Day
Night

राजस्थान शिक्षा विभाग द्वारा जारी कैलेंडर (शिविरा पंचांग) के अनुसार Rajasthan Board (RBSE) 11th class की अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 (Half Year Exam 2023) 11 दिसम्बर 2023 से शुरू होने जा रही हैं |

हिंदी विषय की अर्द्धवार्षिक परीक्षा कुल 70 Marks की होगी | Half Yearly Exam 2023 के लिए यहाँ 11 वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा के मॉडल पेपर दिए जा रहे हैं | जो वर्ष 2022-23 की अर्द्धवार्षिक परीक्षा में पूछे गए थे |

11 वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 पेपर

RBSE 11th class model paper राजस्थान बोर्ड के 11वीं आर्ट्स, साइंस और कोमर्स सभी कक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण हैं | राजस्थान बोर्ड की कक्षा 11 के सभी विद्यार्थी हिंदी विषय की अर्द्धवार्षिक परीक्षा के मॉडल पेपर की pdf file यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं | RBSE राजस्थान बोर्ड की कक्षा 11 की अर्द्धवार्षिक परीक्षा के प्रश्न पत्र जिला स्तर पर तैयार किये जाते हैं | इसी कारण अर्धवार्षिक परीक्षा को जिला समान परीक्षा भी कहा जाता है | यहाँ राजस्थान बोर्ड 11वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 के कुल 5 पेपर दिये गए हैं |

11 वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 के important questions

राजस्थान के अलग-अलग जिलों से यहाँ दिए गए 11वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 के papers में सभी question 11 दिसम्बर 2023 से शुरू होने जा रही परीक्षा के लिए important हैं | यह सभी सम्भावित प्रश्न हैं, जो परीक्षा पेपर में आ सकते हैं |

अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023

समय : 3.15 घण्टे कक्षा : 11

विषय : हिन्दी अनिवार्य पूर्णाक : 70

परीक्षार्थियों के लिए सामान्य निर्देश :

  1. सभी प्रश्नों को हल करना अनिवार्य हैं।
  2. जिन प्रश्नों के एक से अधिक भाग हैं, उन सभी भागो का उत्तर एक साथा लिखें, भिन्न-भिन्न दो स्थानों पर नहीं लिखें।
  3. सर्वप्रथम परीक्षार्थी प्रश्न – पत्र पर अपना नामांक अवश्य लिखें।
  4. प्रत्येक प्रश्न का उत्तर दी गई उत्तर पुस्तिका में स्वच्छ लिखावट में लिखें।
  5. प्रत्येक प्रश्न के अंक प्रश्न के सामने अंकित है।
  1. निम्नलिखित अपठित गद्यांश को पढ़कर नीचे लिखे गए प्रश्नों का उत्तर दीजिए।

अनुशासन को हम दूसरे शब्दों में संयम की संज्ञा दे सकते हैं ।अनुशासन शब्द ‘ अनु ‘व ‘ शासन ‘ इन दो शब्दों के मेल से बना है।अनु का अर्थ है – पीछे या अनुकरण तथा शासन का अर्थ है – व्यवस्था, नियन्त्रण अथवा संयम। इस प्रकार अनुशासन का शाब्दिक अर्थ है नियंत्रण एवं संयमपूर्वक रहना। विद्यार्थी – जीवन में अनुशासन का विशेष महत्त्व है, क्योंकि इस अवस्था में विद्यार्थी जिस प्रकार का आचरण एवं व्यवहार सीख लेता है वही आचरण एवं व्यवहार उसके भावी जीवन का अंग बन जाता है। दूसरी बात यह है कि विद्यार्थी का मस्तिप्क चूंकि पूर्ण परिपक्व नहीं होता, यही कारण है कि दूसरों की अपेक्षा विद्यार्थी के सुकोमल मस्तिष्क में अनुशासनहीनता या अनुशासनप्रियता का अधिक प्रभाव पड़ता है। इसलिए विध्यार्थी जीवन में चरित्र निर्माण तथा शारीरिक एवं बौद्धिक विकास के लिए अनुशासन का होना अनिवार्य है। वर्तमान काल में भौतिकवादी परिवेश, दोषपूर्ण शिक्षा प्रणाली, संरक्षकों एवं अभिभावकों की उदासीनता, भ्रष्ट राजनीति का प्रभाव पाश्चात्यानुकरण की प्रवृत्ति विद्यार्थियों में अनुशासनहीनता के प्रमुख कारण है। इस समस्या के समाधान के लिए प्रथम तो वर्तमान शिक्षा प्रणाली में क्रान्तिकारी परिवर्तन की आवश्यकता है। विद्यार्थियों में आत्मनिर्भरता व सद्भावनाओं का विकास हों, छात्रों और शिक्षकों के बीच सहदय एवं घनिष्ठ संबंध हो।

(i) अनुशासन का शाब्दिक अर्थ है।
(क) कठोर शासन
(ख) दूसरों का शासन
( ग.) नियंत्रण व संयमपूर्वक रहना
(घ) अत्यधिक शासन

(ii) विद्यार्थियों में अनुशासनहीनता का प्रमुख कारण है।
(क) पाश्चात्यानुकरण की प्रवृत्ति
(ख) आत्मनिर्भरता
(ग) शारीरिक विकास
(घ) स्वार्थ सिद्धि

(iii) विद्यार्थी के मस्तिष्क पर किसका अधिक प्रभाव पड़ता है।
(क) भौतिकवादी परिवेश
(ख़ ) अनुशासन
(ग) शिक्षा प्रणाली
(घ) श्रष्ट राजनीति


(iv) अनुक्तामन किन दो प्रब्दों के मेल से व्रना है।
(क) अनुश्ना  न
(ख) अ + नुशासन
(I.) अनु + शासन (घ) अनुश्रा म मन

(v) विधायां जावन में अनुरुासन का क्या महत्व है ?

(vi) अनुशासन हीनता का समाधान कैसे हो सकता है ?

  1. निम्नलिखित अपठित पद्यांश को पढ़कर नीचे लिखे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए।

गाकर गीत विरह के तटिनां

वेगवता बहती जाती है,

दिल हलका कर लेने को

उपलों से कुछ कहती जाती है।

. तट पर एक गुलाब संचता,

“देते स्वर यदि मुझे वियाता,

अपने पतझर के सपनों का

में भा जग को गीत सुनाता।”

(i) तटिनी अपना दिल किसे कहकर हलका कर लेती है।
(क) गुलाब को
(ख) तट को
( ग) पतझर को
(घ) उपनों को

(ii) गुलाब किससे क्वर की मांग करता है।
(क) पत्तों में
(ख) पोधों से
(ग) नदी से
(घ) विधाता से

(iii) गुलाब जग को किसके घारे में गीत सुनाना चाहता है।
(क) फूनों के वारे में
(ख) खुशूू के बारे में
(ग) सुन्दरता के यारे में (घ) पतझर के सपनों के बारे में

(iv) तट पर कौन मूक ग्राड़ा है।
(क) तटिनी
(ख) निईर्झी
( ग) गंगा
(घ) गुलाब

(v) नदी का किनारों से कुछ कहते हुए वह जाने पर गुलाब क्या सांच रहा है ?

(vi) उपयुंक्त पद्यांश का उचित शीर्पंक वताइए ?

  1. किसी एक विपय पर लगभग 300 शब्दों में सारगर्भित निम्बन्ध लिखिए।
    (i) समय का सदुपयोग
    (ii) आत्मनिर्भर भारत
    (iii) प्लास्टिक थैली – पर्यावरण की दुश्मन (iv) नारी सुरक्षा की महत्ती आवश्यकता


4. प्रधानाचार्य, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, करौली द्वारा फर्नीचर मंगवाने हेतु सम्बन्धित अधिकारी को एक आदेश पत्र लिखिए |

अथवा

जिला कलेक्टर, जयपुर की ओर से राजस्व सचिव, राजस्थान सरकार को स्वच्छता अभियान हेतु बजट स्वीकृति जारी करने हेतु सरकारी पत्र लिखिए |

फीचर लेखन कितने प्रकार के होते हैं ?

  1. कीचर लेखन में ध्यातष्य बाते कौन-कौन सी है ?
  2. प्रतिवेदन तैयार कीजिए – शैक्षिक भ्षमण। 3
  3. एक आदर्श रिपोर्ट के गुण बताइये।

खण्ड – ग

9. निम्नलिखित पद्य की सप़संग व्याख्या करो।

संतो देखत जग बौराना

साँच कहों तो मारन धावै, झूठे जग पतियाना।।

नेमी देखा धारमी देखा, प्रात करै असनाना।

आतम मारि पखानहि पूजै, उनमें कछु नहिं ज्ञाना।।

बहुतक देख पीर औलिया, पक़ै कितेब कुराना।

कै मुरीद तदबीर बतावै, उनमें उहै जो ज्ञाना।।

आसन मारि डिंभ धारि बैठे, मन में बहुत गुमाना।

अथवा

अंधकार की गुहा सरीखी

उन आँखों से डरता है मन,

भरा दूर तक उनमें दारूण

दैन्य दुःख का नीख रोदन।

वह स्वाधीन किसान रहा,

अभिमान भरा आँखों में इसका

छोड़ उसे मँझधार आज

संसार कगार सदृश बह खिसक।

10.निम्नलिखित गद्यांश की सप्रसंग व्याख्या करो।

मासिक वेतन तो पूर्णमासी का चाँद है जो एक दिन दिखाई देता है और घटते-घटते लुप्त हो जाता है। ऊपरी आय बहता हुआ स्त्रोत है जिससे सदैव प्यास बुझती हैं वेतन मनुष्य देता है, इसी से उसमें वृद्धि नहीं होती। ऊपरी आमदनी ईश्वर देता है, इसी से उसकी बरकत होती है, तुम स्वयं विद्वान हो, तुम्हें क्या समझाऊँ। इस विपय में विवेक की बड़ी आवश्यकता है। मनुष्य को देखो, उसकी आवश्यकता को देखो और अवसर को देखो, उसके उपरांत जो उचित समझो, करो। गरजवाले आदमी के साथ कठोरता करने में लाभ ही लाभ है।

अथवा

आज भी महसूस करते हैं न ऐसा ? तो फिर साथ दीजिए हमारा। अखबार यदि किसी इश्यू को उठा ले और लगातार उस पर चोट करता रहे तो फिर वह शोड़े से लोगों की बात नहीं रह जाती। सबकी बन जाती है आँख मूंदकर नहीं रह सकता फिर कोई उससे। आप सोचिए जरा अगर इसके खिलाफ कोई नियम बनता है तो कितने पेरेंद्स को राहत मिलेगी कितने बच्चों का भविष्य सुथर जाएगा, उन्हें अपनी मेहनत का फल मिलेगा, माँ-बाप के पैसे का नहीं, ….. शिक्षा के नाम पर बचपन से ही उनके दिमाग में यह तो नहाँ भरेगा कि पैसा ही सब कुछ है

11. भूलो की जगह दूसरा कुत्ता क्यों लाया गया ? उसने फिल्म के किस दृश्य को पूरा किया ?

12. धनराम को मोहन के किस व्यवहार पर आश्चर्य होता है ?

  1. स्पीति में कितनी ऋतुएँ होती है ? बताइए।

14. हैडमाक्टर के अनुसार पेपर देने के बाद हर बच्चा घर जाकर क्या कहता है ?

15., ‘नमक का दारोगा ‘ कहानी का कौन सा पात्र आपको सर्वाधिक प्रभावित करता है ? ..; ;

16. नसीरूद्धीन ने नानबाई का पेशा किससे सीखा था। 1

17. बंग विभाजन की योजना किसने बनाई थी। 1

18. गांव में जाति-पाँति के अंतर का प्रभाव व्यवहार में किस प्रकार दिखाई देता था। 3

19. निम्नलिखित में से किसी एक का जीवन परिचय दीजिये –
प्रेमचंद अथवा सुमित्रानन्दन पंत।

20. मायके आयी बहिन के लिए कवि ने घर को ‘ परिताप का घर ‘ क्यों कहा है ?

21. मीरा कृष्ण की उपासना किस रूप में करती है ? वह रूप कैसा है ?

  1. पथिक का मन कहाँ विचरना चाहता है ?

खण्ड – घ

  1. लेखिका तातुश के बारे में क्या सोचती थी?
  2. मरुभूमि में वर्पा के जल को कैसे मापते हैं?
  3. राजस्थान में कुई किसे कहते हैं ? इसकी गहराई तथा व्यास सामान्य कुओं की गहराई तथा व्यास में क्या अंतर होता है? 3
  4. वेबी हलदार बाहर के लोगों से ज्यादा घूलना मिलना क्यों पसंद नहीं करती थी ?
  5. अथवा लता की गायकी से संगति के प्रति लोगों की सोच में क्या परिवर्तन आया है ?

अर्धवार्षिक परीक्षा 2023 के हिंदी विषय के पेपर में कुल 27 प्रश्न दिए गए हैं |

यहाँ पर राजस्थान बोर्ड 11वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 2023 पहला पेपर दिया गया था, इसका अध्ययन कर आप पेपर के फॉर्मेट के विषय में जान सकते हैं | यहाँ पर अपठित गद्यांश, अपठित पद्यांश, पत्र लेखन, व्याख्या, और पाठ्यपुस्तक प्रश्न पूछे गए हैं |

राजस्थान बोर्ड 11 वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा मॉडल पेपर pdf download करें

नीचे दिए गए लिंक से आप हिंदी विषय के प्रश्न पत्र डाउनलोड कर सकते हैं |

अगले पोस्ट में हम कक्षा 11 के हिंदी विषय के वर्ष 2016 से 2023 तक के अर्द्ध वार्षिक परीक्षा के पपेर लेकर आ रहे हैं, जिनका अध्ययन वर्ष 2023 की परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण रहेगा |

11वीं हिंदी अर्द्धवार्षिक परीक्षा मॉडल पेपर download करें |

0:00
0:00