साफ और सुन्दर लगती है।

Short Answer Type Questions 

Question 1. 
What does the poet find strange ?
कवि को क्या विचित्र लगता है? 
Answer: 
The rain is falling softly like shower and the poet desires to know who she is. A response comes from the soft-falling shower. The poet feels strange to appreciate that his call is being responded to. 

वर्षा बौछार की तरह धीरे-धीरे हो रही है और कवि यह जानना चाहता है कि वह कौन है। एक उत्तर धीरे-धीरे गिरती हुयी बौछार से आता है। कवि को यह विचित्र महसूस होता है कि उसकी बात का उत्तर दिया गया है। 

Question 2. 
What does the shower tell the poet ?
वह पानी की बौछार कवि से क्या कहती है? 
Answer: 
The shower (rain) says to the poet that she is the poem of the Earth. Her genesis is the land and bottomless sea. She moves towards the sky implicitly and gets changed completely there. She falls down and makes wet every atom of the land purifying it. 

वर्षा कवि से कहती है कि वह पृथ्वी की कविता है। उसकी उत्पत्ति भूमि और अथाह समुद्र से है। वह उलझन भरे भाव से आसमान की ओर जाती है और वहाँ पूरी तरह से बदल जाती है। वह वहाँ से गिरती है और भूमि के प्रत्येक कण को शुद्ध करते हुए गीला कर देती है। 

Question 3. 
Latent seeds get a life by rain. Explain.
अव्यक्त बीजों को बारिश से जीवन मिलता है। व्याख्या कीजिए। 
Answer: 
It is quite obvious that the seeds cannot get germinated without the sucking of water into them. The growth will remain arrested without water. Once a seed gets in touch with water, it is transformed into a sapling which can result into fully grown plant and subsequently fruits can be obtained out of it. 

यह बिल्कुल स्पष्ट है कि बीज बिना पानी को ग्रहण किए हुए अंकुरित नहीं हो सकते। बिना पानी के उनकी वृद्धि रूक जायेगी। जब कोई बीज पानी के सम्पर्क में आता है तब यह छोटे पौधे में परिवर्तित हो जाता है जो धीरे-धीरे पूर्ण रूप से वृद्धि को प्राप्त हुए पौधे में बदल सकता है और तदुपरान्त इससे फल प्राप्त भी किए जा सकते हैं। 

Question 4. 
The poem has a conversational tone throughout. Who are the two participants in this poem ? Is there any advantage of this method ?
कविता एक वार्तालाप का स्वर है। इस कविता में वे दो प्रतिभागी कौन हैं? क्या इस विधि का कोई लाभ है? 
Answer: 
The poet and the rain are two participants. The poet puts questions and these are responded by the voice of the rain. The advantage of this method is the sustainability of the dialogue. It gives freedom to the poet to express his line of thoughts. 

इस कविता में कवि और वर्षा दो प्रतिभागी है। कवि प्रश्न करता है और इनका उत्तर वर्षा द्वारा दिया जाता है। इस विधि से संवाद में स्थिरता के भाव का लाभ मिलता है। यह विधि कवि को अपने विचार व्यक्त करने के लिए स्वतंत्रता प्रदान करती है। 

Question 5. 
List the benefits of rain given in the poem.
कविता में दी गयी वर्षा के लाभों की सूची बनाइये। 
Answer: 
The benefits of rain are :
(i) It removes droughts and washes off dust. 
(ii) It gives life to the earth. 
(iii) It makes the earth pure and beautiful. 
(iv) It pleases the world as does a song.

वर्षा के लाभ हैं

(i) यह सूखे को दूर करती है और धूल को धो डालती है अर्थात् साफ कर देती है। 
(ii) यह पृथ्वी को जीवन प्रदान करती है। 
(iii) यह पृथ्वी को शुद्ध व सुंदर बनाती है। 
(iv) यह संसार को ठीक वैसे ही आनन्द प्रदान करती है जैसे कि गाना।

Question 6. 
What would happen if there is no rain ? Explain with the help of the poem.
क्या होगा यदि बारिश न हो? दी हुयी कविता की सहायता से व्याख्या कीजिए। 
Answer:
If there is no rain : 
(i) there will be drought;
(ii) the earth will become lifeless; 
(iii) the earth will become dirty and ugly; 
(iv) the world will be unhappy. 
In short, absence of rain will make the world unfit to live.

यदि बारिश नहीं होती है तो
(i) वहाँ सूखा पड़ जायेगा।
(ii) पृथ्वी जीवनरहित हो जायेगी। 
(iii) पृथ्वी गंदी और भद्दी हो जाऐगी। 
(iv) संसार दुःखी बन जायेगा।
संक्षेप में, वर्षा की अनुपस्थिति संसार में जीवन के लिए अनुपयुक्त हो जायेगी। 

Question 7. 
How does rain make the earth fertile ?
वर्षा किस तरह से पृथ्वी को उपजाऊ बनाती है? 
Answer:
When the rain comes, the seeds lying under the layer of soil get sprouted. They come out in the form of saplings. Thus, the earth becomes fertile and green and it gets a new life. 

जब बारिश आती है तो भूमि के अन्दर पड़े हुए बीज अंकुरित होते हैं। वे छोटे-छोटे पौधों के रूप में निकलकर आते हैं। इस प्रकार पृथ्वी उपजाऊ और हरी-भरी हो जाती है और यह नया जीवन पाती है।

The Voice of the Rain Summary and Translation in Hindi

About the Poem 

इस कविता में वर्षा का मानवीकरण किया गया है। कवि वर्षा से प्रश्न पूछता है कि वह कौन है। उसे वर्षा उत्तर देती हुई प्रतीत होती है कि वह धरती की आवाज है। कवि को वर्षा के बारे में अपने मन के भाव वर्षा की गिरती हुई बूंदों के स्वर में सुनाई देते हैं और वह उन्हें अपनी भाषा में कविता के रूप में प्रस्तुत कर देता है।

Word Meanings With Hindi Translation And Comprehension Questions 

Stanza 1. 

And who art thou ? said I to the soft-falling shower,
Which, strange to tell, gave me an answer, as here translated : 
I am the Poem of Earth, said the voice of the rain,
Eternal I rise impalpable out of the land and the bottomless sea, 

Word Meanings : art (आर्ट) = are, हो। thou (दाउ) you, तुम। soft-falling (सॉफ्ट-फॉलिंग) = धीमे-धीमे गिरती हुई। shower (शाउअर) = raindrops, वर्षा की बूंदे/बौछारें। eternal (इटर्नल) = endless, without coming to an end, शाश्वत रूप से, निरन्तर। rise (राइज) = go up, ऊपर उठती हूँ। impalpable (इम्पल्पबल) = something that cannot be touched, जिसे छुआ न जा सके, पहुँच से बाहर। land (लैण्ड) = a piece of earth, जमीन। bottomless (बॉटमलस) = whose depth has no bounds, अथाह। sea (सी) = समुद्र।

हिन्दी अनुवाद-और तुम कौन हो ? मैंने धीमे-धीमे गिरती हुई वर्षा की बौछारों से पूछा। यह बताने में अजीब लगता है कि उन्होंने मुझे (अपनी भाषा में) उत्तर दिया, जिसका यहाँ (हमारी भाषा में) अनुवाद किया जा रहा है। वर्षा की आवाज ने कहा कि मैं धरती का गीत हूँ। मैं पृथ्वी एवं अथाह सागर से चुपके-चुपके निरन्तर ऊपर उठती रहती हूँ।

Question 1. 
What did the poet ask the soft-falling shower ?
कवि ने धीमे-धीमे गिरती हुई वर्षा की बौछारों से क्या पूछा ?
Answer: 
The poet asked the soft-falling shower who they were.
कवि ने धीमे-धीमे गिरती हुई वर्षा की बूंदों से पूछा कि वे कौन थीं। 

Question 2. 
What was strange to tell ?
बताने में अजीब क्या था ? 
Answer: 
That the rain spoke to the poet was strange to tell.
बताने में अजीब यह था कि वर्षा ने कवि से बात की। 

Question 3. 
What did the rain call herself ? 
वर्षा ने स्वयं को क्या कहा ? 
Answer: 
The rain called herself the ‘Poem of Earth’.
वर्षा ने स्वयं को ‘धरती का गीत’ कहा। 

Question 4. 
How is the rising rain impalpable ?
ऊपर उठती हुई वर्षा को क्यों नहीं छुआ जा सकता ? 
Answer: 
The rising rain is impalpable because it rises in the form of vapour. The process goes on unnoticed. 
उठती हुई वर्षा को इसलिए नहीं छुआ जा सकता है क्योंकि यह वाष्प रूप में होती है। यह प्रक्रिया अदृश्य तरीके से चलती है। 

Stanza 2. 

Upward to heaven, whence, vaguely form’d,
altogether changed, and yet the same, 
I descend to lave the droughts, atomies, dust-layers of the globe,
And all that in them without me were seeds only, latent, unborn; 

Word Meanings : 
upward (अपवार्ड) = upside, ऊपर की ओर। heaven (हेवन) = paradise, (here) sky, स्वर्ग (यहाँ) आकाश। whence (व्हेन्स) = from where, जहाँ से। vaguely (वेगलि) = not clearly, अस्पष्ट रूप से। formed (फॉम्ड) = taken form, रूप धारण करके। altogether (ऑलट्गेदें) = completely, पूरी तरह से, बिल्कुल। changed (चेन्जड) = different, परिवर्तित, अलग। yet (येट) = फिर भी। same (सेम) = unchanged, वही।

descend (डिसेन्ड) = come down, उतरती हूँ। lave (लेव) = wash, bathe, धोना, नहलाना, भिगोना। droughts (ड्राउट्स) = areas suffering from the absence or lack of rain, सूखाग्रस्त क्षेत्र। atomies (एटमीज) = tiny particles, छोटे-छोटे कण। dust-layers (डस्ट-लेअर्ज) = धूल की सतहें/परतें। globe (ग्लोब) world, विश्व। without (विदआउट) = बिना। seeds (सीड्ज) = बीज। latent (लेटेन्ट) = hidden, छिपे हुए। unborn (अनबॉर्न) = still inside the earth, अजन्मे।

हिन्दी अनुवाद-(वर्षा कहती है कि मैं भाप के रूप में) ऊपर आकाश की ओर उठती हूँ, जहाँ से एक बिल्कुल अलग किन्तु फिर भी वही अस्पष्ट-सा रूप धारण करके मैं विश्व के सूखाग्रस्त क्षेत्रों, छोटे-छोटे कणों और धूल की सतहों को धोने (भिगोने) नीचे उतरती हूँ और उनमें (धूल की सतहों में) जो कुछ भी है, वह सब मेरे बिना बीज रूप में ही छिपा हुआ और अजन्मा रहता है।

Question 1.
Where does the rain go ? वर्षा कहाँ जाती है ? 
Answer: 
The rain goes upward to heaven. 
वर्षा ऊपर आकाश की ओर जाती है। 

Question 2. 
What does ‘vaguely form’d’ mean?
‘अस्पष्ट रूप धारण की हुई’ का क्या तात्पर्य है ? 
Answer: 
It means rain in the form of clouds that have no clear form.
इसका तात्पर्य है-वर्षा का बादलों के रूप में होना जिनका कोई स्पष्ट रूप (आकार) नहीं होता है।

Question 3. 
How does rain bathe the earth ? 
वर्षा धरती को कैसे नहलाती है ?
Answer: 
The rain bathes the earth by washing droughts, atomies and dust layers.
सूखाग्रस्त क्षेत्रों, छोटे-छोटे कणों और धूल की परतों को धोकर वर्षा धरती को नहलाती है। 

Question 4. 
What would happen to seeds without rain ? 
वर्षा के बिना बीजों का क्या होता ? 
Answer: 
The seeds would remain hidden and unborn without rain.
वर्षा के बिना बीज छिपे हुए और अजन्मे ही रहते। 

Stanza 3. 

And forever, by day and night, 
I give back life to my own origin,
And make pure and beautify it;
(For song, issuing from its birth-place, 
after fulfilment, wandering
Reck’d or unreck’d, duly with love returns.) 

Word Meanings : forever (फॉर एवर) = always, हमेशा। own (ओन) = of oneself, अपना। origin (ऑरिजिन) = source of birth, उत्पन्न करने वाला। pure (प्युअर) = free from dirt, clean शुद्ध, साफ। beautify (ब्यूटिफाइ) = make beautiful, सुन्दर बनाना। issuing (इश्यूइंग) = coming out, उत्पन्न होकर।

birth-place (बर्थ-प्लेस) = उत्पत्ति स्थान। fulfilment (फुलफिलमण्ट) = completion, पूरा होना। wandering (वाण्डरिंग) = roaming, भटकता हुआ, घूमता हुआ। reck’d (रेक्ट) = attended, जिस पर ध्यान दिया गया हो। unreck’d (अनेरक्ट) = unattended, जिस पर ध्यान न दिया गया हो। duly (ड्युलि) = lawfully, विधिवत्, नियम से, अवश्य ही। returns (रिटेंन्ज) = comes back, वापिस आ जाता।

हिन्दी अनुवाद-(वर्षा कहती है) और मैं हमेशा, दिन-रात (लगातार) अपने जन्म के स्रोत (धरती) को वापिस जीवन देती रहती हैं, और इसे साफ और सुन्दर बनाती रहती हूँ, (क्योंकि गीत, अपने उत्पत्ति स्थान से निकलकर, पूर्णता को प्राप्त करके, इधर-उधर घूमता हुआ, चाहे उस पर ध्यान दिया जाए या न दिया जाए, नियम से अर्थात् अवश्य ही प्रेम के साथ वापिस आ जाता है।) (वर्षा का भी यही चक्र है)-अपने उत्पत्ति स्थान (धरती) से भाप के रूप में ऊपर उठना, बादलों के रूप में इधर-उधर घूमना और जल की बूंदों के रूप में प्रेम सहित वापिस धरती पर आ जाना।

Question 1. 
What is the origin of rain ? 
वर्षा का उत्पत्ति-स्थान (उद्गम) क्या है ? 
Answer: 
The earth is the origin of rain. 
वर्षा का उत्पत्ति-स्थान (उद्गम) धरती है। 

Question 2.
How does rain give back life to her origin?
वर्षा अपने उत्पत्ति-स्थान (उद्गम) को पुनः जीवन कैसे देती है ? 
Answer: 
Rain gives back life to her origin in the form of water.
वर्षा, जल के रूप में अपने उत्पत्ति-स्थान (उद्गम) को पुनः जीवन देती है। 

Question 3. 
How does rain make the earth pure and beautiful ?
वर्षा धरती को साफ व सुन्दर कैसे बनाती है ? 
Answer:
Rain makes the earth pure and beautiful by washing it and growing greenery on it.
वर्षा धरती को (अपने जल से) धोकर तथा हरियाली उगाकर साफ व सुन्दर बनाती है।

Question 4. 
How is rain like a song ? 
वर्षा गीत के समान कैसे है ? 
Answer: 
Rain, like a song, rises from her birth place, gets fulfilment and comes back with love.

वर्षा, गीत की ही भाँति, अपने उत्पत्ति-स्थल (धरती) से निकलती है, पूर्णता (बादलों के रूप में) प्राप्त करती है और प्रेम के साथ (जल की बूंदों के रूप में) वापिस आ जाती है।

Poem 3 The Voice of the Rain