Day
Night

5 Quality

आपके पढ़ने से पहले – क्या एक जूते बनाने वाले को कलाकार कहा जा सकता है? हाँ, अगर उसके व्यापार में वही | कुशलता और गर्व है जो किसी अन्य कलाकार में है और वही सम्मान भी है। श्रीमान गेसल जते बनाने वाले एक जर्मन व्यक्ति अब लन्दन में रहते हैं, एक प्रवीण कलाकार है। आप इस कहानी को पढिए कि वह अपनी कला हेत अपने जीवन को किस तरह से समर्पित करता है। 

अनुवाद – I knew him from ……………………. pair of Russian – leather boots?”(Pages 71-72) 

कठिन शब्दार्थ-extreme (इक्स्ट्रीम्) = यथासंभव अधिकतम । youth (यूथ्) = जवान। distinction (डिस्टिङ्क्शन्) = व्यक्तियों या वस्तुओं के बीच में स्पष्ट या सार्थक अन्तर। seem (सीम्) = प्रतीत होना। still (स्टिल) = अभी भी। mysterious (मिस्टिअरिअस्) = रहस्यमय। wonderful (वन्ङफ्ल्) = बहुत बढ़िया, आश्चर्यजनक । shy (शाइ) = संकोची, शर्मीला । stretching (स्ट्रेचिङ्) = खिंचते हुए। awfully (ऑक्लि) = बहुत, बहुत अधिक।

beard (बिअड्) = दाढ़ी। id is an ardt (जर्मन भाषा के प्रभाव के कारण) it is an art (इट् इज् एन् आट)-यह कला है। lasted terribly (लास्टिड टेरब्लि) = जिसका अन्त बहुत लम्बा हो। essence (एसन्स्) = सारतत्व। stitch (स्टिच्) = टांका। restfully (रेस्टक्लि ) = शांति से। guttural (गॅट्रल) = कण्ठ्य ध्वनि। narrow (नैरो) = संकरा। apron (एप्रन्) = ऐप्रन। blink (ब्लिङ्क्) = आँखें झपकाना या मिचकाना। 

हिन्दी अनुवाद-मैं उसे अपनी यथासम्भव अधिकतम जवानी के दिनों से जानता था क्योंकि उसने मेरे पिताजी के जूते बनाए थे। वह दुकान में अपने बड़े भाई के साथ रहता था, जो कि लन्दन के अत्यधिक फैशनेबल भा के एक छोटी सी गली में थी। दुकान में एक निश्चित खास सार्थक अन्तर था। इस पर कोई निशान नहीं था केवल इस पर गेसलर ब्रदर्स नाम लिखा था और इसकी खिड़की में जूतों के कुछ जोड़े रखे थे।

वह केवल वही जूते बनाता जिसका आदेश उसे मिलता | था और जो कुछ उसने बना दिया था वे कभी भी सही तरीके से पैरों में आने में असफल नहीं होते थे। जूते बनाना जैसे जूते वह बनाता था-तब मुझे प्रतीत होता था और अभी भी मुझे प्रतीत होता है यह रहस्यमय और बहुत बढ़िया प्रतीत होते थे। 

मुझे मेरी शर्मीली टिप्पणियाँ अच्छी तरह से याद हैं, एक दिन जब मैं उसे मेरा जवानी से भरपूर पैर फैलाकर दिखा रहा था। “श्रीमान गेसलर, क्या यह बहुत कठिन कार्य करना नहीं है?” और उसका उत्तर जो कि वह एक अचानक आई मस्कराहट के साथ देता था जो उसकी दाढी के लाल रंग से बाहर आती थी “यह एक कला है।” उसके पास प्रायः जाना संभव नहीं था, उसके जूते बहुत लम्बे समय बाद समाप्त (टूटते) होते थे जो अस्थायी से काफी ऊपर थे। उसमें जूतों का कोई सारतत्व सिला जाता था। 

कोई एक अन्दर गया, उस प्रकार से नहीं जैसे किसी दूसरी दुकान में जाता हो, लेकिन आराम से जैसे कोई चर्च में जाता है और लकड़ी की उस एक कुर्सी पर बैठ गया और इन्तजार किया। गले की एक आवाज और उसकी चप्पलों की टिप टेप की ध्वनि जो लकड़ी की संकरी सीढ़ियों पर चढ़ने से आती और वह बिना कोट पहने किसी के सामने खड़ा हो जाता, थोड़ा सा झुकता, चमड़े का एक ऐन पहने, बाँहों को मोड़े, आँखों को झपकाते हुए मानो कि जूतों के सपनों से जगा हो। और मैं कहता, “श्रीमान गेसलर आप कैसे हैं? क्या आप मेरे लिए चमड़े का एक रूसी जूतों का जोड़ा बना सकते हैं?” 

Without a word he ……………. hardships of his trade. (Pages 72-74) 

कठिन शब्दार्थ-retiring (रि’टाइअरिङ्) = अकेले में छोड़कर जाना। whence (वेन्स्) = जहाँ से। creak (क्रीक्) = चरमराता। statement (स्टेट्मन्ट) = वाक्य । “Id shouldn’d ‘ave greaked” (it should not have creaked) = यह चरमराहट नहीं करना चाहिए। “You god dem wed before dey| found demselves” (you got them wet before they found themselves) = तुमने उनको उनके गीला होने से पहले गीला कर दिया। memory (मेमरि) = याददाश्त। mention (मेंशन) = बताया। grave (ग्रेव) = गंभीर या प्रतिकूल। zend dem back (send them baek) (सेन्ड दैम बैक) = उनको वापस भेज देना | zome (some) (सम्) = कुछ। boods (boots) (बूट्स) = जूते। are bad from birdt. 

If I can do noding wid dem I take dem off your bill (are bad from birth. If I can do nothing with them I take them off your bill = कुछ जूते जन्म से खराब होते हैं। यदि मैं उनका कुछ नहीं कर सका तो मैं तुम्हारे बिल से उनको हटा दूंगा। absent mindedly (ऐब्सन्ट् माइन्डिड्लि) = अनमनेपन से। bought (बॉट्) = खरीदा। emergency (इमजन्सि) = आपातकाल। penetrate (पेनिट्रेट) = भेदना, भातर जाना।

inferior (इन्फिअरिअ(र)) = निम्न या निम्नतर स्थिति का, घटिया। Dose are nod my boods (those are not my boots) = वे मेरे जूते नहीं हैं। contempt (कन्टेम्प्ट) = अवज्ञा, तिरस्कारपूर्ण। froze (फ्रोज) = जमा देना। Id’urds’ you dere (it hurts you there) = यह आपको यहां हानि प चाता है। Dose big virms’ave no self respect (Those big firms have no self respect) = उन बड़ी संस्थानों का कोई आत्म सम्मान नहीं है। hardships (हाड्शिप्स) = कठोरता। trade (ट्रेड्) = व्यापार। 

हिन्दी अनुवाद-बिना एक शब्द बोले वह मुझे अकेला छोड़ गया जब वह वापस आया या दुकान के दूसरे भाग में आया, मैं लगातार रूप से लकड़ी की कुर्सी पर बैठा उसके व्यापार की गंध लेता रहा। वह जल्दी ही वापस आया, उसके हाथ में पीला भूरे रंग का चमड़ा था। उसकी आँखें उस पर जमी हुई थीं। वह टिप्पणी करेगा, “कितना सुन्दर टुकड़ा है!” जब मैंने भी उसकी प्रशंसा की, वह फिर से बोलेगा। “आपको वे कब चाहिए?” और मैं जवाब देता,

“ओह! जितना जल्दी से जल्दी आसानी से आप दे सकें।” और वह कहेगा “कल के पखवाड़े में?” या यदि उसका बड़ा भाई होता, : “मैं अपने भाई से पूछंगा।” । तब मैं धीरे से बुदबुदाता, “धन्यवाद! आपको सुप्रभात श्रीमान गेसलर”, “सुप्रभात”, वह जवाब देगा, वह अभी भी अपने हाथ के चमड़े को देख रहा है। और जैसे ही मैं दरवाजे के पास गया, मैं उसकी चप्पलों की टिप टेप जो सीढ़ियों के ऊपर जा रही थी, सुन सकता था : उसके जूतों का स्वप्न। 

मैं उस दिन को नहीं भूल सकता हूँ जब मेरे पास यह कहने का अवसर था; “श्रीमान गेसलर, हैं कि वह पिछला जूतों का जोड़ा चरमराहट कर रहा था।” . उसने बिना जवाब दिए कुछ समय तक मेरी ओर देखा, मानो कि मुझसे अपने वाक्यों को अच्छा करने या वापस लेने की उम्मीद कर रहा हो। तब बोला, “यह चरमराहट नहीं करना चाहिए।” “मुझे अफसोस है कि यह कर रहा था।” 

“आपने उनके स्वयं के गीला होने से पहले उन्हें गीला कर दिया” “मैं ऐसा नहीं मानता हूँ।” इस पर उसने अपनी आँखों को झुका लिया मानो कि वह उन जूतों को याद कर रहा हो और मुझे दुःख हुआ कि मैंने उसे यह प्रतिकूल बात उसे कही।” “उनको वापस भेज देना” उसने कहा, “मैं उनको एक बार देख लूँगा।”

वह लगातार धीरे से बोलता रहा, “कुछ जूते प्रारम्भ से ही बुरे होते हैं। अगर मैं उनका कुछ नहीं कर सका तो मैं आपके बिल से उनको हटा दूंगा।” . एक बार (केवल एक बार) मैं उसकी दुकान में अनमनेपन से एक बड़ी दुकान से आपातकाल में खरीदे हुए जूते | पहन कर गया। उसने मुझे बिना कोई चमड़ा दिखाए मेरा आदेश ले लिया और मैं महसूस कर सकता था कि उसकी आँखें मेरे जूतों के कमजोर आवरण को आर-पार कर देख रही थीं। अंत में उसने कहा, “वे मेरे जूते नहीं हैं।” 

उसके स्वर में न गुस्सा, न दुःख और न ही तिरस्कार था, मगर इसमें कुछ ऐसा था जो पूरी तरह से खून को जमा दे। उसने अपने हाथों को नीचे किया और उस स्थान पर अपनी अंगुली रखी जहाँ पर बायां जूता पूरी तरह से आरामदायक नहीं था। “यह आपको यहाँ पर नुकसान कर रहा है। उसने कहा “वे बड़े संस्थान अपना आत्म-सम्मान नहीं रखते हैं।” और तब, मानो कि किसी ने उसके अन्दर कुछ दिया हो, वह बहुत देर तक और कड़वाहट से बोलता रहा। यह केवल एकमात्र समय था, जब मैंने उसको उसके व्यापार की दशाओं और कठोरताओं पर चर्चा करते सुना था। 

“Dey get id all ……………………… him last Wednesday week.” (Pages 75-76) 

कठिन शब्दार्थ – dey get id all (they get it all) = उनको वह सब मिलता है। dey get id by advertisement, nod by work. Dey take id away from us, who lofe our boods. Id gomes to dis-bresently I haf no work. Every year id gets less. (They get it by advertisement, not by work. They take it away from us, who love our boots. It comes to this presently I have no work. Every year it gets less.) = वे विज्ञापन से इसे प्राप्त कर लेते हैं। कार्य के द्वारा नहीं प्राप्त करते। वे इसे हमारे पास से ले जा रहे हैं जो हमारे जूतों से प्रेम करता है। यह उसके पास आता है- इस समय मेरे पास कोई कार्य नहीं है। प्रत्येक साल यह कम होता जा रहा है। lined (लाइन्ड्) = रेखाएँ पड़ा हुआ। struggle (स्ट्रगल) = संघर्ष। explain (इक्स्प्ले न्) = विस्तार से बताना। circumstance (सकम्स्टन्स्) = परिस्थितियाँ, हालात । 

ill omen (इल-ओमन्) = अपशकुन। impression (इम्प्रेशन) = प्रभाव। peer (पि'(र)) = किसी व्यक्ति या वस्तु को समीप से ध्यानपूर्वक देखना। I am breddy well (I am pretty well) = मैं अच्छा हूँ। ‘but my elder brudder is dead (but my elder brother is dead) = मगर मेरा बड़ा भाई मर चुका है। indeed (इन्डीड्) = वास्तव में। wan (वॉन्) = पीला पड़ा हुआ, बीमार या थका हुआ। murmur (मम(र)) = बड़बड़ाना, निम्न स्वर में कुछ कहना।

indicate (इन्डिकेट) = बताना, इशारा करना। Do you wand any boods (Do you want any boots) = क्या आपको कोई जूते चाहिए। Id’s a beaudiful biece (it’s a beautiful piece) = यह एक सुन्दर चीज़ है। abroad (अब्रॉड्) = विदेश। genuinely (जेन्युइन्लि ) = ईमानदारी से। id is a zlack dime (it is a slack time) = यह मंदी का समय है। slack (स्लेक्) = शिथिल, ढीला। splendidly (स्प्लेन्डिड्लि) = बहुत शान से। pleasure (प्लेश(र)) = प्रसन्नता से, खुशी से। 

हिन्दी अनुवाद-“उनको वह सब मिलता है।” उसने कहा, “उनको यह विज्ञापन से मिल जाता है, कार्य | करने के द्वारा प्राप्त नहीं होता है। वे इसे हमारे पास से ले जा रहे हैं उनको जो हमारे जूतों से प्रेम करता है । यह उसके पास आता है-इस समय मेरे पास कोई कार्य नहीं है। प्रत्येक साल यह कम होता जा रहा है। आप यह देखेंगे।” और | उसके रेखाएँ पड़े हुए चेहरे की ओर मैंने देखा। मैंने उन बातों को ध्यान से देखा जिनको मैंने पहले नहीं देखा था, कड़वी बातें और कड़वा संघर्ष और कितने अधिक सफेद बाल जो अचानक से उसकी लाल दाढी में प्रतीत हो रहे थे! 

जितना अधिक अच्छा मैं कर सकता था मैंने उसे उन अपशकुनी जूतों के बारे में सभी परिस्थितियाँ विस्तार से बताईं। मगर उसके चेहरे और आवाज ने ऐसा प्रभाव जमाया कि अगले कुछ मिनटों में मैंने बहुत सारे जूतों का आदेश दे दिया। वे कभी पहले चलने वाले जूतों की तुलना में अधिक समय तक चले और मैं उसके पास दो साल से जा नहीं सका था। कान पर अगली बार जाने से पहले कई महीने हो गये थे। इस बार यह उसका बड़ा भाई लगा, उसने चमड़े का एक टुकड़ा दिया। 

मैंने कहा, “श्रीमान गेसलर, आप कैसे हैं?” वह मेरे पास आया और मुझे ध्यान से देखने लगा। “मैं अच्छा | हूँ।” उसने धीरे से कहा, “मगर मेरे बड़े भाई की मौत हो चुकी है।” मैंने देखा कि यह वास्तव में वही था मगर कितना बड़ा और पीला पड़ गया था! और मैंने कभी भी उसे उसके बड़े भाई के बारे में बताते हुए नहीं सुना था। अत्यधिक सदमे से, मैं बड़बड़ाया, “ओह! मुझे बहुत दुःख है।” 

“हाँ” उसने जवाब दिया।”वह अच्छा आदमी था, वह अच्छे जूते बनाता था। मगर वह मर गया है।” और उसने अपने सिर के ऊपरी भाग को छुआ जहां से बाल अचानक चले गए थे, वह इतना पतला था जितना कि उसका गरीब भाई था। इशारे से बताते हुए, मैंने उसकी मौत के कारण की कल्पना की थी। “क्या आपको कोई जूते चाहिए?” और उसके हाथ के चमड़े को उसने ऊपर उठाकर कहा, “यह एक अच्छी चीज है।” | मैंने कई जोड़ियाँ बनाने का आदेश दिया। उनके आने के बहुत पहले की बात थी-मगर वे हमेशा से अच्छे ही थे। कोई उनको केवल पहन नहीं सकता था। और इसके शीघ्र बाद मैं विदेश चला गया था। 

मुझे वापस लन्दन आए एक साल से भी अधिक हो गया था और पहली दुकान जिस पर मैं गया था वो मेरे दोस्त की थी। मैं साठ साल के एक व्यक्ति को छोड़कर गया था; मैं एक पचहत्तर साल के व्यक्ति के पास वापस आया था जो थका हुआ और पतला पड़ गया था, जो ईमानदारी से एकदम से मुझे नहीं जाना। “क्या आपको कोई जूते चाहिए?” उसने कहा। “मैं उनको जल्दी से बना स मंदी का समय है।” मैंने जवाब दिया, “कृपया, कृपया! मुझे जूते चाहिए हर प्रकार के।”। 

मैं उन जूतों के बारे में सोच चुका था कि वे कभी नहीं आयेंगे तभी एक शाम वे आये। एक-एक करके मैंने उन सबको पहन कर देखा। आकृति और आकार में, साज-सज्जा और चमड़े की गुणवत्ता में वे सबसे अच्छे थे जो उसने कभी बनाये थे। मैं जल्दी से नीचे गया, एक चैक लिखा और मेरे स्वयं के हाथों से इसे डाक में डाला। एक सप्ताह बाद उस छोटी गली से जाते समय मैंने सोचा कि मैं अन्दर जाऊँ और उसे यह बताऊं कि कितने शान | से वे जूते मेरे पैरों में आए हैं। मगर जब मैं उस जगह पहुँचा जहाँ पर उसकी दुकान थी, उसका नाम वहाँ से जा चुका था। 

मैं अत्यधिक व्यथित होकर अन्दर गया। दुकान में, अंग्रेज के चेहरे वाला एक युवा व्यक्ति था। “क्या श्रीमान गेसलर अन्दर हैं?” मैंने कहा। उसने कहा, “नहीं श्रीमान, नहीं हैं मगर हम अत्यधिक प्रसन्नता के साथ कुछ भी सेवा करेंगे। हमने दुकान को ले लिया है।” “हाँ, हाँ”, मैंने कहा, “मगर श्रीमान गेसलर?” उसने जवाब दिया, “ओह! मृत्यु हो गई।” “मृत्यु हो गई! मगर मैंने पिछले बुधवार के सप्ताह ही उससे जूते प्राप्त किये थे।” 

“Ah!” he said, “poor old man ……….. made good boots.” 

(Pages 77-78) कठिन शब्दार्थ-starve (स्टाव्) = भूखा मारना । except (इक् ‘सेप्ट्) = इसके सिवा । competition (कॉम्पटिश्न्) = प्रतियोगिता। watch (वॉच्) = ध्यान से देखना। character (कैरक्ट(र)) = सच्चरित्र व्यक्ति। 

हिन्दी अनुवाद-‘आह!’ उसने कहा, ‘उस गरीब वृद्ध आदमी ने अपने आपको भूखा मारा। धीरे-धीरे भूखा मारना शुरू किया, चिकित्सकों ने इसे ऐसे ही कहा था! आप देखिए वह इसी तरह से कार्य करते गया! वह दुकान को खुला रखता और सिवाय उसके कोई भी उसके जूतों के हाथ नहीं लगाता।

जब उसे आदेश मिला, वह इतना समय लेता। लोग इन्तजार नहीं करते। उसने सब कुछ खो दिया था और वह वहाँ पर बैठा रहता और लगातार ऐसे ही रहा। मैं उसके लिए यही कहूँगा-लन्दन शहर में एक भी नहीं है जो उससे अच्छे जूते बनाता था। मगर प्रतियोगिता को | देखिए! उसने कभी भी विज्ञापन नहीं किया था! उसके पास सबसे अच्छा चमड़ा भी था और वह स्वयं इसे तैयार करता था। यह है। आप उसके विचारों से क्या उम्मीद करते हैं?’ 

‘केवल भुखमरी!’ ‘जैसे कहावत है इसे थोड़ा सा अच्छे से बता सकते हैं, मगर मैं स्वयं जानता हूँ कि वह यहाँ पर दिन और रात जूतों के कार्य करता बैठा रहा, बिल्कुल अन्त तक आप देखते हैं, मैं प्रायः उसे ध्यान से देखता था। वह अपने आपको | खाने के लिए समय भी नहीं देता था; घर में एक पैसा भी नहीं था।

सब पैसा किराये और चमड़ा खरीदने में चला जाता था। मैं नहीं जानता वह इतने समय तक कैसे जिया। वह लगातार अपनी ऊर्जा को खर्च करता रहा। वह सच्चरित्र व्यक्ति था। मगर उसने अच्छे जूते बनाये थे। मैंने कहा, ‘हाँ, वह अच्छे जूते बनाता था।’ तो गेसलर ने उसे जूतों का जोड़ा वापस भेजने के लिए कहा

0:00
0:00