7 Birth

About The Story Kurier 

‘The Citadel’ से लिए गए इस उद्धरण में, Andrew Manson, जिसने अभी मेडिकल स्कूल छोड़ा है अर्थात् अभी-अभी डॉक्टर बनने के लिए जरूरी डिग्री हासिल की है, (उसने) हाल ही में Blaenelly के खदानयुक्त (खदानों/खानों के लिए प्रसिद्ध) Welsh के एक छोटे से कस्बे में डॉक्टर Edward Page के सहायक के रूप में डॉक्टरी (मेडिकल प्रैक्टिस) प्रारम्भ की है। जब वह एक लड़की Christine, जिससे कि वह प्यार करता है, के साथ निराशाजनक संध्या व्यतीत करने के बाद लौट रहा होता है तो उसकी मुलाकात Joe Morgan से होती है। Joe और उसकी पत्नी, जिनका विवाह लगभग 20 वर्ष पूर्व हुआ था, (वे) अपने पहले बच्चे (के पैदा होने) की आशा कर रहे हैं। (अर्थात् उनका पहला बच्चा पैदा होने वाला है।)

Summary Of The Lesson 

Dr Andrew Manson is an assistant to Dr Edward Page. When he returns to his home, he finds Joe Morgan waiting for him. Joe’s wife is expecting a child after 20 years of their marriage. She needs immediate medical help. Both Joe and Andrew depart for Joe’s house. Mrs Morgan’s mother and an elderly nurse are waiting beside the patient. After a long struggle of an hour, the child is born lifeless. Andrew has to make a choice between his desire to save the child and his duty to Mrs Morgan. 

Susan is lying collapsed, almost pulseless. The doctor injects the medicine and after some frantic efforts leaves her out of danger. Then he asks for the child. He pulls the child out of the newspapers. It is a boy perfectly formed. Its body is white and soft. It suffers from asphyxia. The doctor asks for cold and hot water and two basins. He keeps on plunging the child sometimes into cold water and sometimes into steamy water. After 15 minutes doctor feels defeated. He makes a last effort. 

He rubs the child with a rough towel, crushes and releases its little chest with both his hands. Then a miracle occurs. The child gives a short heave and then gasps deeper and deeper. Its skin turns pink and then it cries. The doctor gives the child to the nurse and goes out. He informs Joe that both the child and the mother are now out of danger. 

पाठ का सारांश 

डॉक्टर Andrew Manson, डॉक्टर Edward Page का सहायक (डॉक्टर) है। जब वह अपने घर वापस आता है तो वह Joe Morgan को अपने लिए इन्तजार करते हुए पाता है। उनकी शादी के बीस साल बाद, Joe की पत्नी को बच्चा उत्पन्न/पैदा होने वाला है। उसे चिकित्सकीय सहायता की तुरन्त आवश्यकता है। दोनों Joe और Andrew, Joe के घर के लिए रवाना हो जाते हैं। श्रीमती Morgan की माँ तथा एक वयोवृद्ध नर्स रोगी के बगल में बैठकर प्रतीक्षा कर रही हैं। एक घण्टे के लम्बे संघर्ष के बाद निष्प्राण बच्चा पैदा होता है। 

Andrew को बच्चे को बचाने की अपनी चाह तथा श्रीमती Morgan के प्रति अपने कर्तव्य के बीच चुनाव करना पड़ता है। Susan बेहोश हुई पड़ी है, उसकी नब्ज लगभग बन्द है। डॉक्टर उसे दवाई का इंजेक्शन देता है और कुछ घोर प्रयासों के बाद उसे खतरे से बाहर निकाल देता है। तब वह बच्चे के लिए पूछता है। वह बच्चे को अखबारों के बीच से खींचकर बाहर निकालता है। यह एक लड़का है जिसका शरीर-विन्यास पूरा है। उसका शरीर सफेद तथा कोमल है। वह शरीर में ऑक्सीजन की कमी से उत्पन्न स्थिति से पीड़ित है। 

डॉक्टर ठण्डा तथा गर्म पानी और दो बेसिन मँगाता है। वह बच्चे को कभी तो ठण्डे पानी में और कभी गर्म पानी में डुबोना जारी रखता है। पन्द्रह मिनट के पश्चात् डॉक्टर पराजित सा महसूस करता है। वह एक अन्तिम प्रयास करता है। वह बच्चे को एक खुरदरे तौलिए से रगड़ता है, अपने दोनों हाथों से बच्चे की छोटी-सी छाती को दबाता तथा छोड़ता है। तभी एक चमत्कार होता है। बच्चा एक छोटी किन्तु गहरी साँस लेता है और तब मुँह से गहरी और गहरी साँस लेता है। उसकी त्वचा गुलाबी हो जाती है और तब वह रोने लगता है। डॉक्टर बच्चे को नर्स को देता है और स्वयं बाहर चला जाता है। वह Joe को यह सूचना देता है कि बच्चा तेथीं ‘माँ दोनों ही अब खतरे की स्थिति से बाहर हैं।

Word-Meanings And Hindi Translation 

1. Though  it was …………….. for us.” (Page 65) 

Word Meanings : surgery (सजरि) = operating room, शल्यकक्षा sight (साइट्) = to see someone, किसी को देख लेना। burly (बलि) = heavy/sturdy, हट्टा-कट्टा। driller (ड्रिलर) = a person who drills, छेद करने वाला। expressed (इक्स्प्रे स्ट) = व्यक्त किया। relief (रि’लीफ्) = comfort, राहत। missus (मिसिज्) = श्रीमती। ye (यो) = you, आप। abruptly (अ’ब्रट्लि ) = suddenly and unexpectedly, अचानक ही। recalled रि’कॉलड्) = remembered, स्मरण किया। contemplation (कॉन्टम् ‘प्लेश्न्) = meditation, चिन्तन।

set out (सेट् आउट) = set off/departed, रवाना हो गए। mystery (मिस्टरि) = रहस्य। usually (यूशुअलि) = most often, सामान्यतः। perceptive (प’सेपटिव्) = insight, अन्तर्दी dull (डल्) = not active, सुस्त।listless (लिस्ट्ल स्) = lacking enthusiasm, निरुत्साहित। premonition (प्रीम्निश्न्) = पूर्वाभास। call (कॉल्) = (here) duty, कार्य। unusual (अन्’यूशुअल्) = unexpected, असामान्य। stillless (स्टिल्ले स्) = less than that, इससे भी कम। influence (इन्फ्लु अन्स्) = affect, प्रभावित करना। drew up short (डू अप् शॉट) = stopped abruptly, उसके सामने अचानक रुक गया। signs (साइन्स्) = marks, चिन्ह। strain (स्ट्रेन्) = stress, तनाव।

हिन्दी अनुवाद – जब Andrew Bryngower पहुँचा उस समय यद्यपि लगभग मध्यरात्रि थी, उसने Joe Morgan को बन्द पड़े (सर्जरी) डॉक्टर के परामर्श स्थल तथा मकान के प्रवेश द्वार के बीच छोटे-छोटे कदमों से (धीरे-धीरे) ऊपर-नीचे घूमते हुए अपनी प्रतीक्षा करते हुआ पाया। उसको (डॉक्टर को) देखते ही हट्टे-कट्टे छेद करने वाले (Joe Morgan) के चेहरे पर राहत दिखाई देने लगी।
“ओह !, डॉक्टर, मुझे आपको देखकर प्रसन्नता हुई। मैं यहाँ पिछले एक घण्टे से इधर-उधर घूम रहा था। मेरी पत्नी को आपकी आवश्यकता है – और वह भी समय से पूर्व।” ।

Andrew को अपने महत्त्वपूर्ण कार्यों के बारे में चिन्तन करते समय अचानक ही कुछ याद आया, और उसने Morgan से प्रतीक्षा करने के लिए कहा। वह अपने बैग के लिए मकान के अन्दर गया तब वे दोनों साथ-साथ मकान . न. 12 Blaina Terrace के लिए रवाना हो गए। रात्रि की हवा शान्त रहस्यमयी होने के साथ ही ठण्डी तथा गहरी थी। सामान्यतया इतना अन्तर्दर्शी प्रतीत होते हुए भी Andrew इस समय सुस्त तथा निरुत्साहित-सा महसूस कर रहा था।

उसको ऐसा कोई पूर्वाभास नहीं था कि यह रात्रि की ड्यूटी असामान्य साबित होगी, और यह भी पूर्वाभास नहीं कि यह (घटना) Blaenelly में उसके सम्पूर्ण भविष्य को प्रभावित करेगी। वे दोनों उस समय तक चुपचाप चलते रहे जब तक कि वे मकान नं. 12. के दरवाजे पर न पहुँच गये, तब Joe उसके सामने अचानक रुक गया। उसने कहा, “मैं अन्दर नहीं आऊँगा,” और उसकी आवाज में तनाव के चिन्ह दिखाई देने लगे। “लेकिन, भाई, मैं जानता हूँ कि आप हमारे लिए सब-कुछ अच्छा ही करोगे।” 

2. Inside, a narrow ………………….course. (Page 66) 

Word Meanings : poorly (पूअर्लि) = badly, भद्दे तरीके से। furnished (फ़निश्ट) = equipped with furniture, सज्जित। grey-haired (ग्रे हेअड्) = having white hair, सफेद बालों वाली। stout (स्टाउट) = fat, मोटी। midwife (मिड्वाइफू) = nurse, नर्स। beside (बि’साइड्) = by the side of, के बगल में। expression (इक्स्प्रे शन्) = चेहरे के भाव। the former (द फ़ॉमर्) = श्रीमती Morgan की माँ faintly (फ़ेट्लि ) = in a low voice, हल्के से, धीरे से। fret (नेट) = to be worried, चिन्तित होना। 

overwrought (ओव’रॉट्) = tired, थका हुआ। queer (क्विअ) = strange, विचित्र। lethargy (लेथजि) = listlessness, सुस्ती। still (स्टिल्) = peace, शान्ति। rustle (रस्ल) = cracking sound, सरसराहट। cinder (सिन्डर्) = a piece of burnt coal/wood, अंगारा। grate (ग्रेट) = fireplace, अंगीठी।

beat बी) = hitting sound, पदचाप।paced (पेस्ट) = walked, चला। motionless (मोशन्लस्) = without meving, गतिहीन। alive (अ’लाइव्) = active, सक्रिय। probing (प्रोबिङ्) = investigating, तलाशते हुए/खोजपरका muddled (मडल्ड्) = disordered, अस्त-व्यस्त। episode (एपिसोड) = event, घटना। witnessed (विट्नस्ट) = saw with his own eyes, अपनी आँखों से देखी। 

obsessed (अब् ‘सेस्ट) = preoccupied, अभिभूत किया। morbidly (मॉबिडलि) = terribly/very much, भयानक तरीके से/बहुत ज्यादा। devoted (डिवोटिड्) = loyal, समर्पित। deceived (डि’सीवूड्) = cheated, धोखा दिया। sordidly (सॉडिड्लि) = unpleasantly, अप्रिय ढंग से। shrewish (श्रूइश्) = a bad-tempered woman, बदमिजाज औरत। dismal (डिज्मल्) = depression, निराशाजनक।

wince (विन्स्) = grimace, चेहरे पर खिंचाव आना। idyllic (इ’डिलिक्) = peaceful and pleasant; blissful, परम आनन्दमय। overflowing (ओव’फ्लोइङ्) = brimming, ओत-प्रोत। resentful (रिजेन्टफ़्ल) = angry, क्रुद्ध। confused (कन्फ्यूज्ड्) = worried, चिन्तित। sink upon (सिङक् अ पॉन्) = bent upon, टिका दिया, झुका दिया। stared (स्टेअड्) = looked intently, घूरा। broodingly (ब्रूडिड्लि ) = गहनता से सोचते हुए। meditation (मेडिटेश्न्) = thinking, चिन्तन। pursued (प’स्यूड्) = अनुसरण कर रहा था। course (कॉस्) = direction, दिशा।

हिन्दी अनुवाद – मकान के अन्दर एक तंग सीढ़ी, एक छोटे से शयनकक्ष जो कि साफ तो था किन्तु भद्दे तरीके से सज्जित था और केवल एक तेल के दीये से प्रकाशित हो रहा था की तरफ जाती थीं। यहाँ पर (शयनकक्ष में) श्रीमती Morgan की माँ, जो एक लम्बी, सफेद बालों वाली लगभग 70 वर्षीय महिला थी, और एक मोटी, वयोवृद्ध दाई रोगी के साथ बैठी प्रतीक्षा कर रही थी। जब Andrew कमरे में इधर-उधर घूम रहा था तब वह उसके चेहरे के भावों को देख रही थी।

कुछ क्षण बाद, पहली (श्रीमती Morgan की माँ) ने जल्दबाजी में कहा, “डॉक्टर, कुमार, मुझे आपके लिए एक कप चाय बनाने दो।”Andrew धीरे से मुस्कुराया। उसने देखा कि वृद्ध स्त्री अनुभवी होने के साथ ही बुद्धिमान भी थी, उसने महसूस किया कि कुछ समय तक प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है, उसे भय था, कि डॉक्टर यह कहते हुए कि मैं थोड़ी देर से आऊँगा, केस छोड़कर चला (भाग) जाएगा। “माँ, चिन्तित मत होओ, मैं भागूंगा नहीं।”

उसने नीचे रसोईघर में उस स्त्री के द्वारा दी गई चाय को पिया। यद्यपि वह बहुत अधिक थका हुआ था फिर भी, वह जानता था कि यदि वह घर जाता है तो वह एक घण्टे की भी नींद नहीं ले पाएगा। वह यह भी जानता था कि इस केस में उसे अपना पूरा ध्यान लगाना होगा। उसे अजीब-सी सुस्ती का अनुभव हुआ। उसने जब तक हर चीज पूरी नहीं हो जाती (बच्चा स्वस्थ तरीके से पैदा नहीं हो जाता) तब तक वहीं रुकने का निश्चय किया। एक घण्टे बाद वह पुनः सीढ़ियों से ऊपर (शल्यकक्ष में) गया, जो प्रगति हुई थी उसे देखकर एक बार पुनः नीचे आकर रसोई की आग के पास बैठ गया।

सिवाय अंगीठी में अंगारों की सरसराहट की आवाज तथा दीवार-घड़ी की टिक-टिक की धीमी-धीमी आवाज के (चारों ओर) शान्ति थी। नहीं, वहाँ एक अन्य आवाज भी थी – जब Morgan बाहर गली में घूम रहा था तो उसके पदचाप की आवाज थी। वह वृद्ध स्त्री अपनी काली पोशाक में पूर्णतः स्थिर होकर डॉक्टर के सामने बैठ गई, उसकी विचित्र रूप से सक्रिय तथा बुद्धिमान निगाहें लगातार उसके (डॉक्टर के) चेहरे के भावों को खोज रहीं थीं।

उसके विचार बोझिल तथा अस्त-व्यस्त थे। उसने Cardiff स्टेशन पर जो घटना देखी वह अब भी उसे भयानक रूप से अभिभूत कर रही थी। उसने Bramwell के बारे में सोचा जो मूर्खतापूर्ण तरीके से उस स्त्री के लिए समर्पित था जिसने उसे अप्रिय ढंग से धोखा दिया था। उसने Edward Page के बारे में सोचा जो कि बदमिजाज औरत Blodwen से जुड़ा हुआ था, Denny के बारे में (सोचा) जो कि अपनी पत्नी से अलग होकर दुःखपूर्ण जीवन व्यतीत कर रहा था। उसकी तर्कशक्ति के अनुरूप ये सभी विवाह निराशाजनक रूप से असफल रहे। 

यह निष्कर्ष वर्तमान स्थिति में (अपने तथा Christine के प्रेम को लेकर) उसके चेहरे पर खिंचाव ला रहा था। वह चाहता था कि वह विवाह को परम आनन्दमयी अवस्था के रूप में माने; हाँ, उसकी आँखों के सामने Christine की छवि होने के कारण वह विवाह के बारे में अन्य बात (कि यह परम आनन्दमयी नहीं है) सोच भी नहीं सकता था। उसके आगे उसकी चमकती हुई आँखें उसे दूसरा निष्कर्ष निकालने नहीं दे रही थीं। यह उसके स्तर, सन्देहपूर्ण मस्तिष्क तथा ओत-प्रोत (भावनाओं से ओत-प्रोत) हृदय के बीच का संघर्ष था जिसने उसे क्रुद्ध तथा चिन्तित बना दिया।

उसने अपनी ठोड़ी को अपनी छाती पर टिका दिया, अपनी टाँगों को फैलाया और चिन्तामग्न होकर (गहनतापूर्वक सोचते हुए) आग की ओर एकटक देखता रहा। वह काफी देर तक इसी मुद्रा में रहा और उसके विचार Christine से इतने भरे हुए थे (उसके लगातार Christine के बारे में सोचने के कारण) कि जब उसके सामने बैठी हुई स्त्री ने उसे अचानक सम्बोधित किया तो वह चौंक गया। उसका चिन्तन (स्त्री का चिन्तन) दूसरी दिशा में था (अर्थात् वह अपनी पुत्री के बारे में सोच रही थी।) 

3. “Susan ……………boneless. (Page 67) 

Word Meanings : awful (ऑफूल) = greatly, अत्यधिक। she’s awful set upon this child (शी’ज ऑफ्ल् सैट अपॉन दिस चाइल्ट) = वह इस बच्चे को किसी भी कीमत पर नहीं खोना चाहती। fancy (फैन्सि) = imagine, कल्पना करती हूँ। collected himself (क’लेक्टिड् हिम् ‘सेल्फ्) = controlled himself, अपने आप को सम्भाला। anaesthetic (ऐनस्’थेटिक्) = a substance that causes insensitivity to pain, संवेदनाहारी। glanced (ग्लान्स्ट् ) = looked at quickly, सरसरी निगाह डाली (जल्दी से देखा)। perceived (प’सीवूड्) = considered, सोचा। elapsed (इ’लैप्स्ट्) = passed, बीत गया। streaks (स्ट्रीक्स्) = rays of light, प्रकाश की किरणें। 

dawn (डॉन्) = the first appearance of light in the morning उषाकाल। strayed (स्ट्रेड्) = moved away, गुजरी। edges (एजिज्) = corners, किनारे। blind (ब्लाइन्ड्) = (here) shutter, (खिड़की की) झिलमिली। lifeless (लाइफलस्) = appearing to be dead, निष्प्राणवत। still (स्टिल्) = lifeless, निष्प्राणवत। shiver (शिवर) = tremble, कँपकँपी। horror (हॉरर्) = fear, डर। exertions (इग्’जश्न्ज्) = tireness/overwork, थकान (ज्यादा काम से)।

chilled (चिल्ड्) = became colder, ठण्डा पड़ गया। torn between (टॉन बिट्वीन्) = दुविधा में होना। resuscitate (रि ‘ससिटेट) = bring to life again, पुनर्जीवित करना। desperate (इस्परट्) = despairing, निराशाजनक। dilemma (डाइ’लेमा) = confusion, दुविधा। blindly (ब्लाइड्लि ) = without thinking, बिना सोचे-समझे। instinctively (इन्स्टिक्टिवलि) = naturally, सहज भाव से।

collapsed (कलैप्स्ट् ) = fell unconscious, बेहोश पड़ी थी। pulseless (पल्स्ल स्) = नाड़ी का न चलना। frantic (पँन्टिक) = frenzied, उन्मादपूर्ण। ether (ईथर्) = (here) danger, खतरा। ebbing (एबिङ्) = declining, क्षीण होती हुई। instant (इन्स्टन्ट) = moment, क्षण। smash (स्मैश्) = shatter, टुकड़े-टुकड़े कर देना। ampule (एम्पूल) = उस दवाई की शीशी जिसे इंजेक्शन द्वारा दिया जाता है, एम्प्यूल।

flung down (फ्लङ डाउन्) = threw down, नीचे फेंका। hypodermic syringe (हाइप’डमिक् सिरिन्ज्) = सूई । पिचकारी। unspar. ingly (अन् ‘स्पेअरिंगलि) = असावधानीपूर्वक। restore (रि’स्टॉर्) = फिर से होश में लाने के लिए। flaccid (फ्लेक्सिड्) = loose, शिथिल। feverish (फ़ीवरिश्) = intensive, घोर । अत्यधिक। sticking (स्टिकिङ) = sweaty, पसीने से चिपके हुए। damp (डैम्प्) = wet with sweat, पसीने से भीगी हुई। 

flash (फ्लैश्) = (here) in a moment, एक क्षण में। knelt down (नेल्ट डाउन्) = bent down, नीचे झुका। fishing फिशिङ) = searching, टटोलते हुए / खोजते हुए। sodden (सोडन्) = dirty, गन्दे। limp (लिम्प) = lifeless, निर्जीव । निष्प्राण। tallow (टैलो) = the hard fat of animals, पशुओं की चर्बी। cord (कॉड्) = नाभि की रज्जु। slashed (स्लैश) = cut, काट दी गई। texture (टेक्स्च ) = tissue work, तन्तु विन्यास। lolled (लॉलड्) = hang loosely, लटका हुआ था।

हिन्दी अनुवाद – “Susan ने कहा था कि यदि क्लोरोफॉर्म बच्चे के लिए हानिकारक होती हो तो उसे यह मत देना, डॉक्टर, कुमार, उसकी सारी आशाएँ इस बच्चे पर टिकी हुई हैं (वह इस बच्चे को किसी भी कीमत पर नहीं खोना चाहती)।” उस वृद्ध स्त्री की आँखें एक यकायक आए विचार से चमक उठीं। उसने धीमे स्वर में कहा “ऐ, मैं कल्पना करती हूँ, हम सभी यही चाहते हैं।” उसने (डॉक्टर ने) प्रयासपूर्वक स्वयं को सम्भाला। उसने नम्रतापूर्वक कहा, “यह संवेदनाहारी है, इससे कोई हानि नहीं होगी। वे (माँ तथा बच्चा) स्वस्थ रहेंगे (उन दोनों को कोई हानि नहीं होगी)।”

इसी समय ऊपर की मंजिल से नर्स के द्वारा बुलाने के लिए लगाई गई आवाज सुनाई पड़ी। Andrew ने सरसरी निगाह से घड़ी की ओर देखा, जिसमें अब साढ़े तीन बजे थे। वह उठा और शयनकक्ष में चला गया। उसने सोचा कि उसे अब अपना कार्य प्रारम्भ कर देना चाहिए। एक घण्टा बीत गया। यह एक लम्बा, कठोर संघर्ष था। तब, जैसे ही खिड़की के झिलमिली के टूटे हुए किनारों से होकर सुबह की पहली किरणें गुजरी, बच्चा पैदा हो गया निष्प्राणवत।

 जैसे ही Andrew ने निष्प्राणवत बच्चे को एकटक देखा, आतंक की एक सिहरन-सी उसके शरीर में दौड़ गई (वह भय से काँप उठा)। आखिरकार उसने वादा जो किया था ! उसका चेहरा जो अपनी खुद की थकान से गर्म हो गया था, अचानक ठण्डा पड़ गया। वह झिझका, वह बच्चे को पुनर्जीवित करने का प्रयास करने की अपनी इच्छा तथा माँ, जो स्वयं एक निराशाजनक अवस्था में थी, के प्रति अपने कर्त्तव्य के बीच बँट गया था। (वह दुविधा में था कि बच्चे को बचाये या फिर माँ को) दुविधा इतनी ज्यादा प्रबल थी कि वह उसे विवेकपूर्ण तरीके से हल नहीं कर पाया। 

बिना सोचे-समझे, सहज भाव से उसने बच्चे को नर्स को दे दिया और अपना ध्यान Susan Morgan की ओर (के इलाज की ओर) लगाया, जो अब बेहोश पड़ी थी, उसकी नब्ज लगभग बन्द थी और वह अभी भी खतरे से बाहर नहीं थी। उसकी (डॉक्टर की) जल्दबाजी निराशाजनक थी, उसकी (Susan की) क्षीण होती हुई शक्ति के विरुद्ध यह उन्मादपूर्ण दौड़ (के समान) थी। उसने पलभर में ही (शीघ्रतापूर्वक) एम्प्यूल को तोड़ा और उसे (Susan को)दवा का इंजेक्शन लगा दिया। तब उसने सिरिन्ज को नीचे फेंक दिया और उस शिथिल महिला को फिर से होश में लाने के लिए असावधानीपूर्वक प्रयास किया। कुछ क्षणों के घोर प्रयास के बाद, स्त्री के हृदय में शक्ति आई; उसने देखा कि अब वह उसे (स्त्री को) सुरक्षित दशा में छोड़ सकता था (अर्थात् अब वह खतरे से बाहर थी)। वह पीछे की ओर घूमा, पसीने के कारण भीगी हुई भौंहों से उसके बाल चिपके हुए थे।

“बच्चा कहाँ है ?” नर्स ने भयंकर संकेत किया। उसने (नर्स ने) बच्चे को चारपाई के नीचे रख दिया था। एक क्षण में Andrew नीचे झुका। उसने चारपाई के नीचे गन्दे अखबारों के बीच से बच्चे को टटोलते हुए (खोजते हुए) बाहर निकाला। वह लड़का था, पूर्ण शरीर रचना वाला उसका निष्प्राण, उष्ण शरीर पशुओं की चर्बी की भांति सफेद तथा कोमल था। जल्दी से काटी गई नाभि की रज्जु एक टूटे हुए तने के समान पड़ी थी। उसकी त्वचा सुन्दर बनावट वाली, चिकनी तथा कोमल थी (उसका) सिर पतली गर्दन पर लटका हुआ था। (उसके) अंग अस्थिविहीन से लग रहे थे।

4. Still kneeling, ………………………….. limp body. (Page 68) 

Word Meanings : haggard (हैगड्) = looking tired or worried, थका हुआ, चिंतित। frown (फ्राउन्) = त्यौरी चढ़ाकर। asphyxia (ऐस्’फिक्सिआ) = ऑक्सीजन की कमी से दम घुटना। pallida (पैलिडा) = paleness पीलिया। faltered (फ़ॉल्टड्) = spoken hesitantly, हकलायी। pallid (पैलिड) = पीले पड़े हुए। respiration (रेस्प ‘रेश्न्) = the act of breathing, श्वसन। threw out (श्रू आउट) = utter in a casual way, असावधानीपूर्वक कुछ कहा। run (रन्) = flow, बहना। ewer (यूअर्) = चौड़े मुँह का बड़ा जग। frantically (फैन्टिक्लि ) = excitedly, उत्तेजित होते हुए। splashed (स्प्लै श्ट्) = (here) poured, डाला। crazy (क्रेजि) = eccentric, सनकी। 

juggler (जग्लर्) = magician, जादूगर। plunging (प्लन्जिंग) = dipping, डुबाते हुए। sweat (स्वेट) = पसीना। dripping (ड्रिपिङ्) = टपकते हुए। pantingly (पैन्टिन्गलि) = breathing quickly, हाँफते हुए। lax (लैक्स्) = ढीले/शिथिल। raging (रेजिङ्) = fierce, प्रचंड। stark (स्टाक्) = clear-cut, स्पष्ट रूप से । स्पष्टतया। constermation (कॉन्स्ट’नेश्न्) = shock and surprise, हैरानी से। longing (लॉगिंग) = strong desire, प्रबल इच्छा। dashed away (डैश्ट् अवे) = shattered, चकनाचूर हो गई। futile (फ्यूटाइल्) = useless, व्यर्थ। beyond remedy (बियॉन्ड् रेमडि) = incurable, जिसका इलाज न हो सके। 

draggled (ड्रैगल्ड्) = made dirty or wet, गन्दा या गीला बनाया गया। mess (मेस्) = disorder, अस्त-व्यस्त। stumbling (स्ट ब्लिङ्) = tripping, ठोकर खाकर।sopping (सोपिङ्) = wet, गीला। whimpered (विमप्ड) = cried softly, ठिनकी। stillborn (स्टिल्बॉन्) = मृत पैदा हुआ।heed (हीड्) = ध्यान देना। persisted (प’सिस्टिड्) = continued, जारी रखा। crushing (क्रशिङ्) = pressing, दबाते हुए।

हिन्दी अनुवाद – अब भी झुके हुए Andrew ने बच्चे की ओर चिंतित अवस्था में त्यौरी चढ़ाकर घूरा। सफेदी (शरीर सफेद पड़ने का) का केवल एक ही मतलब था ऑक्सीजन की कमी से उत्पन्न स्थिति (दम घुटना), पीलिया और डॉक्टर, जो कि अस्वाभाविक रूप से तनाव में था, ने शीघ्रतापूर्वक उस केस के इलाज के बारे में सोचा जो उसने एक बार Samaritan में देखा था। क्षणभर में ही वह खड़ा हो गया। मा कफि वह बच्चे के पीले शरीर की ओर देखती हुई, हकलाई, “लेकिन, डॉक्टर – ” वह चिल्लाया – “जल्दी !”

कम्बल को झपटकर उसने बच्चे को उस पर लिटाया और श्वसन क्रिया की विशेष प्रक्रिया प्रारम्भ की। बेसिन्स, चौड़े मुँह का बड़ा जग तथा लोहे की बड़ी केतली लाए गए। उसने उत्तेजनापूर्वक एक बेसिन में ठण्डा पानी डाला; दूसरे बेसिन में उसने उतना गर्म पानी मिलाया जितना ताप उसका हाथ सहन कर सके।

तब, किसी सनकी बाजीगर की भाँति, उसने बच्चे को शीघ्रतापूर्वक दोनों बेसिन्स में डुबोया, कभी ठण्डे पानी के बेसिन में तो कभी गर्म पानी के दूसरे बेसिन में। पन्द्रह मिनट बीत गए। अब Andrew की आँखों से पसीना बह रहा था जो उसे अंधा कर रहा था (पसीना माथे से टपककर उसकी आँखों में प्रवेश कर रहा था जिससे उसे दिखना बन्द हो गया)। उसकी एक आस्तीन नीचे लटक रही थी, उससे पानी टपक रहा था (बेसिन में भीगने के कारण वह गीली हो गई)। वह हाँफते हुए साँस ले रहा था। लेकिन बच्चे के शिथिल शरीर से कोई साँस नहीं आई।

पराजय की निराशाजनक भावना ने डॉक्टर के ऊपर दबाब डाला (निराशा ने उसे घेर लिया), एक क्रोधपूर्ण घोर निराशा। उसने महसूस किया कि नर्स स्पष्ट रूप से हैरानी के साथ उसकी ओर देख रही थी, वह इतने समय से जिस दीवार से सटकर खड़ी थी वहीं खड़ी रही – उसने अपने हाथ से अपने गले को दबाया हुआ था, न कोई आवाज करते हुए, वह बूढ़ी औरत (Susan की माँ) उसकी ओर क्रुद्ध दृष्टि से देख रही थी।

उसे याद आया कि उसकी अपने दोयते के लिए चाह उतनी ही प्रबल थी जितनी कि उसकी बेटी की अपने पुत्र के लिए थी। अब सब-कुछ (चाह) चकनाचूर हो गया, व्यर्थ इलाज से परे ……। अब फर्श गीला तथा अस्त-व्यस्त अवस्था में था। एक गीले तौलिए से ठोकर खाकर, Andrew ने बच्चे को लगभग नीचे गिरा दिया, जो अब गीला और एक विचित्र, सफेद मछली की भाँति उसके हाथों से फिसल रहा था।

नर्स ने ठिनकते हुए कहा, “डॉक्टर ईश्वर की दया से, यह निष्प्राण पैदा हुआ था।” Andrew ने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया, पराजित, निराश, आधे घण्टे तक व्यर्थ प्रयास करने के बाद, उसने अब भी अपना अन्तिम प्रयास जारी रखा, एक खुरदरे तौलिए से बच्चे को रगड़ते हुए, उसकी छोटी-सी छार्ती को अपने हाथों से दबाते हुए तथा फिर छोड़ते हुए, वह उस शिथिल शरीर में साँस लाने का प्रयास करता रहा। 

5. And then, ………… at last.” (Page 69) 

Word Meanings : miracle (मिरक्ल्) = an extraordinary event, चमत्कार। pigmy chest (पिग्मी चेस्ट) = छोटी सी छाती (बच्चे की)। enclosed (इन्’क्लोज्ड्) = closed in, अन्दर बन्द थी। convulsive (कन्’वल्सिव) = jerky, अचानक झटके से। heave (ही) = a deep sigh, गहरी साँस। giddy (गिडि) = dizzy, चक्कर आया। unavailing (अन ‘वेलिङ्) = useless, बेकार। striving (स्ट्राइविन्ग) = effort, प्रयास। exquisite (एक्स्क्विज़िट) = wonderful, अद्भुत/उत्कृष्ट। faint (फेन्ट) = मूर्छित होना। 

feverishly (फीवरिश्लि ) = excitedly, उत्तेजित होकर। gasping (गास्पिङ) = खुले मुँह से गहरी साँस लेना। mucus (म्यूकस्) = a slimy substance coating the lining of many body cavities and organs बलगम/कफ। tiny (टाइनि) = very small, छोटे से। iridescent (इरि ‘डेसन्ट) = sparkling, प्रदीप्त। spinelessly (स्पिनलस्लि) = without the spinal cord, रीढ़ की हड्डी के बिना। blanched (ब्लान्च्ट्) = made pale, पीली पड़ी हुई। sobbed (सॉब्ड्) = cried with loud gasps, सिसकी। hysterically (हि ‘स्ट्रेशिक्लि ) = frantically, उन्मादपूर्ण तरीके से। shuddering (शडरिङ्) = trembling, काँपते हुए। 

litter (लिटर्) = rubbish, गन्दगी। impaled (इम् ‘पेल्ड्) = pierced. घुस गई थी। linoleum (लिनोलिअम्) = लिनोलियम। puddle (पड्ल) = पोखरा। huddled (हड्ल्ड्) = curled up, सिमटी हुई। mechanically (म’कैनिक्लि) = like a machine, यंत्रवत। wrung out (रङ् आउट) = squeezed, निचोड़ा। fetch (फ़ेच्) = pick up, आकर ले जाऊँगा। scullery (स्कलेरि) = a room for washing dishes, बर्तन साफ करने का कमरा। pavement (पेवूमन्ट) = footway, पगडण्डी। expectant (इक् ‘स्पेक्टन्ट) = hoping for something good to happen, कुछ अच्छा घटित होने की आशा लिए। thickly (थिलि) = strongly, मोटी आवाज में। miners (माइनर्ज) = those who work in mines, खानों में काम करने वाले। oblivious (अब्लिविअस्) = उपेक्षा करते हुए।

हिन्दी अनुवाद – और तब, मानो कि चमत्कार के द्वारा, बच्चे की छोटी-सी छाती में जो कि डॉक्टर के हाथों के अन्दर बन्द थी, अचानक झटके से एक साँस आई, फिर दूसरी … फिर एक और (साँस) Andrew को चक्कर आ गया। जीवन की जो भावना उसकी अंगुलियों के नीचे से उत्पन्न हो रही थी, अन्ततः वह बेकार (प्रतीत होने वाला) प्रयास इतना अद्भुत था कि उसने डॉक्टर को लगभग मूर्छित ही कर दिया। उत्तेजित होकर उसने अपने प्रयासों को दोगुना कर दिया

(वह पहले से अधिक प्रयास करने लगा)। बच्चा अब खुले मुँह से गहरी और गहरी साँसें लेने लगा। बच्चे की एक छोटी नासिका रन्ध्र से बलगम का एक बुलबुला बाहर आया, वह बुलबुला प्रसन्नतादायक प्रदीप्ति था (उसने सबके चेहरों पर प्रसन्नता की लहर दौड़ा दी)। अब उसके अंग अस्थिविहीन नहीं रहे। उसका सिर रीढ़ की हड्डी के बिना पीछे की तरफ नहीं लटक रहा था। उसकी पीली पड़ी हुई त्वचा धीरे-धीरे गुलाबी होने लगी। तब, असाधारण ढंग से बच्चे की चीख निकली।

नर्स उन्मादपूर्ण तरीके से सिसकी भरी आवाज में (सिसकते हुए) बोली, “हे स्वर्ग में रहने वाले प्रिय पिता ! ऐसा हो गया है बच्चा जीवित हो गया है।” Andrew ने बच्चे को उसे (नर्स को) सौंपा। वह कमजोरी तथा बेहोशी-सी महसूस कर रहा था। उसके आस-पास का कमरा (आस-पास की जगह) गन्दगी से थर्रा रहा था : (उसमें) कम्बल, तौलिए, बेसिन, गन्दे यंत्र पड़े थे, सिरिन्ज की सुई लिनोलियम में घुसी पड़ी थी, चौड़े मुँह का बड़ा जग उल्टा पड़ा था,

और केतली जग के बगल में पानी के पोखरे में पड़ी थी (वहाँ पानी भरा हुआ था और केतली उस पानी में पड़ी हुई थी)। चारपाई पर थोड़ी-सी जगह में सिमटी हुई माँ (Susan Morgan) दर्द विनाशक (संवेदनाहारी) के माध्यम से स्वप्न देख रही थी। उसे नींद का इंजेक्शन दिया गया था अतः वह सो रही थी।) बूढ़ी औरत अब भी दीवार से सटी हुई खड़ी थी। पर उसके हाथ जुड़े हुए थे, उसके होंठ बिना आवाज किए हुए हिल रहे थे। वह प्रार्थना कर रही थी।

Andrew ने यंत्रवत् अपनी आस्तीन को निचोड़ा, अपनी जैकिट को ऊपर खींचा। “नर्स मैं अपना बैग लेने बाद में आऊँगा।”
वह रसोईघर से होकर सीढ़ियों से नीचे बर्तन मांजने/साफ करने के कमरे में गया। उसके होंठ सूख रहे थे (वह प्यासा था)। बर्तन मांजने के कमरे में जाकर उसने खूब पानी पिया। उसने अपना कोट और टोप उठाया। उसने बाहर Joe Morgan को तनावग्रस्त, उम्मीद भरे चेहरे से पगडण्डी पर खड़े हुए देखा।

उसने (डॉक्टर ने) भारी आवाज में कहा, “Joe, सब कुछ ठीक है, दोनों (माँ और बच्चा) पूरी तरह स्वस्थ हैं।” पूरी तरह प्रकाश फैला हुआ था (सवेरा हो गया था)। लगभग 5 बज गए थे। कुछेक खानों में काम करने वाले लोग गलियों में पहले से ही थे : रात की पहली शिफ्ट समाप्त हो गई थी (अर्थात् वे अपना काम पूरा करके घर लौट रहे थे)।

जब Andrew उन लोगों के साथ थका हुआ सा और धीमे-धीमे चला, प्रात:कालीन आकाश के नीचे उसके पदचाप दूसरे लोगों के पदचापों के साथ मिलकर गूंज उत्पन्न कर रहे थे। उसने Blaenelly में जो भी काम किए थे उन सभी को भूलते हुए, वह सोचने लगा, “हे ईश्वर ! मैंने कुछ किया है। आखिरकार मैंने कुछ कर दिखाया है।” 

7 Birth