Day
Night

Albert Einstein at School

Patrick Pringle

TEXTBOOK QUESTIONS

Q. 1. What do you understand of Einstein’s nature? From his conversations with his history teacher, his Mathematics teacher and the head teacher?

इतिहास के अध्यापक, गणित के अध्यापक तथा प्रधानाध्यापक से आइंस्टीन की बातचीत से आप आइंस्टीन की प्रकृति के बारे में क्या समझते हैं?

Ans. Einstein was not contented with his school education in Germany. He considered it vain. His history teacher asked him the dates of wars which were fought. He believed that learning facts was not education. For him, education meant ideas. His history teacher and the head teacher were very angry with him on that score. But his mathematics teacher had all sympathy for him. He understood how intelligent Einstein really was. The head teacher expelled him from school. He wanted to speak against him and his school, but he controlled himself. He never did a thing which he didn’t believe to be right.

आइन्स्टीन जर्मनी में अपनी स्कूली शिक्षा के बारे में सन्तुष्ट नहीं था। वह उसे व्यर्थ समझता था। उसके इतिहास के लेखक ने लड़े गए युद्धों की तारीखें पूछीं। वह मानता था कि तथ्यों को याद करना कोई शिक्षा नहीं थी। उसके लिए शिक्षा का तात्पर्य विचारों से था। इस वजह से उसका इतिहास का अध्यापक तथा मुख्य अध्यापक उससे नाराज थे। किन्तु उसका गणित का अध्यापक उससे पूरी हमदर्दी रखता था। वह जानता था कि आइन्स्टीन वास्तव में कितना बुद्धिमान था। मुख्य अध्यापक ने उसे स्कूल से निष्कासित कर दिया। आइन्स्टीन उसके तथा उसके स्कूल के विरुद्ध बोलना चाहता था किन्तु उसने स्वयं पर नियन्त्रण कर लिया। वह कभी कोई ऐसा काम नहीं करता था जिसे वह ठीक नहीं समझता था।

Q. 2. The school system often curbs individual talents. Discuss.

विद्यालयी प्रणाली में व्यक्तिगत प्रतिभा को नियन्त्रित किया जाता है। तर्क दीजिए।

Ans. It can be said that school education often curbs individual talents. School education system means, teaching in four walls. The students are compelled to read all the subjects even if they are unproductive. Actually it has been seen that schools interfere with the free growth and development of the children. They are bounded by the limits. Too many restrictions and formalities are hindrance in their development. They are forced to study the subjects which they do not like. It kills the creative instinct in children.

Children need freedom. Without freedom no physical or mental growth is possible. School education should not be heavy and dull. Means of entertainment must be provided to them. Education is not just facts, figures and dates. Education must be provided according to their choice then our schools can produce geniuses like Einstein.

ऐसा कहा जा सकता है कि विद्यालयी प्रणाली में व्यक्तिगत प्रतिभा को नियन्त्रित किया जाता है। स्कूल शिक्षा का अर्थ चारदीवारी की शिक्षा से लिया जाता है। विद्यार्थियों को वे सब विषय पढ़ने को मजबूर किए जाते हैं चाहे वे अनुत्पादक हों। वास्तव में यह देखा जाता है कि स्कूल बच्चों के उन्मुक्त विकास और उत्थान में हस्तक्षेप करते हैं। वे सीमाओं में बँधे रहते हैं। बहुत अधिक प्रतिबन्ध और औपचारिकताएँ उनके विकास में बाधा है। उन पर वे विषय पढ़ने का दबाव रहता है जो वे पसन्द नहीं करते। यह बच्चों की रचनात्मक प्रवृत्ति को नष्ट करता है।

बच्चों को आजादी की आवश्यकता है। बिना स्वतन्त्रता के शारीरिक और मानसिक विकास सम्भव नहीं है। स्कूली शिक्षा भारी और सुस्त नहीं होनी चाहिए। उनको मनोरंजन के साधन उपलब्ध कराए जाने चाहिए। शिक्षा केवल तथ्य, आँकड़े और तारीख नहीं है। शिक्षा उनकी पसन्द के अनुसार उपलब्ध करायी जानी चाहिए, तब हमारे स्कूल आइंस्टीन जैसे मेधावी व्यक्ति पैदा कर सकते हैं।

Q. 3. How do you distinguish between information gathering and insight formation?

आप सूचना संग्रह और अन्तर्दृष्टि निर्माण में कैसे अन्तर करते हो?

Ans. Education is not confined to mere information gathering. Information only keeps us well-informed about things. Albert did not like it. The value of information is not enough for a student. The history teacher asked him when the Prussians defeated the French at Waterloo. It only indicates about an information. He wanted to know anything new. That might be proved useful in life. He did not like the things learn by heart. Ideas are the basis of education. So insight formation must be the aim of education. Data collection is not important for a school student. Education must be constructive and useful for life.

The real growth and development of the mind is more important than mere information gathering. Ideas are the essence of real education, without the basics and ideas, education will be reduced to mere dead formalities and information gathering.

शिक्षा केवल सूचना संग्रहण से बाधित नहीं है। सूचनाएँ केवल चीजों के बारे में हमें जानकारी दे सकती हैं। अल्बर्ट को यह पसन्द नहीं था। सूचना का मूल्य एक विद्यार्थी के लिए पर्याप्त नहीं है। इतिहास के शिक्षक ने उससे पूछा, प्रशा ने फ्रांस को वाटरलू के युद्ध में कब पराजित किया। यह केवल एक सूचना को प्रदर्शित करता है। वह कोई नहीं जानकारी प्राप्त करना चाहता था। जो जीवन में लाभदायक साबित हो। वह किसी भी बात को कण्ठस्थ नहीं करना चाहता था। विचार ही शिक्षा का आधार होते हैं। अतः अन्तर्दृष्टि निर्माण शिक्षा का उद्देश्य होना चाहिए। आँकड़ों का संग्रह स्कूल विद्यार्थी के लिए उपयोगी नहीं है। शिक्षा निर्माणकारी और जीवनोपयोगी होनी चाहिए। मस्तिष्क का वास्तविक उत्थान और विकास सूचना संग्रहण से ज्यादा जरूरी है।

विचार वास्तविक शिक्षा के मूल तत्त्व हैं। मूल बातों तथा विचारों के बिना शिक्षा केवल मृत औपचारिकता तथा सूचना संग्रह तक ही सीमित रह जायेगी।

ADDITIONAL QUESTIONS

Short Answer Type Questions (Word Limit: 30-40 Words)

Q. 1. Why was Mr. Braun speechless for a few moments?

मिस्टर ब्रॉन कुछ क्षण के लिए अवाक् कैसे हो गये थे?

Ans. Mr. Braun, the history teacher, asked Albert in what year the Prussians defeated the French at Waterloo. Albert told him that he had no interest in learning dates. These dates could be found in books. This made Mr. Braun speechless.

मिस्टर ब्रॉन, इतिहास के शिक्षक ने अल्बर्ट से पूछा कि वाटरलू के युद्ध में प्रशा ने फ्रांस को किस वर्ष हराया था। अल्बर्ट ने कहा उसे तारीख याद रखने में कोई रुचि नहीं है। ये तारीखें पुस्तकों में तलाश की जा सकती हैं। इससे मिस्टर ब्रॉन अवाक् रह गए।

Q. 2. What punishment did the history teacher give to Albert?

इतिहास के शिक्षक ने अल्बर्ट को क्या दण्ड दिया?

Ans. Albert did not answer the question asked by the History teacher. The teacher got irritated. His eyes got cold and cruel. He ordered Albert to stay in the class for an extra period that day. He also told him a disgrace to the institution.

अल्बर्ट ने इतिहास के शिक्षक द्वारा पूछे गये प्रश्न का उत्तर नहीं दिया। अध्यापक चिड़चिड़ा हो गया। उसकी आँखों में निराशा और निर्दयता झलकने लगी। उसने अल्बर्ट को आदेश दिया कि उसे उस दिन

अतिरिक्त कालांश में स्कूल में रुकना पड़ेगा। उसने उसे विद्यालय के लिए अपमान भी कहा।

Q. 3. Explain characteristics of Einstein’s nature highlighted by the exchanges between him and the teacher.

आइंस्टीन तथा उसके अध्यापक के बीच के वार्तालाप से स्पष्ट होने वाली आइंस्टीन के स्वभाव की विशेषताएँ बतलाइए।

Ans. Scientific aptitude of Einstein’s nature is highlighted by the exchanges between him and the teacher. He was not a blind follower. For him it was not facts but ideas that

matter.

आइंस्टीन और उसके अध्यापक के बीच हुए वार्तालाप से उसके स्वभाव का वैज्ञानिक दृष्टिकोण स्पष्ट होता है। वह एक अन्ध अनुयायी नहीं था। उसके लिए तथ्य नहीं बल्कि विचार महत्त्व रखते थे।

Q. 4. What type of student was Albert Einstein? अल्बर्ट आइंस्टीन किस प्रकार का विद्यार्थी था?

Ans. Albert was neither impolite nor misbehaved. His conception about education system was quite different. He believed in creative education. No doubt he was fearless and frank. He never believed in traditional education.

अल्बर्ट न तो अशिष्ट था और न दुर्व्यवहार वाला। उसकी शिक्षा के प्रति धारणा अत्यन्त भिन्न थी। वह रचनात्मक शिक्षा में विश्वास करता था। इसमें कोई शक नहीं कि वह निडर और उन्मुक्त था। वह परम्परागत शिक्षा में कभी विश्वास नहीं करता था।

Q. 5. What did Albert think about his lodging?

अल्बर्ट अपने आवास के बारे में क्या सोचता था?

Ans. Albert did not like his lodging. His room was in the poorest quarters of Munich. The landlady often beat her children and her husband beat her on every Saturday when he returned home drunk. He hated the atmosphere of slum violence.

अल्बर्ट को अपना आवास पसन्द नहीं था। उसका कमरा म्युनिख के सबसे गरीब क्वार्टरों में था। मकान मालकिन प्रायः अपने बच्चों को पीटा करती थी और जब शनिवार को उसका पति पिए हुए घर लौटता तो उसकी पिटाई करता था। वह गंदी बस्ती की हिंसा से घृणा करता था।

Q. 6. What did Elsa think of Albert?

एल्सा अल्बर्ट के बारे में क्या सोचती थी?

Ans. Elsa was Albert’s cousin. She assured Albert that he could pass if he studied enough. She told him that she knew many students more stupid than Albert. Yet they got through the examinations. So he also should try to pass the examination.

एल्सा अल्बर्ट की चचेरी बहिन थी। उसने अल्बर्ट को विश्वास दिलाया कि यदि वह अध्ययन करे तो सफल हो जायेगा। उसने कहा कि वह अल्बर्ट से ज्यादा बेवकूफ विद्यार्थियों को जानती है। फिर भी वे परीक्षा में पास हो जाते हैं। इसलिए उसे भी परीक्षा में पास होने की कोशिश करनी चाहिए।

Q. 7. What did Albert tell Yuri when he met him after six months in Munich?

अलबर्ट ने यूरी से क्या कहा जब वह छ: माह बाद उससे म्युनिख में मिला था?

Ans. Albert explained Yuri that it was foolish for him (for Albert) to go on like that. He had realised that he had been wasting his father’s money and even one’s time. It would be better if he stopped his studies.

अल्बर्ट ने यूरी को स्पष्ट कर दिया कि इस प्रकार चलना उसके लिए (अल्बर्ट के लिए) मूर्खता होगी। उसने महसूस किया कि वह अपने पिताजी का धन और स्वयं का समय नष्ट कर रहा था। यह अच्छा होगा कि वह अपनी पढ़ाई बन्द कर दे।

Q. 8. What advice did Yuri give to Albert before meeting Dr. Ernst Weil?

यूरी ने अल्बर्ट को डॉक्टर अस्ट वेल से मिलने से पहले क्या सलाह दी थी?

Ans. Yuri advised Albert not to deceive Dr. Ernst Weil. He must tell everything clearly. He must be frank with him. He mustn’t pretend to be sick. He must behave honestly and normally.

यूरी ने अल्बर्ट को सलाह दी कि वह डॉ. अन्स्ट वेल को धोखा न दे। उसे प्रत्येक बात को साफ-साफ कह देना चाहिए। उसे स्पष्टवादी होना चाहिए। उसे बीमार होने का बहाना नहीं बनाना चाहिए। उसे ईमानदारी

और सामान्य रूप से बर्ताव करना चाहिए।

Q. 9. What advice did Yuri give to Albert after receiving the medical certificate issued by Dr. Ernst Weil.

डॉ. अन्स्ट वेल द्वारा जारी प्रमाण-पत्र प्राप्त करने के पश्चात् यूरी ने अल्बर्ट को क्या सलाह दी?

Ans. Yuri advised him that it was a right step. He could get rid of school for six months. That was a good period. It would be possible for him to come back to school and then continue with his diploma.

यूरी ने उसे सलाह दी कि यह एक सही कदम था। वह छह माह तक स्कूल से छुटकारा पा सकता था। यह अवधि एक अच्छा समय थी। इससे उसे वापस स्कूल आना सम्भव हो जाएगा और तब अपने डिप्लोमा की पढ़ाई चालू रखेगा।

Q. 10. What did Mr. Koch think of Albert?

श्रीमान् कोच अल्बर्ट के विषय में क्या सोचता था?

Ans. Mr. Koch thought that he could not teach Albert any more. He also thought probably Albert would soon be able to teach him (Mr. Koch). Albert was very good at

Mathematics.

श्रीमान् कोच सोचता था कि वह अल्बर्ट को और नहीं पढ़ा सकता। उसने यह भी सोचा शायद अल्बर्ट जल्दी ही उसे (कोच को) पढ़ाने लायक हो जायेगा। अल्बर्ट गणित में बहुत अच्छा था।

Q. 11. What did Albert think just after he was summoned to the head teacher’s room?

प्रधानाध्यापक के कक्ष में बुलाए जाने के ठीक बाद अल्बर्ट ने क्या सोचा?

Ans. He thought that it would save him the trouble of having to wait an hour or two outside. Then he thought that he was to be punished again for bad work and laziness. But he didn’t mind. He was prepared to face any situation.

उसने सोचा कि इससे उसका बाहर इन्तजार करने का एक या दो घण्टे का समय बचेगा। फिर उसने सोचा उसे पुनः खराब कार्य और आलसीपन के लिए सजा दी जायेगी। लेकिन उसने परवाह नहीं की। वह हर परिस्थिति का सामना करने को तैयार था।

Q. 12. What reasons did the head teacher give for expelling Albert from school?

मुख्य अध्यापक ने अल्बर्ट को स्कूल से निकालने के लिए क्या कारण दिये?

Ans. The head teacher told him that his presence in the classroom made it impossible for the teacher to teach and for the pupils to learn. He was in constant rebellion and no serious work could be done while he was there.

मुख्य अध्यापक ने उससे कहा कि उसकी उपस्थिति अध्यापक के लिए पढ़ाना तथा छात्रों के लिए सीखना असम्भव कर देती थी। वह हमेशा विद्रोही रहता था तथा जब तक वह वहाँ था कोई भी गम्भीर कार्य नहीं किया जा सकता था।

Q. 13. How did Albert hope to get into an Italian college or institute?

अल्बर्ट को कैसे आशा थी कि उसे इटली के कॉलेज या संस्थान में प्रवेश मिल जावेगा?

Ans. Albert believed that his Mathematics teacher would issue him a reference in writing. Albert was good at Mathematics. Mr. Koch issued him a reference that Einstein had learnt all Mathematics taught at school and a bit more.

अल्बर्ट को विश्वास था कि उसका गणित का अध्यापक उसे लिखित में सन्दर्भ-पत्र दे देगा। अल्बर्ट गणित में बहुत अच्छा था। मि. कोच ने उसे सन्दर्भ-पत्र लिख कर दे दिया कि आइंस्टीन ने स्कूल में पढ़ाया तमाम गणित सीख लिया अपितु उससे भी कुछ ज्यादा।

Q. 14. Why did Albert feel the medical certificate almost burning a hole in his pocket?

अल्बर्ट ने मेडिकल प्रमाण-पत्र अपनी जेब में व्यर्थ क्यों समझा?

Ans. Albert arranged a medical certificate from Dr. Ernst Weil. He thought that he would get rid of school. The head teacher scolded him and ordered him to expel from school. He felt the certificate almost burning a hole in his pocket.”

अल्बर्ट ने डॉ. अन्स्ट वेल से प्रमाण-पत्र की व्यवस्था कर ली थी। उसने सोचा कि उसे स्कूल से छुटकारा मिल जावेगा। प्रधानाध्यापक ने उसे फटकारा और स्कूल से निकालने का आदेश दिया। उसे जेब में रखा हुआ प्रमाण-पत्र व्यर्थ नजर आया।

II. Long Answer Type Questions (Word Limit : 50-60 Words)

Q. 1. Why did Albert feel a nervous breakdown when he met doctor Ernst Weil?

जब अल्बर्ट डॉक्टर अन्स्ट वेल से मिला तो उसे घबराहट क्यों हो रही थी?

Ans. Albert needed a medical certificate from a doctor. If the doctor could certify that he suffered from a nervous breakdown, he would stay away from school. But Albert was a simple and straight-forward boy. He had spent the whole day wondering what to tell the doctor. He was so much worried that he was about to have a nervous breakdown.

अल्बर्ट को एक चिकित्सक का चिकित्सा प्रमाण-पत्र की आवश्यकता थी। यदि डॉक्टर यह प्रमाणित कर दे कि वह घबराहट की बीमारी से पीड़ित है तो वह स्कूल से दूर हो जायेगा। लेकिन अल्बर्ट एक सीधा और स्पष्टवादी व्यक्ति था। उसका सारा दिन इसी बात का आश्चर्य करते हुए बीत गया कि वह डॉक्टर को क्या कहे। वह इतना चिन्तित हो गया था कि लगभग उसे घबराहट की बीमारी सी होने लगी।

Q. 2. How did Albert Einstein decide to get rid of this school?

अल्बर्ट ने उस स्कूल से छुटकारा पाने का कैसे निश्चय किया? .

Ans. Albert felt uneasiness in the school. He was not satisfied with what he was taught. After his encounter with history teacher he felt insulted. He decided to get rid of this school by producing a false certificate from a doctor. The doctor certified that he had suffered a nervous breakdown. It would serve his purpose.

. अल्बर्ट स्कूल में बेचैनी महसूस करने लगा। उसे जो पढ़ाया जाता उससे वह सन्तुष्ट नहीं था। अपने इतिहास-शिक्षक के साथ विरोध होने पर वह स्वयं को अपमानित महसूस करता था। वह डॉक्टर से झूठा प्रमाण-पत्र प्राप्त कर स्कूल से छुटकारा प्राप्त करना चाहता था। डॉक्टर ने प्रमाणित कर दिया कि वह घबराहट की बीमारी से पीड़ित था। यह उसके उद्देश्य को पूरा कर देगा।

Q. 3. What did Albert tell Dr. Ernst Weil to get a certificate?

प्रमाण-पत्र प्राप्त करने के लिए अल्बर्ट ने डॉ. अन्स्ट वेल से क्या कहा?

Ans. Albert told him that he did not like to study in that school any more. If he got certificate he could get rid of school and go to Milan where his parents lived. Dr. Ernst asked him what he would do there. Albert told him that he would try to get admission into some Italian college or institution.

अल्बर्ट ने उससे कहा कि वह उस स्कूल में और पढ़ना नहीं चाहता था। यदि उसे प्रमाण-पत्र मिल जाए तो उसे स्कूल से छुटकारा मिल सके और मिलान जा सके जहाँ उसके माता-पिता रहते थे। डॉक्टर अन्स्ट ने उससे पूछा वह वहाँ क्या करेगा? अल्बर्ट ने उससे कहा वह वहाँ किसी इटालियन कॉलेज या संस्था में प्रवेश लेने की कोशिश करेगा।

Q. 4. Why did Yuri call Albert ‘the world’s worst liar’?

यूरी ने अल्बर्ट को ‘संसार का सबसे बुरा झूठा’ क्यों कहा?

Ans. Yuri knew that Albert was a simple and straight-forward boy. He wanted to have false certificate from a doctor. But he didn’t know how to tell a lie. When Albert went to get a certificate he began to feel nervous breakdown. Therefore Yuri called him the world’s worst liar’. यूरी जानता था कि अल्बर्ट एक सरल और स्पष्टवादी व्यक्ति था। वह डॉक्टर से झूठा प्रमाण-पत्र लेना चाहता था। लेकिन वह झूठ बोलना नहीं जानता था। जब अल्बर्ट प्रमाण-पत्र लेने गया तो उसे घबराहट होने लग गई। इसलिए यूरी ने उसे ‘संसार का सबसे बुरा झूठा’ बतलाया।

Q. 5. Write a short note on Yuri.

यूरी पर एक संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

Ans. Yuri was a true friend of Einstein during his school days in Munich. He stood by Einstein and consoled him when he felt miserable. Einstein told him that if a doctor certified that he had a nervous break-down he could get away from school. Yuri found him a doctor, Dr. Ernst Weil, who gave him a medical certificate.

म्यूनिख में स्कूल के दिनों के दौरान यूरी आइंस्टीन का सच्चा दोस्त था। वह आइंस्टीन का साथ देता था और जब भी वह दुःखी महसूस करता उसे सांत्वना देता था। आइंस्टीन ने उससे कहा कि यदि कोई डॉक्टर यह प्रमाणित कर दे कि उसे घबराहट की बीमारी है तो वह स्कूल से दूर जा सकता था। यूरी ने उसके लिए एक डॉक्टर, डॉक्टर अस्ट वेल, ढूँढ़ा जिसने उसे मेडिकल प्रमाण-पत्र दे दिया।

Q. 6. What impression did Einstein form of his educational institute?

आइंस्टीन पर अपने शिक्षण संस्थान के स्वरूप का क्या प्रभाव पड़ा?

Ans. Einstein did not form a good impression of his educational institute. He did not believe in traditional education. He believed that education should be creative and according to the student’s desire. He should not be compelled to study what he did not like. He did not believe in learning the dates of history. He thought that education should be useful for life.

आइंस्टीन पर उसके शैक्षिक संस्थान का प्रभाव अच्छा नहीं था। वह परम्परागत शिक्षा में विश्वास नहीं करता था। उसका विश्वास था कि शिक्षा रचनात्मक होनी चाहिए तथा विद्यार्थी की रुचि के अनुसार होनी चाहिए। उसे जो वह पसन्द नहीं करता उसे पढ़ने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। वह इतिहास की तारीखें याद करने में विश्वास नहीं करता था। वह सोचता था कि शिक्षा जीवन के लिए उपयोगी होनी चाहिए।

Q. 7. Describe the interview with the head teacher.

प्रधानाध्यापक से साक्षात्कार का वर्णन करो।

Ans. Einstein was summoned by the head teacher to his room. He told Albert that he wanted him to leave the school. He asked the head teacher if he was to be expelled. The head teacher said that Albert’s presence made it impossible for the teachers to teach and pupils to learn. No serious work could be done as long as he was there.

का आइंस्टीन को प्रधानाध्यापक ने अपने कक्ष में बुलाया। उसने अल्बर्ट से कहा कि वह चाहता है कि वह स्कूल छोड़ दे। उसने प्रधानाध्यापक से पूछा कि क्या उसे निकाला गया था? प्रधानाध्यापक ने कहा कि अल्बर्ट की उपस्थिति ने अध्यापकों का पढ़ाना असम्भव कर दिया और विद्यार्थियों का पढ़ना असम्भव कर दिया। कोई भी गम्भीर कार्य नहीं किया जा सकता जब तक वह वहाँ है।

0:00
0:00