7 Fair Play

कठिन शब्दार्थ एवं हिन्दी अनुवाद | 

Part-I 

Jumman Shaikh and Algu …………….. has its limits. (Page 84) 

कठिन शब्दार्थ – bond (बॉन्ड्) = संबंध, बंधन। friendship (फ्रेड्शिप्) = दोस्ती। look after (लुक् आफ्ट(र)) = देखभाल करना। Both (बोथ्) = दोनों। greatly (ग्रेट्लि) = अत्यधिक। respected (रिस्पेक्ट्ड) = सम्मानित। village (विलिज्) = ग्राम। property (प्रॉपटि) = सम्पत्ति। transferred (ट्रैन्स्फ (र)ड) = स्थानान्तरित होना या करना। understanding (अन्डस्टैन्डिङ्) = समझ । stay (स्टे) = रहना। arrangement (अरेन्ज्मन्ट) = व्यवस्था, इंतजाम। couple (कप्ल) = दो वस्तुओं का जुड़ना । situation (सिचुएश्न्) = परिस्थिति। relative (रेलटिव्) = सम्बन्धी। indifferent (इन् ‘डिफ्रन्ट) = उदासीन। grudged (ग्रज्ड) = कायत करना, इष्या करना। Swallow (स्वाला) = निगलना। insults (इन्सल्ट्ज ) = अपमान। along (अलाँङ्) = साथ। patience (पेशन्स्) = धैर्य । limits (लिमिट्ज) = सीमाएँ। 

हिन्दी अनुवाद – जुम्मन शेख और अलगु चौधरी अच्छे दोस्त थे। उनकी दोस्ती का बंधन बहुत मजबूत था कि जब उनमें से कोई एक गाँव से जाता था, दूसरा उसके परिवार का ध्यान रखता था। दोनों का गाँव में बहुत ज्यादा सम्मान था। जुम्मन के एक बूढ़ी चाची थी जिसके पास कुछ सम्पत्ति थी। यह उसने उसे यह जानकर स्थानान्तरित कर दी कि वह उसके साथ ही रह रही है और वह उसका ध्यान रखेगा। यह व्यवस्था कुछ सालों तक काम करती रही।

उसके बाद परिस्थिति में बदलाव होने लगा था। जुम्मन और उसका परिवार इस वृद्ध सम्बन्धी से थक गया था। जुम्मन भी उसकी पत्नी की तरह उसके प्रति उदासीन रहने लगा। उसकी पत्नी जो उससे ईर्ष्या रखती थी जबकि वह वृद्ध महिला प्रतिदिन बहुत कम भोजन करती थी। वह इस अपमान को अपने भोजन के साथ कुछ माह तक निगलती रही थी। मगर धैर्य की भी सीमा होती है। 

One day she spoke to ……………….. kept ringing in his ears. (Pages 85-86) 

कठिन शब्दार्थ – obvious (ऑब्विअस्) = स्पष्ट । allowance (अ’लाउअन्स्) = भत्ता, राशिं । set up (सेट अप्) = स्थापित करना। separate (सेपरट) = अलग, पृथक् । kitchen (किचिन्) = रसोई। patient (पेशन्ट) = धैर्यशाली, धीरज वाला । shamelessly (शेम्लस्लि) = बेशर्मी से। decide (डिसाइड्) = निश्चय किया।

explaining (इक्स्प्ले निङ्) = समझना, स्पष्ट करना । seek (सीक) = तलाश करना, कुछ पाने की कोशिश करना। sympathise (सिम्पथाइज) = सहानुभूति। other (अद(र)) = दूसरा। against (अगेन्स्ट्) = विपरीत। mum (मम्) = चुप रहना। consider (कन्सिड(र)) = विचार करना। plead (प्लीड्) = गंभीरतापूर्वक याचना करना। reply (रिप्लाइ) = जवाब देना । make up (मेक अप) = क्षतिपूर्ति करना, उपकार मानना। 

हिन्दी अनुवाद-एक दिन उसने जुम्मन से बात की, “मेरे बेटे, अब यह स्पष्ट हो गया है कि मेरी इस घर में आवश्यकता नहीं है। कृपा कर मुझे मासिक भत्ता दे दो जिससे कि मैं अपनी रसोई की व्यवस्था स्वयं कर लूँ।” “मेरी पत्नी बहुत अच्छे तरीके से यह जानती है कि घर कैसे चल सकता है। धैर्य रखो।” जुम्मन ने बेशर्मी से कहा। इससे उसकी चाची को बहुत गुस्सा आ गया और उसने निश्चय किया कि वह अपना मामला गाँव की पंचायत में लेकर जाएगी। 

कई दिनों तक, उस बूढी महिला को गाँव वालों से बात करते हुए देखा गया और वह गाँव वालों को अपने मामले को अच्छी तरह से स्पष्ट करके समझा रही थी और उनकी सहायता माँग रही थी। कुछ उसके साथ सहानुभूति रखते थे, दूसरे उस पर हँसते थे और कुछ अन्य उसे सलाह देते थे कि वह उसके भतीजे और उसकी पत्नी का उपकार मान ले।

आखिरकार वह अलगू चौधरी के पास आई और उससे बात की, “चाची, तुम जानती हो जुम्मन मेरा सबसे अच्छा दोस्त है। मैं उसके विपरीत कैसे जा सकता हूँ?” अलगू ने कहा। “मगर क्या यह सही है, बेटे, कि जो न्यायसंगत एवं सही मानते हो उस पर चुप रहो?” उस वृद्ध महिला ने याचना की, “पंचायत में आओ और सत्य कहो” उसने कहा। अलगू ने कोई जवाब नहीं दिया, मगर उसके शब्द उसके कानों में बजते रहे। 

Part-II.

The Panchayat was held …………………… explained her case. (Pages 86-87) 

कठिन शब्दार्थ-held (hold का past tense) (हेल्ड्) = आयोजन करना । same (सेम्) = वही, उसी। banyan (बैन्यन्) = बरगद। voice (वाइस्) = आवाज । nominate (नॉमिनेट) = मनोनीत करना। abide (अबाइड्) = पालन करना । decision (डिसिशन) = निर्णय, निश्चय। announce (अनाउन्स) = घोषणा करना। fine (फाइन्) = काफी ठीक। hiding (हाइडिङ्) = छुपाते हुए। unexpected (अनिक्स्पे क्टिड्) = अनचाहा। luck (लक्) = भाग्य । aware (अवेअ(र)) = जानना। conscience (कॉनशन्स्) = अंत:करण । sake (सेक्) = किसी उद्देश्य से। heart (हाट्) = हृदय। 

हिन्दी अनुवाद-उसी शाम पंचायत सभा का आयोजन बरगद के पुराने पेड़ के नीचे किया गया। जुम्मन खड़ा हुआ और बोला, “पंच की आवाज भगवान की आवाज है। मेरी चाची को मुख्य पंच को मनोनीत करने दीजिए। मैं उसके निर्णय का पालन करूँगा।” “पंच न तो दोस्त जानते हैं और न दुश्मन। आप अलगू चौधरी के लिए क्या कहते हो?” उस वृद्ध महिला ने घोषणा की। “काफी ठीक है” जुम्मन ने अपनी खुशी इस अनचाहे भाग्य पर प्रसन्न होते हुए जवाब दिया।

अलगू ने कहा, “चाची, आप जुम्मन के साथ मेरी मित्रता से परिचित हो।” “मैं वह जानती हूँ”, चाची ने जवाब दिया, “मगर मैं यह भी जानती हूँ कि आप अपने अंत:करण को अपनी दोस्ती के उद्देश्य से नहीं मारेंगे। पंच के हृदय में भगवान का निवास होता है, और उसकी आवाज भगवान की आवाज होती है।” और उस वृद्ध महिला ने अपने मामले का वर्णन किया। 

“Jumman”, said Algu …………………… wanted his revenge. (Pages 87-88) 

कठिन शब्दार्थ-equal (ईक्वल) = समान। before (बिफॉ(र)) = सामने। defence (डिफेन्स्) = बचाव करना। promise (प्रॉमिस्) = वादा करना। quarrel (क्वॉरल) = झगड़े। claim (क्लेम्) = दावा करना। cross examine (क्रॉस् इग्जैमिन्) = प्रति परीक्षा या जिरह करना। seldom (सेल्डम्) = प्रायः, कभी कभी। together (ोद(र)) = साथ-साथ। in fact (इन् फैक्ट्) = वास्तव में। revenge (रिवेन्ज्) = बदला। 

हिन्दी अनुवाद-“जुम्मन” अलगू ने कहा, “आप और मैं पुराने दोस्त हैं। आपकी चाची भी मुझे उतनी ही प्रिय है जितनी कि आपको है। अब मैं एक पंच हूँ, आप और आपकी चाची मेरे सामने समान है। आपको अपने बचाव में क्या कहना है?” “तीन साल पहले” जुम्मन ने कहना शुरू किया, “मेरी चाची ने अपनी सम्पत्ति मुझे दी थी। मैंने उससे यह वायदा किया था कि वह जब तक जीवित रहेगी मैं उसे सहारा देता रहूँगा। मैं जो कर सकता था मैंने किया है। मेरी पत्नी और उसमें एक दो बार झगड़े हुए हैं, मगर मैं इसे नहीं रोक सकता हूँ। 

अब मेरी चाची मुझसे मासिक भत्ते का दावा कर रही है। यह सम्भव नहीं है। बस मुझे और कुछ नहीं कहना है।” अलगू और अन्य के द्वारा जुम्मन से जिरह की गई। तब अलगू ने घोषणा की, “हम इस मामले को सावधानी से समझ गए हैं। हमारी राय में जुम्मन को आवश्यक रूप से अपनी चाची को मासिक भत्ता देना चाहिए या इसके अलावा वह उसे उसकी सम्पत्ति वापस दे सकता है।” अब दोनों मित्रों को कभी-कभी साथ देखा जाता था। उन दोनों के बीच में दोस्ती का बन्धन टूट गया था। वास्तव में, जुम्मन अलगू का दुश्मन हो गया था और वह बदला लेना चाहता था। 

Part – III 

Days passed and ………… seeking their support. (Page 88) 

कठिन शब्दार्थ – ill luck (इल् लक्) = दुर्भाग्य। tight spot (टाइट स्पॉट्) = बुरे फंसे। bullock (बुलक्) = बैल। cart (काट) = गाड़ी। several (सेवल) = कई| remind (रिमाइन्ड्) = याद दिलाना। penny (पेनि) = पैसा। wretch (रेच्) = अभागा। beast (बीस्ट्) = जानवर। brought (bring का past tense) (ब्रॉट) = लाया। ruin (रुइन्) = बरबादी, तबाही। refer (रिफ(र)) = चर्चा करना। preparation (प्रेप रेश्न्) = तैयारी । annoy (अनॉइ) = नाराज। 

हिन्दी अनुवाद – दिन गुजरते गए और जैसा कि दुर्भाग्य था, अलगू चौधरी एक मामले में बुरी तरह से फंस गया। उसके बैलों के सुन्दर जोड़े में से एक बैल मर गया था और उसने दूसरा बैल समझू साहू को बेच दिया था, जो कि गाँव में बैलगाड़ी चलाता था। आपसी समझ से यह बात हुई कि साहू को एक माह में बैल की कीमत चुकानी होगी। ऐसा हुआ कि एक माह के भीतर ही बैल मर गया था। बैल की मौत के कई महीनों बाद, अलगू ने साहू को उस पैसे के बारे में याद दिलाया जो उसने अब तक नहीं चुकाया था। साहू बहुत नाराज हुआ। 

“मैं तुम्हें एक पैसा भी उस अभागे जानवर के लिए नहीं दे सकता हूँ जो तुमने मुझे बेचा था। वह हमारे लिए तबाही के अलावा कुछ भी नहीं लाया था। मेरे पास एक बैल है, इसे एक माह के लिए काम में ले लो और मुझे वापस लौटा दो। मृत बैल के लिए कोई पैसा नहीं मिलता है,” उसने गुस्से में कहा।। – अलगू ने यह मामला पंचायत के पास ले जाने का फैसला किया। कुछ ही माह में दूसरी बार, पंचायत की सभा बुलाने की तैयारियाँ की गईं, और दोनों दलों ने लोगों से मिलना और उनकी सहायता लेना प्रारम्भ कर दिया। 

The Panchayat was held …………………… and doing justice. (Pages 89-90) 

कठिन शब्दार्थ-propose (प्रपोज्) = प्रस्ताव देना। sank (sink का past tense) (सैङ्क्) = डूबना। pale (पेल्) = उदास होना। moment (मोमन्ट) = क्षण। responsibility (रिस्पॉस्बिलटि) = जिम्मेदारी। judge (जज्) = न्यायाधीश। dignity (डिग्नटि) = सम्मान। personal (पसन्ल) = व्यक्तिगत। feeling (फीलिङ्) = भावना। justice. (जस्टिस्) = न्याय। 

हिन्दी अनुवाद-बरगद के वृक्ष के नीचे पंचायत की सभा का आयोजन हुआ। अलगू खड़ा हुआ और बोला, “पंच की आवाज भगवान की आवाज होती है। साहू को अपना पंच चुनने दिया जाए, मैं उसके निर्णय का पालन करूँगा।” साहू ने अपना मौका देखा और जुम्मन के नाम का प्रस्ताव दिया। अलगू का दिल बैठ गया और वह पीला पड़ गया। लेकिन वह क्या कर सकता था? जिस क्षण जुम्मन मुख्य पंच बना उसने एक न्यायाधीश के रूप में अपनी जिम्मेदारी को और उसके पद की गरिमा को महसूस किया। क्या वह, ऐसे ऊँचे पद पर बैठकर अपना बदला लेगा? उसने सोचा, और सोचा। नहीं, वह अपनी व्यक्तिगत भावनाओं को सच्चाई और न्याय के रास्ते में नहीं आने देगा। 

Both Algu and Sahu ………………. between them. (Page 90) 

कठिन शब्दार्थ-consider (कन्’सिड(र)) = सोचना। deeply (डीप्लि) = गहराई से। stood up (स्टुड् अप्) = खड़ा हुआ। opinion (अपिन्यन) = राय। suffered (सफ(र)ड्) = कष्ट भोगना, दर्द । disability (डिसबिलटि) = अयोग्यता। disease (डिजीज्) = बीमारी। unfortunate (अनफॉचुनेट) = दुर्भाग्य। blame (ब्लेम्) = दोष लगाना। contain (कन्’टेन्) = अपना अंग होना, समावेशित होना। victory (विक्टरि) = विजय, जीत। embrace (इम्ब्रे स) = गले लगाना । meant (मेन्ट) (mes = अर्थ को व्यक्त करना। deviate (डीविएट्) = लीक से हटना या हटाना। path (पाथ्) = रास्ता। enmity (एन्मटि) = दुश्मनी। wept (वेप्ट) (weep का past tense) = रोया। wash away (वॉश् अवे) = बाहर ले जाना। dirt (डट) = धूल। misunderstanding (मिस्अन्ड’ स्टैन्डिङ्) = गलतफहमी, भ्रांति। 

हिन्दी अनुवाद-अलगू और साहू दोनों ने अपना अपना मामला शुरू किया। उनसे जिरह की गई और मामले पर गहराई से विचार किया गया। तब जुम्मन खड़ा हुआ और उसने घोषणा की, “हमारी यह राय है कि साहू को अलगू को बैल की कीमत देनी चाहिए। जब साहू बैल को लेकर आया इसे कोई भी बीमारी या अयोग्यता नहीं थी। बैल की मौत एक दुर्भाग्य था मगर अलगू पर इसके लिए दोष नहीं लगाना चाहिए।” अलगू अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख पाया। वह खड़ा हुआ और बार-बार जोर से बोला, “पंचायत की जीत हो 

यह न्याय है। पंच की आवाज में भगवान रहता है।” बहुत जल्दी, जुम्मन अलगू के पास आया, उसने उसे गले लगा लिया और कहा, “गत पंचायत की सभा के बाद, मैं तुम्हारा दुश्मन बन गया था। आज मैंने महसूस किया कि पंच का मतलब क्या था। पंच का न तो कोई दोस्त होता है और न कोई दुश्मन। वह केवल न्याय जानता है। किसी को भी न्याय के और सत्य के मार्ग से दोस्ती और दुश्मनी के कारण नहीं हटना चाहिए।” अलगू ने अपने दोस्त को गले लगाया और रोया। और उसके आँसुओं ने गलतफहमी की उनके बीच की धूल को बहा दिया। 

7 Fair Play