Day
Night

Chapter 2 The Adventures of Toto

Textbook Questions and Answers

Think About It :

Question 1. 
How does Toto come to Grandfather’s private zoo? 
टोटो दादाजी के व्यक्तिगत चिड़ियाघर में कैसे आता है?
Answer:
Grandfather sees Toto – a pretty baby monkey with a tonga-driver who keeps it tied to a feeding-trough. The monkey looks so out of place that Grandfather decides to make him a part of his private zoo. Grandfather buys it for three rupees. Thus Toto comes.

दादाजी टोटो को देखते हैं – बन्दर का एक सुन्दर बच्चा जो कि एक तांगा चालक के पास है जो उसे एक चारा-पात्र से बाँधे रखता है। बन्दर इतना अद्भुत लगता है कि दादाजी उसे अपने व्यक्तिगत चिड़ियाघर का एक अंग बनाने का निश्चय कर लेते हैं। दादाजी इसे तीन रुपये में खरीद लेते हैं । इस प्रकार, टोटो आता है।

Question 2. 
‘Toto was a pretty monkey.’ In what sense was Toto pretty? 
‘टोटो एक सुन्दर बन्दर था।’ किस अर्थ में टोटो सुन्दर था?
Answer:
Toto had bright, sparkling mischievous eyes, deep-set eyebrows and white pearly teeth. His dry pickled hand had quick wicked fingers and a tail which not only added to his beauty but also worked as his third hand. His mischievous nature added charm to his looks according to the Grandfather.

टोटो के चमकीली, झिलमिल करती शरारतपूर्ण आँखें थीं, गहन रूप से सेट भौंहें और मोती जैसे श्वेत दाँत। उसके परिरक्षित शुष्क हाथ की शरारतपूर्ण अंगुलियाँ और पूँछ जो उसकी न केवल सुन्दरता में अभिवृद्धि करती थी बल्कि उसके तीसरे हाथ के रूप में भी कार्य करती थी। दादाजी के अनुसार, उसके शरारतपूर्ण स्वभाव ने उसके आकर्षण में अभिवृद्धि की।

Question 3. 
Why does Grandfather take Toto to Saharanpur and how? Why does the ticket-collector insist on calling Toto a dog?
दादाजी टोटो को क्यों और कैसे सहारनपुर ले जाते हैं? टिकट कलैक्टर टोटो को कुत्ता कहने पर जोर क्यों देता है?
Answer:
Grandfather takes Toto to Saharanpur because it does not let other pet animals of Grandfather’s private zoo sleep at night. Grandfather takes Toto to Saharanpur in a closed, big, black canvas kit-bag with some straw at the bottom. The ticket collector insists on calling Toto a dog because it suddenly thrusts its head out of the bag and gives the ticket collector a wide grin.

दादाजी टोटो को सहारनपुर ले जाते हैं क्योंकि यह दादाजी के व्यक्तिगत चिड़ियाघर के अन्य जानवरों को रात्रि को सोने नहीं देता है। दादाजी टोटो को एक बन्द, बड़े, काले कैनवस बैग में, जिसमें नीचे घास-फूस थी, सहारनपुर ले जाते हैं। टिकट कॅलेक्टर टोटो को जोर डाल एक कुत्ता मानता है क्योंकि वह अचानक सिर बाहर निकालता है और टिकट कलेक्टर की ओर खींसें निपोरता है।

Question 4. 
How does Toto take a bath ? Where has he learnt to do this? How does Toto almost boil himself alive?
टोटो किस प्रकार स्नान करता है? उसने यह सब कहाँ से सीखा है? किस प्रकार टोटो अपने आपको लगभग जिन्दा ही उबाल लेता है?
Answer:
Toto takes a bath as the writer takes his bath. He first checks the temperature of the water by hand. Then; puts his first foot and then the other one until he is in the water upto the neck. Then he takes a soap cake in his hand or feet and rubs it all over.

When water becomes cold he comes out and runs to the fire in the kitchen to dry. He has learnt to do this from the writer. One day Toto would boil himself alive. He gets into the kettle on the fire. When the water starts boiling, he hops but doesn’t come out because of cold outside. By chance, grandmother sees him and saves.

टोटो, लेखक के जैसे स्नान करता है। पहले वह हाथ से पानी का तापमान जाँचता है। फिर, पहले प्रथम पैर रखता है व फिर दूसरा पैर जब तक कि वह गर्दन तक पानी में नहीं हो जाता है। फिर वह अपने हाथ या पैर में साबुन लेता है और सब जगह लपेट लेता है।

जब पानी ठण्डा हो जाता है तो वह सुखाने के लिए रसोई-आग (तप्त) की ओर जाता है। उसने यह करना लेखक से सीखा है। एक दिन तो अपने को जिन्दा उबाल लेता। वह आग पर रखी केतली में बैठ जाता है। जब पानी उबलना शुरू होता है तो वह उछलने लगता है किन्तु बाहर नहीं आता है क्योंकि बाहर ठण्ड है। सौभाग्यवश, दादीजी उसे देख लेती हैं और बचाती हैं।

Question 5. 
Why does the author say, “Toto was not the sort of pet we could keep for long?”
लेखक क्यों कहता है, “टोटो, इस किस्म का पालतू जानवर नहीं था जिसे हम अधिक देर तक रख सकते हैं?”
Answer:
Toto was not only mischievous but also his mischiefs were very trouble some for the family. He tore the expensive wall-paper, dresses, broke plates etc. Grandfathers realised that they could not afford such frequent losses. So, the author gave the above statement.

टोटो न केवल शरारती था बल्कि उसकी शरारतें परिवार के लिए बहुत पीड़ा पहुँचाने वाली थीं। उसने महंगे वॉल-पेपर, वस्त्र फाड़ डाले, प्लेटें तोड़ डाली आदि। दादाजी ने महसूस किया कि वे अक्सर होने वाली हानियों को सहन नहीं कर सकते। अतः लेखक ने उपर्युक्त कथन कहा। 

Talk About It :

Do you have a pet ? Is your pet mischievous ? Tell the class about it.
क्या आपके पास कोई पालतू जानवर है? क्या आपका पालतू जानवर शरारती है? कक्षा को इसके बारे में बताइये।
Answer:
 I have a pet dog. Its name is Montmorency and nick name, Mont. It is very mischievous. It comes and goes in the rooms at his will. It sometime plays with lemons as if they were rats. The other time it doesn’t allow anyone to enter the house.

It, many times injures our pet cat, Lucy. One day, it went into the library and ate the poison kept for rats. I immediately carried it to a veterinary doctor. He injected it. And then only it could be saved. Then, we gave it to the zoo. 
 
मेरे पास एक पालतू कुत्ता है। इसका नाम माँटमॉरेन्सि है व छोटा नाम, माँट है। यह बहुत शैतान है। यह अपनी इच्छा से कमरों में आता-जाता है। कभी-कभी यह नींबूओं के साथ खेलता है ऐसे जैसे कि वे चूहे हों। दूसरे अवसरों पर यह किसी को भी घर में प्रवेश नहीं करने देता है। यह बहुत बार हमारी पालतू बिल्ली लूसी को घायल कर देता है। एक दिन तो यह पुस्तकालय में चला गया और चूहों के लिए रखे जहर को खा गया। मैं तुरन्त इसे पशु चिकित्सक के पास ले गया। उसने इसे इंजेक्शन दिया। और तब जाकर इसे बचाया जा सका। फिर हमने उसे चिड़ियाघर को दे दिया।

Important Questions and Answers

I. Short Answer Type Questions:

Question 1. 
Why did Grandfather keep Toto’s presence secret from Grandmother? 
दादाजी ने टोटो की उपस्थिति को दादीजी से क्यों छुपाया?
Answer:
Grandmother always fussed when Grandfather brought home some new bird or animal. So, it was decided that Toto’s presence would be kept as a secret till Grandmother was in a good mood to accept him.

जब भी दादाजी कोई नया पक्षी या पशु घर लाते तो दादीजी क्रोध करतीं। अतः यह निश्चय किया गया कि जब तक दादीजी अच्छे मूड में होकर उसे स्वीकार न करने लगें तब तक उसकी उपस्थिति गुप्त रखी जाए।

Question 2. 
On the first day of his arrival what misadventures did Toto do? 
अपने आगमन के प्रथम दिन टोटो ने कौनसे बुरे साहसिक कार्य किये?
Answer:
They found that Toto had removed rather tore the ornamental wall paper of bedroom closet of the writer. He had wrenched the peg from the socket and torn into shreds the writer’s school blazer.

उन्होंने पाया कि टोटो ने लेखक के शयन-कक्ष की अलमारी के सजावटी वॉल-पेपर को हटा दिया था बल्कि फाड़ डाला था। उसने खूटी को छेद में से उखाड़ दिया और लेखक के विद्यालयी ब्लेजर के चिथड़े कर फाड़ डाला था।

Question 3. 
Which animals did the Grandfather keep in his private zoo? Where was the zoo?
दादाजी अपने निजी चिड़ियाघर में कौनसे जानवर रखते थे? चिड़ियाघर कहाँ था?
Answer:
In his private zoo, Grandfather kept a pair of rabbits, a tortoise, a squirrel, a goat, a donkey and a monkey. He kept the donkey in the stable now with a monkey and rest of the animals in a big cage in the servants’ quarter.

अपने निजी चिड़ियाघर में दादाजी एक जोड़ा खरगोश, एक कछुआ, एक गिलहरी, एक बकरा/बकरी, एक गधी और एक बन्दर रखते थे। वे गधी को अस्तबल में अब बन्दर के साथ रखते थे और शेष जानवरों को एक बड़े पिंजरे में नौकरों के आवास भवन में रखते थे।

Question 4. 
How did Toto get along with other animals? 
टोटो की बाकी के जानवरों के साथ कैसे निभती थी?
Answer:
Toto was not social. He could make friends with no other pet in the house. When he was put in a cage in the servants’ quarters where other pets lived sociably, Toto did not let others sleep at night. When he was put in the stable with Nana, he dug his sharp teeth in her long ear and hanged on to it.

टोटो सामाजिक नहीं था। वह किसी अन्य पालतू जानवर से दोस्ती नहीं कर सका। जब उसे नौकरों के आवास-भवन के पिंजरे में रखा गया जहाँ अन्य पालतू सामाजिक रूप से रहते थे, तो टोटो ने दूसरों को रात को सोने नहीं दिया। जब उसे अस्तबल में नाना के साथ रखा गया, तो उसने अपने नुकीले दाँत उसके लम्बे कान में गाड़ दिये और इस पर लटक गया।

Question 5. 
How is a monkey’s tail useful for it?
एक बन्दर की पूँछ इसके लिए उपयोगी कैसे है?
Answer:
A monkey’s tail adds to its good looks. It serves as a third hand. It can use it to hang from a branch. It can scoop up any delicacy that might be out of reach of its hands.

एक बन्दर की पूँछ इसके सौन्दर्य में अभिवृद्धि करती है। यह तीसरे हाथ के रूप में कार्य करती है। यह इसे एक शाखा से लटकने में प्रयोग कर सकता है। यह उस व्यंजन को उठा सकती है जो बन्दर के हाथों की पहुँच से बाहर हो।

Question 6. 
One day Toto nearly succeeded in boiling himself alive. How? 
एक दिन टोटो अपने को उबाल लेने में लगभग सफल हो गया था। कैसे?
Answer:
There were a large kettle on the fire. Toto removed its lid and got in. When the water started boiling, Toto hopped up and down. By chance, the grandmother arrived and hauled him, half boiled, out of the kettle.

चूल्हे पर एक बड़ी केतली रखी थी। टोटो ने इसका ढक्कन हटाया और अन्दर बैठ गया। जब पानी उबलने लगा, टोटो ऊपर-नीचे उछलने लगा। संयोगवश, दादी माँ आ पहुँची और उसे आधे उबली हुई अवस्था में केतली से कठिनाई से खींचकर बाहर निकाला।

Question 7. 
What happened at the Dehra Dun railway platform?
देहरादून रेलवे प्लेटफॉर्म पर क्या घटित हुआ?
Answer:
At the Dehra Dun railway platform, Toto made efforts to get out of the bag. It rolled about on the floor or occasionally, jumped into the air. It attracted a curious crowd of onlookers there.

देहरादून के रेलवे प्लेटफॉर्म पर, टोटो ने बैग से बाहर निकलने का प्रयास किया। यह (बैग) फर्श पर लुढ़कता या कभी-कभी हवा में उछलता। इसने उत्सुक दर्शकों की भीड़ को वहाँ इकट्ठा कर दिया।

Question 8. 
How did Toto behave with the author’s aunts and grandmother? 
टोटो ने लेखक की आंटियों (बुआओं/चाचियों) तथा दादीमाँ के साथ कैसा व्यवहार किया?
Answer:
Toto would get hold of the author’s aunt’s dress and tear and hole in it. One day, Toto threw a tumbler of water in the aunt’s face. And he threw a plate at the grandmother.
टोटो लेखक की आंटी की ड्रेस पकड़ लेता और इसमें छिद्र कर देता। एक दिन, उसने आंटी के मुँह पर गिलास में भरा पानी फेंक मारा और उसने दादी माँ पर एक तश्तरी फेंकी। 

II. Long Answer Type Questions :

Question 1. 
Grandfather was a great lover of animals but he sold Toto back. Explain. 
दादाजी जानवरों के अत्यधिक प्रेमी हैं किन्तु उन्होंने टोटो को वापस बेच दिया। स्पष्ट करें।
Answer:
Grandfather was a great lover of animals. In his private zoo, he had a pair of rabbits, a tortoise, a squirrel, a goat and a donkey. He bought a baby monkey in five rupees from a tonga driver. He sold this baby monkey-Toto, back because they weren’t well-to-do to afford the frequent loss of dishes, clothes, curtains and wall-paper.

दादाजी जानवरों के अत्यधिक प्रेमी थे। अपने निजी चिड़ियाघर में उनके पास एक जोड़ा खरगोश, एक कछुआ, एक गिलहरी, एक बकरा/बकरी, और एक गधी । उन्होंने तांगा चालक से पाँच रुपये में एक बेबी बन्दर .. खरीदा था। उन्होंने यह बेबी बन्दर-टोटो, पुनः बेच दिया क्योंकि वे इतने धनवान नहीं हैं कि व्यंजनों, कपड़ों, पर्दो और वॉलपेपर का नित्य-प्रति नुकसान सहन कर सकें।

Question 2. 
How can you say that Toto liked rice pullao?
आप कैसे कह सकते हैं कि टोटो को चावलों का पुलाव पसन्द था? 
Answer:
One day Toto saw a dish of pullao lying on the dining table. He started stuffing himself with it. When Grandmother saw it she screamed. In anger Toto threw a plate.at her. When aunt came forward he threw a glass of water at her and when he saw Grandfather he took away the whole dish and sat on a jack fruit tree, he enjoyed eating every grain of it.

एक दिन टोटो ने पुलाव की प्लेट डाइनिंग टेबल पर देखी। उसने लूंस-ठूस कर इसे खाना आरम्भ कर दिया। जब दादीजी ने इसे देखा तो वह चिल्लाई। टोटो ने क्रोध में एक प्लेट दादी पर फेंक दी। जब चाची आगे आई तो उसने एक गिलास पानी उस पर फेंक दिया और जब उसने दादाजी को देखा तो वह पूरा पुलाव ले गया और कटहल के वृक्ष पर बैठ गया। उसने इसके एक-एक दाने के खाने का आनन्द लिया।

Question 3. 
Give an account of Toto’s adventures in Grandfather’s house? 
दादाजी के घर में टोटो के कारनामों का एक लेखा-जोखा दीजिए।
Answer:
The first day when Grandfather tied him to a peg in a closet, Toto broke himself free. He tore the wallpaper and the writer’s blazer. In the servants’ quarters he did not let other animals have a wink of sleep. In the stable he dug his sharp teeth into Nana’s long ear. He stole the dish of pullao and climbed up into the branches of a tree to eat up the rice alone. Of course his adventure in the kettle of hot water would have cost him his life.

प्रथम दिन जब दादाजी ने उसे अलमारी में लगी खूटी से बाँधा तो टोटो ने उसे तोड़कर स्वयं को स्वतन्त्र कर लिया। उसने वॉलपेपर व लेखक का ब्लेजर फाड़ डाला। नौकरों के आवास-भवन में उसने अन्य जानवरों को रात को पलक भी नहीं झपकने दी। अस्तबल में उसने नाना के लम्बे कान में दाँत गाड़ दिये। उसने पुलावव्यंजन चुरा लिया और एक वृक्ष की शाखा पर चढ़ गया ताकि चावल को अकेले खा सके। निःसन्देह उसका केतली वाला दुःसाहस तो उसकी जान ले लेता।

Question 4. 
Toto and Nana never became friends. Why? 
टोटो और नाना कभी दोस्त नहीं बन सके। क्यों?
Answer:
Toto was devilishly mischievous. He took pleasure in annoying and bothering others. The very first day, he was kept with Nana, the docile donkey of the writer, he started bothering him. He dug his sharp teeth into his long ear and did not let him eat his hay. From the very first day, Nana started disliking him and they could never become friends.

टोटो राक्षसीय रूप से शरारती है। उसे दूसरों को परेशान व दुःखी करने में आनन्द आता था। प्रथम दिन ही उसे लेखक की शान्त गधी, नाना के साथ रखा गया था तो उसने उसे परेशान करना आरम्भ कर दिया था। उसने अपने नुकीले दाँत उसके लम्बे कान में गड़ा दिये और उसे चारा भी चरने नहीं दिया। प्रथम दिन से ही नाना उसे नापसन्द करने लगी और वे कभी मित्र नहीं बन सके।

Question 5. 
Write a note on Toto’s journey from the tonga driver and back to him (the same tonga driver).
टोटो की तांगा चालक से आरम्भ हुई यात्रा वापस उस तक ही (उस ही तांगा चालक के पास) समाप्त होने पर एक लेख लिखिए।
Answer:
Grandfather buys Toto from a tonga driver. He keeps it in a little closet or ties securely to a peg. He then, transfers it to a big cage in the servants’ quarters. Then, he carries it to Saharanpur and brings back to Dehra Dun. Then, he keeps it in the stable. And finally, he sells it back to the same tonga driver.

दादाजी, टोटो को एक तांगा चालक से खरीदते हैं। वे इसे एक छोटी-सी कोठरी में रखते हैं या एक खूटी से सुरक्षित बाँध देते हैं। वे इसे फिर, नौकरों के क्वार्टरों में रखे एक बड़े पिंजरे में स्थानान्तरित कर देते हैं। वे इसे फिर सहारनपुर ले जाते हैं और वापस फिर देहरादून ले आते हैं। फिर, वे इसे अस्तबल में रखते हैं। और आखिरकार, वे इसे पुनः उस ही तांगा चालक को बेच देते हैं।

0:00
0:00