Day
Night

Chapter 9 सजीव: विशेषताएँ एवं आवास

पाठान्त अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
आवास किसे कहते हैं?
उत्तर:
आवास:
किसी भी प्राणी के रहने के उस विशेष स्थान को जहाँ पर उसे पर्याप्त मात्रा में भोजन मिले तथा वह स्थान जहाँ उसे तथा उसके बच्चों को सुरक्षा प्राप्त हो, आवास कहलाता है।

प्रश्न 2.
कैक्टस मरुस्थल में जीवनयापन के लिए किस प्रकार अनुकूलित है?
उत्तर:
कैक्टस में मरुस्थलीय वास स्थान के लिए निम्नलिखित अनुकूलन पाए जाते हैं –

  1. वाष्पोत्सर्जन द्वारा जल की बहुत कम मात्रा निष्कासित होती है।
  2. पत्तियाँ काँटों (शूल) में परिवर्तित हो जाती हैं जिससे वाष्पोत्सर्जन द्वारा जल की हानि रुक जाती है।
  3. इसका तना पत्ती के समान हरा, चपटा तथा मोमी परत से ढका होता है, जिससे पौधों को जल-संरक्षण में सहायता मिलती है।
  4. इन पौधों की जड़ें जल अवशोषण के लिए मिट्टी में बहुत गहराई तक चली जाती हैं।

प्रश्न 3.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

  1. पौधे एवं जन्तुओं में पाए जाने वाले विशिष्ट लक्षण जो उन्हें आवास विशेष में रहने योग्य बनाते हैं, …….. कहलाते हैं।
  2. स्थल पर पाए जाने वाले पौधों एवं जन्तुओं के आवास को …….. आवास कहते हैं।
  3. वे आवास जिनमें जल में रहने वाले पौधे एवं जन्तु रहते हैं, …….. आवास कहलाते हैं।
  4. मृदा, जल एवं वायु किसी आवास के ……… घटक हैं।
  5. हमारे परिवेश में होने वाले परिवर्तन जिनके प्रति हम अनुक्रिया करते हैं, ……. कहलाते हैं।

उत्तर:

  1. अनुकूलन।
  2. स्थलीय।
  3. जलीय।
  4. अजैव।
  5. उद्दीपन।

प्रश्न 4.
निम्नलिखित सूची में कौन-सी निर्जीव वस्तुएँ हैं?
हल, छत्रक, सिलाई मशीन, रेडियो, नाव, जलकुम्भी, केंचुआ।
उत्तर:
निर्जीव वस्तुएँ: हल, सिलाई मशीन, रेडियो, नाव।

प्रश्न 5.
किसी ऐसी निर्जीव वस्तु का उदाहरण दीजिए जिसमें सजीवों के दो लक्षण दिखाई देते हैं।
उत्तर:
निर्जीव वस्तु का उदाहरण-चन्द्रमा। इसमें सजीवों के दो लक्षण दिखाई देते हैं –

  1. आकाश में चन्द्रमा गति करता है।
  2. इसके आकार में वृद्धि होती है।

प्रश्न 6.
निम्न में से कौन-सी निर्जीव वस्तुएँ किसी समय सजीव का अंश थीं? मक्खन, चमड़ा, मृदा, ऊन, बिजली का बल्ब, खाद्य तेल, नमक, सेब, रबड़।
उत्तर:
निर्जीव वस्तुएँ जो किसी समय सजीव का अंश थीं मक्खन, चमड़ा, ऊन, खाद्य तेल, सेब, रबड़।

प्रश्न 7.
सजीवों के विशिष्ट लक्षण सूचीबद्ध कीजिए।
उत्तर:
सजीवों के विशिष्ट लक्षण:

  1. सजीवों में निम्नलिखित लक्षण पाए जाते हैं –
  2. सजीवों में वृद्धि होती है।
  3. सभी सजीव कोशिकाओं के बने होते हैं।
  4. सजीव श्वसन करते हैं।
  5. सजीवों में पोषण होता है।
  6. सजीवों में उद्दीपन होता है।
  7. सजीव गति करते हैं।
  8. सजीवों में अपशिष्ट पदार्थों का उत्सर्जन होता है।
  9. सजीवों में प्रजनन होता है।
  10. सजीवों का एक निश्चित जीवन काल होता है अर्थात्

इनकी मृत्यु तय है।

प्रश्न 8.
घास के मैदानी क्षेत्रों में रहने वाले जन्तुओं को अपना अस्तित्व बनाए रखने के लिए तीव्र गति क्यों आवश्यक है?
उत्तर:
घास के मैदानी क्षेत्रों में शक्तिशाली शेर जैसे जन्तु तथा हिरण आदि जैसे कमजोर जन्तु रहते हैं। घास स्थल आवासों में छिपने के लिए वृक्षों की संख्या कम होती है। इसलिए शक्तिशाली जन्तु कमजोर जन्तुओं को आसानी से अपना शिकार बना लेते हैं। हिरण जैसे जन्तुओं को अपने शिकारी से बचने के लिए तेज गति उसे शिकारी से दूर भागने में सहायक होती है। वृक्षों की संख्या कम होने से उन्हें भागने में आसानी रहती है।

0:00
0:00